DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label हड़ताल. Show all posts
Showing posts with label हड़ताल. Show all posts

Sunday, October 18, 2020

69000 शिक्षक भर्ती विरोध : वार्ता के बाद भूख हड़ताल खत्म

69000 शिक्षक भर्ती विरोध : वार्ता के बाद भूख हड़ताल खत्म

 
प्रयागराज : 69000 शिक्षक भर्ती के विरोध में प्रतियोगियों की भूख हड़ताल दूसरे दिन खत्म हो गई है। अनशनकारी अमर बहादुर गौतम से बेसिक शिक्षा परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल ने फोन कर वार्ता की। उन्होंने त्रुटि संशोधन करने की मांग को पूरा करने और अन्य मुद्दों पर कार्रवाई करने का भरोसा दिया। जिसके बाद शिक्षक संघ के सचिव प्रेम सागर व इंसाफ मंच के संयोजक डा आरपी गौतम ने जूस पिलाकर भूख हड़ताल खत्म कराया।


69000 शिक्षक भर्ती एक साथ पूरी करने, भर्ती में आरक्षण का पालन करने, फार्म में हुई मानवीय त्रुटि सुधार का मौका देने व भ्रष्टाचार में लिप्त सभी दोषियों को दंडित करने के लिए सीबीआइ जांच कराने की मांग को लेकर भूख हड़ताल शुक्रवार को परिषद मुख्यालय के सामने शुरू हुई थी। अमर बहादुर गौतम ने कहा कि भर्ती के अन्य सवालों पर उनकी लड़ाई जारी रहेगी। यहां अनिल कुमार, रामनिवास गौतम, इनौस के प्रदेश सचिव सुनील मौर्य, न्याय मोर्चा के सह संयोजक सुमित गौतम, अनिल यादव आदि थे।

Saturday, October 17, 2020

69000 शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू

शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू


प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों की शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ न्याय मोर्चा की 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू हो गई है। प्रतियोगी 69000 शिक्षक भर्ती एक साथ पूरी करने, फार्म में हुई मानवीय त्रुटि सुधार का मौका देने व भ्रष्टाचार में लिप्त सभी दोषियों की सीबीआइ से जांच कराने की मांग कर रहे हैं।


अमर बहादुर गौतम ने कहा कि मुख्यमंत्री नौजवानों को रोजगार देने की बात कह रहे हैं लेकिन, चयन में मेधावियों की अनदेखी की गई है। प्रतियोगी पूरी चयन प्रक्रिया पर सवाल उठा रहे हैं क्योंकि विज्ञापन 69000 शिक्षक भर्ती का है इसको दो भाग में किया जाना विज्ञापन के खिलाफ है। चयन में गरीब, दलित व पिछड़े छात्रों के साथ अहित हो रहा है। न्याय मोर्चा के सह संयोजक सुमित गौतम ने कहा की सरकार मनमाने फैसले लेकर छात्रों को आपस में लड़ा रही है। यहां बड़ी संख्या में प्रतियोगी मौजूद रहे।

Tuesday, October 23, 2018

फतेहपुर : 25 अक्टूबर से हड़ताल के दृष्टिगत बीएसए ने शासन के निर्देशानुसार सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को दिए एलर्ट रहने के निर्देश, उपस्थिति का प्रमाण प्रतिदिन प्राप्त करते हुए निर्धारित फॉरमैट में सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश

फतेहपुर : 25 अक्टूबर से हड़ताल के दृष्टिगत बीएसए ने शासन के निर्देशानुसार सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को दिए एलर्ट रहने के निर्देश, उपस्थिति का प्रमाण प्रतिदिन प्राप्त करते हुए निर्धारित फॉरमैट में सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश।

 

UPDATE :

नीचे संशोधित आदेश देखें, जिसमें प्रारूप 01 में मांगी गई सूचना को निरस्त किया गया है। 

महराजगंज : पुरानी पेंशन बहाली के लिए प्रस्तावित हड़ताल को सफल बनाने की बनी रणनीति, पदाधिकारियों को बांटी गई जिम्मेदारी

महराजगंज : उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिलाध्यक्ष केशव मणि त्रिपाठी की अध्यक्षता में सोमवार को आयोजित बैठक में पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए 25 अक्टूबर से प्रस्तावित हड़ताल को सफल बनाने के लिए रणनीति बनी और पदाधिकारियों को जिम्मेदारी बांटी गई। जिलाध्यक्ष ने प्रदेश सरकार पर शिक्षक व कर्मचारियों के हितों की अनदेखी का आरोप लगाया। कहा कि सरकार द्वारा लगातार की जा रही उपेक्षा से त्रस्त होकर 25, 26 व 27 अक्टूबर को शिक्षकों व कर्मचारियों ने हड़ताल का निर्णय लिया है। लगातार तीन दिन सभी कार्यालयों व विद्यालयों में ताला बंद कर शिक्षक व कर्मचारी सुबह 10 बजे सड़क पर उतरेंगे, जुलूस निकालेंगे और वीआरसी कार्यालय पर प्रदर्शन करने के बाद धरने पर बैठ जाएंगे। इस हड़ताल की सफलता के लिए सभी पदाधिकारी जुट जाएं। उन्होंने कहा कि पदाधिकारियों की जिम्मेदारी है कि शिक्षा विभाग का एक भी कार्यालय व स्कूल खुलने न पाए। हड़ताल सफल होने पर ही सरकार पर दबाव बनेगा और पुरानी पेंशन योजना की बहाली का मार्ग प्रशस्त होगा। इस अवसर पर जिला मंत्री सत्येंद्र कुमार मिश्र, कोषाध्यक्ष मनौवर अली, बैजनाथ सिंह, हरीश शाही, अभय कुमार दुबे, राघवेंद्र नाथ पांडेय, धनप्रकाश त्रिपाठी, वीरेंद्र सिंह, सीताराम जायसवाल, अरविंद कुमार गुप्त, प्रद्युम्न सिंह, अलाउद्दीन खान, देवेंद्र प्रसाद मिश्र, हरिश्चंद्र, रामसमुझ, राजू सिंह, आनंद पाल गौतम, नंदलाल, अनूप, अखिलेश, गोपाल, लालबिहारी, धन्नू, अतीकुर्रहमान, कैलाश पति, दयानंद, चंद्रभान, दिनेश कुमार त्रिपाठी, महेंद्र वर्मा आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

Thursday, October 18, 2018

राज्य कर्मचारियों की 25 से 27 अक्टूबर तक होने वाली हड़ताल पर शासन सख्त, अवकाश मांगने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों का अवकाश स्वीकृत न करने सहित कई सख्त दिशा-निर्देश जारी

राज्य कर्मचारियों की 25 से 27 अक्टूबर तक होने वाली हड़ताल पर शासन सख्त, अवकाश मांगने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों का अवकाश स्वीकृत न करने सहित कई सख्त दिशा-निर्देश जारी