DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label 69000. Show all posts
Showing posts with label 69000. Show all posts

Sunday, October 18, 2020

69000 शिक्षक भर्ती विरोध : वार्ता के बाद भूख हड़ताल खत्म

69000 शिक्षक भर्ती विरोध : वार्ता के बाद भूख हड़ताल खत्म

 
प्रयागराज : 69000 शिक्षक भर्ती के विरोध में प्रतियोगियों की भूख हड़ताल दूसरे दिन खत्म हो गई है। अनशनकारी अमर बहादुर गौतम से बेसिक शिक्षा परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल ने फोन कर वार्ता की। उन्होंने त्रुटि संशोधन करने की मांग को पूरा करने और अन्य मुद्दों पर कार्रवाई करने का भरोसा दिया। जिसके बाद शिक्षक संघ के सचिव प्रेम सागर व इंसाफ मंच के संयोजक डा आरपी गौतम ने जूस पिलाकर भूख हड़ताल खत्म कराया।


69000 शिक्षक भर्ती एक साथ पूरी करने, भर्ती में आरक्षण का पालन करने, फार्म में हुई मानवीय त्रुटि सुधार का मौका देने व भ्रष्टाचार में लिप्त सभी दोषियों को दंडित करने के लिए सीबीआइ जांच कराने की मांग को लेकर भूख हड़ताल शुक्रवार को परिषद मुख्यालय के सामने शुरू हुई थी। अमर बहादुर गौतम ने कहा कि भर्ती के अन्य सवालों पर उनकी लड़ाई जारी रहेगी। यहां अनिल कुमार, रामनिवास गौतम, इनौस के प्रदेश सचिव सुनील मौर्य, न्याय मोर्चा के सह संयोजक सुमित गौतम, अनिल यादव आदि थे।

Saturday, October 17, 2020

69000 शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू

शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू


प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों की शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार व आरक्षण के नियमों की अनदेखी के खिलाफ न्याय मोर्चा की 69 घंटे की भूख हड़ताल शुरू हो गई है। प्रतियोगी 69000 शिक्षक भर्ती एक साथ पूरी करने, फार्म में हुई मानवीय त्रुटि सुधार का मौका देने व भ्रष्टाचार में लिप्त सभी दोषियों की सीबीआइ से जांच कराने की मांग कर रहे हैं।


अमर बहादुर गौतम ने कहा कि मुख्यमंत्री नौजवानों को रोजगार देने की बात कह रहे हैं लेकिन, चयन में मेधावियों की अनदेखी की गई है। प्रतियोगी पूरी चयन प्रक्रिया पर सवाल उठा रहे हैं क्योंकि विज्ञापन 69000 शिक्षक भर्ती का है इसको दो भाग में किया जाना विज्ञापन के खिलाफ है। चयन में गरीब, दलित व पिछड़े छात्रों के साथ अहित हो रहा है। न्याय मोर्चा के सह संयोजक सुमित गौतम ने कहा की सरकार मनमाने फैसले लेकर छात्रों को आपस में लड़ा रही है। यहां बड़ी संख्या में प्रतियोगी मौजूद रहे।

Thursday, October 15, 2020

69000 शिक्षक भर्ती में मनमानी का आरोप, 31277 पदों को भरने में न्याय मोर्चा ने बड़े पैमाने पर अनियमितता एवं भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

69000 शिक्षक भर्ती में मनमानी का आरोप, 31277 पदों को भरने में न्याय मोर्चा ने बड़े पैमाने पर अनियमितता एवं भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

 
प्रयागराज। 69000 सहायक अध्यापक भर्ती में 31277 पदों को भरने में न्याय मोर्चा ने बड़े पैमाने पर अनियमितता एवं भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। न्याय मोर्चा ने आजाद पार्क में प्रदर्शन के साथ ही भर्ती में हुई अनियमितता के खिलाफ आगे के आंदोलन की रणनीति तय की। युवाओं ने कहा कि सरकार जल्दबाजी में नियुक्ति पत्र बांट रही है। ऐसे में हजारों प्रतिभाशाली छात्रों को नौकरी पाने से वंचित होना पड़ रहा है। न्याय मोर्चा के संयोजक सुनील मौर्य ने कहा कि इस भर्ती में आरक्षण के मानकों का पालन नहीं किया गया।



इसी भर्ती को लेकर कई लोग जेल में हैं, पूरे मामले की जांच एसटीएफ कर रही है। सुप्रीम कोर्ट से लेकर हाईकोर्ट तक कई मामले लंबित हैं। इसके बाद भी प्रदेश सरकार मनमाने तरीके से भर्ती करने पर आमादा है। न्याय मोर्चा के सदस्य प्रदीप ओबामा ने कहा कि पूरी प्रक्रिया अस्पष्ट है अधिक नंबर पाकर भी नौकरी न पाने वाले निराश हैं। प्रदर्शन में सुरेंद्र कुमार, कृष्णकुमार, विकास यादव, अनेुराग यादव, जीतेन्द्र कुमार, राम अवन, अनिल कुमार, स्वाभिमान मोर्चा के संयोजक डॉ आरपी गौतम शामिल रहे।

31277 सहायक अध्यापक भर्ती में मेधावियों के साथ नाइंसाफी के विरोध में सौंपा ज्ञापन

31277 सहायक अध्यापक भर्ती में मेधावियों के साथ नाइंसाफी के विरोध में सौंपा ज्ञापन

 
प्रयागराज। 31277 सहायक अध्यापक पदों को भरने के लिए जारी मेरिट में मेधावियों के साथ नाइंसाफी का आरोप लगाकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया। प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि बेसिक शिक्षा परिषद के मनमाने निर्णय से नए विवाद खड़े हो जाएंगे। ऐसे में भर्ती कभी पूरी नहीं हो पाएगी। ज्ञापन देने वाले छात्रों का कहना था कि कोर्ट के आदेश की आड़ में भर्ती की बात कही जा रही है परंतु मेरिट में गड़बड़ी के बारे में बेसिक शिक्षा परिषद का कोई अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है।



एडीएम सिटी कार्यालय में ज्ञापन देने के बाद अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री से मांग की कि मेधावियों के साथ नाइंसाफी न होने दें। भर्ती में हुई अनियमितता को तत्काल संज्ञान में लेकर कार्रवाई करें। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि मुद्दा बेहद गंभीर मामला है। ज्ञापन देने वालों में उमाशंकर, रमेश, संदीप, रवि प्रकाश शामिल रहे।

Tuesday, October 13, 2020

69000 भर्ती प्रक्रिया के अन्तर्गत 31277 पदों के सापेक्ष उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की नियुक्ति हेतु जनपद फतेहपुर के काउन्सलिंग हेतु विज्ञप्ति, प्रपत्र व निर्देश व काउंसलिंग व्यवस्था आदेश जारी, देखें

69000 भर्ती प्रक्रिया के अन्तर्गत 31277 पदों के सापेक्ष उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की नियुक्ति हेतु जनपद फतेहपुर के काउन्सलिंग हेतु विज्ञप्ति, प्रपत्र व निर्देश व काउंसलिंग व्यवस्था आदेश जारी, देखें




Monday, October 12, 2020

69000 शिक्षक भर्ती मामले में नहीं थम रहा जिला आवंटन सूची का विवाद

69000 शिक्षक भर्ती मामले में नहीं थम रहा जिला आवंटन सूची का विवाद

 
प्रयागराज : 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती की जिला आवंटन सूची को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय से प्रतियोगियों के प्रतिनिधि मंडल को बैरंग लौटना पड़ा।


परिषद की ओर से कहा गया कि उनके पास कोई जिला आवंटन सूची नहीं है। राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग शिक्षक भर्ती में आरक्षण का सही तरीके से पालन न करने के आरोप की सुनवाई कर रहा है। इसको लेकर के बनी सहमति थी कि 11 अक्टूबर को उक्त मामले में वार्ता करके स्थिति स्पष्ट की जाएगी। 


इसको लेकर प्रतियोगियों का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल रविवार को परिषद मुख्यालय पर पहुंचा। लेकिन, उन्हें लिस्ट नहीं दी गई। कहा गया कि इस मामले पर विचार चल रहा है। प्रतियोगियों का कहना है कि संयुक्त सचिव विजय शंकर मिश्र ने कोई भी लिस्ट नहीं होने की बात कही है।


युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह का कहना है कि सरकार की मनमानी व अधिकारियों की मिलीभगत से भर्ती पूरी नहीं की जा रही है। मुख्यालय पर लोहा सिंह, सतेंद्र सिंह सीटू, प्रशांत पाल, शोभित सूर्या, अनिल यादव, सौरभ यादव उपस्थित रहे। इस मामले को लेकर बेसिक शिक्षा परिषद के संयुक्त सचिव विजय शंकर मिश्र को कॉल किया गया। लेकिन, उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया।