DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, May 31, 2016

आजमगढ़ : बच्चों का शव रख किया रास्ता जाम, मुआवजे के आश्वासन पर हटे ग्रामीण, विद्यालय के दो शिक्षक निलंबित,

क्षेत्र के हसनाडीह उच्च प्राथमिक विद्यालय का गेट धराशायी होने से दो बच्चों की मौत के मामले में विद्यालय के जूनियर एवं प्राथमिक कक्षाओं के प्रधानाध्यापकों को निलंबित कर दिया गया है। इस संबंध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश कुमार का कहना है कि दो बच्चों की मौत के मामले को गंभीरता से लिया गया है। इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में हसनाड़ीह जूनियर के प्रधानाचार्य सुरेश पांडेय व प्राथमिक के प्रधानाध्यापक ज्ञानप्रकाश को निलंबित कर दिया गया है तथा तत्कालीन भवन प्रभारी के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जाएगी। वहीं घटना की जानकारी पाकर पीड़ित परिवारों के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे क्षेत्रीय विधायक डा. संग्राम यादव ने घटना स्थल का भी निरीक्षण किया। अपने स्तर से उन्होंने पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान कर शासन से भी सरकारी सहायता दिलाने का आश्वासन दिया है।

क्षेत्र के हसनाडीह गांव स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय का गेट धराशायी हो जाने से घायल दो बच्चों की मौत का मामला सोमवार को गरमा गया। ग्रामीणों के साथ मृत बच्चों का शव लेकर परिजनों ने क्षेत्र के मेहियापार बाजार स्थित चौराहे पर जाम लगा दिया। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा मृत बच्चों के परिजनों को उचित मुआवजा व घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का आश्वासन मिलने पर दिन के करीब 12 बजे जाम समाप्त हो गया। बता दें कि रविवार की शाम हसनाड़ीह उच्च प्राथमिक विद्यालय में लगे मुख्य द्वार पर लोहे के गेट को पकड़ कर झूल रहे दो बच्चे अचानक गेट के धराशायी हो जाने पर घायल हो गए। घायलों में मेहियापार ग्राम निवासी शिफा (7) व सोएब (5) की कुछ देर बाद ही मौत हो गई। सोमवार की सुबह गांव के लोग परिजनों के साथ शव को लेकर मेहियापार चौराहे पर पहुंचे और शवों को सड़क पर रख मार्ग अवरुद्ध कर दिए। जाम लगाए ग्रामीणों की मांग थी कि उक्त विद्यालय की चहारदीवारी पिछले दो वर्षों से हिल रही थी। साथ ही विद्यालय के मुख्य गेट पर बने पीलर में मात्र एक सरिया का इस्तेमाल किया गया था। जिसके कारण विद्यालय भवन की चहारदीवारी पूरी तरह कमजोर बनी थी। निर्माण कार्य में हुई लापरवाही का नतीजा रहा कि मुख्य द्वार पर लगा लोहे का गेट धराशायी होकर दो बच्चों के लिए काल बन गया। ऐसे में विद्यालय प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई व मृत बच्चों के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए। 1जाम की सूचना पर वहां पहुंचे एसओ अहरौला की भी बात को ग्रामीणों ने नहीं माना और मौके पर सक्षम अधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड गए। सूचना पाकर एसडीएम बूढ़नपुर रामगोपाल सिंह, सीओ राधेश्याम, एबीएसए रामबचन, खंड़ शिक्षाधिकारी सुरेन्द्र यादव आदि मौके पर पहुचे। अधिकारियों व ग्रामीणों के बीच हुई वार्ता के बाद भी जब ग्रामीण अपनी जिद पर अड़े रहे तो सीओ बूढ़नपुर ने जाम कर रहे लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की बात कही। इसके बाद दोपहर 12 बजे जाम समाप्त हुआ। इस दौरान एसडीएम बूढ़नपुर ने जाम के लिए मीडिया के लोगों को जिम्मेदार ठहराया तो लोगों में रोष व्याप्त हो गया।मेहियापार चौक पर शव रखकर जाम करते ग्रामीण।घटना स्थल का निरीक्षण करते विधायक डा. संग्राम यादव।

No comments:
Write comments