DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label समारोह. Show all posts
Showing posts with label समारोह. Show all posts

Thursday, February 4, 2021

यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में शामिल होगा चौरी चौरा कांड

यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में शामिल होगा चौरी चौरा कांड


यूपी के माध्‍यमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र अब चौरी-चौरा जनआक्रोश के शहीदों की वीरगाथाएं किताबों में पढ़ सकेंगे। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर माध्‍यमिक शिक्षा विभाग चौरी चौरा की घटना को यूपी बोर्ड के पाठयक्रम में शामिल करने जा रहा है।  मुख्‍यमंत्री ने चौरी चौरा जनआक्रोश को शताब्‍दी समारोह के रूप में मनाए जाने के निर्देश दिए हैं।


इसी क्रम में पहले चरण में गोरखपुर मंडल के 400 से अधिक राजकीय व एडेड माध्‍यमिक विद्यालय के छात्रों को चौरी चौरा स्‍थल का भ्रमण कराया जाएगा। इससे छात्र वहां के शहीदों की गाथाओं से रूबरू हो सकेंगे। 

गोरखपुर के चौरी चौरा में 4 फरवरी 1922 में आजादी के वीर जवानों ने अंग्रेजी हुकूमत से भिड़ंत के बाद पुलिस चौकी में आग लगा दी थी। इसमें 23 पुलिस कर्मियों की मौत हो गई थी। इस घटना को चौरी चौरा जनआक्रोश के रूप में जाना जाता है। शहीदों के इसी शौर्य की कहानी को अब पाठयक्रम का हिस्‍सा बनाया जाएगा। इससे प्रदेश के माध्‍यमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले लाखों छात्र चौरी चौरा जनक्रांति में शहीद अपने वीरों के इतिहास से रूबरू हो सकेंगे।

गोरखपुर मंडल के छात्र करेंगे चौरी चौरा का भ्रमण

मुख्‍यमंत्री के निर्देश पर माध्‍यमिक शिक्षा विभाग छात्रों को न सिर्फ वीरों के इतिहास को पाठयक्रम के रूप में पढ़ाएगा बल्कि छात्रों को शहीदों के स्‍थल चौरी चौरा का भ्रमण भी कराएगा। 

पहले चरण में गोरखपुर मंडल के देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर व गोरखपुर के 87 राजकीय विद्यालयों, 333 अशासकीय सहायता प्राप्‍त विद्यालय के छात्रों को चौरी चौरा शहीद स्‍थल का भ्रमण कराया जाएगा। इसमें मंडल के निजी स्‍कूलों को भी शामिल किया जाएगा। 

छात्रों के बीच होंगी प्रतियोगिताएं

चौरी चौरा शताब्‍दी समारोह के दौरान प्रदेश के सभी माध्‍यमिक विद्यालयों में चार फरवरी 2021 से आगामी एक साल तक छात्र-छात्राओं के बीच निबंध, चित्रकला व पोस्टर, क्विज, स्लोगन, कविता लेखन व भाषण प्रतियोगिताएं भी कराई जाएंगी। इसके लिए पहले विद्यालय स्तर से शुरुआत होगी। फिर यह क्रम राज्य स्तर तक जारी रहेगा। तीन फरवरी 2022 को गोरखपुर में मंडल स्तरीय प्रतियोगिता कराई जाएगी।

Monday, January 25, 2021

फ़तेहपुर : जिला प्रशासन द्वारा 26 जनवरी 2021 को गणतंत्र दिवस समारोह मनाए जाने हेतु निर्धारित कार्यक्रम व निर्देश जारी

फ़तेहपुर : जिला प्रशासन द्वारा 26 जनवरी 2021 को गणतंत्र दिवस समारोह मनाए जाने हेतु निर्धारित कार्यक्रम व निर्देश जारी।

Wednesday, January 20, 2021

गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर मा0 उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा निदेशक (मा0) का संदेश

गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर मा0 उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा निदेशक (मा0) का संदेश





Monday, December 28, 2020

स्कूलों में भी मनेगा 'साहिबजादा दिवस’, पाठ्यक्रम में शामिल होगा सिख गुरुओं का इतिहास

स्कूलों में भी मनेगा 'साहिबजादा दिवस’, पाठ्यक्रम में शामिल होगा सिख गुरुओं का इतिहास


लखनऊ: सिख समाज को भक्ति, शक्ति, पुरुषार्थ और परिश्रम में अग्रणी बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री आवास पर साहिबजादा दिवस मनाने की पहल की है। गुरु गो¨बद सिंह जी के चार साहिबजादों और माता गुजरी जी को नमन करते हुए योगी ने घोषणा की है कि अब प्रदेश के हर स्कूल में प्रतिवर्ष साहिबजादा दिवस मनाया जाएगा। साथ ही, सिख गुरुओं का इतिहास पाठ्यक्रम में भी शामिल किया जाएगा।


मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर रविवार को साहिबजादा दिवस पर आयोजित गुरुबाणी कीर्तन में योगी समेत सरकार के अन्य मंत्री शामिल हुए। योगी ने कहा कि साहिबजादा दिवस सिख समाज और प्रदेशवासियों के लिए गौरव का दिन है। आज एक नया इतिहास बन रहा है। गुरु गो¨बद सिंह जी के चारों सुपुत्रों- साहिबजादा अजीत सिंह, जुझार सिंह, जोरावर सिंह और फतेह सिंह को सामूहिक रूप से साहिबजादा के तौर पर संबोधित किया जाता है। गुरु गो¨बद सिंह जी ने देश और धर्म की रक्षा के लिए अपने पुत्रों को समर्पित करते हुए दुखी न होकर पूरे उत्साह के साथ कहा था कि चार नहीं तो क्या हुआ, जीवित कई हजार। सिख गुरुओं ने हंिदूू धर्म की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया, जिसे देश सदैव याद रखेगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुबाणी कीर्तन हम सबको देश और धर्म के प्रति अपने कर्तव्यों के निर्वहन की प्रेरणा देता है। इतिहास को विस्मृत करके कोई भी समाज आगे नहीं बढ़ सकता है। सिख इतिहास पढ़ने पर पता चलता है कि विदेशी आक्रांताओं ने जब भारत के धर्म और संस्कृति को नष्ट करने, भारत के वैभव को पूरी तरह समाप्त करने को एकमात्र लक्ष्य बना लिया था, तब गुरु नानक जी ने भक्ति के माध्यम से अभियान शुरू किया और कीर्तन उसका आधार बना।


 योगी ने घोषणा की कि प्रत्येक वर्ष 27 दिसंबर को सभी स्कूलों में साहिबजादा दिवस मनाया जाएगा। इस दिन स्कूलों में वाद विवाद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने सिख गुरुओं के इतिहास को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने की भी घोषणा की। उन्होंने मंत्रियों और सिख समाज के प्रमुख संतों के साथ बैठकर लंगर में प्रसाद भी ग्रहण किया। 


उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सिख समाज ने धर्म और राष्ट्र की रक्षा की जो लड़ाई लड़ी, वह अविस्मरणीय है। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि सिख समाज का इतिहास अत्यंत गौरवशाली है। जल शक्ति राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख ने भी विचार रखे। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, विधि मंत्री बृजेश पाठक, जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, महिला कल्याण राज्यमंत्री स्वाती सिंह, लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। सरोजनीनगर के अवध कॉलेजिएट के प्रबंधक सर्वजीत सिंह ने कॉलेज में शिक्षा ग्रहण कर रहे सिख समुदाय के छात्रों के साथ मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

Thursday, December 24, 2020

विश्वविद्यालयों में दीक्षा समारोहों को कुलाधिपति सह राज्यपाल नेे दी मंजूरी

विश्वविद्यालयों में दीक्षा समारोहों को कुलाधिपति सह राज्यपाल नेे दी मंजूरी


प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों में दीक्षा समारोह के लिए कुलाधिपति सह राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने मंजूरी दे दी है। उन्होंने राज्य विश्वविद्यालय के कुलपतियों से प्रस्तावित तिथि भी मांगी है। उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विवि के कुलपति और प्रोफेसर राजेंद्र सिंह (रज्जू भइया) राज्य विवि के प्रभारी कुलपति प्रोफेसर केएन सिंह ने प्रस्तावित तिथि भेज दी हैं। दोनों ही संस्थान में तैयारियां तेज कर दी गई हैं।


राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अपर मुख्य सचिव महेश कुमार गुप्ता की तरफ से सभी 31 राज्य विश्वविद्यालयों को पत्र भेजा गया है। इसमें सत्र 2019-20 के लिए आयोजित होने वाले दीक्षा समारोह की प्रस्तावित तिथि मांगी गई हैं।

साथ ही कुलपतियों से यह भी पूछा गया है कि वह ऑफलाइन मोड में आयोजन चाहते हैं अथवा ऑनलाइन। कहा जा रहा है कि लगभग सभी विवि ने प्रस्तावित तिथि राजभवन को भेज दी है। इन तिथियों में आयोजन को मंजूरी भी मिलने लगी है। उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विवि के कुलपति और प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भइया) राज्य विवि के प्रभारी कुलपति प्रोफेसर केएन सिंह ने बताया कि उन्होंने दोनों विवि के दीक्षा समारोह की प्रस्तावित तिथि भेज दी है।

मुक्त विवि में चार मार्च को दीक्षा समारोह के लिए मंजूरी भी मिल गई है। राज्य विवि में 15 मार्च को समारोह प्रस्तावित है। दोनों विवि में ऑफलाइन मोड में समारोह होगा। गोल्ड मेडल पाने वालों की सूची तैयार करने के साथ मुख्य अतिथि के नाम पर मुहर लगना बाकी है। समारोह कोविड-19 गाइडलाइन के अनुरूप संपन्न कराया जाएगा। इसमें केवल पदकवीरों को ही शामिल होने का मौका मिलेगा।

Thursday, December 17, 2020

फतेहपुर : पेंशनर दिवस का आयोजन, कमेटी गठित कर सभी प्रकरण होंगे हल, पांच माह के वेतन व एरियर के लिए भटक रहा पेंशनर

फतेहपुर : पेंशनर दिवस का आयोजन, कमेटी गठित कर सभी प्रकरण होंगे हल।

सेवानिवृत्त बेसिक शिक्षक का वेतन चार साल से न देने के साक्ष्य प्रस्तुत करने पर अफसर भी रह गए दंग, वित्त लेखाधिकारी रहे निशाने पर।

कल आप भी बुजुर्ग होंगे - अफसरों को पेंशनरों ने कराया दायित्व बोध।



फतेहपुर : गुरुवार को पेंशनर दिवस का आयोजन विकास भवन सभागार में सीडीओ सत्यप्रकाश की अध्यक्षता में किया गया। पेंशनरों ने आप बीती बताई तो अफसरों ने भी दांतों तले उंगलियां दबा ली। दरअसल अनेक ऐसे पेंशनर हैं जो सालों से अपनी पेंशन निर्धारण, वेतन विसंगति और चिकित्सा प्रतिपूर्ति के लिए दौड़ रहे हैं।  पेंशनर संघ के अध्यक्ष कालीशंकर श्रीवास्तव ने यह कहकर कि आज आप अफसर हैं कल आप भी बुजुर्ग होंगे - अफसरों को दायित्व बोध कराया।




बेसिक शिक्षा से सेवानिवृत्त शिक्षक देवेंद्र दत्त त्रिवेदी ने पांच माह का वेतन आज तक न लगाए जाने के जब साक्ष्य प्रस्तुत किए तो अफसर भी दंग रह गए। सीडीओ ने लेखाधिकारी को त्वरित जांच पड़ताल कर शिक्षक को लाभ दिए जाने का निर्देश दिया।  इससे पूर्व पेंशनरों के चिकित्सा प्रतिपूर्ति के दावों के निस्तारण, कार्यालयाध्यक्षों एवं सीएमओ स्तर से तत्परता कार्य न करने पर नाराजगी जताई। 


बेसिक शिक्षा विभाग के अध्यापकों के वेतन निर्धारण में विसंगति आदि के संबंध में सीडीओ ने चिकित्सा प्रतिपूर्ति हेतु रजिस्टर बनाने, बेसिक शिक्षा की समस्याओं के लिए कमेटी गठित कर निस्तारण कराने, कार्यालयाध्यक्षों को पेंशनर से सम्मानपूर्वक व्यवहार करने, समयबद्धता के साथ सेवानिवृत्त लाभ देने के निर्देश दिए। सीडीओ ने सुनवाई करते हुए कमेटी गठित की और कहा कि एक-एक प्रकरण का निस्तारण कराया जाएगा।


वरिष्ठ कोषाधिकारी विमलेश यादव द्वारा पेंशनरों की समस्याओं का त्वरित समाधान हेतु कार्यालयाध्यक्षों को निर्देशित किया गया। पेंशनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कालीशंकर, मंत्री रसीद खां, करुणाशंकर व वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक शिक्षा) विनय कुमार प्रजापति, एसओसी चकबंदी वीके उपाध्याय, एसीएमओ डॉ संजय, जिला क्रीड़ा अधिकारी अनुराग श्रीवास्तव एवं पेंशनर्स उपस्थित रहे । 


उधर केंद्रीय पेंशनर एसोसिएशन के अध्यक्ष शिव सागर साहू की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। जिसमें पेंशनरों की समस्याओं व समाधान पर चर्चा हुई इस मौके पर वीआर प्रजापति, शिवपाल सिंह, धर्मराज, मुरारीलाल वर्मा आदि ने अपने अपने विचार प्रस्तुत किए।

■ पांच माह के वेतन व एरियर के लिए भटक रहा पेंशनर

फतेहपुर : शासन प्रशासन द्वारा भले ही सेवानिवृत्त कर्मचारियों को उनको मिलने वाला देयक अतिशीघ्र दिए जाने की कवायद की जा रही हो लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और बयां कर रही है। गुरुवार को विकास भवन में आयोजित पेंशनर दिवस पर एक सेवानिवृत्त शिक्षक सत्र लाभ के दौरान किए गए कार्य का पांच माह का वेतन और एरियर न मिलने अधिकारियों से गुहार लगाई है। पीड़ित के पक्ष में संयुक्त पेंशनर्स कल्याण समिति ने भी अधिकारियों को पत्र जारी किया है।


विकास भवन के सभागार में सीडीओ सत्य प्रकाश की अध्यक्षता में आयोजित पेंशनर दिवस में सेवानिवृत्त शिक्षक देवेन्द्र दत्त त्रिवेदी ने दिए गए अपने आवेदन पत्र में बताया है कि शासन की घोषणा पर प्राप्त सत्र लाभ के तहत जुलाई 2015 से नवम्बर 2015 तक हसवां शिक्षा क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय सरायं अभैया में नियमित उपस्थिति दर्ज कराते हुए अपनी सेवाएं दी है। सत्र लाभ के तहत 30 जून 2015 में सेवानिवृत्त होने के बजाए 31 मार्च 2016 को सेवानिवृत्त किया गया। तब से जुलाई 2015 से नवम्बर 2015 तक के पांच माह का वेतन एवं एरियर बेसिक शिक्षा विभाग के लेखाधिकारी द्वारा नहीं जारी किया गया। जबकि खंड शिक्षाधिकारी द्वारा मेरी उपस्थिति प्रमाणित की जा चुकी है। उधर, संयुक्त पेंशनर्स कल्याण समिति के महासचिव टीएन द्विवेदी ने भी पीड़ित सेवानिवृत्त शिक्षक की समस्या को लेकर डीएम को पत्र लिखा है।

Sunday, November 29, 2020

यूपी बोर्ड के 100 वर्ष : मिशन गौरव पोर्टल पर होगी पूर्व छात्रों की गौरवगाथा

यूपी बोर्ड के 100 वर्ष : मिशन गौरव पोर्टल पर होगी पूर्व छात्रों की गौरवगाथा


 प्रयागराज : परीक्षार्थियों की संख्या के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा यूपी बोर्ड अगले बरस 100 साल का होने जा रहा है। बोर्ड की जितनी लंबी उम्र, उससे भी लंबी उपलब्धियों की फेहरिश्त है। देश ही नहीं दुनिया भर में यहां से पढ़े शख्स आसानी से मिल जाएंगे, उनमें से कई सफलता के शिखर पर हैं। सबको छोड़िए उपमुख्यमंत्री और माध्यमिक शिक्षा मंत्री डा. दिनेश शर्मा खुद इसी बोर्ड के छात्र रहे हैं। शताब्दी वर्ष दस्तक देने जा रहा है इसलिए बोर्ड भी अपनी उपलब्धियों का गौरवगान करेगा।


संस्था की पताका पूर्व छात्र फहरा रहे हैं इसलिए सबसे पहले उन्हें मौका दिया गया है। माध्यमिक शिक्षा के अफसरों ने मिशन गौरव नामक पोर्टल शुरू कर दिया है, जिस पर बोर्ड से संबद्ध कालेजों में पढ़ने वाले छात्र-छात्रएं अपनी कामयाबी की कहानी बयां कर सकते हैं। विभाग का फोकस इसी पर है। इसके माध्यम से वह अपनी कमियों को भी देखेगा साथ ही और क्या-क्या बेहतर किया जा सकता है उनके सुझावों पर भी अमल करने का प्रयास करेगा।

आठ माह में होंगे विविध आयोजन

माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की स्थापना सितंबर 1921 को हुई थी और पहली परीक्षा 1923 में कराई गई थी। इंटरमीडिएट एक्ट 1921 की पहली बैठक सितंबर में हुई, जो अप्रैल 1922 में लागू हुआ था। उसी तर्ज पर शताब्दी वर्ष भी अगले साल सितंबर 2021 से शुरू होकर अप्रैल 2022 तक बड़े पैमाने पर मनाने की तैयारी है। इसमें वैसे तो विविध आयोजन होंगे, स्कूल-कालेजों में जिस तरह शिक्षा और खेल पर जोर दिया जाता है उसी तरह से इनसे जुड़े कार्यक्रम कराए जाएंगे। लेकिन, संस्था को एक बार फिर देशभर में शोहरत मिले इसको ध्यान में कार्यक्रम तय किया जा रहा है।

भवन होगा लकदक

यूपी बोर्ड के शताब्दी वर्ष को यादगार बनाने के लिए प्रदेश सरकार भी प्रयासरत है। लोक निर्माण विभाग ने परिषद के मुख्य भवन को चमकाने की योजना बनाई है। इसी साथ लंबे समय से संसाधनों की कमी से जूझ रहे संस्थान को बेहतर करने की भी तैयारी है।

पुराना एक्ट भी बदल रहा

शिक्षा निदेशक माध्यमिक ने बोर्ड के एक्ट का पुनरीक्षण करने के लिए कई कमेटियां बनाई थी। उसमें यह देखा जा रहा है कि कौन नियम अब प्रासंगिक नहीं है और किनकी जरूरत है। इसका प्रस्ताव भी शुक्रवार को सौंपा गया है। कहा जा रहा है कि उसमें कुछ और बदलाव होने हैं।

Saturday, November 28, 2020

अब अगले साल ही सम्मानित किए जाएंगे पुरस्कार प्राप्त शिक्षक और मेधावी छात्र, ये रही वजह

अब अगले साल ही सम्मानित किए जाएंगे पुरस्कार प्राप्त शिक्षक और मेधावी छात्र, ये रही वजह


माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 के मेधावियों को अब अगले साल ही सम्मानित किया जाएगा। बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग में शिक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को भी 2021 में ही सम्मानित किया जा सकेगा।


माध्यमिक शिक्षा विभाग हाई स्कूल और इंटर में प्रदेश और जिले में प्रथम दस स्थान प्राप्त करने वाले मेधावियों को सम्मानित किया जाता है।  आप यह खबर प्राइमरी का मास्टर डॉट इन पर पढ़ रहे हैं। वहीं, बेसिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षक दिवस पर हर जिले में एक-एक शिक्षक को राज्य अध्यापक व राज्य शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पांडेय ने बताया कि शासन से सम्मान समारोह आयोजन की मंजूरी नहीं मिली है। कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण इस साल समारोह नहीं हो सकेगा। अगले साल ही उत्कृष्ट शिक्षकों और मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाएगा। वर्ष 2020 में डेढ़ हजार से अधिक मेधावियों और 100 से अधिक शिक्षकों को सम्मानित किया जाना था।

Thursday, October 1, 2020

फतेहपुर : 02 अक्टूबर (गांधी जयंती पर्व) पर आयोजित कार्यक्रमों / समारोह के सम्बन्ध में निर्देश जारी

फतेहपुर : 02 अक्टूबर (गांधी जयंती पर्व) पर आयोजित कार्यक्रमों / समारोह के सम्बन्ध में निर्देश जारी

Friday, August 9, 2019

फतेहपुर : परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर "रीडिंग मेला" आयोजन के सम्बन्ध में

फतेहपुर : परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर "रीडिंग मेला" आयोजन के सम्बन्ध में।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, November 25, 2018

फतेहपुर : दिनांक 27, 28, और 29 नवम्बर 2018 को आयोजित होने वाली बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम समारोह 2018-19 हेतु कार्यक्रम विवरण जारी, देखें और करें डाउनलोड।

फतेहपुर : दिनांक 27, 28, और 29 नवम्बर 2018 को आयोजित होने वाली बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम समारोह 2018-19 हेतु कार्यक्रम विवरण जारी,  देखें और करें डाउनलोड।











Monday, October 1, 2018

गोरखपुर : गांधी जयंती मनाये जाने के सम्बन्ध में बीएसए द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी, देखें

गांधी जयंती मनाये जाने के सम्बन्ध में बीएसए द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी, देखें

Friday, September 14, 2018

अबकी यादगार होगी बापू की 150 वीं जयंती, 18 सितम्बर से 02 अक्टूबर तक होंगे विद्यालयों में विविध आयोजन, प्रतिदिन 30 मिनट का होगा श्रमदान

अबकी यादगार होगी बापू की 150 वीं जयंती, 18 सितम्बर से 02 अक्टूबर तक होंगे विद्यालयों में विविध आयोजन, प्रतिदिन 30 मिनट का होगा श्रमदान। 


★ क्लिक करके देखें जारी आदेश :

■ महात्मा गाँधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन सम्बन्धी आदेश, परिसर की सफाई/पुताई हेतु प्रतिदिन 30 मिनट श्रमदान का भी निर्देश



Tuesday, August 14, 2018

गोण्डा : स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विद्यालयों/कार्यालयों में विभिन्न कार्यक्रमों के संबंध में दिशा-निर्देश जारी, झंडारोहण कार्यक्रम प्रातः 8 बजे होगा सम्पन्न, देखें

गोण्डा : स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विद्यालयों/कार्यालयों में विभिन्न कार्यक्रमों के संबंध में दिशा-निर्देश जारी, झंडारोहण कार्यक्रम प्रातः 8 बजे होगा सम्पन्न, देखें।

Monday, August 13, 2018

फतेहपुर : स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त ) के अवसर पर विद्यालयों व  कार्यालयों में विभिन्न कार्यक्रमों आदि के संबंध में दिशा निर्देश जारी, झंडारोहण कार्यक्रम प्रातः 8 बजे होगा सम्पन्न

फतेहपुर : स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त ) के अवसर पर विद्यालयों व  कार्यालयों में विभिन्न कार्यक्रमों आदि के संबंध में दिशा निर्देश जारी, झंडारोहण कार्यक्रम प्रातः 8 बजे होगा सम्पन्न।




★  जिला प्रशासन द्वारा जारी कार्यक्रम विवरण क्लिक करके देखें
■  Fatehpur Live :  स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 2018) के राष्ट्रीय पर्व पर जिला प्रशासन द्वारा आयोजित कार्यक्रमों का विवरण और निर्देश जारी, देखें क्लिक करके पूरा विवरण / आदेश


अपेडेटेड आदेश 

पुराना आदेश