DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label सीबीएसई. Show all posts
Showing posts with label सीबीएसई. Show all posts

Monday, November 30, 2020

अखिल भारतीय अभिभावक संघ ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को दिया मई में CBSE बोर्ड परीक्षा कराने का सुझाव

अखिल भारतीय अभिभावक संघ ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री  को दिया मई में CBSE बोर्ड परीक्षा कराने का सुझाव


अखिल भारतीय अभिभावक संघ(आइपा) ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को सुझाव दिया है कि सीबीएसई की कक्षा 10 व 12 वीं की बोर्ड परीक्षा 2021 की तारीख मई में तय की जाए। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अभिभावकों, छात्रों और शिक्षकों से इस संबंध में सुझाव मांगे थे कि अगले वर्ष बोर्ड परीक्षा कब और कैसे आयोजित की जाएं। 


आइपा ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को भेजे गए अपने सुझाव में कहा है कि कोरोनोवायरस के चलते  स्कूल बंद होने के कारण बाधित हुई पढ़ाई को देखते हुए 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को मई 2021में कराया जाए। अन्य कक्षाओं के छात्रों को बिना किसी घरेलू बोर्ड परीक्षा के अगली कक्षा में प्रोन्नति कर दिया जाए। आईपा ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री व चेयरमैन सीबीएसई को पत्र लिखकर कहा है कि इससे छात्रों को परीक्षाओं की तैयारी के लिए और अधिक समय मिल जाएगा। इसके  अलावा अन्य कक्षाओं के छात्रों को जिन्होंने ऑनलाइन पढ़ाई की है या नहीं उन सभी को अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया जाए। आईपा ने अपने पत्र में यह भी मांग की है कि आगामी शिक्षा सत्र जुलाई 2021 से शुरू किया जाए।


आईपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश शर्मा व आईपा हरियाणा के प्रदेश महासचिव डॉ मनोज शर्मा ने कहा है कि कोरोना वायरस के चलते देश भर के स्कूल मार्च 2020 से ही बंद हैं। बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई तो चल रही है लेकिन उससे छात्रों को कोई विशेष फायदा नहीं हो रहा है। संसाधनों की कमी के चलते काफी छात्र ऑनलाइन पढ़ाई भी नहीं ले पा रहे हैं। अत: सभी छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों को आगे बढ़ाना बहुत जरूरी है।


कैलाश शर्मा ने कहा है कि अधिकांश छात्रों को कोर्स व प्रश्नपत्रों में किए गए बदलावों की जानकारी नहीं है अत: बोर्ड परीक्षाएं कराने से पहले कोर्स व बोर्ड परीक्षा पैटर्न में किए गए बदलाव के बारे में सभी छात्रों को जागरूक करना बहुत जरूरी है। बढ़ते कोरोना को चलते स्कूलों को बंद कर दिया गया है आगे भी हालात सही नहीं रहने की भविष्यवाणी की गई है  अत: बोर्ड परीक्षाओं की तारीख बदलनी बहुत जरूरी है। मई में बोर्ड परीक्षाएं आयोजित की जाए और आगामी शिक्षा सत्र जुलाई 2021 से शुरू किया जाए।

Saturday, November 21, 2020

CBSE 12th Practical Exam 2021 : सीबीएसई ने जारी की 12वीं प्रैक्टिकल परीक्षा की डेट, जानें क्या होंगे नियम

CBSE 12th Practical Exam 2021 : सीबीएसई ने जारी की 12वीं प्रैक्टिकल परीक्षा की डेट, जानें क्या होंगे नियम।

CBSE 12th Exam 2021 : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शनिवार को 12वीं कक्षा की प्रैक्टिकल परीक्षा की तिथि जारी कर दी। सीबीएसई 12वीं के प्रैक्टिकल एग्जाम 1 जनवरी से 8 फरवरी तक होंगे। सीबीएसई ने कहा है कि यह तिथि संभावित है। सही तिथि की सूचना बाद में अलग से दी जाएगी। बोर्ड ने परीक्षा के आयोजन को लेकर एक एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) भी जारी की है। बोर्ड ने कहा है कि प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए स्कूलों को अलग-अलग तिथि भेजी जाएगी। बोर्ड की तरफ से एक ओब्जर्वर नियुक्त किया जाएगा जो प्रैक्टिकल एग्जाम और प्रोजेक्ट मूल्यांकन की निगरानी करेगी। 


पिछले सालों की तरह ही प्रैक्टिकल परीक्षा में इंटर्नल और एक्सटर्नल दोनों एग्जामिनर होगे। स्कूलों की यह जिम्मेदारी होगी कि सीबीएसई बोर्ड द्वारा नियुक्त एक्सटर्नल एग्जामिनर द्वारा ही प्रैक्टिकल परीक्षा कराई जाए।

मूल्यांकन खत्म होने के बाद स्कूलों को बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराए गए लिंक पर मार्क्स अपलोड करने होंगे। प्रैक्टिकल एग्जाम और प्रोजेक्ट मूल्यांकन का काम संबंधित स्कूलों में ही चलेगा। 

स्कूलों को ऐप पर डालनी होगी प्रैक्टिकल एग्जाम की फोटो
सभी स्कूलों को एक ऐप लिंक उपलब्ध करवाया जाएगा जिस पर उन्हें प्रैक्टिकल एग्जाम के दौरान की स्टूडेंट्स के हर बैच की ग्रुप फोटो अपलोड करनी होगी। ग्रुप फोटो में प्रैक्टिकल देने वाले बैच के सभी स्टूडेंट्स, एक्सटर्नल एग्जामिनर, इंटर्नल एग्जामिनर और ओब्जर्वर होंगे। फोटो में सभी के चेहरे स्पष्ट दिखने चाहिए। 

जल्द जारी होगी डेटशीट

सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने शुक्रवार को कहा था कि कक्षा 10 और कक्षा 12 के लिये होने वाली बोर्ड परीक्षाएं जरूर होंगी और इनके लिये शेड्यूल जल्द घोषित किये जाने की उम्मीद है। सीबीएसई इसके लिये योजना बना रहा है और जल्द ही इस बात का खुलासा किया जाएगा कि परीक्षा का मूल्यांकन कैसे किया जाएगा। विभिन्न संगठनों द्वारा कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने या स्थगित किये जाने की मांग के बीच त्रिपाठी का यह बयान आया है। 

उन्होंने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं की कि क्या परीक्षा समान प्रारूप में और तय कार्यक्रम के अनुसार फरवरी-मार्च में आयोजित की जाएगी अथवा इसे स्थगित किया जाएगा।
        
त्रिपाठी ने कहा, “मार्च-अप्रैल के दौरान हम घबराये हुए थे कि आगे कैसे बढ़ेंगे, लेकिन इस मौके पर हमारे विद्यालयों और शिक्षकों ने शानदार काम किया और शिक्षण कार्य के लिये नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के उद्देश्य से खुद में बदलाव किया और खुद को प्रशिक्षित किया। कुछ ही महीनों में विभिन्न ऐप का इस्तेमाल कर ऑनलाइन कक्षाएं लेना समान्य बात हो गई।”

हर हाल में होंगी सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं, जल्द जारी होगा कार्यक्रम

हर हाल में होंगी सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं, जल्द जारी होगा कार्यक्रम


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने शुक्रवार को कहा कि कक्षा 10 और कक्षा 12 के लिये होने वाली बोर्ड परीक्षाएं जरूर होंगी और इनके लिये शेड्यूल जल्द घोषित किये जाने की उम्मीद है। विभिन्न संगठनों द्वारा कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने या स्थगित किये जाने की मांग के बीच त्रिपाठी का यह बयान आया है। 



एसोचैम द्वारा 'नयी शिक्षा नीति: स्कूली शिक्षा के लिये उज्ज्वल भविष्य विषय पर आयोजित एक वेबिनार के दौरान उन्होंने कहा, “बोर्ड परीक्षाएं अवश्य होंगी और इनका कार्यक्रम जल्द ही घोषित किया जाएगा। सीबीएसई इसके लिये योजना बना रहा है और जल्द ही इस बात का खुलासा किया जाएगा कि परीक्षा का मूल्यांकन कैसे किया जाएगा।”
    
    
उन्होंने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं की कि क्या परीक्षा समान प्रारूप में और तय कार्यक्रम के अनुसार फरवरी-मार्च में आयोजित की जाएगी अथवा इसे स्थगित किया जाएगा।
  
      
त्रिपाठी ने कहा, “मार्च-अप्रैल के दौरान हम घबराये हुए थे कि आगे कैसे बढ़ेंगे, लेकिन इस मौके पर हमारे विद्यालयों और शिक्षकों ने शानदार काम किया और शिक्षण कार्य के लिये नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के उद्देश्य से खुद में बदलाव किया और खुद को प्रशिक्षित किया। कुछ ही महीनों में विभिन्न ऐप का इस्तेमाल कर ऑनलाइन कक्षाएं लेना समान्य बात हो गई।”
 
       
कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार रोकने के लिये देश भर में मार्च में विद्यालय बंद कर दिये गए थे और 15 अक्टूबर के बाद कुछ राज्यों में आंशिक रूप से इन्हें खोला गया। कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए हालांकि कुछ राज्यों ने विद्यालयों को फिर से बंद करने का फैसला किया है। 
 
       
आधी परीक्षाओं के बाद बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करना पड़ा था और बाद में उन्हें रद्द किया गया तथा नतीजों की घोषणा वैकल्पिक आकलन योजना के आधार पर की गई। 

Wednesday, November 18, 2020

सीबीएसई 10वीं 12वीं परीक्षा में चैप्टर के बॉक्स से पूछे जाएंगे वैल्यू बेस्ड प्रश्न, दिशानिर्देश जारी

CBSE 10th 12th Exam 2021 : सीबीएसई 10वीं 12वीं परीक्षा में चैप्टर के बॉक्स से पूछे जाएंगे वैल्यू बेस्ड प्रश्न, दिशानिर्देश जारी



CBSE 10th 12th Exams 2020 : 10वीं और 12वीं परीक्षा के दौरान आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न की अफवाहें ना हों, हर प्रश्न सिलेबस के अंदर के हों, इसके लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने वैल्यू बेस्ड प्रश्न को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है। बोर्ड की मानें तो बोर्ड परीक्षा में प्रश्न कई तरह से पूछे जाएंगे। आप यह खबर प्राइमरी का मास्टर डॉट इन पर पढ़ रहे हैं। हर चैप्टर के बाद जो प्रश्न दिये रहते हैं, उन प्रश्न के अलावा चैप्टर के अंदर से भी प्रश्न पूछे जायेंगे। ये प्रश्न चैप्टर के अंदर बने बॉक्स से रहेंगे।  इसके लिए बोर्ड ने सभी स्कूलों को इसका निर्देश दिया है। स्कूलों को इसकी जानकारी छात्रों को देनी है। अभी चूंकि बोर्ड एग्जाम के कुछ महीने रह गये हैं। ऐसे में सभी शिक्षकों को चैप्टर के बॉक्स को पढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। 


ज्ञात हो कि पिछले कई सालों से कई विषयों की परीक्षा के बाद आउट ऑफ सिलेबस की अफवाहें होती रही हैं, जबकि बाद में बोर्ड को इसके लिए प्रूव देकर सिलेबस के अंदर प्रश्न पूछे जाने की बात बतानी पड़ती है। इससे छात्र और अभिभावक गुमराह होते है। इन तमाम चीजों से बचने के लिए बोर्ड ने इस बार परीक्षा शुरू होने के पहले सभी स्कूलों को दिशा निर्देश जारी किया है। 


सभी प्रश्न एनसीईआरटी बुक्स से ही आएंगे
बोर्ड की मानें तो सारे प्रश्न एनसीईआरटी पाठ्यक्रम से ही रहेंगे। दूसरी पब्लिकेशन से कोई प्रश्न नहीं पूछे जायेंगे। ज्ञात हो हर प्रश्न के लिए इस बार विकल्प रहेगा। हर प्रश्न का उत्तर देना अनिवार्य है। हर एक प्रश्न का विकल्प रहेगा। 


सभी विषयों में पूछे जाएंगे वैल्यू बेस्ड प्रश्न 
बोर्ड की मानें तो दसवीं और 12वीं के सभी विषयों में वैल्यू बेस्ड प्रश्न को रखा गया है। बारहवीं के विज्ञान, कला और वाणिज्य संकाय में सभी विषय में वैल्यू बेस्ड प्रश्न पूछे जायेंगे। वैल्यू बेस्ड प्रश्न आठ से 12 अंक के होंगे। वहीं दसवीं के भी सभी विषय में वैल्यू बेस्ड प्रश्न आठ से दस अंक के पूछे जायेंगे। 


■   बोर्डे के निर्देश

- चैप्टर में दिये गये प्रश्न के  अलावा चैप्टर के अंदर से भी प्रश्न पूछे जायेंगे 

- चैप्टर में दिये गये बाक्स को स्कूल अच्छे से पढ़ाएं, क्योंकि बॉक्स से भी प्रश्न आ सकते हैं 

- वैल्यू बेस्ड प्रश्न भी रहेंगे, ये प्रश्न चैप्टर के अंदर से रहेंगे

- हर प्रश्न का निश्चित अंक और शब्द भी निर्धारित रहेगा, उसी में उत्तर देना है 

संयम भारद्वाज (परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई) ने कहा, बोर्ड परीक्षा में कोई प्रश्न आउट ऑफ सिलेबस नहीं होता है। काफी सावधानी से प्रश्न पत्र तैयार किए जाते हैं। चैप्टर के अंदर या बाहर कहीं से भी प्रश्न पूछे जा सकते हैं। ऐसे में छात्र को अपनी पूरी तैयारी करनी चाहिए। सारे प्रश्न एनसीईआरटी से ही रहेंगे।

Friday, November 13, 2020

CBSE Single Girl Child Scholarship: सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन शुरू, विज्ञप्ति जारी

CBSE Single Girl Child Scholarship: सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन शुरू, विज्ञप्ति जारी। 

 सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन शुरू, हर माह मिलेंगे 500 रूपये


CBSE Scholarship for Single Girl Child 2020: सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है कैंडिडेट्स इसके लिए अब अप्लाई कर सकते हैं.


CBSE Scholarship for Single Girl Child 2020: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड {CBSE-सीबीएसई} ने सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप 2020 के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर दी है. पात्र और इच्छुक कैंडिडेट्स इसके लिए अब आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए पात्र कैंडिडेट्स सबसे पहले सीबीएसई की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाएं. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने की अंतिम तारीख 10 दिसंबर, 2020 है.


कैंडिडेट्स को एप्लीकेशन फॉर्म की हार्ड कॉपी (केवल नवीनीकरण) 28 दिसंबर 2020 को या उससे पहले जमा करनी है. सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप 2020 के लिए केवल वे छात्राएं अप्लाई कर सकती है जो साल 2020 में सीबीएसई से एफिलिएटेड स्कूलों से कक्षा 10वीं की परीक्षा पास की है. उन छात्राओं को जिन्होनें सभी प्रकार की पात्रताओं को पूरा करते हैं उन्हें दो साल तक – कक्षा 11वीं और कक्षा 12वीं के दौरान, हर महीने 500 रूपये प्रदान किये जायेंगें.



सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप 2020: स्कीम के प्रकार

कैंडिडेट्स छात्रवृति के लिए दो प्रकार की कैटेगरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं.  ये कैटेगरी निम्नलिखित दो प्रकार की है.


■ सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए: 12वीं कक्षा की स्टडी के लिए सीबीएसई मेरिट स्कॉलरशिप स्कीम.

■ 2019 में सिंगल गर्ल चाइल्ड 10वीं पास के लिए सीबीएसई मेरिट स्कॉलरशिप स्कीम के तहत ऑनलाइन आवेदन का नवीनीकरण.


योग्यता: सभी सिंगल गर्ल चाइल्ड स्टूडेंट्स, जिन्होंने साल 2020 में कक्षा 10वीं की CBSE बोर्ड की परीक्षा में कम से कम 60 फीसदी या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हों और जो अब CBSE बोर्ड से एफिलिएटेड स्कूलों में कक्षा 11वीं और 12वीं की पढ़ाई कर रही हो.  इसके साथ ही जिन छात्राओं की ट्यूशन फीस प्रति माह 1,500 से अधिक नहीं है, वे इस स्कॉलरशिप स्कीम के लिए योग्य हैं.


CBSE Scholarship का उद्देश्य: इस योजना का उद्देश्य उन माता-पिता के प्रयासों को पहचानना है जो लड़कियों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने और मेधावी स्टूडेंट्स को प्रोत्साहन करने केलिए सदैव प्रयास रत रहते हैं.


Wednesday, October 21, 2020

CBSE 10th & 12th Board Exams 2021 : सीबीएसई ने 10वीं और12वीं में 50 फीसदी पाठ्यक्रम में नहीं की कटौती

CBSE 10th & 12th Board Exams 2021: सीबीएसई ने 10वीं और12वीं में 50 फीसदी सिलेबस में नहीं की कटौती, पढ़ें डिटेल।


CBSE 10th & 12th Board Exams 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए 10वीं और 12वीं की कक्षाओं में सिलेबस को पचास फीसदी तक कम नहीं किया है। इसके साथ ही इस संबंध में अभी तक कोई निर्णय भी नहीं लिया गया है। यह जानकारी सीबीएसई के मीडिया प्रभारी रमा शर्मा ने दी है। मीडिया प्रभारी ने बताया कि हालांकि सीबीएसई कोर्स कम करने के संबंध में अपने सभी संबद्ध स्कूलों से राय मांग रहा है। लेकिन फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है। वहीं बता दें कि देश भर में फैली महामारी कोरोना वायरस की वजह से पहले ही सिलेबस में पहले ही 30% की कमी की जा चुकी है।


30 फीसदी कोर्स कम करने का फैसला सीबीएसई बोर्ड ने हाल ही में लिया था। दरअसल मार्च से स्कूल-कॉलेज बंद चल रहे हैं। इसकी वजह से पढ़ाई का बेहद नुकसान हुआ है। हालांकि इसकी भरपाई के लिए बोर्ड ने ऑनलाइन कक्षाएं शुरू की हैं। लेकिन इंटरनेट की उपलब्धता, पर्याप्त नेटवर्क सहित कई बुनियादी समस्याओं को समझते हुए बोर्ड ने कोर्स में कटौती करने का फैसला किया था। बोर्ड ने इसके साथ ही यह स्पष्ट किया था कि सिलेबस में कमी का यह फैसला केवल इस साल यानी कि कोरोना काल के लिए ही लागू होता है। वहीं दूसरी तरफ स्टूडेंट्स सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की डेटशीट को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 फरवरी से शुरू हो सकती है।

Friday, October 9, 2020

CBSE 12th Compartment Result 2020 : डिजीलॉकर पर देखें 12वीं कंपार्टमेंट के रिजल्ट, रिकॉर्ड 8 दिनों में सीबीएसई ने जारी किए स्कोर कार्ड

CBSE 12th Compartment Result 2020: डिजीलॉकर पर देखें 12वीं कंपार्टमेंट के रिजल्ट, रिकॉर्ड 8 दिनों में सीबीएसई ने जारी किये स्कोर कार्ड।


CBSE 12th Compartment Result 2020: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 12वीं कक्षा के लिए आयोजित हुई कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट आज, 9 अक्टूबर को जारी कर दिया है। परीक्षार्थी अपना परिणाम डिजीलॉकर पर नीचे दिये गये लिंक से चेक कर सकते हैं। सीबीएसई बोर्ड द्वारा थोड़ी देर पहले दी गयी जानकारी के अनुसार कंपार्टमेंट परीक्षा में सम्मिलित हुए परीक्षार्थी अपने स्कोर कार्ड डिजीलॉकर से डाउनलोड कर सकते है। बोर्ड ने साथ ही जानकारी दी कि कंपार्टमेंट परीक्षाओं के परिणाम रिकॉर्ड 8 दिनों में ही घोषित कर दिेये गये हैं।

इससे पहले प्राप्त जानकारी के अनुसार केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education, CBSE) कल यानी कि 10 अक्टूबर को 12वीं कक्षा के लिए आयोजित हुई कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट जारी करने वाला था। कल बोर्ड ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर जारी किये जाने की उम्मीद की जा रही थी। हालांकि, अब रिजल्ट की राह देख रहे थे परीक्षार्थी, डिजीलॉकर पर रिजल्ट्स सेक्शन में जाकर या नीचे दिये गये लिंक से अपना स्कोर कार्ड चेक कर सकते हैं। 







CBSE Compartment Result 2020 : रिजल्ट ऐसे करें चेक

12वीं कक्षा की कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट चेक कने के लिए सबसे पहले छात्रों को सीबीएसई - डिजीलॉकर की आधिकारिक वेबसाइट results.digitallocker.gov.i पर जाना होगा। होमपेज के टॉप पर दिख रहे परिणाम पोर्टल पर क्लिक करें। इसके बाद अपनी क्लास सेलेक्ट करें। अब लॉगइन करने के लिए और रिजल्ट चेक करने के लिए लॉगिन क्रेडेंशियल दर्ज करें। इसके बाद पासवर्ड एंटर करें। उम्मीदवार अपने परिणामों की जांच कर सकते हैं और भविष्य के संदर्भ के लिए एक प्रति बचा सकते हैं।

UGC ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया था कि कॉलेजों में दाखिले 31 अक्टूबर तक लिए जा सकते हैं। इसके बाद CBSE बोर्ड ने परीक्षा और परिणामों की तारीखें जारी कीं थीं। फिर कोरोना काल में कंपार्टमेंट परीक्षाओं के आयोजन को लेकर SC में याचिका दायर की गई थी। इसके बाद कोर्ट ने UGC और CBSE को एक साथ मिलकर काम करने के लिए कहा था। कोर्ट ने कहा था कि समय पर कंपार्टमेंट परीक्ष का रिजल्ट जारी किया जाए, जिससे स्टूडेंट्स का नुकसान न हो। इसलिए अब सीबीएसई बोर्ड ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट जल्दी जारी कर रहा है, जिससे छात्र-छात्राएं कॉलेजों में दाखिले के लिए ओवदन कर सकें।सीबीएसई बोर्ड द्वारा कक्षा 10 वीं के लिए परीक्षा 22 सितंबर से 28 सितंबर 2020 तक आयोजित हुई थीं। वहीं कक्षा 12 वीं के लिए 22 से 29 सितंबर, 2020 के बीच परीक्षा आयोजित की गई थी। इस वर्ष लगभग 2 लाख छात्र कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हुए थे। कक्षा 10 और कक्षा 12 दोनों के लिए परीक्षा सुबह 10.30 से दोपहर 1.30 बजे तक एक ही पाली में आयोजित की गई थी।

Monday, October 5, 2020

सीबीएसई अब पढ़ाएगा अहिंसा का पाठ, पंजीकरण हुआ शुरू

सीबीएसई अब पढ़ाएगा अहिंसा का पाठ, पंजीकरण हुआ शुरू


मेरठ। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मूल्यों पर आधारित अहिंसा को वार्तालाप का सबसे मजबूत और प्रभावी दृष्टिकोण माना जाता है। इसी को आधार बनाकर सीबीएसई स्कूली बच्चों, अभिभावकों, शिक्षकों व प्रधानाचार्यों को नान वायलेंट कम्युनिकेशन नामक कोर्स कराने जा रहा है। संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत स्वायत्त संस्था गांधी स्मृति और दर्शन स्मृति के सहयोग से सीबीएसई ने इस कोर्स का पंजीकरण शुरू कर दिया है। सीबीएसई ने इसकी नोटिफिकेशन जारी की है। हर वर्ग के कोर्स में रजिस्ट्रेशन 10 अक्टूबर तक चलेंगे।


कोई शुल्‍क नहीं लिया जाएगा

सीबीएसई ने इस कोर्स के लिए कोई पंजीकरण शुल्क या कोर्स शुल्क नहीं रखा है। जिससे अधिक से अधिक लोग इसमें हिस्सा ले सकें और अपनी बात कहने या अपना संदेश पहुंचाने के लिए अहिंसात्‍मक रवैये के बारे में विस्तार से जान व पढ़ सकें। इसका प्रमुख उद्देश्य बच्चों व अभिभावकों और बच्चों व शिक्षकों के बीच के संवाद को मधुर व अहिंसात्‍मक बनाए रखना है। इस बाबत सीबीएसई ने कोर्स में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए प्रिंसिपल व शिक्षकों और अभिभावक व छात्रों के लिए अलग-अलग लिंक जारी किए हैं। पंजीकृत लोगों को कोर्स मैटेरियल मुहैया कराने के अलावा कुछ वेबिनार भी आयोजित किए जाएंगे। कोर्स पूरा होने पर सभी को प्रमाण पत्र प्रदान किए जाएंगे।

घटेगी दूरी, बढ़ेगा सम्मान

इस कोर्स का एक प्रमुख उद्देश्य बच्चों व अभिभावकों और शिक्षकों व स्कूल के बीच मानसिक दूरी को कम कर एक-दूसरे के प्रति आदर-सम्मान के भाव को बढ़ाना है। पिछले कुछ सालों में गुरु-शिष्य का सम्मान कुछ विशेष दिवस के दिन ही दिखता है। इस दूरी को हरी कम करने और बच्चों को मूल्यों की सीख देने के लिए यह कोर्स बच्चों से लेकर प्रिंसिपल तक के लिए कराया जा रहा है।

Saturday, October 3, 2020

CBSE Class 12 Compartment Result 2020 : सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस दिन होगा जारी, देखें

CBSE Class 12 Compartment Result 2020 : सीबीएसई 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट इस दिन होगा जारी, देखें।

CBSE Class 12 Compartment Result 2020 : सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board)12वीं कक्षा की कंपार्टमेंट परीक्षा का परिणाम 2020 के संबंध में एक बड़ी खबर सामने आई है। मीडिया अपडेट के मुताबिक 10 अक्टूबर को कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट जारी हो सकता है। ऐसे में जो भी स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल हुए थे, वे अपना रिजल्ट ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर चेक कर पाएंगे। रिजल्ट देखने के लिए स्टूडेंट्स को ऑफिशियल पोर्टल पर अपने रोल नंबर सहित अन्य डिटेल्स के साथ एंटर करके अपना स्कोर देख पाएंगे। इसके साथ ही छात्र-छात्राएं नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके भी अपना रिजल्ट देख सकते हैं।


CBSE Class 12 Compartment Result 2020: 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा कर रिजल्ट ऐसे कर पाएंगे चेक

सीबीएसई बोर्ड 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट चेक करने के लिए सबसे पहले छात्र-छात्राओं को आधिकारिक वेबसाइट- cbseresults.nic.in पर जाना होगा। इसके बाद उम्मीदवार रिजल्ट विंडोपर एंटर करें और यहां रोल नंबर, स्कूल नंबर और केंद्र नंबर दर्ज करें। इसके बाद सबमिट ’बटन पर क्लिक करें। अब आपके सामने सीबीएसई कंपार्टमेंट परिणाम 2020 कक्षा 12 स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगा। सीबीएसई कक्षा 12 कंपार्टमेंट परीक्षा का परिणाम स्क्रीन पर डाउनलोड करने के बाद भविष्य के संदर्भ के लिए रख लें।

Tuesday, September 29, 2020

NDLI : नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ने सीबीएसई 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए ऑनलाइन कंटेंट बनाया

NDLI : नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ने सीबीएसई 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए ऑनलाइन कंटेंट बनाया

 
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 10वीं और 12वीं 2021 के बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया (एनडीएलआई) ने ऑनलाइन कंटेंट तैयार किया है। एनडीएलआई ने यह कंटेंट कोरोना काल में घर बैठे छात्र-छाात्राओं को ऑनलाइन पढ़ाई में मदद करने के लिए तैयार किया है। कोरोना के चलते स्कूल बंद हैं, ऐसे में घर बैठे छात्रों को बोर्ड परीक्षा की तैयारी में इस कंटेंट से मदद मिलेगी।


सीबीएसई स्कूलों के प्रधानाचार्यो का कहना है कि इसमें उन सारे बिंदुओं पर फोकस किया गया है जो परीक्षा की तैयारी में शिक्षक तैयार करवाते हैं। बोर्ड परीक्षा के पैटर्न पर इसमें सवाल और उसका जवाब चैप्टरवार बनाया गया है। एनडीएलआई की ओर से तैयार पूरी शैक्षिक सामग्री को वेबसाइट ndl.iitkgp.ac.in पर रखा गया है।


एनडीएलआई की ओर से तैयार शैक्षिक सामग्री को सभी स्कूलों को भेजा गया है। स्कूल अपने तरीके से बच्चों को ऑनलाइन कंटेंट उपलब्ध करवाएंगे। ऑनलाइन एग्जाम प्रिपरेशन कंटेंट में प्रश्न और उसके उत्तर के अलावा अलग-अलग शैक्षिक संस्थानों के विशेषज्ञ शिक्षकों के वीडियो लेक्चर भी अपलोड किया गया है। इसे तैयार करने में दीक्षा पोर्टल के शिक्षकों की मदद भी ली गई है।
छात्र एनडीएलआई की ओर से तैयार ऑनलाइन कंटेंट से पढ़ाई कर रहे हैं। एग्जाम प्रिपरेशन कंटेंट से बोर्ड परीक्षार्थियों को मदद मिलेगी। छात्रों को होने वाले लाभ - ऑनलाइन कंटेंट के जरिए छात्रों की पढ़ाई नियमित होगी - विशेषज्ञों की ओर से से तैयार कंटेंट छात्रों की शंका का समाधान करेगा।


छात्रों को इससे पता चलेगा कि परीक्षा में कैसे प्रश्न पूछे जाएंगे

विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा की तैयारी छात्र स्वयं कर पाएंगे केंद्रीय विद्यालय, सीबीएसई स्कूलों के शिक्षकों कंटेंट तैयार करने में दी मदद - कोरोना संकट के समय घर बैठे छात्रों के लिए ऑनलाइन कंटेंट तैयार करने में एनसीईआरटी, कें द्रीय विद्यालयों, सीबीएसई स्कूलों के शिक्षकों ने तैयार किया है। इसको तैयार करने में बंगलुरू, देहरादून, गांधीग्राम, जपपुर, लखनऊ के केंद्रीय विद्यालयों के शिक्षकों ने मदद की है। कंटेंट तैयार करने में 10 वीं, 12 वीं 2019 एवं 2020 के टॉपर्स के सुझाव भी रखे गए हैं।

Saturday, September 26, 2020

CBSE और CISCE के साथ संबद्धता के लिए विद्यालयों को अब ऑनलाइन NOC

सीबीएसई और सीआइएससीई के साथ संबद्धता के लिए विद्यालयों को अब ऑनलाइन एनओसी

 
बढ़ते संक्रमण के कारण सीबीएसई और सीआइएससीई के साथ संबद्धता के लिए एनओसी (अनापत्ति प्रमाणपत्र) के आवेदन की व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने यह आदेश जारी किया है। विभाग की वेबसाइट पर इसकी जानकारी दे दी गई है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण यह व्यवस्था की जा रही है।


अब सीबीएसई और सीआइएससीई से संचालित विद्यालय प्रबंधन को एनओसी के लिए अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। वह एनओसी से सम्बंधित सारी अर्हताएं पूरी करके विभाग की वेबसाइट  पर लॉगइन करके आवेदन कर सकेंगे। आवेदन के बाद संयुक्त शिक्षा निदेशक द्वारा विद्यालय का स्थलीय निरीक्षण करके एनओसी देने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

Thursday, September 24, 2020

CBSE Compartment Exam Result 2020 : सीबीएससी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, 10 अक्टूबर तक जारी होंगे 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा के परिणाम

CBSE Compartment Exam Result 2020 : सीबीएससी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, 10 अक्टूबर तक जारी होंगे 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा के परिणाम।

CBSE Compartment Exam Result 2020 : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि कक्षा 12 के लिए सीबीएसई कंपार्टमेंट परीक्षा 2020 के नतीजे 10 अक्टूबर, 2020 तक जारी कर दिए जाएंगे। परिणाम सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट, cbse.nic.in पर उपलब्ध होगा। वहीं यूजीसी ने कोर्ट को बताया कि 31 अक्टूबर तक छात्रों को कॉलेजों में प्रवेश कराया जाएगा। 


सीबीएसई कंपार्टमेंट परीक्षा मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की गई। सुनवाई कर रहे पीठ की अध्यक्षता न्यायमूर्ति एएम खानविल्कर ने की। इस दौरान सीबीएसई और यूजीसी के दोनों वकील मौजूद थे। कोर्ट ने छात्रों के प्रवेश के लिए पर्याप्त समय मिलने पर संतोष जताया है।  


बता दें कि इससे पहले 22 सितंबर की सुनवाई में, सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड से यूजीसी के साथ समन्वय करने के लिए कहा था, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि परीक्षा में पास होने वाले स्टूडेंट्स को वर्तमान शैक्षणिक वर्ष में प्रवेश मिले। जस्टिस एएम खानविल्कर और संजीव खन्ना की बेंच ने कहा था कि 2 लाख छात्रों का करियर प्रभावित होना कोई छोटी बात नहीं है। उनका करियर पूरे एक वर्ष तक प्रभावित रहेगा। इसे देखते हुए यूजीसी और सीबीएसई साथ मिलकर काम करें और इस प्रकार से तैयारी करें, जिससे कि इस वर्ष के लिए इन छात्रों को समायोजित कर सकें।

Tuesday, September 22, 2020

CBSE : 10वीं व 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आज से।

CBSE : 10वीं व 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आज से।

नई दिल्ली : सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट की परीक्षाएं आज से शुरू होने जा रही हैं। दसवीं की परीक्षाएं 28 और बारहवीं की परीक्षाएं 30 सितंबर को समाप्त होंगी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण और सामाजिक दूरी का पालन कराने के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 500 से बढ़ाकर 1268 की गई है।


परीक्षा सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक होगी। 10.15 तक छात्रों को प्रश्न पत्र दे दिया जाएगा। इस साल देश भर में दसवी में कुल 1, 50, 198 छात्रो और 12वीं में 87, 651 छात्रों की कंपार्टमेंट आई है। कोरोना के समय में छात्रों को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसलिए परीक्षा केंद्र छात्रों के घर के नजदीक ही बनाए गए हैं। स्कूलों को कहा गया है वह इस बात का ध्यान रखें कि छात्र और शिक्षक परीक्षा केंद्र तक बिना किसी दिक्कत के पहुंच सकें। यह भी ध्यान रखें कि केंद्र के बाहर भीड़ जमा न हो।

Tuesday, September 15, 2020

CBSE : दसवीं और बारहवीं में पूछे जाएंगे 20 फीसदी ऑब्जेक्टिव सवाल, इसी शैक्षिक सत्र से लागू होगा नया नियम

CBSE : दसवीं और बारहवीं में पूछे जाएंगे 20 फीसदी ऑब्जेक्टिव सवाल, इसी शैक्षिक सत्र से लागू होगा नया नियम।

सीबीएसई ने 2020-21 शैक्षिक सत्र की बोर्ड परीक्षा में एक और बदलाव किया है। अब विद्यार्थियों को 10वीं और 12वीं के प्रश्नपत्रों में 20 फीसदी ऑब्जेक्टिव सवालों के जवाब देने होंगे। पहले केवल 10 फीसदी ऑब्जेक्टिव सवाल ही पूछे जाते थे। इस संबंध में बोर्ड की ओर से सभी स्कूलों को निर्देश भेजे जा चुके हैं।



बोर्ड ने विभिन्न विषयों के अध्यायों में भी बदलाव किया है। सेकेंडरी स्तर पर रसायन विज्ञान के सॉलिड स्टेट चैप्टर में पी ब्लॉक के 15 ग्रुप टॉपिक्स को 11वीं से हटाकर 12वीं में शामिल किया गया है।

साथ ही सेकेंडरी लेवल पर गणित के कोर्स में एप्लाइड मैथमेटिक्स का एक नया विकल्प जोड़ा गया है। इस विषय को वर्तमान सत्र 2020-21 से ही लागू किया गया है। जिन विद्यार्थियों ने 10वीं में बेसिक गणित पढ़ी है, वह 11वीं में एप्लाइड मैथ का विकल्प चुन सकते हैं।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, September 12, 2020

CBSE : कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी, क्लिक करके करें डाउनलोड

CBSE : कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी।

CBSE Compartment Admit Card 2020 Released : सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) ने 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाओं के लिए एडमिट कार्ड जारी किया गया है। सीबीएसई बोर्ड ने परीक्षाओं के लिए एडमिट कार्ड ऑफिशियल पोर्टल cbse.nic.in पर रिलीज किया है। ऐसे में जो भी परीक्षार्थी इस एग्जाम में शामिल होने वाले हैं, वे आधिकारिक पोर्टल पर लॉगइन करके कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। इसके अलावा नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके भी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।


▪️ 👉🏻 यहां क्लिक करके डायरेक्ट एडमिट कार्ड करें डाउनलोड 👈🏻▪️


▪️👉🏻 ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के लिए यहां करें क्लिक 👈🏻▪️






10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राएं आधिकारिक पोर्टल cbse.nic.in पर जाएं। इसके बाद होमपेज पर दिए लिंक पर क्लिक करें, जिस पर लिखा हुआ है कि 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा के एडमिट कार्ड लिंक डाउनलोड करें लिखा हुआ है। अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा। इसके बाद आवेदन संख्या, रोल नंबर और उम्मीदवार का नाम एंटर करें। इसके बाद आपके सामने एडमिट कार्ड ओपन हो जाएगा। एडमिट कार्ड भविष्य के लिए प्रिंटआउट संभालकर रखें।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

सीबीएसई ने दी 12वीं के छात्रों को भी सब्जेक्ट रिप्लेस की सुविधा

सीबीएसई ने दी 12वीं के छात्रों को भी सब्जेक्ट रिप्लेस की सुविधा।


प्रयागराज :  सीबीएसई ने आगामी बोर्ड परीक्षा के लिए बड़ा बदलाव किया है। आगामी बोर्ड परीक्षा से 12वीं के छात्र-छात्राओं को सब्जेक्ट रिप्लेस की सुविधा दी जा रही है। इसके तहत मुख्य विषयों में से किसी एक विषय में फेल छात्र को अतिरिक्त विषय का अंक जोड़कर पास कर दिया जाएगा। बोर्ड की ओर से अभी तक यह सुविधा 10वीं के छात्रों को ही मिली थी। 2021 की बोर्ड परीक्षा से 12वीं के छात्रों को भी इस सुविधा का लाभ दिया जाएगा।





सीबीएसई ने छात्रों के रिजल्ट में सुधार हो लिए यह कवायद की है। अभी तक किसी छात्र को एक विषय में एक या दो अंक कम मिले हैं तो वह फेल हो जाता था और उसे कंपार्टमेंट परीक्षा देनी होती थी। अब नई व्यवस्था में एक विषय में फेल होने के बाद छात्र उस विषय को अतिरिक्त विषय से बदल सकेगा। वहीं बोर्ड का कहना है कि छात्र अतिरिक्त विषय के रूप में स्किल सब्जेक्ट का भी चुनाव कर सकते हैं। स्किल सब्जेक्ट को मेन सब्जेक्ट से बदला जा सकेगा। सब्जेक्ट रिप्लेस करने की सुविधा मुख्य तीन विषयों में से किसी एक में फेल होने की दशा में मिलेगी।


10वीं के रिजल्ट में 20 फीसदी की बढ़ोतरी

सीबीएसई की ओर से पहली बार 2020 में 10वीं की बोर्ड परीक्षा में मेन सब्जेक्ट को अतिरिक्त विषय से रिप्लेस किए जाने से 20 फीसदी ऐसे छात्र जो फेल हो गए थे, पास हो गए। ऐसे छात्रों ने मुख्य विषय के एक विषय को अतिरिक्त विषय से रिप्लेस कर दिया। इससे 20 फीसदी रिजल्ट बेहतर हुआ था।
2021 की बोर्ड परीक्षा से 12वीं के बच्चों को यह सुविधा दी जा रही है। मुख्य विषय को अतिरिक्त विषय से रिप्लेस किया जा सकेगा। इस बदलाव से छात्रों को पास होने का एक विकल्प मिलेगा। इससे छात्रों में अतिरिक्त विषय खासकर स्किल सब्जेक्ट के प्रति रुझान बढ़ेगा। -संयम भारद्वाज, परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई।


CBSE 12वीं : एक विषय से फेल तो बदले में अतिरिक्त विषय का विकल्प।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा 2021 में 12वीं बोर्ड परीक्षार्थी को अतिरिक्त विषय को रिप्लेस करने का विकल्प दिया है। अगर 12वीं बोर्ड देने वाला कोई छात्र अपने तीन मुख्य विषय में से किसी एक विषय में फेल हो गया तो अतिरिक्त विषय से उसे बोर्ड रिप्लेस कर देगा। इससे छात्र को उत्तीर्णता का रिजल्ट मिलेगा। अभी तक यह सुविधा 10वीं के छात्रों को ही मिली थी। बोर्ड ने 10वीं बोर्ड परीक्षार्थी को 2020 में यह सुविधा दी थी लेकिन 2021 से 12वीं के छात्रों को भी मिलेगा। ज्ञात हो कि 2020 के 12वीं बोर्ड का रिजल्ट काफी खराब हो गया है। पटना जोन के बिहार की बात करें तो एक लाख से अधिक छात्र 12वीं में शामिल हुए थे। लेकिन 36 हजार से अधिक परीक्षार्थी फेल हो गये। छात्रों के रिजल्ट में सुधार हो, इसके लिए बोर्ड द्वारा यह सुविधा दी जा रही है। अभी तक अगर किसी एक विषय में एक या दो अंक कम हैं तो वो फेल हो जाते हैं और उन्हें फिर कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होना होता है। लेकिन अब एक विषय में फेल होने के बाद छात्र के पास रिप्लेस करने का विकल्प रहेगा।

CBSE पूरी तरह पेपरलेस बना, ई-हरकारा पोर्टल से सुनी जा रही स्कूलों की बात
अतिरिक्त विषय के प्रति बढ़ेगा रुझान  :
बोर्ड द्वारा अतिरिक्त विषय का विकल्प देने से छात्रों में अतिरिक्त विषय लेने का रुझान बढ़ेगा। बोर्ड की मानें तो छात्र अतिरिक्त विषय के तौर स्कील विषय भी रख सकते हैं। स्कील विषय को भी मुख्य विषय से रिप्लेस किया जा सकेगा।


रिजल्ट में 20% की बढ़ोतरी
बोर्ड की मानें तो 10वीं के 2020 के रिजल्ट में बढ़ोतरी हुई है। लगभग 20 फीसदी ऐसे छात्र थे जो मुख्य विषय में फेल हो गये थे। ऐसे में बोर्ड ने छात्र के मुख्य एक विषय का अंक अतिरिक्त विषय से रिप्लेस कर दिया। मुख्य तीन विषय में छात्र के अतिरिक्त विषय को जोड़ दिया गया। इससे छात्र पास हो गये। इससे 20 फीसदी रिजल्ट बेहतर हुआ था।

12वीं बोर्ड में 2021 से यह लागू होगा। इससे छात्रों को पास होने का एक विकल्प मिलेगा। साथ में अतिरिक्त विषय खासकर स्कील विषय के प्रति रुझान भी बढ़ेगा।
- संयम भारद्वाज, परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई


10वीं व 12वीं में गलत प्रश्न पर पूरे अंक देगा सीबीएसई 
सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए ऑनलाइन एग्जाम सेंटर मैनेजमेंट सिस्टम (ओईसीएमएस) बनाया है। इसके माध्यम से परीक्षा के दौरान हर दिन प्रश्न पत्र पर स्कूलों से फीडबैक लिया जायेगा। इसके लिए स्कूल में विषयवार शिक्षकों की टीम बनायी जायेगी। यह टीम अपना फीडबैक 24 घंटे के अंदर बोर्ड को भेजेगी। प्रश्न पत्र पर शिक्षकों के फीडबैक के आधार पर मार्किंग स्कीम तैयार की जायेगी। पिछले कुछ सालों में 10वीं और 12वीं के प्रश्न पत्र में गलतियां होती है। कई बार इसको लेकर छात्रों द्वारा आवाज उठायी जाती है। कई बार बोर्ड एक्सपर्ट द्वारा यह पकड़ में आता है। ऐसे में छात्रों को नुकसान नहीं हो, इसके लिए बोर्ड द्वारा इस बार ओईसीएमएस से बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने प्रश्नों पर नजर रखी जायेगी। अगर परीक्षा के दौरान किसी प्रश्न पत्र में कोई प्रश्न गलत होगा, तो ऐसे केस में सीबीएसई द्वारा उस प्रश्न पर पूरे अंक दिये जायेंगे।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, September 11, 2020

पूरक परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों की मदद नहीं कर पायेगा सीबीएसई

पूरक परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों की मदद नहीं कर पायेगा सीबीएसई।

नई दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने गुरुवार को कहा कि इस महीने 12वीं कक्षा प्रवेश कॉलेजों और की पूरक परीक्षा में शामिल होने जा रहे छात्रों की सीबीएसई की खास मदद नहीं कर पाएगा। क्योंकि उच्च शिक्षा के लिए उनका विश्वविद्यालयों में होना है।

याचिका पर सुनवाई : शीर्ष अदालत ने एक याचिका की सुनवाई के दौरान यह कहा। उक्त याचिका में केंद्रीय माध्यमिकशिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की पूरक परीक्षाएं आयोजित करने के फैसले को चुनौती देते हुए कहा गया है कि यह परीक्षार्थियों की सेहत के लिए नुकसानदायक होगा। न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ ने याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता विवेक तन्खा से कहा, "उन छात्रों का प्रवेश कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और डीम्ड विश्वविद्यालयों में होना है, इसमें सीबीएसई पूरक परीक्षा देने वाले छात्रों की कुछ खास मदद नहीं कर पाएगी।"





कोरोना के कारण मुख्य परीक्षाएं नहीं हो सकी : तन्खा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण सीबीएसई मुख्य परीक्षाएं आयोजित नहीं करवा सका और मूल्यांकन की मिश्रित प्रणालियों के आधार पर परिणाम घोषित किए गए। इसकी वजह से कई छात्रों को पूरक परीक्षा में बैठना पड़ रहा है।उन्होंने कहा,"पूरक परीक्षाओं में बैठने वाले करीब पांच लाख छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए कुछ करना जरूरी है। इसके साथ ही, शीर्ष अदालत ने कहा कि करीब 87,000 छात्र फेल हो गए और सीबीएसई के पास इस मुद्दे का कोई समाधान नहीं है।



फिलहाल, कोर्ट ने याचिका की एक प्रति केंद्र को भेजने का निर्देश देने के साथ ही मामले पर सुनवाई की अगली तारीख 14 सितंबर तय की।

अस्थायी प्रवेश देने का अनुरोध कर सकती है : न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना भी पीठ का हिस्सा हैं। इस पर तन्खा ने कहा कि सीबीएसई कॉलेजों से इन छात्रों को अस्थायी प्रवेश देने या पूरक परीक्षाओं का परिणाम घोषित होने तक इंतजार करने का अनुरोध कर सकती है। उन्होंने आगे कहा कि पूरक परीक्षाएं 22 सितंबर से 29 सितंबर के मध्य होनी हैं। तब तक विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश बंद हो चुका होगा। ऐसे में पूरक परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों को कॉलेजों में प्रवेश नहीं मिल पाएगा और उनका पूरा साल बेकार चला जाएगा।

सुनवाई : याचिका में पूरक परीक्षाएं आयोजित करने के फैसले को चुनौती दी गई, परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों के हितों का ध्यान रखना जरूरी बताया

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, September 8, 2020

सीबीएसई : अब हर शैक्षिक सत्र में छात्रों की हाजिरी की जांच करेगा बोर्ड, अनुपस्थित रहे छात्रों के अभिभावकों को स्कूल नहीं आने पर बताना होगा कारण

सीबीएसई : अब हर शैक्षिक सत्र में छात्रों की हाजिरी की जांच करेगा बोर्ड, अनुपस्थित रहे छात्रों के अभिभावकों को स्कूल नहीं आने पर बताना होगा कारण।

प्रयागराज :  सीबीएसई अब हर शैक्षिक सत्र में छात्रों की एक जनवरी तक की अटेंडेंस चेक करेगा। बोर्ड की ओर से स्कूलों को दिए निर्देश में कहा है कि जो छात्र-छात्राएं नियमित स्कूल नहीं आते हैं, उनका रिकार्ड रखा जाए।



ऐसा देखा जाता है कि दसवीं और बारहवीं के बच्चे डमी स्कूलों में प्रवेश ले लेते हैं। स्कूल वाले भी कम आने वाले बच्चों की सूची और इसकी जानकारी बोर्ड को नहीं देते हैं। इसलिए बोर्ड ने कम उपस्थिति वाले छात्रों के लिए नियमावली तैयार की है। इसमें स्कूल छात्रों एवं अभिभावकों को अटेंडेंस से जुड़े नियमों के बारे में बताएंगे। यह नियम सत्र की शुरुआत में ही छात्रों को बताने होंगे। सीबीएसई की ओर से कहा गया है कि हर शैक्षिक सत्र में एक जनवरी तक की उपस्थिति की गिनती की जाएगी।

दसवीं और बारहवीं में क्षेत्रीय कार्यालय को रिपोर्ट सात जनवरी तक भेजनी होगी, इस बारे में बोर्ड 21 जनवरी तक जवाब देगा। स्कूल नहीं आ रहा बच्चा यदि बीमार है तो अभिभावकों को आवेदन के साथ सरकारी अथवा फिर सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के मेडिकल सर्टिफिकेट देने होंगे।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, September 4, 2020

CBSE Compartment Exam Date 2020 : सीबीएसई कंपार्टमेंट परीक्षा 2020 का शेड्यूल जारी, देखें

CBSE Compartment Exam Date 2020 : सीबीएसई कंपार्टमेंट परीक्षा 2020 का शेड्यूल जारी, इस दिन से शुरू होगी परीक्षा।



CBSE : दसवीं- बारहवीं की कम्पार्टमेंट परीक्षाएं 22 सितम्बर से होंगी शुरू, देखें परीक्षा शेड्यूल।

नई दिल्ली : (सीबीएसई) ने शुक्रवार को कक्षा 10वीं- 12वीं की इंप्रूवमेंट कंपार्टमेंट परीक्षाओं की तिथियां जारी कर दी हैं। सीबीएसई 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं 22 से 29 सितंबर तक और 10वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं 22 से 28 सितंबर 2020 तक आयोजित की जाएंगी।

सीबीएसई ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि इम्प्रूपवमेंट, कंपार्टमेंट परीक्षा सितंबर के अंत तक आयोजित कराई जाएंगी। इस संबंध में अधिसूचना जारी की जाएगी।

घोषणा

▪️सीबीएसई ने परीक्षाओं की तिथियां घोषित कर दी

▪️इससे पहले सुप्रीम कोर्ट को भी दी थी परीक्षाओं की जानकारी

.....

CBSE Compartment Exam Date 2020 : सीबीएसई कंपार्टमेंट परीक्षा 2020 का शेड्यूल जारी, इस दिन से शुरू होगी परीक्षा।

CBSE Compartment Exam Date 2020: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कंपार्टमेंट परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है। बोर्ड ने कक्षा 10 और कक्षा 12 दोनों के लिए पूरी डेट शीट जारी कर दी है। इसके मुताबिक 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 22 सितंबर से शुरू हो रही हैं। बारहवीं के एग्जाम 22 से शुरू होकर 29 सितंबर तक चलेंगे, जबकि 10वीं की परीक्षाएं 22 सितंबर से 28 सितंबर तक कराए जाएंगे। ऐसे में जो भी छात्र-छात्राएं इस परीक्षा में शामिल होने वाले हैं, वे पूरा शेड्यूल बोर्ड की आधिकारिक साइट पर cbse.nic.in पर चेक कर सकते हैं। कक्षा 10 और कक्षा 12 दोनों के लिए परीक्षा सिर्फ एक शिफ्ट में आयोजित की जाएगी। इसके मुताबिक सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक एक ही पाली में आयोजित की जाएगी।

▪️ CBSE Compartment Exam Date 2020 : डेटशीट ऐसे कर पाएंगे डाउनलोड

10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा की डेटशीट डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार CBSE की आधिकारिक साइट cbse.nic.in पर जाएं। यहां होम पेज पर उपलब्ध कक्षा 10 या कक्षा 12 लिंक के लिए सीबीएसई कम्पार्टमेंट परीक्षा तिथि 2020 पर क्लिक करें। अब आपके सामने एक नई पीडीएफ फाइल खुलेगी। उम्मीदवार यहां परीक्षा तिथियों की जांच कर सकते हैं और फ़ाइल डाउनलोड कर सकते हैं। इसके अलावा डेटशीट को डाउनलोड करके एग्जाम के लिए सुरक्षित रख भी सकते हैं।


हालांकि 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा को लेकर विरोध चल रहा है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इस पर आज यानी कि 4 सितंबर को सुनवाई की थी। केस की सुनवाई जस्टिस एएम खानविलकर, दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना की बेंच ने की। बेंच ने सीबीएसई बोर्ड को 7 सितंबर तक इस मामले में प्रतिक्रिया दर्ज करने के लिए कहा है। साथ ही इस मामले को 10 सितंबर तक के लिए टाल दिया है। अब इस मामले पर अंतिम सुनवाई इस तारीख को होगी। इसके बाद ही निर्णय हो पाएगा कि परीक्षाएं होंगी या नहीं।

कक्षा -10 शेड्यूल






कक्षा-12 शेड्यूल









CBSE ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, सितंबर अंत तक हो सकती हैं 10वीं 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं, बढ़ाएं जाएंगे परीक्षा केंद्र।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सितंबर अंत तक कक्षा 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आयोजित कराई जा सकती हैं। बोर्ड ने यह भी बताया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए परीक्षा केंद्रों को बढ़ाकर 1,278 कर दिया गया है। सीबीएसई ने यह बात तब कही जब शीर्ष अदालत कंपार्टमेंट परीक्षा रद्द करने की छात्रों की याचिका पर सुनवाई कर रही थी।






जस्टिस एएम खानविलकर की अध्यक्षता में तीन जजों की बेंच ने छात्रों की याचिका पर सीबीएसई बोर्ड को नोटिस जारी 7 सितंबर तक जवाब दाखिल करने को कहा है। सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीएसई को अगली सुनवाई से पहले हलफनामा दायर करने को कहा है। साथ ही पूछा है कि वो कोविड-19 के समय कैसे परीक्षा आयोजित करना चाहता है। मामले की अगली सुनवाई 10 सितंबर को होगी।


CBSE : 10वीं और 12वीं परीक्षार्थी को इस बार पुनर्मूल्यांकन का दोहरा फायदा

सीबीएसई 10वीं में इस बार 1,50,198 स्टूडेंट्स और 12वीं के 87,651 स्टूडेंट्स की कंपार्टमेंट आई थी। कुछ दिनों पहले सीबीएसई ने ग्रेस मार्क्स देकर छात्रों को पास करने से साफ इनकार कर दिया था। बोर्ड ने कहा था कि जो छात्र एक और दो विषय में फेल हैं, उन्हें कंपार्टमेंटल परीक्षा देनी ही होगी।

कोर्ट में सीबीएसई का पक्ष रख रहे एडवोकेट रूपेश कुमार ने कहा कि कंपार्टमेंट परीक्षाएं सितंबर अंत तक हो सकती हैं और इसके लिए सभी जरूरी सावधानियां बरती जाएंगी। पिछले वर्ष जहां 575 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, वहां इस बार 1278 परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परीक्षा कराने के लिए एक कक्षा में सिर्फ 12 छात्रों को ही बैठाया जाएगा।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

सीबीएसई : 07 सितंबर से 15 अक्तूबर तक भरे जाएंगे 10वीं, 12वीं परीक्षा फॉर्म

सीबीएसई: 10वीं, 12वीं परीक्षा फॉर्म सात सितंबर से 15 अक्तूबर तक भरे जाएंगे



केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 2021 की बोर्ड परीक्षा के लिए 10वीं, 12वीं के लिए परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि जारी कर दी है। बोर्ड की ओर से 10वीं, 12वीं के परीक्षा फॉर्म भरने के लिए सात सितंबर से 15 अक्टूबर के बीच समय सीमा तय की गई है।


बोर्ड ने कहा है कि यदि 15 अक्टूबर तक कोई विद्यार्थी फॉर्म नहीं भर पाता है तो विलंब शुल्क के साथ 16 से 31 अक्टूबर तक परीक्षा फॉर्म भर सकता है। इस बारे में स्कूलों को सूचना भेज दी गयी है।

सीबीएसई के अनुसार परीक्षार्थियों को परीक्षा शुल्क के साथ अतिरिक्त विषय के 300 रुपए अलग से देने होंगे। इसके अतिरिक्त 12 वीं में प्रायोगिक परीक्षा के लिए प्रति विषय 150 रुपए शुल्क अलग से देना होगा।




नौवीं-ग्यारहवीं का पंजीकरण भी सात सितंबर से।

सीबीएसई ने 10वीं, 12वीं के परीक्षा फार्म भरने के साथ ही नौवीं-ग्यारहवीं के लिए पंजीकरण की तिथि भी जारी कर दी है। स्कूलों को नौवीं-ग्यारहवीं के छात्रों का पंजीकरण सात सितंबर से शुरू करना होगा। इसकी सूचना स्कूलों को दे दी गई है। नौवीं-ग्यारहवीं का पंजीकरण बिना विलंब शुल्क के चार नवंबर तक चलेगा, पंजीकरण के लिए प्रति छात्र 300 रुपए शुल्क देना होगा। चार नवंबर के बाद विलंब शुल्क के साथ पंजीकरण कराना होगा।


कोरोना के चलते कम हो गया कोर्स

सीबीएसई ने कोरोना के चलते 2020-21 शैक्षिक सत्र में नौवीं से बारहवीं तक का कोर्स 30 फीसदी कम कर दिया गया है। कोर्स में यह कटौती चालू शैक्षिक सत्र के लिए किया गया है। आगे कोरोना से स्थिति सामान्य होने के बाद छात्रों को पूरा कोर्स पढना होगा।

ग्यारहवीं के छात्र चुन सकते हैं एप्लाइड मैथमेटिक्स

सीबीएसई ने ग्यारहवीं, बारहवीं के लिए मैथ पढने के इच्छुक छात्रों के लिए कोर्स में एप्लाइड मैथमेटिक्स का नया विकल्प दिया है। विद्यार्थी चालू शैक्षिक सत्र में इस विषय का चुनाव कर सकते हैं। बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि 10 वीं में बेसिक मैथ पढने वाले छात्र 11 वीं में एप्लाइड मैथ का चुनाव कर सकते हैं। सीबीएसई ने 2021 की बोर्ड परीक्षा के प्रश्रपत्रों में बदलाव का भी निर्णय लिया है। अब विद्याथियों को 20 फीसदी आब्जेक्टिव प्रश्रों के जवाब देने होंगे। इससे पहले परीक्षा में 10 आब्जेक्टिव सवाल पूछे जाते थे।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।