DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label कार्यवाही. Show all posts
Showing posts with label कार्यवाही. Show all posts

Wednesday, August 19, 2020

प्रतापगढ़ में 17 परिषदीय शिक्षक मिले फर्जी, पांच पर एफआइआर

प्रतापगढ़ में 17 परिषदीय शिक्षक मिले फर्जी, पांच पर एफआइआर।


बीईओ ने बताया है कि सुबोध का चयन 68 हजार 500 शिक्षकों की नियुक्ति में हुआ था। शिक्षक का टीईटी प्रमाण पत्र जांच में फर्जी मिला है। 

प्रयागराज : पडोसी जनपद प्रतापगढ़ में जिले के परिषदीय स्कूलों में 17 परिषदीय शिक्षकों के अभिलेख फर्जी मिले हैं। इनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने का आदेश बीएसए ने दिया है। इनमें से मंगलवार को पांच परिषदीय शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। यह सभी फर्जी दस्तावेज से नौकरी हासिल किए थे। इनके विरुद्ध धोखाधड़ी, जालसाजी का मुकदमा थानों में दर्ज कराया गया है।



नौकरी के लिए बन गए थे भूतपूर्व सैनिक
जिले के परिषदीय स्कूलों में फर्जीवाड़ा कर नौकरी हासिल करने वालों पर विभाग ने शिकंजा कसा है। वर्ष 2017-18 में फर्जी दस्तावेज से शिक्षक की नौकरी हासिल करने वाले 17 शिक्षकों के अभिलेख फर्जी पाए गए हैं। इनके विरुद्ध बेसिक शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह ने एफआइआर का आदेश दिया है। लालगंज प्रतिनिधि के अनुसार रामपुर संग्रामगढ़ के खंड शिक्षा अधिकारी मो. रिजवान ने लालगंज कोतवाली में दी गई तहरीर में कहा है कि प्राथमिक विद्यालय ढिंगवस में उर्दू भाषा में जिले के मधुपुर प्रतापगढ़ निवासी रियासत अली पुत्र अब्दुल खालिक ने हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट के अंक पत्र फर्जी लगाकर नियुक्ति हासिल कर ली थी। यही नहीं शिक्षक ने स्वयं को भूतपूर्व सैनिक होने का भी फर्जी प्रमाण पत्र लगाया था। जांच में फर्जीवाड़े का राजफाश हुआ।

बीएड का फर्जी अंकपत्र लगाकर कर रहे थे नौकरी
इसी तरह प्राथमिक विद्यालय वीरसिंहपुर में कौशांबी जिले के पूरे पोखरा निवासी अरविंद कुमार पुत्र अमरनाथ ने बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी से फर्जी बीएड का अंकपत्र लगाकर सहायक अध्यापक पद पर धोखे से चयन करा लिया था। जांच में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय ने आरोपित द्वारा दिए गए अनुक्रमांक को फर्जी बताया। इसी तरह जिले के मेंहदियावारी मुस्तर्का प्रतापगढ़ निवासी संजीव कुमार पुत्र रामनाथ ने विकासखंड के ग्राम पंचायत जेवई पूरे विश्राम प्राथमिक विद्यालय में फर्जी अंकपत्र लगाकर सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति हासिल कर ली थी। जांच में संजीव कुमार के अभिलेख कूटरचित पाए गए। बीईओ मो. रिजवान ने बताया कि तीनों शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जा रही है। सांगीपुर प्रतिनिधि के अनुसार सहायक अध्यापिका पर फर्जी दस्तावेज से नौकरी हासिल करने पर  कोठा नेवडिय़ा प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका उमा देवी सरोज पुत्री अजय सरोज के खिलाफ सांगीपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

जांच में शिक्षिका का 2011 टीईटी का प्रमाण पत्र फर्जी मिला 
जांच में 2011 टीईटी का फर्जी प्रमाण पत्र लगाकर नौकरी हासिल करना पाया गया। इस पर  खंड शिक्षा अधिकारी संड़वा चंद्रिका राम शंकर ने मंगलवार को सांगीपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया। संड़वाचंद्रिका प्रतिनिधि के अनुसार अंतू थाना क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय मझिलहा में टीईटी के फर्जी प्रणामपत्र पर नौकरी कर रहे शिक्षक सुबोध कुमार के खिलाफ बीईओ ने अंतू थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। जांच में मामला पकड़ में आने पर बीएसए ने बीईओ सदर को रिपोर्ट दर्ज कराने का आदेश दिया था। बीईओ ने बताया है कि सुबोध का चयन 68 हजार 500 शिक्षकों की नियुक्ति में हुआ था। शिक्षक का टीईटी प्रमाण पत्र जांच में फर्जी मिला है। विभाग द्वारा शिक्षक को अभी वेतन निर्गत नहीं  किया गया है। बीएसए अशोक कुमार सिंह ने बताया कि 17 शिक्षकों ने फर्जी दस्तावेज से नौकरी हासिल की थी। इन सभी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने का आदेश खंड शिक्षाधिकारियों को दिया गया है।

..........


प्रतापगढ़ : दो शिक्षकों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, फर्जी दस्तावेजों से हासिल की थी नौकरी, बीईओ ने दी तहरीर।

प्रतापगढ़ : दो शिक्षकों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, फर्जी दस्तावेजों से हासिल की थी नौकरी, बीईओ ने दी तहरीर।

फर्जी दस्तावेज के सहारे नौकरी हासिल करने वाले दो शिक्षकों पर बाघराय पुलिस ने धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की है। यह लोग कभी विद्यालय में नहीं आए। उनके अभिलेख फर्जी होने की जानकारी पर पुलिस ने बीईओ की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।


क्षेत्र के परिषदीय स्कूलों में फर्जी अभिलेख लगाकर नौकरी हथियाने वाले दो शिक्षक बिहार ब्लाक में भी मिले हैं। बीएसएफ की तहरीर पर बाघराय पुलिस ने उन पर भी मुकदमा दर्ज कर लिया है। बिहार विकास खंड के बीईओ आशीष पांडेय की तहरीर पर प्राथमिक विद्यालय शकरदहा में नियुक्त शिक्षक पुष्पा पटेल पुत्री रामलखन निवासी गांव चकनुद्दीनपुर थाना कोरांव प्रयागराज व प्राथमिक विद्यालय शकरदहा में तैनात सुनील कुमार शुक्ला पुत्र खेमचंद शुक्ल निवासी समा की सराय बेधनगोपालपुर थाना बाघराय के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। 

यह लोग फर्जी दस्तावेज के सहारे नौकरी कर रहेथे। बाघराय पुलिस ने उन पर धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। उधर, महेशगंज थाना क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय सरायस्वामी में कार्यरत शिवमूरत सिंह और प्राथमिक विद्यालय पूरेजनक राजापुर में कार्यरत कमलेश कुमार के खिलाफ खंड शिक्षा अधिकारी मोहम्मद रिजवान ने जालसाजी कूट रचित दस्तावेज तैयार कर नौकरी हासिल करने की तहरीर दी है। तहरीर मिलने के बाद पुलिस देर शाम दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की तैयारी में थी।

.............


फर्जीवाड़ा में 12 और शिक्षकों पर एफआईआर।


फर्जीवाड़ा कर बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी हासिल करने वाले 17 में से16 शिक्षकों के विरुद्ध एफआईआर हो चुकी है। तहरीर देने के बावजूद अभी एक शिक्षक पर एफआईआर नहीं हो सकी है। चार के खिलाफ मंगलवार को तो 12 के विरुद्ध बुधवार को रिपोर्ट दर्ज की गई।
प्राथमिक शिक्षक बनने में बहुत से लोगों ने अभिलेखों में हेरफेर कर कामयाबी हासिल की है। फर्जीवाड़ा करने वाले ऐसे शिक्षकों के खिलाफ शासन स्तर से जांच कराई जा रही है। एसटीएफ, एसआईटी व विभाग की जांच में फर्जीवाड़ा करने वाले सामने आ रहे हैं। जिले में मंगलवार को 17 शिक्षक इस तरह के पकड़ में आए।

 मंगलवार को ही खंड शिक्षा अधिकारियों की तहरीर पर चार शिक्षकों के विरुद्ध एफआईआर हुई थी जबकि 13 के खिलाफ तहरीर पुलिस को दी जा चुकी है। बुधवार को लक्ष्मणपुर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय की सहायक अध्यापिका मीना देवी, प्राथमिक विद्यालय समसपुर कुंडा के शिक्षक बृजेन्द्र कुमार, प्राथमिक विद्यालय मझिलहा सदर के शिक्षक सुबोध कुमार सिंह, प्राथमिक विद्यालय सराय बिहार के शिक्षक सुनील कुमार शुक्ल, प्राथमिक विद्यालय शकरदहा प्रथम बिहार की शिक्षिका पुष्पा पटेल और प्राथमिक विद्यालय शाहपुर कुंडा के शिक्षक राकेश कुमार के विरुद्ध संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों की तहरीर पर अलग अलग थानों में रिपोर्ट दर्ज की गई।

फर्जीवाड़ा करने वाले छह और शिक्षकों पर बुधवार शाम पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की। इनमें प्राथमिक विद्यालय सराय स्वामी बाबागंज के शिक्षक शिव मूरत सिंह, प्राथमिक विद्यालय मनकापुर बेलखरनाथ की शिक्षिका जाकिरा बानो, प्राथमिक विद्यालय नारायणपुर मंगरौरा की शिक्षिका सुषमा वर्मा, प्राथमिक विद्यालय मोहद्दीनपुर मानधाता की शिक्षिका रागिनी सिंह, प्राथमिक विद्यालय पूरे जनक बाबागंज के शिक्षक कमलेश कुमार सिंह और प्राथमिक विद्यालय सराय मेदीराय मानधाता की शिक्षिका उषा पटेल शामिल हैं। प्राथमिक विद्यालय चांदपुर मंगरौरा के शिक्षक रमीज खान के खिलाफ तहरीर दी गई है लेकिन अब तक रिपोर्ट नहीं दर्ज हो सकी है। बीएसए अशोक कुमार सिंह ने बताया कि फर्जीवाड़ा करने वाले 16 शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। रमीज खान पर रिपोर्ट के लिए उन्होंने डीएम से मिलने की बात कही।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, August 18, 2020

देवरिया में दो फर्जी शिक्षिकाएं बर्खास्त, अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की खतरे में नौकरी

देवरिया में दो फर्जी शिक्षिकाएं बर्खास्त, अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की खतरे में नौकरी।

देवरिया : :  दूसरे के नाम पर नौकरी कर रहीं दो शिक्षकों को बीएसए ने सोमवार को बर्खास्त कर दिया। महानिदेशक स्कूल शिक्षा की जांच में मामला पकड़ में आने पर हुई जांच के बाद दोनों शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई हुई। दोनों शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर वेतन रिकवरी के निर्देश बीएसए ने दिए हैं।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा कार्यालय की जांच में जून में प्रदेशभर में एक ही पैन पर दो लोगों के नौकरी करने के 192 मामले मिले थे इनमें से सात मामले देवरिया के थे। इसकी जांच के दौरान प्राथमिक विद्यालय मुसैला खुर्द की प्रधानाध्यापक रेनूबाला और प्राथमिक विद्यालय नदावर घाट की प्रधानाध्यापक सीमा सिंह मोबाइल बंद कर गायब हो गई। सलेमपुर के खंड शिक्षा अधिकारी लक्ष्मीनारायण ने एक जुलाई को दोनों शिक्षकों को जरूरी कागज के साथ उपस्थित होने के लिए फोन करना चाहा तो दोनों का मोबाइल बंद मिला। इसके बाद खंड शिक्षा अधिकारी ने एक जुलाई को ही दोनों विद्यालयों का दौरा किया। इसमें सीमा सिंह अपने तैनातीस्थल प्राथमिक विद्यालय नदावर घाट में नहीं मिलीं। विद्यालय बंद मिला। वहीं मुसैला खुर्द प्राथमिक विद्यालय से प्रधानाध्यापिका रेनूबाला बिना सूचना के गायब मिलीं। इसकी सूचना खंड शिक्षा अधिकारी ने बीएसए को दी। बीएसए ने वेतन बाधित करते हुए दोनों शिक्षकों के पते पर नोटिस भेजकर जरूरी दस्तावेजों के साथ उपस्थित होने को कहा था।




अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की नौकरी खतरे में

अमेठी : अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद जिले के बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़े का एक और मामला प्रकाश में आया है। जहां विभिन्न ब्लॉकों में तैनात पांच शिक्षकों के अभिलेख पर जनपद फिरोजाबाद में भी पांच शिक्षकों द्वारा नौकरी पाए जाने का आरोप है। मामले में बीएसए ने इन सभी शिक्षकों का वेतन रोकते हुए उन्हें अपना पक्ष रखने को कहा है। साथ ही फिरोजाबाद बीएसए को पत्र लिखकर वहां तैनात शिक्षकों का वेरिफिकेशन कर उनकी अभिलेखों की छाया प्रति मांगी है। बेसिक शिक्षा विभाग में अलग-अलग ब्लॉकों के परिषदीय विद्यालय में कार्यरत 5 शिक्षकों के अभिलेखों पर किसी व्यक्ति ने बीएसए से फोन पर शिकायत की थी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, July 24, 2020

कौशाम्बी : डिप्टी सीएम पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला शिक्षक सस्पेंड, सोशल मीडिया में वायरल हुआ था आडियो

कौशाम्बी : डिप्टी सीएम पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला शिक्षक सस्पेंड, सोशल मीडिया में वायरल हुआ था आडियो।

कौशाम्बी :: विकास खंड कड़ा के प्राथमिक विद्यालय सौरई बुजुर्ग में तैनात शिक्षक अजय साहू को डिप्टी सीएम समेत स्थानीय भाजपा नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना भारी पड़ गया है। एक भाजपा नेता की तहरीर व वायरल आडियो के आधार पर कड़ा कोतवाली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी शिक्षक की तलाश शुरू कर दी है। वहीं, बीएसए ने आरोपी शिक्षक को सस्पेंड कर प्रकरण की जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है। वीडियो सोशल साइट पर वायरल होने पर हड़कंप मच गया।




कड़ा के प्राथमिक विद्यालय सौरई बुर्जुग में तैतान शिक्षक अजय कुमार साहू का एक वीडियो बुधवार को सोशल साइट पर वायरल हो गया। उसकी आवाज किसी के साथ बात करते हुए सुनाई पड़ रही है आडियो में वह डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, भाजपा नेता धर्मराज मौर्या के साथ ही स्थानीय कई सत्ताधारी दल के नेताओं का नाम लेते हुए अपशब्द कह रहा है। इस मामले की तहरीर भाजपा नेता धर्मराज मौर्या ने कड़ा कोतवाली में दी। पुलिस ने तहरीर व वायरल आडियो के आधार पर गुरुवार को आरोपी शिक्षक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली। कोतवाल राकेश तिवारी का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर शिक्षक की तलाश शुरू कर दी है। वहीं, दूसरी तरफ वायरल आडियो और एफआईआर को आधार मानकर बीएसएफ राजकुमार पंडित ने आरोपी शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि तक शिक्षक को सरसवां ब्लॉक के बरौला प्राइमरी स्कूल से संबद्ध करने के साथ ही बीएसए ने प्रकरण की जांच के लिए दो खंड शिक्षा अधिकारियों की टीम गठित कर दी है।

जालसाजी में पकड़ी गई एक और शिक्षिका, रोका वेतन

मंझनपुर :  परिषदीय स्कूलों में जालसाजी कर नौकरी करने वाले शिक्षकों की फेहरिश्त बढ़ती जा रही है। जिले के मूरतगंज विकासखंड क्षेत्र में एक और जालसाज शिक्षिका पकड़ी गई। भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा से जारी बीएड की फेंक डिग्री लगाकर नौकरी करने वाली इस शिक्षिका के वेतन आहरण पर फिलहाल रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही संबंधित शिक्षण संस्थाओं को इसके अभिलेखों को सत्यापन कराने के लिए भेज दिया गया है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, June 28, 2020

नकल माफिया चंद्रमा के स्कूल पर होगी कार्रवाई, रिपोर्ट हो रही तैयार, टीईटी पेपर लीक कराने की कोशिश में भी हुआ था गिरफ्तार

नकल माफिया चंद्रमा के स्कूल पर होगी कार्रवाई, रिपोर्ट हो रही तैयार, टीईटी पेपर लीक कराने की कोशिश में भी हुआ था गिरफ्तार।


प्रयागराज : 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा मामले की जांच में जुटी एसटीएफ फरार चल रहे नकल माफिया चंद्रमा यादव के स्कूल पर भी कार्रवाई कर सकती है। टीईटी में धांधली की कोशिश के दौरान गिरफ्तार किए जाने पर चंद्रमा ने खुद बयान दिया था कि उसे अपने स्कूल से ही पेपर की फोटो खींचकर सॉल्वरों तक पहुंचाना था। अब 69 हजार शिक्षक भर्ती में वांछित होने के बाद एसटीएफ उसके स्कूल के बारे में भी जानकारी जुटाने में लगी है। 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ चार जून को हुआ था जिसमें सरगना केएल पटेल समेत 11 लोग जेल भेजे जा चुके हैं। सरगना से पूछताछ में पता चला था कि वह टीईटी में धांधली की कोशिश करते गिरफ्तार हुए चंद्रमा यादव के भी लगातार संपर्क में था।







चंद्रमा धूमनगंज स्थित एक स्कूल का प्रबंधक है और कई राजनेताओं से भी उसके संबंध होने की बात सामने आई थी। 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह के भंडाफोड़ मामले की जांच में जुटी एसटीएफ को यह भी पता चला है कि चंद्रमा व सरगना केएल पटेल ने पूर्व में कई अन्य परीक्षाओं में भी धाधली की। पिछले साल रेलवे परीक्षाओं में भी उन्होंने सेंध लगाने की कोशिश की थी। चंद्रमा से पूछताछ में सामने आया था कि वह अपने ही स्कूल से टीईटी के पेपर की फोटो खींचकर व्हाट्सएप पर सॉल्वरों तक भेजने वाला था जिसके बाद उसे सॉल्व कॉपी मिलती और वह इसे अपने संटिंग वाले परीक्षार्थियों तक पहुंचाता। यही वजह है कि एसटीएफ चंद्रमा के स्कूल के बारे में भी जानकारी जुटाने में लग गई है। पता लगाया जा रहा है कि इससे पहले अन्य किन-किन परीक्षाओं के लिए इस स्कूल को केंद्र बनाया गया। क्या उन परीक्षाओं में भी किसी तरह की धांधली हुई। मामले में औपचारिक रूप से एसटीएफ अफसर कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं।

69 हजार शिक्षक भर्ती मामले में भी एसटीएफ ने किया है वांछित

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 25, 2020

कासगंज : एसआईटी जांच में दोषी पांच शिक्षक फरार, तीन पर मुकदमा दर्ज, दो पर कार्रवाई अभी शिथिल

कासगंज : एसआईटी जांच में दोषी पांच शिक्षक फरार, तीन पर मुकदमा दर्ज, दो पर कार्रवाई अभी शिथिल।


कासगंज। वर्ष 2004-05 की बीएड डिग्री पर जालसाजी कर नौकरी हासिल कर चुके 91 में से 5 शिक्षक दोषी पाए जा चुके हैं। न्यायालय से इन्हें राहत नहीं मिली। उसके बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने उनकी सेवाएं समाप्त कर विधिक कार्रवाई शुरू की। तीन शिक्षकों के खिलाफ संबंधित थानों में मुकदमा दर्ज हो चुका है, जबकि दो के खिलाफ कार्रवाई शिथिल है। हालांकि फर्जी पाए गए पांचों शिक्षक फरार हो चुके हैं और उनके मोबाइल बंद हैं। अब पुलिस उनकी तलाश में संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है। पिछले साल अक्टूबर में एसआईटी ने शिक्षक फर्जीवाड़े की रिपोर्ट बेसिक शिक्षा विभाग को सौंपी।





इन 91 शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी गई। बाद में उच्च न्यायालय के निर्देश पर फिर बहाली हुई। उसके बाद से बेसिक शिक्षा विभाग उच्च न्यायालय में पैरवी कर रहा है। न्यायालय में जिले के बेसिक शिक्षा विभाग ने अपने तर्क रखे। जिसमें 5 शिक्षकों का फर्जीवाड़ा स्पष्ट हो गया, जबकि 86 की सुनवाई विचाराधीन है। फर्जी पांचों शिक्षकों की सेवाएं समाप्त करने के बाद बीएसएफ ने इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों को दिए। अमांपुर, गंजडुंडवारा और सोरों के खंड शिक्षाधिकारी तीन पर मुकदमा दर्ज करा चुके हैं।


फर्जी शिक्षिका व वार्डन ने लिया 34 लाख से अधिक का मानदेय

कासगंज। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में नियुक्ति के नाम पर हुए फर्जीवाड़े से शिक्षा विभाग को लाखों की चपत लग गई। फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करती रहीं रानामऊ को शिक्षिका और हुमायूंपुर की वार्डन लगभग 34 लाख रुपये से अधिक का मानदेय ले चुकी हैं। अब इसकी बिक्री कर विभाग के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। दोनों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

प्रयागराज : फर्जी अनामिका बनकर नौकरी करने वाली सरिता पर मुकदमा, कानपुर देहात स्थित घर पर छापा मारने के बाद पुलिस ने की कार्यवाई

फर्जी अनामिका बनकर नौकरी करने वाली सरिता पर मुकदमा, कानपुर देहात स्थित घर पर छापा मारने के बाद पुलिस ने की कार्यवाई।


प्रयागराज। सोरांव के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में फर्जी अनामिका शुक्ला बनकर नौकरी करने वाली सविता यादव को पुलिस ने एफआईआर में नामजद कर लिया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि सरिता के गांव में उसकी फोटो की तस्दीक होने के बाद उसे अनामिका वाली एफआईआर में सरिता को नामजद कर लिया। इसके साथ ही अब उसे नौकरी दिलाने वाले पुष्पेंद्र और आनंद को भी नामजद किया जाएगा। सरिता की तलाश में पुलिस की एक टीम को दोबारा कानपुर देहात भेजा गया है। अनामिका प्रकरण की जांच कर रहे इंस्पेक्टर कर्नलगंज एके त्यागी ने बताया कथित अनामिका की फोटो पुलिस कानपुर देहात स्थित चंदनपुर गांव पहुंचे तो तो सविता यादव के घर में ताला लगा था। ग्राम प्रधान तथा अन्य ग्रामीणों ने बताया फोटो सविता यादव की ही है। जांच में पता चला एसटीएफ ने कानपुर से जिस आनंद सिंह को गिरफ्तार किया था, सरिता उसी की रिश्तेदार है। उसने न सिर्फ सरिता की नौकरी लगाई बल्कि उसकी भाभी बबली तथा चचेरी बहन और भाई की भी नौकरी फर्जी दस्तावेजों के आधार पर लगवा दी थी। इंस्पेक्टर ने बताया कि अब तक की जांच से साफ हो गया है की आनंद सिंह और पुष्पेंद्र सिंह की मदद से ही इलाहाबाद की कथित अनामिका सरिता यादव ने नौकरी पाई थी। यहां की एफआईआर में भी पुष्पेंद्र और आनंद सिंह को आरोपी बनाया जाएगा। फिलहाल पुलिस सरिता को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है। पुलिस की एक टीम कानपुर देहात फिर भेजी गई है।





वेरिफिकेशन करने वाले अफसर से होगी पूछताछ

प्रयागराज। अनामिका शुक्ला के नाम से नौकरी करने वाली सविता यादव को सिर्फ फोटो स्टेट के आधार पर नौकरी दे दी गई। अधिकारियों ने फोटोस्टेट दस्तावेज का वेरिफिकेशन बिना ओरिजिनल दस्तावेजों को देखे कर दिया। इंस्पेक्टर कर्नलगंज एके त्यागी ने बताया कि जिस अफसर ने फोटो स्टेट दस्तावेजों के आधार पर अंक पत्रों को वैरीफाई किया, उससे भी पूछताछ होगी।


सरिता के गांव चंदनपुर के प्रधान समेत तमाम लोगों ने की पहचान

कर्नलगंज पुलिस को घर पर लगा मिला ताला


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, March 8, 2020

मुरादाबाद : हेड समेत 10 शिक्षकों को थमाया सेवा समाप्ति का नोटिस, सबसे बड़ी कार्यवाही से मची खलबली

मुरादाबाद : हेड समेत 10 शिक्षकों को थमाया सेवा समाप्ति का नोटिस, सबसे बड़ी कार्यवाही से मची खलबली।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, February 20, 2020

आजमगढ़ : एक और फर्जी डिग्रीधारक शिक्षक पर दर्ज हुई FIR, अब तक दर्जन से अधिक शिक्षकों पर हो चुकी है कार्रवाई

आजमगढ़ : एक और फर्जी डिग्रीधारक शिक्षक पर दर्ज हुई FIR, अब तक दर्जन से अधिक शिक्षकों पर हो चुकी है कार्रवाई।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 30, 2020

मैनपुरी : माध्यमिक : चयन बोर्ड के निर्देश के बाद फर्जी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर नहीं, कार्रवाई न करने पर तीन प्रधानाचार्यों को नोटिस जारी

मैनपुरी : माध्यमिक : चयन बोर्ड के निर्देश के बाद फर्जी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर नहीं, कार्रवाई न करने पर तीन प्रधानाचार्यों को नोटिस जारी।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, December 5, 2019

फतेहपुर : निरीक्षण में गैरहाजिर रहने पर बीएसए ने की शिक्षामित्र की सेवा समाप्त, दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि पर लगाई रोक

फतेहपुर : निरीक्षण में गैरहाजिर रहने पर बीएसए ने की शिक्षामित्र की सेवा समाप्त, दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि पर लगाई रोक।

दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि रोकी, शिक्षामित्र को नोटिस

  • December 05, 2019

जागरण संवाददाता, फतेहपुर: बीएसए ने बुधवार को प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों का सघन निरीक्षण किया। विद्यालयों की दशा और साफ सफाई तथा शासन की मंशा की पड़ताल की। खामियां को पाते ही जिम्मेदारों पर जमकर गुस्सा निकाला। एक शिक्षामित्र के लगातार तीन बार अनुपस्थित पाए जाने पर सेवा समाप्ति की नोटिस थमा दी। वहीं खामियां पाए जाने पर दो प्रधानाध्यापकों की अस्थाई वेतनवृद्धि रोकने का आदेश जारी कर दिया। बीएसए के निरीक्षण को लेकर शिक्षक-शिक्षिकाओं में हड़कंप रहा। पल पल की रिपोर्ट एक दूसरे से लेते रहे।
प्राथमिक विद्यालय कोढ़ई के निरीक्षण में शिक्षामित्र जितेंद्र प्रताप सिंह तीसरी बार अनुपस्थित पाए गए। जिस पर उन्हें सेवा समाप्ति के नोटिस जारी कर दिया गया। इसी तरह उच्च प्राथमिक स्कूल में पंजीकृत 69 बच्चों के सापेक्ष 43 बच्चों की उपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त की। सभी अध्यापकों को कठोर चेतावनी देते हुए उपस्थिति बढ़ाने के आदेश दिए। प्राथमिक विद्यालय जखनी के निरीक्षण में 74 के सापेक्ष 51 बच्चे मौजूद पाए, विद्यालय प्रबंध समिति की बैठक नहीं हुई पाई, जन पहल रेडियो कार्यक्रम नहीं सुना गया तथा मेन्यू के अनुसार भोजन न बनाए जाने पर प्रधानाध्यापक अरुण कुमार शर्मा की एक अस्थाई वेतनवृद्धि रोकने के आदेश दिए। प्राथमिक विद्यालय हरवंशपुर में 55 नामांकन के सापेक्ष 42 की उपस्थिति, प्रबंध समिति की बैठक न होना, जन पहल कार्यक्रम का न सुना जाना, परिषर अव्यवस्थित पाया जाने पर प्रधानाध्यापिका माधुरी देवी की एक अस्थाई वेतनवृद्धि रोक दी गई। उच्च प्राथमिक विद्यालय उम्मेदपुर के निरीक्षण में 55 नामांकित बच्चों में 42 हाजिर मिले, प्रबंध समिति की बैठक नहीं हुई पाई, दो अध्यापकों को मेडिकल अवकाश पर पाया। प्रधानाध्यापक श्रीमती उमारानी को कठोर चेतावनी दी गई।

’>>बीएसए ने परिषदीय विद्यालयों का किया सघन निरीक्षण
’>>निरीक्षण से शिक्षकों में मचा रहा हड़कंप, लेते रहे रिपोर्ट











 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, November 22, 2019

हरदोई : छह फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त, रिपोर्ट के आदेश, एसआईटी की जांच में जाली पाए गए प्रमाणपत्र, लपेटे में आ सकते हैं अभी भी कई शिक्षक

हरदोई : छह फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त, रिपोर्ट के आदेश, एसआईटी की जांच में जाली पाए गए प्रमाणपत्र, लपेट में आ सकते हैं अभी भी कई शिक्षक।



जांच में जुटी टीम

6 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त, रिपोर्ट के आदेश
22 Nov 2019
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव ने फर्जी डिग्री के सहारे नौकरी पाने वाले छह शिक्षकों की सेवा समाप्त कर दी हैं। इन सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के भी आदेश दिए हैं।
बीएसए ने बताया कि विभिन्न स्तर पर हुई विभागीय जांच के दौरान जालसाजी का पता चला। एसआईटी की जांच में भी इनके प्रमाणपत्र जाली पाए गए थे। इस पर सहायक अध्यापक रविकुमार सिंह प्राथमिक विद्यालय देवनाथपुर ब्लाक बेहन्दर, राजवती प्राथमिक विद्यालय तकिया कपूरपुर ब्लॉक अहिरोरी, भुवनेश कुमार प्राथमिक विद्यालय प्रतिपालपुर ब्लॉक हरपालपुर, रामलखन उच्च प्राथमिक विद्यालय कौड़िया ब्लॉक भरावन, शेलेन्द्र सिंह उच्च प्राथमिक स्कूल पिपरी व अशोक कुमार उच्च प्राथमिक स्कूल उतरा ब्लॉक हरियावां की सेवा समाप्त करने की कार्रवाई की गई है। इन्होंने डॉ भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा से 2004-05 में फर्जी व टेम्पर्ड बीएड की डिग्री ली थी। जिले में बड़े पैमाने पर फर्जी शिक्षको की नियुक्ति हुई थी। अभी भी कई शिक्षक लपेटे में आ सकते हैं। एक दशक पहले विभागीय मिलीभगत भी सामने आ चुकी है। बीएसए का कहना है कि खण्ड शिक्षा अधिकारी आरपी भार्गव, चन्द्रशेखर यादव, सोमनाथ विश्वकर्मा, सांत्वना शुक्ला, फूलचन्द्र को रिपोर्ट दर्ज कराने की जिम्मेदारी दी गई है।
' एसआईटी की जांच में भी इनके प्रमाणपत्र जाली पाए गए थे






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, November 2, 2019

फतेहपुर : बीएसए के निरीक्षण में पढ़ाई- लिखाई की खुली पोल, तीन स्कूलों के शिक्षकों पर हुई कार्रवाई

फतेहपुर : बीएसए के निरीक्षण में पढ़ाई- लिखाई की खुली पोल, तीन स्कूलों के शिक्षकों पर हुई कार्रवाई।



निरीक्षण में गायब मिले शिक्षक

  • November 02, 2019

जागरण संवाददाता, फतेहपुर: परिषदीय स्कूलों में सुविधाएं और सेवाओं का जायजा लेने के लिए बीएसए ने खुद कमान संभाली और मानव संपदा के जरिए ऑनलाइन अवकाश सिस्टम को जांचने के लिए टीमों को रवाना किया। स्कूलों में पढ़ाई का स्तर जांचने के लिए बच्चों ने प्रश्न पूछे तो गणित के प्रश्न ब्लैक बोर्ड पर हल करवाए। बीएसए के निरीक्षण में निकलने की सूचना जैसे ही शिक्षकों तक पहुंची तो अधिकांश अपने अपने स्कूलों में पूरी तरह से मुस्तैद हो गए। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्होंने खुद विद्यालय जांचे हैं और ऑनलाइन अवकाश जांचने के टीमें भेजी हैं। देरशाम तक टीमें रिपोर्ट देंगी इसके बाद आदेश के अनुपालन की स्थिति साफ हो पाएगी।

निरीक्षण-एक: बीएसए और एमडीएम के जिला समन्वयक आशीष दीक्षित सबसे पहले कंपोजिट मुराइन टोला पहुंचे। स्कूल में अध्यापक उपस्थित रहे तो शिक्षामित्र बिना सूचना के गायब मिले। तहरी में मानक के अनुसार सोयाबीन व अन्य सब्जियों का अभाव पाया। पुस्तकालय में किताबों की सूची नहीं मिली, खेल किट भी नहीं उपलब्ध थी। छात्रों में जूतों का अभी तक वितरण न होने की बात भी सामने आई। इस सब पर उन्होंने प्रधानाध्यापिका का एक दिन का वेतन रोकने के आदेश दिए।

निरीक्षण-दो: कंपोजिट विद्यालय पुलिस लाइन में प्रधानाध्यापक गैर हाजिर पाए गए। दोपहर 12:45 तक छात्र उपस्थिति दर्ज नहीं की गई थी। एमडीएम की पंजिका अपूर्ण मिली। पूरे स्टाफ से एक सप्ताह के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया और प्रधानाध्यापक से जवाब तलब किया गया।

निरीक्षण-तीन: प्राथमिक विद्यालय त्रिलोकीपुर के निरीक्षण में सभी अध्यापक उपस्थित पाए तो एमडीएम मेन्यू के अनुसार ठीक पाया। शौचालय और हैंडपंप की दशा अच्छी होने पर संतोष जाहिर किया।

निरीक्षण-चार : उच्च प्राथमिक विद्यालय त्रिलोकीपुर के निरीक्षण में सभी अध्यापक उपस्थित पाए गए तो मिड डे मील मेन्यू के अनुसार मिला। छात्र संख्या कम पाए जाने पर स्टाफ को जमकर फटकार लगाई। पूरे स्टाफ को एक सप्ताह के अंदर स्पष्टीकरण देने के आदेश दिए।

कंपोजिट विद्यालय मुराईन टोला का निरीक्षण करते बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह’ जागरण









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।




Friday, October 25, 2019

प्रतापगढ़ : तीन हेडमास्टरों पर गिरी गाज, खराब क्वालिटी की किताबें और खेल सामग्री खरीदने पर हुई कार्रवाई

प्रतापगढ़ : तीन हेडमास्टरों पर गिरी गाज, खराब क्वालिटी की किताबें और खेल सामग्री खरीदने पर हुई कार्रवाई।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, October 19, 2019

प्रयागराज : शिक्षा विभाग में फर्जी नियुक्ति पत्र पर केस, अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक ने दर्ज कराई एफआईआर

शिक्षा विभाग में फर्जी नियुक्ति पत्र पर केस, अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक ने दर्ज कराई एफआईआर।


फर्जी नियुक्तियों का आदेश जारी होने पर एफआइआर
October 27, 2019 

राब्यू, प्रयागराज: शिक्षा विभाग के प्रमुख संस्थानों में परिचारक, वाहन चालक, लेखाकार, कनिष्ठ सहायक जैसे पदों पर फर्जी नियुक्तियों का राजफाश होने पर अधिकारी हरकत में आ गए। फर्जी नियुक्तियों का आदेश शिक्षा निदेशालय प्रयागराज के पूर्व अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक के हस्ताक्षर से जारी हुआ था।

इस पर अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक डॉ. महेंद्र देव ने शनिवार को सिविल लाइंस थाना प्रयागराज में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करा दिया। साथ ही नियुक्तियों के आदेश और पूर्व अपर निदेशक के हस्ताक्षर को फर्जी करार देते हुए उसके आधार पर किसी को ज्वाइन न कराने, यदि किसी ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है तो उसकी सेवाएं समाप्त करने का निर्देश दिया है। बीते 18 अक्टूबर को शिक्षा विभाग के विभिन्न संस्थाओं में फर्जी हस्ताक्षर से नियुक्ति करने का आदेश जारी होने का खुलासा हुआ था।












अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक के फर्जी हस्ताक्षर से शिक्षा विभाग में परिचारक, वाहन चालक, कनिष्ठ सहायक व लेखाकार के 15 पदों पर नियुक्तियां कर दी गईं। फर्जीवाड़ा का खुलासा होने के बाद अपर निदेशक डॉ. महेन्द्र देव ने विभिन्न अफसरों को पत्र लिखकर एफआईआर के निर्देश दिए हैं।

फर्जी आज्ञा दिखाकर 17 दिसंबर 2018-19 को अपर निदेशक रमेश के हस्ताक्षर से नियुक्ति पत्र जारी किया गया है। जबकि उस समय रमेश अपर निदेशक पद पर तैनात नहीं थे। अत: नियुक्ति पत्र पूरी तरह फर्जी माना जा रहा है। यही नहीं शिक्षा निदेशालय प्रयागराज में नियुक्ति-4 नाम का कोई अनुभाग नहीं है। शासन ने परिचारक (चपरासी-चतुर्थ श्रेणी) पद की भर्ती पर रोक लगा रखी है।लेखाकार के नियुक्ति प्राधिकारी निदेशक आंतरिक लेखा एवं लेखा परीक्षा है इसलिए अपर निदेशक नियुक्ति कर ही नहीं सकते। अधीनस्थ कार्यालयों के कनिष्ठ सहायक के नियुक्ति प्राधिकारी संबंधित मंडल के मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक हैं।

डॉ. महेन्द्र देव ने संबंधित अफसरों को फर्जी नियुक्ति पत्र के क्रम में लिखा है कि यदि किसी व्यक्ति को कार्यभार ग्रहण करा लिया गया है तो तत्काल उसकी सेवाएं समाप्त करते हुए उसके अभिलेखों के आधार पर केस दर्ज कराएं। जालसाजी की सूचना एससीईआरटी,सभी जिला विद्यालय निरीक्षक,संयुक्त शिक्षा निदेशक आदि को भेजी गई है। हालांकि इस संबंध में डॉ. महेन्द्र देव से संपर्क नहीं हो सका।।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, October 16, 2019

हरदोई : निर्वाचन कार्य में शिक्षक बरत रहे लापरवाही, एसडीएम ने बीएसए को भेजा पत्र, हेडटीचर, शिक्षामित्र व अनुदेशक पर कार्रवाई के निर्देश

हरदोई : निर्वाचन कार्य में शिक्षक बरत रहे लापरवाही, एसडीएम ने बीएसए को भेजा पत्र, हेडटीचर, शिक्षामित्र व अनुदेशक पर कार्रवाई के निर्देश।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, September 18, 2019

फतेहपुर : दिनाँक- 27 अगस्त 2019 को ABRC एवं NPRC द्वारा विद्यालय के निरीक्षण में पाए गए अनुपस्थित कर्मचारियों के विरुद्ध हुई कार्यवाही, देखें सूची

फतेहपुर : दिनाँक- 27 अगस्त 2019 को ABRC एवं NPRC द्वारा निरीक्षण में पाए गए अनुपस्थित कर्मचारियों के विरुद्ध हुई कार्यवाही, देखें सूची।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, September 5, 2019

मीरजापुर : रसोइया के बयान से प्रशासन का दांव पड़ा उलटा, एमडीएम में नमक- रोटी मामले में सीडीओ ने की सख्त कार्रवाई, एमडीएम डीसी की संविदा खत्म

मीरजापुर : रसोइया के बयान से प्रशासन का दांव पड़ा उलटा, एमडीएम में नमक- रोटी मामले में सीडीओ ने की सख्त कार्रवाई, एमडीएम डीसी की संविदा खत्म।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

एटा : 119 शिक्षकों पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी; 111 को पहले दिए जा चुके हैं नोटिस, आठ को अभी थमाए

119 शिक्षकों पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी; 111 को पहले दिए जा चुके हैं नोटिस, आठ को अभी थमाए
 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, August 27, 2019

हाथरस : सह-समन्वयक के विरुद्ध की गई शिकायत में प्रस्तुत जांच आख्या के आधार पर मूल विद्यालय में प्रत्यावर्तित करने का आदेश, देखें

हाथरस : सह-समन्वयक के विरुद्ध की गई शिकायत में प्रस्तुत जांच आख्या के आधार पर मूल विद्यालय में प्रत्यावर्तित करने का आदेश, देखें

Saturday, August 24, 2019

मीरजापुर : बच्चों को मध्यान्ह भोजन में परोसा नमक-रोटी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने तलब की रिपोर्ट, दो निलंबित



मीरजापुर : बच्चों को मध्यान्ह भोजन में परोसा नमक-रोटी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने तलब की रिपोर्ट, दो निलंबित














 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।