DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label विरोध. Show all posts
Showing posts with label विरोध. Show all posts

Thursday, June 25, 2020

आगरा : स्कूलों में आकर डाटा फीड करने का शिक्षकों ने किया विरोध, शिक्षकों ने कहा- फीडिंग का कार्य विभाग का

आगरा : स्कूलों में आकर डाटा फीड करने का शिक्षकों ने किया विरोध, शिक्षकों ने कहा- फीडिंग का कार्य विभाग का।


स्कूलों में आकर डाटा फीडिंग काम का विरोध


आगरा : स्कूलों में डाटा फीडिंग कर कंप्यूटर ऑपरेटर की जगह काम करने का शिक्षक विरोध कर रहे हैं। शासन का एक जुलाई से परिषदीय विद्यालय खोलने का आदेश आ चुका है। शिक्षकों का कहना है कि उनसे सिर्फ शिक्षक का ही कार्य लिया जाए, अन्य कार्य नहीं।








शिक्षकों से एमडीएम की लिस्ट और सीडी बनवाकर विभिन्न बैंकों में भेजना, मानव संपदा पोर्टल के लिए अपनी ही सर्विस बुक को सही कराने के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर के पास जाकर फीडिंग कराना नियम विरुद्ध है। शिक्षक अपनी सर्विस बुक को सही कैसे कर सकता है, जबकि सर्विस बुक फीडिंग का कार्य विभाग का है। शिक्षकों का कहना है कि ये सभी कार्य शिक्षा के नहीं हैं, इन कार्यों के लिए विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति की गई है। इसलिए सभी कार्य कंप्यूटर ऑपरेटर द्वारा कराए जाएं। प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र राठौर, राजीव वर्मा, केशव दीक्षित, ब्रजेश दीक्षित आदि ने विरोध जताया है।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, June 16, 2020

69000 सहायक अध्यापक भर्ती : फॉर्म में संशोधन के लिए अभ्यर्थियों ने मांगा मौका

69000 सहायक अध्यापक भर्ती : फॉर्म में संशोधन के लिए अभ्यर्थियों ने मांगा मौका


प्रयागराज। परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती के फॉर्म में पूर्णांक प्राप्तांक समेत अन्य गलतियां करने वाले अभ्यर्थियों ने सोमवार को बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।


 अभ्यर्थियों का कहना है कि सर्वर की खराबी, कैफे वाले की कम जानकारी और स्वयं की मानवीय त्रुटि के कारण पूर्णांक, प्राप्तांक, रोल नंबर व कैटेगरी आदि में गलती हो गई। अब इन अभ्यर्थियों को भर्ती प्रक्रिया से बाहर किया जा रहा है। 

Sunday, June 14, 2020

69000 : परीक्षा में धांधली की जांच से असंतुष्ट परीक्षार्थी खटखटाएंगे हाईकोर्ट का दरवाजा

69000 : परीक्षा में धांधली की जांच से असंतुष्ट परीक्षार्थी खटखटाएंगे हाईकोर्ट का दरवाजा


प्रयागराज। 69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में धांधली की जांच को लेकर सवाल उठने लगे हैं। परीक्षा वाले दिन प्रयागराज के अलावा लखनऊ, कानपुर एवं मुरादाबाद से भी सॉल्वर गिरोह पकड़ा गया था, जांच सिर्फ प्रयागराज प्रयागराज तक ही सीमित है। एसटीएफ ने अभी तक इन तीन जिलों को जांच में शामिल नहीं किया है, इससे असंतुष्ट परीक्षार्थी अब हाईकोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं। 


छह जनवरी 2019 को में ही जबकि कानपुर समेत तीन शहरों में भी पकड़ी थी गड़बड़ी सहायक भर्ती परीक्षा के दौरान दूसरे की जगह परीक्षा देने में 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। प्रयागराज में भी नकल कराने वाला पूरा गिरोह पकड़ा गया था। गिरोह के इन लोगों के तार कौशाम्बी, प्रतापगढ़, जौनपुर, भदोही, बिहार के आरा जिले से जुड़े मिले थे, जबकि परीक्षार्थियों को झांसी, नैनी, करेली सहित दूसरे परीक्षा केंद्रों से पकड़ा गया था। 


वहीं इसी दिन दूसरी ओर लखनऊ में नकल कराने में एक प्रधानाचार्य, पांच कक्ष निरीक्षकों तथा दो परीक्षार्थियों को गिरफ्तार किया गया था। मिर्जापुर के एक स्कूल में परीक्षार्थी सॉल्व कॉपी के साथ पकड़ी गई थी। आजमगढ़ में दूसरे की जगह परीक्षा देते इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के साथ एक-एक अभ्यर्थी को पकड़ा गया था। आगरा में राजस्थान के अलवर से आए सॉल्वर को पुलिस ने पकड़ा था। 


परीक्षा के बाद से आंदोलन चला रहे आइसा के सुनील मौर्या का कहना है कि मुरादाबाद और मेरठ में सबसे अधिक गड़बड़ी हुई थी, एसटीएफ को वहां जांच पर फोकस करके जालसाजों को पकड़ना चाहिए। सरकार की जांच से असंतुष्ट परीक्षार्थी जल्द ही नकल के मामले में हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल करने जा रहे हैं। 

Thursday, December 5, 2019

फतेहपुर : ऐप के विरोध में जारी है शिक्षकों का असहयोग आंदोलन, सैकड़ों शिक्षकों ने छोड़े सूचनाओं वाले व्हाट्सअप ग्रुप

फतेहपुर : ऐप के विरोध में जारी है शिक्षकों का असहयोग आंदोलन, सैकड़ों शिक्षकों ने छोड़े सूचनाओं वाले व्हाट्सअप ग्रुप।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, November 5, 2019

बेसिक शिक्षा विभाग : एआरपी चयन के खिलाफ शिक्षक लामबंद, एप से हाजरी का मामला पड़ा ठंडा

बेसिक शिक्षा विभाग : एआरपी चयन के खिलाफ शिक्षक लामबंद, एप से हाजरी का मामला पड़ा ठंडा।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, November 4, 2019

फतेहपुर : शिक्षकों के बहिष्कार से एआरपी पद का चयन फंसा, जनपद में 70 एआरपी पदों पर होना है चयन, चयन समिति की अध्यक्ष सीडीओ बोलीं- नवम्बर में पूरी होगी चयन प्रक्रिया

फतेहपुर : शिक्षकों के बहिष्कार से एआरपी पद का चयन फंसा, जनपद में 70 एआरपी पदों पर होना है चयन, चयन समिति की अध्यक्ष सीडीओ बोलीं- नवम्बर में पूरी होगी चयन प्रक्रिया।


जागरण संवाददाता, फतेहपुर: बेसिक शिक्षा में किए जा रहे समय-समय पर बदलाव के चलते शिक्षक-शिक्षिकाओं और शासन-प्रशासन के बीच बार बार तनाव की स्थिति पैदा हो रही है। 5 सितंबर से लागू हुए प्रेरणा एप के विरोध के बाद नए पद एआरपी (एकेडमिक रिसोर्स पर्सन) की चयन प्रक्रिया को लेकर बवंडर शुरू हो गया है। एक ओर चयन समिति की अध्यक्ष सीडीओ ने बीएसए के संग बैठक करके नवंबर माह में प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश जारी किए हैं।

शासन ने सहायक ब्लॉक समन्वयकों के पद खत्म कर देने के बाद नया पद एआरपी सृजित किया है। जिले के 13 ब्लॉकों में इसकी चयन प्रक्रिया की जानी है। चयन समिति में सीडीओ को अध्यक्ष वहीं बीएसए को सचिव का दायित्व दिया गया है। चयन के लिए 100 अंकों की परीक्षा में 60 अंक लिखित, 30 अंक पूर्व के शैक्षिक कार्यों का आकलन और 10 अंक के साक्षात्कार की नई प्रक्रिया खासी परेशानी में डालने वाली है। ऐसे में तमाम कार्यरत एबीआरसी का पत्ता पहले ही साफ हो जाएगा। जिले के 70 एबीआरसी में ब्लाक स्तरीय नेता ही इस पद में हैं। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह और महामंत्री विजय त्रिपाठी कहते हैं कि सामूहिक बैठक में निर्णय लिया गया है कि एआरपी के लिए कोई भी शिक्षक-शिक्षिका आवेदन नहीं करेंगे। इस सर्वसम्मति के निर्णय के इतर जो भी काम करेगा उसका संगठन से कोई नाता नहीं होगा। ऐसे शिक्षक और शिक्षिका का ब्लाक एवं जिला स्तर पर बहिष्कार कर दिया जाएगा।








फतेहपुर : परिषदीय शिक्षक संगठनों ने प्रेरणा एप और एआरपी चयन का किया विरोध, संगठन प्रतिनिधियों ने कहा- एआरपी चयन के लिए कोई शिक्षक नहीं करेगा आवेदन।

एआरपी पद के लिए आवेदन करने पर होगा बहिष्कार
04 Nov 2019
प्राथमिक शिक्षा से जुड़े संघों ने अकादमिक रिसोर्स पर्सन की चयन प्रक्रिया के मामले में एकजुटता दिखाते हुए इस पद के लिए किसी भी सदस्य द्वारा आवेदन न किए जाने का फैसला किया है। रविवार को विभिन्न संघों की संयुक्त बैठक में निर्णय लिया गया कि जो शिक्षक इस पद के लिए आवेदन करेगा, उसका सामूहिक बहिष्कार किया जाएगा एवं उसे सदस्य नहीं बनाया जाएगा।
कलेक्ट्रेट स्थित भीमराव पार्क में आयोजित बैठक में संघों के नेताओं ने एका दिखाते हुए एक सुर से कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में एआरपी पद के लिए आवेदन करना संभव नहीं है। प्राथमिक शिक्षक संघ, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, पूमा शिक्षक संघ एवं विशिष्ट बीटीसी संघ ने एक मत होकर निर्णय किया कि इन संघों को कोई भी सदस्य आवेदन नहीं करेगा। जो शिक्षक आवेदन करेगा, उसका सामूहिक बहिष्कार किया जाएगा तथा संघ की सदस्यता भी नहीं दी जाएगी। संघीय निर्वाचन प्रक्रिया से भी उसे दूर रखा जाएगा। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि यदि मनोनयन द्वारा चयन किया जाता है तो भी वर्तमान एबीआरसीसी एवं कोई भी शिक्षक इस पद पर कार्य नहीं करेंगे। हिन्दुस्तान ने पहले ही इस संभावना की खबर ‘एआरपी पर प्रेरणा का साया' प्रकाशित की थी। इस अवसर पर आरएसएम के मांडलिक मंत्री सुरेश सिंह, प्राशिसं के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह, मंत्री विजय त्रिपाठी, आरएसएम के जिलाध्यक्ष अदीप सिंह, जूनियर शिक्षक संघ के अध्यक्ष रमेश सिंह, दिग्विजय सिंह, अनुराग मिश्र, शैलेन्द्र भदौरिया, ब्रजेश सिंह, लाल देवेन्द्र प्रताप सिंह दर्जनों शिक्षक नेता एवं सदस्य मौजूद रहे।
व्यावहारिकता पर भी दिया जाए बल: शिक्षक संघों का मानना है कि विभाग सिर्फ नियम थोपने पर आमादा है। जबकि कोई नया नियम लागू करने से पहले वस्तुस्थिति का आंकलन कर ग्राउन्ड जीरो से रिपोर्ट लेनी चाहिए। दूर दराज के क्षेत्रों में काम करने वाले शिक्षकों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसका भी ध्यान रखना चाहिए।










 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, September 20, 2019

फतेहपुर : शिक्षकों का विरोध बढ़ा तो ठप हुई एप डाउनलोडिंग, आंदोलित अध्यापक अपनी हठ पर अड़े, बीएसए ने क्रियान्वयन के लिए जारी किया आदेश

फतेहपुर : शिक्षकों का विरोध बढ़ा तो ठप हुई एप डाउनलोडिंग, आंदोलित अध्यापक अपनी हठ पर अड़े, बीएसए ने क्रियान्वयन के लिए जारी किया आदेश।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, September 12, 2019

फतेहपुर : प्रेरणा एप के विरोध में हजारों शिक्षकों ने भरी हुंकार, शिक्षकों ने कहा- बेसिक ही क्यों, सभी विभागों में लागू की जाए व्यवस्था

फतेहपुर : प्रेरणा एप के विरोध में हजारों शिक्षकों ने भरी हुंकार, शिक्षकों ने कहा- बेसिक ही क्यों, सभी विभागों में लागू की जाए व्यवस्था।

14/09/2019











13/09/2019
फतेहपुर : प्रेरणा एप के खिलाफ विरोध की धार हुई तेज, शिक्षक संगठन आज प्रदर्शन कर डीएम को देंगे ज्ञापन।










फतेहपुर : प्रेरणा एप के खिलाफ विरोध जारी, प्रेरणा एप सहित समस्याओं पर ब्लाकों पर गरजे शिक्षक, दमनकारी व दुर्भावना पूर्ण नीतियां बताकर शिक्षक संगठन ने जताया विरोध।










 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, September 8, 2019

फतेहपुर : प्रेरणा एप दरकिनार, आईवीआरएस सिस्टम चालू, नए सिस्टम का विरोध होने के बाद शासन पड़ा सुस्त

फतेहपुर : प्रेरणा एप दरकिनार, आईवीआरएस सिस्टम चालू, नए सिस्टम का विरोध होने के बाद शासन पड़ा सुस्त।











 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, September 7, 2019

लगातार अपडेट : प्रेरणा एप के खिलाफ पूरे प्रदेश में हल्ला जारी, बहिष्कार व जिम्मेदारी त्याग से लेकर ज्ञापन देने तक फैला आंदोलन

लगातार अपडेट : प्रेरणा एप के खिलाफ पूरे प्रदेश में हल्ला जारी, बहिष्कार व जिम्मेदारी त्याग से लेकर ज्ञापन देने तक फैला आंदोलन।






































































































 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।