DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label सीतापुर. Show all posts
Showing posts with label सीतापुर. Show all posts

Monday, November 23, 2020

सीतापुर में शिक्षिका की हत्या का मामला, स्कूल में असलहा-भरोसे का कत्ल, सबक लेने का वक्त, फिर उभरा शिक्षकों का दर्द

सीतापुर की शिक्षिका की हत्या का मामला, स्कूल में असलहा-भरोसे का कत्ल, सबक लेने का वक्त, फिर उभरा शिक्षकों का दर्द



सीतापुर:क्लास रूम में असलहा.. इसका अहसास ही रूह को कंपा देता है। जिस क्लास रूम में भविष्य संवरता है, उसमें इंतकाम की आग सुलगी। हैरान करने वाली बात यह भी है कि अंदेशा होने के बावजूद हीलाहवाली हुई और शिक्षिका आराधना राय की क्लास रूम में गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस घटना ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया। बात इतनी ही नहीं है कि एक शिक्षक ने दूसरे शिक्षक को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। सवाल तो यह भी है कि एक शिक्षक कैसे क्लास रूम में असलहा लेकर पहुंच गया। 


इस घटना के बाद अब दोनों के बीच के विवाद की बातें भी सामने आ रहीं हैं। स्कूल में सबकुछ ठीकठाक तो नहीं ही था। शायद यही वजह है कि प्रधानाचार्य किरन मौर्य ने जुलाई में उच्चाधिकारियों को पत्र तक लिख दिया। इस मामले में जांच के निर्देश भी बीएसए ने दे दिए गए लेकिन, चार महीने बाद भी जांच अन्जाम तक नहीं पहुंच सकी। सच तो यह है कि दोनों के बीच की जिस 'टशन' को प्रधानाचार्य ने समय रहते पहचान लिया, खंड शिक्षा अधिकारी उसे भाप न सके। उन्होंने प्रधानाध्यापक के पत्र को हल्के में लेने की चूक कर दी। इसकी परिणिति आज सबके सामने है। 


शिक्षा के मंदिर में खौफनाक वारदात हुई। राहत तो इस बात की है कि बच्चे विद्यालय नहीं आ रहे। इसके बावजूद यह घटना हर किसी के लिए सबक है। स्कूल में बच्चों की शिक्षा के साथ ही सुरक्षा के भी इंतजाम होने चाहिए।


फिर सामने आया दर्द
बच्चों के बगैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने पर भी सवाल उठ रहे हैं। कुछ शिक्षक दबे मुंह इस बात की भी चर्चा कर रहे हैं। उनका कहना है? कि अगर बच्चे नहीं आ रहे तो शिक्षकों को स्कूल बुलाने का आखिर औचित्य ही क्या है?


बीईओ नहीं उठा रहे फोन
प्रधानाचार्य के पत्र पर चल रही जांच के बारे में खंड शिक्षा अधिकारी प्रमोद कुमार पटेल से मोबाइल पर संपर्क साधने की कोशिश की गई तो उन्होंने काल रिसीव नहीं की। इसके कुछ देर बाद उनका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया।

हेडमास्टर के पत्र के बाद जांच कहां तक पहुंची, यह ऑफिस पहुंचकर ही बता पाऊंगा। अगर कोई पत्र आया होगा तो मैंने उसे आगे जांच के लिए अवश्य भेजा होगा।
- अजीत कुमार, बीएसए सीतापुर

Thursday, November 12, 2020

फर्जी शिक्षकों के मामले में अब मानव संपदा पोर्टल पर टिकी STF की निगाहें

फर्जी शिक्षकों के मामले में अब मानव संपदा पोर्टल पर टिकी STF की निगाहें



फर्जी शिक्षकों की गिरफ्तारी में जुटी स्पेशल टास्क फोर्स अब सूबे की और अनामिकाओं की तलाश के लिए राज्य सरकार के मानव संपदा पोर्टल को भी खंगाल रही है। सीतापुर से पांच नवंबर को गिरफ्तार फर्जी प्रधानाध्यापक देवरिया निवासी ऋषिकेश मणि त्रिपाठी से मिली जानकारियों के आधार पर कुछ अन्य फर्जी शिक्षकों की तलाश की जा रही है। ऋषिकेश सीतापुर में बजरंग भूषण के नाम से नौकरी कर रहा था। अनामिका प्रकरण की ही तर्ज पर आरोपित ऋषिकेश की पत्नी स्नेहलता ने भी सीतापुर में शिक्षक की नौकरी हासिल की थी। 


गोरखपुर में तैनात शिक्षिका स्वाती तिवारी के शैक्षणिक दस्तावेजों के जरिए स्नेहलता ने यह नौकरी हासिल की थी और पति के पकड़े जाने के बाद से वह फरार है। एसटीएफ ने स्नेहलता की तलाश के लिए दो टीमों को लगाया है। एसटीएफ के एएसपी सत्यसेन यादव ने बताया कि गोरखपुर में तैनात सहायक अध्यापिका स्वाती तिवारी के शैक्षणिक दस्तावेजों पर सूबे में तीन और स्वाती तिवारी सहायक अध्यापिका की नौकरी कर रही थीं। इनमें बराबंकी व देवरिया में तैनात दो फर्जी शिक्षिकाओं को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। ऋषिकेश की पत्नी का असली नाम स्नेहलता तिवारी है। ऋषिकेश से पूछताछ में सामने आया था कि उसने ही अपनी पत्नी की नौकरी फर्जी दस्तावेजों के जरिए लगवाई थी। 


ऋषिकेश ने बताया कि उसके पिता राममणि त्रिपाठी देवरिया के अशोक इंटर कॉलेज में लेक्चरर थे और उन्होंने ने ही बजरंग भूषण व स्वाती तिवारी के शैक्षणिक दस्तावेज उपलब्ध कराए थे। ऋषिकेश की पत्नी स्नेहलता फर्जी नाम से सीतापुर के हरिहरपुर प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक के पद पर नौकरी कर रही थी। उसकी तलाश कराई जा रही है। एएसपी ने बताया कि आगरा के दयालबाग एजूकेशन इंस्टीट्यूटी में असिस्टेंट प्रोफेसर बजरंग भूषण की शिकायत पर इस प्रकरण की जांच शुरू की गई थी। 


एसटीएफ को फर्जी शिक्षकों से जुड़ी कई और शिकायतें मिली हैं। मानव संपदा पोर्टल के जरिए उनकी भी जांच की जा रही है। स्वाती तिवारी के दस्तावेजों के आधार पर कुछ अन्य फर्जी शिक्षिकाओं की नियुक्ति की भी आशंका है। दूसरे के दस्तावेजों पर नाम-पता बदलकर नौकरी कर रहे कई और फर्जी शिक्षक एसटीएफ के निशाने पर हैं। ध्यान रहे, पूर्व में अनामिका नाम की शिक्षिका के दस्तावेजों के जरिए इसी नाम पर कई फर्जी शिक्षिकाओं के नौकरी हासिल करने का मामला पकड़ा गया था।

Friday, November 6, 2020

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण न होने पर शिक्षक करेंगे धरना प्रदर्शन, लटकी प्रक्रिया को लेकर अब धैर्य देने लगा जवाब

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण न होने पर शिक्षक करेंगे धरना प्रदर्शन, लटकी प्रक्रिया को लेकर अब धैर्य  देने लगा जवाब



सीतापुर। लटकी अंतर्जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया को लेकर अब शिक्षकों का धैर्य जवाब देने लगा है। शिक्षकों ने चेतावनी दी है कि 8 नवंबर तक अगर प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ती है तो लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया जाएगा।


शिक्षकों का कहना है अंतर्जनपदीय स्थानांतरण का विज्ञापन निकलने के बाद यूपी सरकार ने शीघ्र ही स्थानांतरण करने की बात कही थी। लेकिन बीच सत्र का हवाला देकर स्थानांतरण प्रक्रिया को रोक दिया गया था। सरकार का कहना था कि बीच सत्र में स्थानांतरण होने से शिक्षण कार्य प्रभावित होगा। सत्र समाप्त हो जाने के उपरांत भी प्रक्रिया पूर्ण नहीं की गई। 


कोविड-19 के चलते समस्त स्थानांतरण प्रक्रियाओं पर रोक लगा दी गई थी। शिक्षकों ने ट्वीट अभियान चलाकर सरकार का ध्यान आकर्षित करने का प्रयास किया। इस पर मुख्यमंत्री ने शिक्षकों के स्थानांतरण करने की घोषणा कर दी। तब से लेकर आज तक तीन बार कार्यक्रम सूची का प्रकाशन हो चुका है। शिक्षक राजीव गौड़ ने कहा यदि 8 नवंबर तक सूची का प्रकाशन नहीं किया गया तो शिक्षक लखनऊ निशातगंज में धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे। शिक्षक दुर्गेश, विक्रम, अभय, संतोष आदि ने शिक्षकों ने स्थानांतरण की मांग की है।

Thursday, September 3, 2020

सीतापुर : ARP के अवशेष पदों हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित

सीतापुर : ARP के अवशेष पदों हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित



Sunday, July 12, 2020

मानव सम्पदा के नित नए अपडेट के बाद आने वाली नवीन समस्याओं को इंगित करते हेतु उ प्र प्रा शि संघ इकाई बेहटा शाखा सीतापुर का ज्ञापन, उठाये गंभीर सवाल, तकनीकी दिक्कतों से मुक्ति की मांग।

मानव सम्पदा बनी परिषदीय शिक्षकों हेतु गम्भीर आपदा, साइट की तकनीकी दिक्कतों के चलते शिक्षकों की बढ़ी दुश्वारियां।


मानव सम्पदा के नित नए अपडेट के बाद आने वाली नवीन समस्याओं को इंगित करते हेतु उ प्र प्रा शि संघ इकाई बेहटा शाखा सीतापुर का ज्ञापन, उठाये गंभीर सवाल, तकनीकी दिक्कतों से मुक्ति की मांग। 




SMC और VEC में 31 मार्च 2019 तक कि अवशेष व अप्रयुक्त धनराशि को हस्तांतरित की जा रही प्रक्रिया को दोषपूर्ण बताते हुए सीतापुर की ब्लॉक बेहटा PSS इकाई ने उठाये महत्वपूर्ण सवाल, प्रक्रिया को दी वित्तीय कदाचार की संज्ञा, सौंपा ज्ञापन

SMC और VEC में 31 मार्च 2019 तक कि अवशेष व अप्रयुक्त धनराशि को हस्तांतरित की जा रही प्रक्रिया को दोषपूर्ण बताते हुए सीतापुर की ब्लॉक बेहटा PSS इकाई ने उठाये महत्वपूर्ण सवाल, प्रक्रिया को दी वित्तीय कदाचार की संज्ञा, सौंपा ज्ञापन। 



★  सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत जनपद में विद्यालय प्रबन्ध समिति(एसoएमoसीo) तथा ग्राम शिक्षा समिति (वीoईoसीo) के बैंक खातों में 31 मार्च 2019 तक अप्रयुक्त/अवशेष धनराशि को जनपद स्तर पर बैंक खाते में संरक्षित किये जाने हेतु अपनाई जा रही प्रक्रिया के विरोध में उ प्र प्रा शि संघ की ब्लॉक इकाई का ज्ञापन


■ सुलगते प्रश्न

🧨क्या SMC या VEC एकाउंट में  आये किसी मद के अप्रयुक्त धन को दूसरे खाते में हस्तान्तरित करने का परिषदीय विद्यालय के प्रधानध्यापक को है..?

🧨महानिदेशक स्तर के सभी जारी पत्रों में यह ज़िम्मेदारी किसको दी गई..?

🧨जिला स्तरीय/ब्लॉक स्तरीय आदेशो में किस आधार पर धन हस्तांतरण/चेक जमा करने का दबाव...?

🧨महानिदेशक स्तर से जारी प्रारूप 1 और प्रारूप 2 पर विद्यालय स्तर से सूचना लेकर वित्तीय सदाचार की प्रक्रिया अपनाने में गुरेज क्यो..?

🧨यदि प्रधानाध्यापक अमुक अप्रयुक्त धन की चेक देता है तो यह वित्तीय कदाचार की श्रेणी में तो नही..?

🧨VEC खाते में समाजकल्याण विभाग से आई छात्र छात्रवृत्ति का धन भी क्या सर्व शिक्षा अभियान को वापस हो सकता है..?
🧨क्या किसी मद में आये धन/अवशेष धन के प्रयोग/हेड बदलाव का आदेश निर्गत करने का अधिकार शासन स्तर के अतिरिक्त अन्य किसी को है..?

🧨क्या यह अप्रयुक्त धन सरकारी कोष के अतिरिक्त किसी अन्य नवीन सामान्य बचत खाते में जमा करना नियमसंगत है..? 

Wednesday, June 10, 2020

सीतापुर : फर्जी अभिलेखों से नौकरी कर रहे दो शिक्षकों की सेवा समाप्त

सीतापुर :  फर्जी अभिलेखों से नौकरी कर रहे दो शिक्षकों की सेवा समाप्त


■ कार्रवाई

◆ दोनों शिक्षक बेहटा विकासखंड के विद्यालयों में थे तैनात दोनों शिक्षकों के विरुद्ध होगी एफआईआर व वेतन रिकवरी


सीतापुर : फर्जी अभिलेखों के सहारे नौकरी पाना दो शिक्षकों को महंगा पड़ गया। इन दोनों शिक्षकों की सेवा समाप्ति के साथ साथ वेतन बिक्री तथा प्राथमिकी दर्ज कराने के आदेश दे दिए गए हैं। आगरा के अर्जुन नगर निवासी आकाश दीप पुत्र सियाराम सागर बेहटा विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय दारापुर में सहायक अध्यापक पद पर तैनात हैं। उनकी नियुक्ति वर्ष 2010 में गणित विज्ञान शिक्षक के पद पर हुई थी। 


आकाश दीप ने अपने प्रपत्रों में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी के बीएलएड 2010 का अंकपत्र लगाया था। विभाग द्वारा इन अंकपत्रों का सत्यापन कराया गया तो विश्वविद्यालय में डेटा नहीं मिला। वहीं मथुरा के नगला भरतिया निवासी पुष्पेंद्र सिंह पुत्र राघवेंद्र सिंह बेहटा के उच्च माध्यमिक विद्यालय हजरतपुर में तैनात हैं। उन्होंने अपने शैक्षिक प्रपत्रों में माध्यमिक विद्यालय परीक्षा 2005 व उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परीक्षा 2007 राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय का अंकपत्र लगाया था। 


विभाग द्वारा उनके प्रपत्रों की जांच कराई गई तो वह फर्जी पाए गए। प्रपत्र फर्जी पाए जाने पर दोनों की सेवा समाप्ति की नोटिस बीएसए द्वारा दी गई। बीएसए ने खण्ड शिक्षा अधिकारी को दोनों शिक्षकों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने व वेतन बिक्री के निर्देश दिए हैं। बीएसएफ अजीत कुमार ने बताया दोनों शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया था लेकिन उसमें भी दोनों ने गलत साक्ष्य ही प्रस्तुत किए थे। जिसके कारण अब उनकी सेवा समाप्ति के आदेश दिए गए हैं।


Tuesday, June 2, 2020

सीतापुर : 69000 शिक्षक भर्ती के काउंसिलिंग की प्रेस विज्ञप्ति जारी

सीतापुर : 69000 सहायक अध्यापक भर्ती की काउंसिलिंग हेतु शपथ पत्र, जांच प्रपत्र व मूल अभिलेखों की प्राप्ति रसीद का प्रारूप जारी

सीतापुर : 69000 सहायक अध्यापक भर्ती की काउंसिलिंग हेतु शपथ पत्र, जांच प्रपत्र व मूल अभिलेखों की प्राप्ति रसीद का प्रारूप जारी


■ क्लिक कर यह भी देखें : 









Tuesday, March 17, 2020

सीतापुर : किचन गार्डन बनाओ प्रोत्साहन राशि पाओ, प्राधिकरण ने प्रस्ताव शासन को भेजा

Sunday, March 8, 2020

सीतापुर : फर्जी प्रमाणपत्र मामले में शिक्षिका की सेवा समाप्त

Saturday, March 7, 2020

सीतापुर : परिषदीय वार्षिक परीक्षा 2019-20 हेतु समय सारिणी व निर्देश जारी, देखें

सीतापुर : जालसाजी पर एसटीएफ ने शिक्षक को किया गिरफ्तार

सीतापुर : मेन्यू अनुसार भोजन देने में निष्ठा नहीं, शिक्षक नाराज

Friday, March 6, 2020

सीतापुर : शैक्षिक सत्र 2019-20 हेतु यू-डाइस प्लस के अंतर्गत डाटा कैप्चर फॉर्मेट (DCF) पर आंकड़े एकत्र किए जाने के संबंध में निर्देश जारी

Thursday, March 5, 2020

सीतापुर : रसोइयों को उनके व्यक्तिगत खाते में प्रत्येक माह की 01 तारीख को मानदेय उपलब्ध कराए जाने हेतु 25 तारीख को पावना उपलब्ध कराए जाने के संबंध में बीएसए का आदेश जारी

Wednesday, March 4, 2020

सीतापुर: अंतर्जनपदीय स्थानांतरण में दिव्यांगता/असाध्य रोग से संबंधित प्रमाण पत्रों की जांच के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन

Tuesday, March 3, 2020

सीतापुर : प्रशिक्षण के पहले ही दिन डोल गयी 'निष्ठा', बहुत से ब्लॉकों में नहीं शुरू हो सका कार्यक्रम

Saturday, February 29, 2020

सीतापुर : विकास खंड स्तर पर NISHTHA प्रशिक्षण सुचारू एवं व्यवस्थित रूप से संचालित किये जाने के संबंध में कार्ययोजना जारी

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें। PASTE NEWS OVER ME

सीतापुर : अफसरों की 'निष्ठा' पर अविश्वास कैसे होगा शिक्षा का विकास, प्रशिक्षण के लिए शासन ने जारी किया है लगभग 2 करोड़ का बजट