DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, October 31, 2019

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों व अनुचरों की अवकाश प्रक्रिया व सेवा पुस्तिकाओं का रख रखाव मानव संपदा के जरिये ऑनलाइन किये जाने के संबंध में निर्देश जारी

फतेहपुर  : परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों व अनुचरों की अवकाश प्रक्रिया व सेवा पुस्तिकाओं का रख रखाव मानव संपदा के जरिये ऑनलाइन किये जाने के संबंध में निर्देश जारी। 

शिक्षकों को अब प्रेरणा एप / मानव संपदा से ही मिल सकेगा अवकाश

बेसिक शिक्षा में आज से ऑनलाइन अवकाश शुरू
November 01, 2019  
जागरण संवाददाता, फतेहपुर : बेसिक शिक्षा विभाग में अवकाश लेने की पुरानी व्यवस्था पर शासन ने विराम लगा दिया है। तैयार किए गए मानव संपदा पोर्टल के माध्यम से शिक्षक और शिक्षणोत्तर कर्मियों को अब अवकाश मिलेगा। सूबे में एक साथ लागू की जा रही व्यवस्था को अंतिम रूप देने के लिए जिले स्तर पर कवायद की जाती रही है। शासन ने साफ कर दिया है कि एक नवंबर से किसी को पुरानी व्यवस्था से अवकाश नहीं मिलेगा। अवकाश के लिए ऑन लाइन सिस्टम से आवेदन करना होगा।
शासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा विभाग में मानव संपदा पोर्टल तैयार किया गया है। इस पोर्टल में शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक और शिक्षणोत्तर कर्मियों का पूरा डाटा दर्ज है। पोर्टल के सुचारु रूप से काम करने के लिए महीनों से परीक्षण कराया जाता रहा है। संबंधित कर्मचारी का ब्यौरा ऑन लाइन होगा। मसलन किसी शिक्षक-कर्मचारी का गैर जनपद स्थानांतरण भी जाता है तो इसमें एक क्लिक के सहारे पूरा ब्यौरा देखा जा सकता है। वहीं आन लाइन अवकाश व्यवस्था, बचे अवकाश की स्थिति, वेतन, ज्वाइनिंग, विभागीय लाभ, कार्रवाई जैसे तमाम ¨बदु सर्विस बुक से दर्ज किए गए हैं। आगे आने वाले समय में यह समय समय पर दर्ज किए जाएंगे। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि 1 नवंबर से आन लाइन अवकाश सिस्टम लागू हो रहा है। अब बीईओ के द्वारा अवकाश के लिए दिए जाने वाले कोड, प्रार्थना पत्र आदि पर किसी प्रकार का अवकाश नहीं मिलेगा। सारा काम मानव संपदा पोर्टल पर ही आन लाइन किया जा सकेगा। इसके लिए सभी खंड शिक्षाधिकारियों को विस्तार से समझा दिया गया है जिससे शिक्षक और शिक्षणोत्तर कर्मचारी ऑनलाइन सिस्टम का लाभ ले सकेंगे।

’>>शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक, शिक्षणोत्तर कर्मियों पर होगा लागू

’>>मानव संपदा पोर्टल पर अवकाश के लिए करना होगा आवेदन


फतेहपुर : विशिष्ट आवश्यकता वाली छात्रों को वृत्तिका दिए जाने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : विशिष्ट आवश्यकता वाली छात्रों को वृत्तिका दिए जाने के सम्बन्ध में।










 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

फतेहपुर : विद्यालय प्रबन्ध समिति के प्रशिक्षण हेतु विकास खण्ड स्तर पर प्रशिक्षक तैयार करने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : विद्यालय प्रबन्ध समिति के प्रशिक्षण हेतु विकास खण्ड स्तर पर प्रशिक्षक तैयार करने के सम्बन्ध में।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

फतेहपुर : आपरेशन कायाकल्प कार्यक्रम के अंतर्गत परिषदीय विद्यालयों में विकास खण्ड स्तर पर कार्य सम्पादन हेतु देखें निर्धारित समय सारिणी

फतेहपुर : आपरेशन कायाकल्प कार्यक्रम के अंतर्गत परिषदीय विद्यालयों में विकास खण्ड स्तर पर कार्य सम्पादन हेतु देखें निर्धारित समय सारिणी


👉🏻यहां क्लिक करके देखें विस्तृत दिशा-निर्देश👈🏻








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों में गठित विद्यालय प्रबन्ध समितियों के खाता संख्या निर्धारित प्रारूप पर उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों में गठित विद्यालय प्रबन्ध समितियों के खाता संख्या निर्धारित प्रारूप पर उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

गोरखपुर : प्राथमिक शिक्षक संघ ने अवकाश लेने की नई व्यवस्था (मानव संपदा) के सम्बन्ध में बीएसए को लिखा पत्र, कहा : अगर शिक्षक हुआ प्रताड़ित तो संगठन होगा संघर्ष के लिए बाध्य

गोरखपुर : प्राथमिक शिक्षक संघ ने अवकाश लेने की नई व्यवस्था (मानव संपदा) के सम्बन्ध में बीएसए को लिखा पत्र, कहा : अगर शिक्षक हुआ प्रताड़ित तो संगठन होगा संघर्ष के लिए बाध्य


बाराबंकी : MDM घोटाला गिरोह के सात सदस्यों पर गैंगस्टर, मुकदमा दर्ज

बाराबंकी : MDM घोटाला गिरोह के सात सदस्यों पर गैंगस्टर, मुकदमा दर्ज

लखनऊ : स्वेटर बंटने के इंतजाम ठंडे, ठिठुरेंगें 1.87 लाख बच्चे

लखनऊ :  स्वेटर बंटने के इंतजाम ठंडे, ठिठुरेंगें 1.87 लाख बच्चे

उच्च शिक्षा की प्रमुख समस्याओं पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने खुद ही सम्भाल लिया मोर्चा, विभाग से मांगी कार्ययोजना

उच्च शिक्षा : सभी विश्वविद्यालयों को लागू करना होगा रोस्टर सिस्टम, सीएम कार्यालय ने नौ बिंदुओं पर तलब की रिपोर्ट।









उच्च शिक्षा की प्रमुख समस्याओं पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने खुद ही सम्भाल लिया मोर्चा, विभाग से मांगी कार्ययोजना।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

बच्चों को प्राइमरी संग मिलेगी प्री प्राइमरी शिक्षा, आंगनबाड़ी केंद्रों की भूमिका बढ़ाने के साथ साथ बाल संरक्षण केंद्रों को भी जोड़ा जाएगा पोषण कार्यक्रमों से

बच्चों को प्राइमरी संग मिलेगी प्री प्राइमरी शिक्षा, आंगनबाड़ी केंद्रों की भूमिका बढ़ाने के साथ साथ बाल संरक्षण केंद्रों को भी जोड़ा जाएगा पोषण कार्यक्रमों से।

मेधावी छात्राओं की तकनीकी शिक्षा में धन नहीं बनेगा बाधा, 6 लाख से कम आय वाले परिवार की बेटियों को सरकार देगी स्कॉलरशिप

मेधावी छात्राओं की तकनीकी शिक्षा में धन नहीं बनेगा बाधा,  6 लाख से कम आय वाले परिवार की बेटियों को सरकार देगी स्कॉलरशिप

फतेहपुर : बच्चे जानेंगे "सरदार" कैसे बने आयरनमैन, परिषदीय स्कूलों में शिक्षण कार्य स्थगित कर दी जाएगी सीख, आयोजित होंगे कार्यक्रम व प्रतियोगिताएं

फतेहपुर : बच्चे जानेंगे "सरदार" कैसे बने आयरनमैन, परिषदीय स्कूलों में शिक्षण कार्य स्थगित कर दी जाएगी सीख, आयोजित होंगे कार्यक्रम व प्रतियोगिताएं।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

फतेहपुर : एआरपी के लिए मानक तय, प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर मानी जायेगी उपस्थिति, प्रत्येक वर्ष कराना होगा नवीनीकरण

फतेहपुर : एआरपी के लिए मानक तय, प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर मानी जायेगी उपस्थिति, प्रत्येक वर्ष कराना होगा नवीनीकरण।


एआरपी की तैनाती के मानक तय
31 Oct 2019

शासन ने एबीआरसीसी एवं एनपीआरसीसी के स्थान पर प्रत्येक ब्लॉक मंे एआरपी की तैनाती एवं उसकी उपस्थिति के मानक तय कर दिए हैं। एआरपी की नियमित उपस्थिति उनके द्वारा स्कूलों मंे किए जाने वाले सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के बाद तैयार की गई रिपोर्ट को प्रेरणा ऐप मंे अपलोड होने पर ही मानी जाएगी। साथ ही कहा गया है कि एआरपी अपने विषय से सम्बन्धित प्रशिक्षण मंे ही बतौर प्रतिभागी या प्रशिक्षण भाग ले सकेंगे।

प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर ही मानी जाएगी उपस्थिति

शासन ने यह भी स्पष्ट किया है कि एआरपी की कार्य अवधि मुख्य तौर पर विद्यालय समयावधि को ही माना जाएगा। यदि आवश्यक हुआ तभी एआरपी को बीआरसी पहुंचना होगा। एआरपी को हर माह कम से कम 30 स्कूलांे का आनलाइन सपोर्टिव सुपरविजन करना होगा। यात्रा भत्ता के अलावा अन्य कोई अतिक्ति देय नहीं मिलेगा। अनुश्रवण के दौरान प्रार्थना सभा से लेकर सम्पूर्ण गतिविधियों को ध्यान मंे रखना होगा। शासन ने ब्लॉक संसाधन केन्द्रों एवं न्यायपंचायत संसाधन केन्द्रों के पुनर्गठन का फैसला किया है। इस फैसले के अन्तर्गत अब बीआरसी मंे पूर्व नियुक्त एबी आरसीसी एवं न्याय पंचायतों मंे तैनात एनपी आरसीसी (संकुल प्रभारी) की अपने मूल विद्यालयों मंे वापसी हो जाएगी। इनके स्थान पर अब प्रत्येक ब्लॉक मंे 6 एकैडमिक रिसोर्स पर्सन की नियुक्ति एक माह के भीतर की जाएगी। शासनादेश मंे विस्तृत रूप से शासन ने 2 फरवरी 2011 के शासनादेश मंे दी गई व्यवस्था को अवक्रमित कर दिया है। एआपी को सह समन्वयकों के पूर्व सृजित पदों मंे समायोजित किया जाएगा।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

प्रतापगढ़ : एबीआरसी से हटाए गए शिक्षक नेताओं की एआरपी पर नजर, शुक्रवार को जारी होगा विज्ञापन, चयन के लिए अभी कर रहे हैं माथापच्ची

प्रतापगढ़ : एबीआरसी से हटाए गए शिक्षक नेताओं की एआरपी पर नजर, शुक्रवार को जारी होगा विज्ञापन।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

जालौन- उरई : ARP चयन हेतु पर्याप्त आवेदन नहीं हुए प्राप्त , बढ़ाई गई आवेदन तिथि, देखें संशोधित विज्ञप्ति

जालौन- उरई : ARP चयन हेतु पर्याप्त आवेदन नहीं हुए प्राप्त , बढ़ाई गई आवेदन तिथि, देखें संशोधित विज्ञप्ति।







जालौन : उरई : ARP पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

श्रावस्ती : ARP पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें विज्ञप्ति सह आवेदन पत्र प्रारूप

श्रावस्ती : ARP पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें विज्ञप्ति सह आवेदन पत्र प्रारूप।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

यूपी बोर्ड : परीक्षा में इस बार मिलेंगी रंग,-बिरंगी कॉपियां, परीक्षा में उत्तर पुस्तिकाओं की अदला-बदली रोकने के लिए बड़ा फैसला

यूपी बोर्ड : परीक्षा में इस बार मिलेंगी रंग,-बिरंगी कॉपियां, परीक्षा में उत्तर पुस्तिकाओं की अदला-बदली रोकने के लिए बड़ा फैसला।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, October 30, 2019

हाथरस : ARP चयन हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें

हाथरस : ARP चयन हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें



हाथरस : 08 नवम्बर को प्रस्तावित लर्निंग आउटकम परीक्षा से पूर्व कक्षा 5 से 8 के समस्त छात्र-छात्राओं का पंजीकरण करने के सम्बन्ध में

हाथरस : 08 नवम्बर को प्रस्तावित लर्निंग आउटकम परीक्षा से पूर्व कक्षा 5 से 8 के समस्त छात्र-छात्राओं का पंजीकरण करने के सम्बन्ध में

इस वर्ष अल्पसंख्यक समुदाय की तीन लाख बच्चियों को वजीफा

इस वर्ष अल्पसंख्यक समुदाय की तीन लाख बच्चियों को वजीफा
October 30, 2019  

जासं, नई दिल्ली : मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन की सामान्य सभा की 70 वी बैठक मंगलवार को हुई। अध्यक्षता करते हुए केंद्रीय अल्पसंखयक कार्य मंत्री व फांउडेशन के अध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने बताया कि महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर इस साल तीन लाख बच्चियों को छात्रवृत्ति दी जाएगी। आजाद एजुकेशन फाउंडेशन 6 अधिसूचित अल्पसंख्यक समुदायों- जैन, पारसी, बौद्ध, ईसाई, सिक्ख एवं मुस्लिम समुदाय की आर्थिक रूप से कमजोर 3 लाख बच्चियों को बेगम हजरत महल योजना में छात्रवृति देगा। गत वर्ष दो लाख बच्चियों को छात्रवृति दी गई थी। यह छात्रवृति ऑनलाइन सीधे बच्चियो के खाते में दी जाती है।


नकवी ने बताया कि 31 अक्तूबर के बाद आवेदनों को सूचीबद्ध कर इस पर कार्य शुरू हो जाएगा। इस मौके पर फाउंडेशन के सचिव रिजवान उर रहमान, उपाध्यक्ष अशफाक सैफी, कोषाध्यक्ष शाकिर अंसारी, सदस्य सरदार एस पी सिंह, शाहिद रिज़वी, नफ़ीस अहमद, सालिम हुसैन, शेख़ अब्दुल करीम, मुन्नवरी बेगम, एस नकवी, इम्तियाज़ आलम एवं शाहीन अख्तर आदि उपस्थित रहे।

पीएचडी प्री कोर्स वर्क और परीक्षा होगी ऑनलाइन, उच्च शिक्षा विभाग ने शोध की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उठाया कदम

पीएचडी प्री कोर्स वर्क और परीक्षा होगी ऑनलाइन, उच्च शिक्षा विभाग ने शोध की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उठाया कदम

October 30, 2019  


लखनऊ: शोध की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए अब और सख्ती की जाएगी। पीएचडी में दाखिला पाने से पहले छह महीने के पीएचडी प्री कोर्स वर्क को पारदर्शी बनाया जाएगा। पीएचडी प्री कोर्स वर्क और उसकी परीक्षा दोनों ऑनलाइन होगी। उच्च शिक्षा विभाग ने इसके लिए चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। यह कमेटी 10 दिन के भीतर ऑनलाइन प्रक्रिया से संबंधित अपना प्रस्ताव देगी और इसके बाद इसमें बदलाव किया जाएगा।

विश्वविद्यालय व डिग्री कॉलेजों में पीएचडी में दाखिले से पहले छह महीने का पीएचडी प्री कोर्स वर्क करवाया जाता है। इसमें एक पेपर शोध क्रिया विधि और दूसरा संबंधित विषय का होता है। सौ-सौ अंकों के इन दो प्रश्नपत्रों की परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थी को ही पीएचडी में दाखिला दिया जाता है। ऐसे में पीएचडी प्री कोर्स वर्क में गड़बड़ियों की शिकायतें भी सामने आती हैं। 

फिलहाल उच्च शिक्षा विभाग ने इससे निपटने के लिए पढ़ाई और परीक्षा ऑनलाइन करने का फैसला लिया है। उच्च शिक्षा विभाग की ओर से गठित की गई कमेटी में संयुक्त शिक्षा निदेशक (उच्च शिक्षा) डॉ. राजीव पांडेय, सहायक निदेशक (उच्च शिक्षा) डॉ. बीएल शर्मा, राजकीय महाविद्यालय सैदाबाद प्रयागराज के डॉ. अशोक कुमार वर्मा और राजकीय महाविद्यालय बादलपुर के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा शामिल हैं। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने वर्ष 2021 से शिक्षक पदों पर भर्ती के लिए पीएचडी अनिवार्य कर दी है। फिलहाल उत्तर प्रदेश में उच्च शिक्षा विभाग ने इसे अभी लागू नहीं किया है। ऐसे में यूजीसी की राष्ट्रीय अर्हता परीक्षा (नेट) व राज्य स्तरीय अर्हता परीक्षा (स्लेट) पास करने वाला अभ्यर्थी भी शिक्षक बन सकता है चाहे उसने पीएचडी की हो या नहीं।

 ऐसे में पीएचडी प्री कोर्स वर्क ऑनलाइन करने से उन शिक्षकों को भी राहत मिलेगी, जिन्होंने अभी तक पीएचडी नहीं की है। ऐसे शिक्षकों को कोर्स वर्क की पढ़ाई के लिए छुट्टी लेने के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा गठित कमेटी के संयोजक डॉ. राजीव पांडेय ने कहते हैं कि इससे पारदर्शिता तो बढ़ेगी ही बल्कि ऐसे तमाम शिक्षक जिन्होंने अभी तक पीएचडी नहीं की है वह भी आसानी से पीएचडी कर सकेंगे।

’>>उच्च शिक्षा विभाग ने शोध की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उठाया कदम

’>>चार सदस्यीय कमेटी का किया गया गठन, होगी सख्ती

गोरखपुर : ARP तैनाती का प्राथमिक शिक्षक संघ ने किया विरोध, चयन प्रक्रिया का किया बहिष्कार


गोरखपुर : ARP तैनाती का प्राथमिक शिक्षक संघ ने किया विरोध, चयन प्रक्रिया का किया बहिष्कार

प्रयागराज : ओएमआर शीट पर विद्यार्थी देंगे परीक्षा, आठ नवम्बर को परिषदीय और कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में होगी परीक्षा

प्रयागराज : ओएमआर शीट पर विद्यार्थी देंगे परीक्षा, आठ नवम्बर को परिषदीय और कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में होगी परीक्षा।

ओएमआर शीट पर विद्यार्थी देंगे परीक्षा

  • October 30, 2019
जासं, प्रयागराज : परिषदीय और कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के विद्यार्थियों की शैक्षिक स्तर के आकलन के लिए आठ नवंबर को लर्निग आउटकम के तहत परीक्षा होगी। इसमें प्रश्नपत्र बहुविकल्पीय होंगे। कक्षा पांच, छह, सात और आठ के विद्यार्थी पहली बार ओएमआर शीट पर परीक्षा देंगे। यह परीक्षा इन्हीं चार कक्षाओं के छात्र-छात्रओं के लिए है।
प्रश्नपत्रों की छपाई की जिम्मेदारी डायट प्राचार्य को दी गई है। इसके लिए टेंडर करा दिया गया है। परीक्षा में जिले के 147717 विद्यार्थी शामिल होंगे। विद्यालय स्तर पर परीक्षा आठ नवंबर को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक होगी। परीक्षा में विद्यार्थियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक विद्यालय के लिए पर्यवेक्षक की नियुक्ति खंड शिक्षा अधिकारी करेंगे, लेकिन पर्यवेक्षक दूसरे विद्यालयों के प्रधानाध्यापक अथवा सहायक अध्यापक होंगे। खास बात यह कि पर्यवेक्षकों को दो दिन पहले इसकी जानकारी दी जाएगी कि उनकी ड्यूटी कहां लगाई गई है।
आकस्मिक ड्यूटी के लिए कुछ पर्यवेक्षक प्रतीक्षा सूची में भी रखे जाएंगे, जो बीआरसी पर उपस्थित रहेंगे। बहुविकल्पीय प्रश्नपत्र में ए, बी, सी और डी विकल्प होंगे। सही उत्तर पर काले अथवा नीले पेन से विद्यार्थियों को गोला करना होगा। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाएं ब्लॉक संसाधन केंद्रों (बीआरसी) में सीलबंद पैकेट में जमा होंगी। कापियों के मूल्यांकन के लिए प्रति छात्र तीन, डाटा एंट्री के लिए चार और अनुश्रवण के लिए प्रत्येक बीआरसी को दो हजार रुपये दिए जाएंगे। उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के बाद ऑनलाइन फीडिंग तय समय सीमा में कराने के भी निर्देश दिए गए हैं।
बहुविकल्पीय होगा प्रश्नपत्र, बीआरसी में जांची जाएंगी उत्तर पुस्तिकाएं
परीक्षा कराने के संबंध में सभी खंड शिक्षा अधिकारियों की दो बार बैठक हो चुकी है। उन्हें राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा अभियान के निर्देशों से अवगत करा दिया गया है। उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन डीएलएड और विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षुओं से कराया जाएगा। - विनोद कुमार मिश्र, जिला समन्वयक समग्र शिक्षा अभियान





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

लखनऊ : ग्रीन बोर्ड से बच्चे सीखेंगे ज्यामितीय व रंगों का ज्ञान, परिषदीय स्कूलों में कक्षा-5 तक के छात्रों के लिए होगी व्यवस्था

लखनऊ : ग्रीन बोर्ड से बच्चे सीखेंगे ज्यामितीय व रंगों का ज्ञान, परिषदीय स्कूलों में कक्षा-5 तक के छात्रों के लिए होगी व्यवस्था।


ग्रीन बोर्ड से बच्चे सीखेंगे ज्यामितीय व रंगों का ज्ञान

  • October 30, 2019
सौरभ शुक्ला ’ लखनऊ
अब परिषदीय स्कूलों में कक्षा एक से पांच तक पढ़ने वाले विद्यार्थियों को ज्यामितीय और रंगों का ज्ञान देने के लिए अनोखी व्यवस्था बनाई जा रही है। इसके तहत विद्यालय में उनकी कक्षाओं में लगे बोर्ड का आकार और रंग बदलने की योजना है। पूरा प्रोजेक्ट डायट लखनऊ में हुए शोध से बनाया गया है। इसके तहत बच्चों की कक्षाओं में लगे बोर्ड अब सिर्फ चौकोर नहीं होंगे। उनका आकार किसी कक्षा में त्रिभुजाकार किसी में वर्गाकार तो किसी में चौकोर होगा। इससे बच्चों को बचपन से ही ज्यामितीय ज्ञान होगा।
बदला जाएगा रंग भी : अभी तक हम सब बोर्ड का रंग ब्लैक ही देखते आए हैं। अब उसका रंग हरा, पीला, सफेद, क्रीमी भी होगा। इससे बच्चों को रंगों को पहचानने में भी सुविधा होगी। विशेषज्ञों के अनुसार इस उम्र के बच्चे खेल-खेल में सबसे अधिक सीखते हैं।
ट्रेनिंग कर रही शिक्षिकाओं की मदद से हुआ शोध
डायट में ट्रेनिंग कर रही शिक्षिकाओं ने शोध कर यह प्रस्ताव बनाया है। क्योंकि बच्चे खेल-खेल में पचपन से ही जो चीजें देखते हैं। वह उन्हें याद रहती हैं। इस पर शिक्षिकाओं ने शोध किया था, तो सकारात्मक परिणाम आए।
शोध के बाद यह प्रस्ताव बनाया गया है। शासन से मंजूरी मिलते ही इसे पूरे प्रदेश में कक्षा एक से पांच तक के विद्यार्थियों के लिए परिषदीय विद्यालयों में यह व्यवस्था लागू की जाएगी।
-पवन कुमार, प्राचार्य डायट लखनऊ
डायट लखनऊ ने बनाया प्रस्ताव अब चौकोर ही नहीं, त्रिभुजाकार और वर्गाकार होंगे कक्षा में लगे बोर्ड, होगी सहूलियत





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

कल सभी मनाएं "राष्ट्रीय एकता दिवस", देशभर के विश्वविद्यालयों- स्कूलों में आया केंद्र सरकार का फरमान, कार्यक्रम करना है आयोजित

कल सभी मनाएं "राष्ट्रीय एकता दिवस", देशभर के विश्वविद्यालयों-  स्कूलों में आया केंद्र सरकार का फरमान, कार्यक्रम करना है आयोजित।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

दो संस्थानों में एक साथ काम नहीं कर सकते शिक्षक, एआईसीटीई ने राज्य सरकारों, राज्यपालों और तकनीकी शिक्षण संस्थानों को लिखा पत्र

दो संस्थानों में एक साथ काम नहीं कर सकते शिक्षक, एआईसीटीई ने राज्य सरकारों, राज्यपालों और तकनीकी शिक्षण संस्थानों को लिखा पत्र।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।