DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label शिक्षामित्र. Show all posts
Showing posts with label शिक्षामित्र. Show all posts

Thursday, February 27, 2020

शिक्षामित्रों के समान कार्य समान वेतन व पुनः शिक्षक पद पर समायोजन की सदन में उठी मांग, पूरा व्यक्तव्य देखें

शिक्षामित्रों के समान कार्य समान वेतन व पुनः शिक्षक पद पर समायोजन की सदन में  उठी मांग, पूरा व्यक्तव्य देखें


Sunday, January 12, 2020

बेसिक शिक्षा मंत्री व महानिदेशक स्कूली शिक्षा से मिले प्रदेश अध्यक्ष, शिक्षक संघ के आंदोलन में शामिल नही होंगे शिक्षामित्र

बेसिक शिक्षा मंत्री व महानिदेशक स्कूली शिक्षा से मिले प्रदेश अध्यक्ष, शिक्षक संघ के आंदोलन में शामिल नही होंगे शिक्षामित्र

Friday, January 10, 2020

जौनपुर : सॉल्वर बैठाने में शिक्षामित्र बर्खास्त, शिक्षक निलंबित, टीईटी में धांधली के आरोप में भेजे गए जेल

जौनपुर : सॉल्वर बैठाने में शिक्षामित्र बर्खास्त, शिक्षक निलंबित, टीईटी में धांधली के आरोप में भेजे गए जेल।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, December 17, 2019

मैनपुरी : रसोइया की सेवा समाप्त, शिक्षामित्र व अनुदेशक को सेवा समाप्ति का नोटिस, जातीय भेदभाव व छात्रों से एमडीएम बनवाने का मामला

मैनपुरी : रसोइया की सेवा समाप्त, शिक्षामित्र व अनुदेशक को सेवा समाप्ति का नोटिस, जातीय भेदभाव व छात्रों से एमडीएम बनवाने का मामला।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, December 5, 2019

फतेहपुर : निरीक्षण में गैरहाजिर रहने पर बीएसए ने की शिक्षामित्र की सेवा समाप्त, दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि पर लगाई रोक

फतेहपुर : निरीक्षण में गैरहाजिर रहने पर बीएसए ने की शिक्षामित्र की सेवा समाप्त, दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि पर लगाई रोक।

दो प्रधानाध्यापकों की वेतनवृद्धि रोकी, शिक्षामित्र को नोटिस

  • December 05, 2019

जागरण संवाददाता, फतेहपुर: बीएसए ने बुधवार को प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों का सघन निरीक्षण किया। विद्यालयों की दशा और साफ सफाई तथा शासन की मंशा की पड़ताल की। खामियां को पाते ही जिम्मेदारों पर जमकर गुस्सा निकाला। एक शिक्षामित्र के लगातार तीन बार अनुपस्थित पाए जाने पर सेवा समाप्ति की नोटिस थमा दी। वहीं खामियां पाए जाने पर दो प्रधानाध्यापकों की अस्थाई वेतनवृद्धि रोकने का आदेश जारी कर दिया। बीएसए के निरीक्षण को लेकर शिक्षक-शिक्षिकाओं में हड़कंप रहा। पल पल की रिपोर्ट एक दूसरे से लेते रहे।
प्राथमिक विद्यालय कोढ़ई के निरीक्षण में शिक्षामित्र जितेंद्र प्रताप सिंह तीसरी बार अनुपस्थित पाए गए। जिस पर उन्हें सेवा समाप्ति के नोटिस जारी कर दिया गया। इसी तरह उच्च प्राथमिक स्कूल में पंजीकृत 69 बच्चों के सापेक्ष 43 बच्चों की उपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त की। सभी अध्यापकों को कठोर चेतावनी देते हुए उपस्थिति बढ़ाने के आदेश दिए। प्राथमिक विद्यालय जखनी के निरीक्षण में 74 के सापेक्ष 51 बच्चे मौजूद पाए, विद्यालय प्रबंध समिति की बैठक नहीं हुई पाई, जन पहल रेडियो कार्यक्रम नहीं सुना गया तथा मेन्यू के अनुसार भोजन न बनाए जाने पर प्रधानाध्यापक अरुण कुमार शर्मा की एक अस्थाई वेतनवृद्धि रोकने के आदेश दिए। प्राथमिक विद्यालय हरवंशपुर में 55 नामांकन के सापेक्ष 42 की उपस्थिति, प्रबंध समिति की बैठक न होना, जन पहल कार्यक्रम का न सुना जाना, परिषर अव्यवस्थित पाया जाने पर प्रधानाध्यापिका माधुरी देवी की एक अस्थाई वेतनवृद्धि रोक दी गई। उच्च प्राथमिक विद्यालय उम्मेदपुर के निरीक्षण में 55 नामांकित बच्चों में 42 हाजिर मिले, प्रबंध समिति की बैठक नहीं हुई पाई, दो अध्यापकों को मेडिकल अवकाश पर पाया। प्रधानाध्यापक श्रीमती उमारानी को कठोर चेतावनी दी गई।

’>>बीएसए ने परिषदीय विद्यालयों का किया सघन निरीक्षण
’>>निरीक्षण से शिक्षकों में मचा रहा हड़कंप, लेते रहे रिपोर्ट











 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, October 21, 2019

शिक्षामित्रों के पीएफ अंशदान पर मच गया घमासान, ईपीएफओ ने की कानपुर नगर के बीएसए के खाते से रिकवरी की तैयारी

शिक्षामित्रों के पीएफ अंशदान पर मच गया घमासान, ईपीएफओ ने की कानपुर नगर के बीएसए के खाते से रिकवरी की तैयारी।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, October 16, 2019

शिक्षामित्र व अनुदेशकों को ईपीएफ देने पर काम शुरू, सर्वशिक्षा अभियान के जिला परियोजना के तहत कार्य करने वाले संविदा कर्मियों का जुटाया जा रहा ब्यौरा

शिक्षामित्र व अनुदेशकों को ईपीएफ देने पर काम शुरू, सर्वशिक्षा अभियान के जिला परियोजना के तहत कार्य करने वाले संविदा कर्मियों का जुटाया जा रहा ब्यौरा।












 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, September 29, 2019

अनुदेशकों और शिक्षामित्रों की भी अब बनेगी सर्विस बुक, अपर मुख्य सचिव ने बीएसए को सर्विस बुक बनाने का दिया निर्देश, सर्विस बुक में नियुक्ति, तैनाती व अवकाश का विवरण होगा दर्ज

अनुदेशकों और शिक्षामित्रों की भी अब बनेगी सर्विस बुक, अपर मुख्य सचिव ने बीएसए को सर्विस बुक बनाने का दिया निर्देश, सर्विस बुक में नियुक्ति, तैनाती व अवकाश का विवरण होगा दर्ज।










 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, August 5, 2019

फतेहपुर : मूल विद्यालय में भेजने को शिक्षामित्रों ने उठाई आवाज, विभाग की लापरवाही से शासन के आदेश के बावजूद अभी भी मूल विद्यालय नहीं वापस हो पाए शिक्षामित्र

फतेहपुर : मूल विद्यालय में भेजने को शिक्षामित्रों ने उठाई आवाज, विभाग की लापरवाही से शासन के आदेश के बावजूद अभी भी मूल विद्यालय नहीं वापस हो पाए शिक्षामित्र।


विभाग शिक्षामित्रों को मूल विद्यालयों में भेजे



  • August 05, 2019
जागरण संवाददाता, फतेहपुर: संयुक्त समायोजित शिक्षक एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के बैनर तले रविवार को नहर कॉलोनी में बैठक आयोजित की गई। दूरदराज से आए शिक्षामित्रों ने बेसिक शिक्षा विभाग आक्रोश व्यक्त किया। मुख्य अतिथि मंडल उपाध्यक्ष सुशील कुमार तिवारी ने कहाकि एक साल पूर्व शासन ने आदेश जारी किया था कि शिक्षामित्रों को उनके मूल विद्यालयों में भेजा जाए। एक साल बीत चुका है कि शिक्षामित्रों को उनके विद्यालयों में न भेजकर परेशानी में डाल रखा गया है। विभाग की लापरवाही के चलते उन्हें परेशान होना पड़ रहा है। मामले को लेकर बीएसए से जल्द ही मुलाकात की जाएगी।
नहर कॉलोनी मैदान में जुटे शिक्षामित्रों ने जमकर विभाग को कोसा। कहाकि स्थानीय प्रशासन शासन के आदेश को रद्दी की टोकरी में डाल रहा है। शिक्षामित्र 80 किमी दूर नौकरी करने को मजबूर हो रहे हैं। प्रशासन को सोचना चाहिए कि 10 हजार के मानदेय में शिक्षामित्रों को क्या क्या दिक्कतें उठानी पड़ रही है। शासनादेश का अनुपालन करके शिक्षामित्रों को मूल विद्यालयों में भेज दिया जाए और शैक्षिक पठन पाठन को मजबूत कराया जाए। वहीं शिक्षामित्रों के बकाया मानदेय न दिए जाने पर नाराजगी व्यक्त की गई। संचालन कर रहे प्रदीप पटेल ने कहाकि प्रदेश संगठन के निर्देश पर सक्रिय सदस्यों को जोड़ने का काम किया जाएगा। इस मौके पर ज्ञानेंद्र मिश्र, आशीष पटेल, कृष्ण स्वरूप, शैलेंद्र वर्मा, जय नारायण सिंह, धर्मेंद्र मौर्या, अजय कुमार सिंह, रेखा सिंह, रजनी गुप्ता, सुनीता देवी, पूनम सिंह, रिंकी देवी आदि रहीं।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, July 29, 2019

प्रयागराज : सैकड़ो शिक्षामित्रों की मूल विद्यालयों में तैनाती नहीं, मूल विद्यालय पहुंचने के लिए बीएसए कार्यालय का लगा रहे चक्कर, नहीं हो रही सुनवाई

प्रयागराज : सैकड़ो शिक्षामित्रों की मूल विद्यालयों में तैनाती नहीं, मूल विद्यालय पहुंचने के लिए बीएसए कार्यालय का लगा रहे चक्कर, नहीं हो रही सुनवाई।


सैकड़ों शिक्षामित्रों की मूल विद्यालयों में तैनाती नहीं
July 29, 2019   
जासं,प्रयागराज: शासनादेश के बावजूद सैकड़ों शिक्षामित्रों की तैनाती (पद स्थापन) मूल विद्यालयों में नहीं हो सकी। इसमें काफी संख्या महिला शिक्षामित्रों की है, जिनकी तैनाती उनके ससुराल के पते (स्कूल) पर नहीं की गई। इससे महिला शिक्षामित्रों को भी अपने घर से करीब 70-80 किमी. दूर विद्यालयों में पढ़ाने के लिए जाना पड़ रहा है। मूल विद्यालयों में पहुंचने के लिए शिक्षामित्र बीएसए कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।
लगभग दो वर्ष पूर्व सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों का शिक्षक पद पर समायोजन निरस्त कर दिया था। उसके एक वर्ष बाद प्रदेश सरकार ने शासनादेश जारी कर सभी शिक्षामित्रों को उनके मूल विद्यालय, महिलाओं को उनके ससुराल के पते पर विकल्प के आधार पर तैनाती के लिए कहा था। दावा है कि उस शासनादेश के क्रम में प्रयागराज जिले में आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के धरना-प्रदर्शन के बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी ने करीब 2200 शिक्षामित्रों की तैनाती मूल विद्यालय में कर दिया, लेकिन अब भी लगभग 13-14 सौ शिक्षामित्रों की तैनाती उनके मूल विद्यालयों में नहीं हुई। महिला शिक्षामित्रों को भी उनके ससुराल के पते पर पदस्थापित नहीं किया गया। आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अश्वनी कुमार त्रिपाठी का आरोप है कि बीएसए की मनमानी के कारण करीब 13-14 सौ शिक्षामित्रों का पद स्थापना उनके मूल विद्यालय में नहीं हो सका है। अब एसोसिएशन धरना-प्रदर्शन की तैयारी में है।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, July 5, 2019

शिक्षामित्रों को अप्रैल से मानदेय न मिलने के विरोध में भूख हड़ताल की चेतावनी, अविलंब मानदेय भुगतान की मांग


शिक्षामित्रों को अप्रैल से मानदेय न मिलने के विरोध में भूख हड़ताल की चेतावनी,  अविलंब मानदेय भुगतान की मांग। 



Sunday, June 16, 2019

शिक्षामित्र उत्साहित, जून में स्कूल के साथ शिक्षामित्रों की खुलेगी किस्मत

शिक्षामित्र उत्साहित, जून में स्कूल के साथ शिक्षामित्रों की खुलेगी किस्मत




Wednesday, June 12, 2019

हाथरस : विकास खण्ड / नगर क्षेत्र में जिला योजना के अंतर्गत कार्यरत शिक्षा मित्रों की सूची एवं संशोधित मानदेय बिल उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में

हाथरस : विकास खण्ड / नगर क्षेत्र में जिला योजना के अंतर्गत कार्यरत शिक्षा मित्रों की सूची एवं संशोधित मानदेय बिल उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में

Monday, May 13, 2019

सुप्रीम फैसला : बिहार के स्कूलों में स्थायी शिक्षकों की भर्ती होगी बंद

सुप्रीम फैसला : बिहार के स्कूलों में स्थायी शिक्षकों की भर्ती होगी बंद








Sunday, May 5, 2019

फतेहपुर : हर महिला कर्मी को मिलेगा बाल्यपाल प्रसूति अवकाश, बीएसए ने कहा- शासनादेश आया संज्ञान में, आदेश मिलने पर लाभार्थियों को दिया जाएगा लाभ

फतेहपुर : हर महिला कर्मी को मिलेगा बाल्यपाल प्रसूति अवकाश, बीएसए ने कहा- शासनादेश आया संज्ञान में, आदेश मिलने पर लाभार्थियों को दिया जाएगा लाभ।


शासनादेश देखने के लिए क्लिक करें





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, March 17, 2019

फतेहपुर : कई परिवारों की होली कहीं रह न जाये फीकी, शिक्षामित्रों और रोजगार सेवकों को नहीं मिला मानदेय


फतेहपुर : कई परिवारों की होली कहीं रह न जाये फीकी, शिक्षामित्रों और रोजगार सेवकों को नहीं मिला मानदेय।




Friday, March 15, 2019

उत्तराखण्ड में भी सहायक अध्यापक पद पर तैनात शिक्षामित्रों पर लटकी तलवार, 31 मार्च शैक्षिक अर्हता पूरी नही करने पर जाएंगे हटाए


उत्तराखण्ड में भी सहायक अध्यापक पद पर तैनात शिक्षामित्रों पर लटकी तलवार, 31 मार्च शैक्षिक अर्हता पूरी नही करने पर जाएंगे हटाए


फतेहपुर : सत्यापन के नाम पर शिक्षकों से हो रही वसूली, शिक्षामित्र रह चुके शिक्षक का नाम चर्चा में

फतेहपुर : सत्यापन के नाम पर शिक्षकों से हो रही वसूली, शिक्षामित्र रह चुके शिक्षक का नाम चर्चा में।





Thursday, February 21, 2019

प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर बहाल किए जाने हेतु विधानसभा जा रहे शिक्षामित्रों को पुलिस ने रोका, शिक्षामित्रों ने किया हंगामा, 10 महीने से दे रहे हैं धरना, सरकार की उपेक्षा से हैं नाराज


प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर बहाल किए जाने हेतु विधानसभा जा रहे शिक्षामित्रों को पुलिस ने रोका, शिक्षामित्रों ने किया हंगामा।




सहायक अध्यापक पद पर बहाली की मांग को लेकर विधान भवन कूच के लिए निकले शिक्षामित्रों को पुलिस ने खदेड़ा


गांधी प्रतिमा पर शिक्षा मित्रों ने किया प्रदर्शन।
लखनऊ: आम शिक्षक शिक्षामित्र असोसिएशन उत्तर प्रदेश का धरना प्रदर्शन ईको गार्डन में 18 मई से लगातार चल रहा है। सिर के बाल मुंडवाने और तर्पण करने के बाद भी कोई सुनवाई न होने पर शिक्षामित्रों ने बुधवार को विधान भवन के लिए कूच कर दिया। ऐसे में विधानसभा मार्ग पर प्रदर्शन के लिए आमादा शिक्षामित्रों को प्रशासन ने खदेड़कर आवाजाही सामान्य करवाई।


असोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष उमा देवी के नेतृत्व में सहायक अध्यापक पद पर बहाली की मांग कर रहे शिक्षामित्रों ने दोपहर 12:30 बजे दारुलशफा से विधान भवन की ओर बढ़ने लगे। इस पर वहां तैनात पुलिस ने उन्हें हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा परिसर में जाने को कहा। इस पर प्रदर्शनकारी हरजतगंज चौराहे से चारबाग जाने वाले मार्ग पर दोपहर 12:45 पर बैठ गए। ऐसे में 15 मिनट तक जाम लग गया। इस पर पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को गांधी प्रतिमा परिसर की ओर खदेड़ दिया। प्रदर्शनकारी सरकार विरोधी नारेबाजी कर गिरफ्तारी की मांग करने लगे। आखिरकार शाम 4 बजे प्रशासन ने सभी को सरकारी वाहन से ईको गार्डन रवाना कर दिया। आंदोलन में शामिल प्रमोद मणि ने बताया कि इस दौरान प्रदर्शनकारी सूचिता उपाध्याय की तबीयत भी खराब हो गई थी।








Monday, February 11, 2019

फतेहपुर : शिक्षामित्रों को मूल विद्यालय भेजने में लग सकता है ग्रहण, समायोजन करके मूल विद्यालय भेजने की कतार में खड़े हैं 300 शिक्षामित्र, चुनाव बाद होगा समायोजन : बीएसए


फतेहपुर : शिक्षामित्रों को मूल विद्यालय भेजने में लग सकता है ग्रहण, समायोजन करके मूल विद्यालय भेजने की कतार में खड़े हैं 300 शिक्षामित्र, चुनाव बाद होगा समायोजन : बीएसए।