DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label मृतक आश्रित. Show all posts
Showing posts with label मृतक आश्रित. Show all posts

Thursday, February 25, 2021

जल्द होंगे जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले, मृतक आश्रितों को शैक्षिक योग्यता अनुसार नौकरी देने का आदेश जल्द बोले बेसिक शिक्षा मंत्री

जल्द होंगे जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले, मृतक आश्रितों को शैक्षिक योग्यता अनुसार नौकरी देने का आदेश जल्द बोले बेसिक शिक्षा मंत्री



लखनऊ। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले जल्द किए जाएंगे। परिषदीय शिक्षकों की लंबित मांगों पर सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। बुधवार को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से सिंचाई भवन में एक दिवसीय प्रांतीय संगोष्ठी आयोजित की गई।

संगोष्ठी को संबोधित करते हुए द्विवेदी ने कहा, शिक्षकों की पदोन्नति के लिए बजट सत्र समाप्त होने के बाद बैठक की जाएगी। पदोन्नति में आने वाली अड़चनों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मृतक आश्रितों को लिपिक के पद पर नियुक्ति देने के लिए जल्द आदेश जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में शिक्षकों को ड्रेस, एमडीएम सहित अन्य गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त रखने का प्रयास किया जाएगा। कार्यक्रम को संघ के प्रांतीय अध्यक्ष सुशील पांडेय ने भी संबोधित किया।

Thursday, January 21, 2021

बंद हो सकते 10 हजार बेसिक विद्यालय, चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर भी रोक का सुझाव

बंद हो सकते 10 हजार बेसिक विद्यालय, चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर भी रोक का सुझाव




समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बेसिक शिक्षा विभाग में 10,000 से अधिक प्राथमिक विद्यालय ऐसे हैं जिनके लिए आवश्यक न्यूनतम 30 छात्र उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। इनको बंद कर वहां तैनात शिक्षकों को अन्य विद्यालयों में स्थानांतरित करने की सिफारिश की है। यहां के छात्रों को निकट के प्राइमरी या निजी स्कूलों में प्रवेश दिलाने को कहा गया है।


चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर रोक का सुझाव

इसके साथ ही बेसिक शिक्षा विभाग में भविष्य में अनुकंपा के आधार पर चतुर्थ श्रेणी के रूप में नियुक्ति की व्यवस्था पर नए सिरे से विचार करने का निर्देश दिया गया है।

Saturday, July 18, 2020

महराजगंज : मृतक आश्रित तथा अन्य सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं के नियुक्ति सम्बन्धी वांछित अभिलेखों की पत्रावली प्रेषण के सम्बन्ध में बीएसए ने किया पुनः निर्देशित

महराजगंज : मृतक आश्रित तथा अन्य सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं के नियुक्ति सम्बन्धी वांछित अभिलेखों की समस्त पत्रावलियां 22 जुलाई तक प्रेषित करने के सम्बन्ध में बीएसए ने बीईओ को किया पुनः निर्देशित।

मृतक आश्रित शिक्षक/शिक्षिकाओं के नियुक्ति सम्बन्धी पत्रावली प्रेषण के सम्बन्ध में-


Saturday, July 11, 2020

महराजगंज : परिषदीय विद्यालयों में अनियमित/नियम विरुद्ध/फर्जी रूप से हुई नियुक्ति जांच/सत्यापन हेतु बीएसए ने मृतक आश्रित सहित सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं की पत्रावली प्रेषित करने के सम्बन्ध में दिया निर्देश

महराजगंज : परिषदीय विद्यालयों में अनियमित/नियम विरुद्ध/फर्जी रूप से हुई नियुक्ति जांच/सत्यापन हेतु बीएसए ने मृतक आश्रित सहित सभी शिक्षक/शिक्षिकाओं की पत्रावली प्रेषित करने के सम्बन्ध में दिया निर्देश।


मृतक आश्रित के अन्तर्गत नियुक्त शिक्षक/शिक्षिकाओं की जांच के सम्बन्ध में-


Saturday, June 27, 2020

फतेहपुर : बेसिक शिक्षा विभाग में अश्रितों को नौकरी देने में देरी से सचिव नाराज, प्रकरण में सचिव स्तर से मार्गदर्शन मांगे जाने पर जताई नाराजगी

फतेहपुर : बेसिक शिक्षा विभाग में अश्रितों को नौकरी देने में देरी से सचिव नाराज, प्रकरण में सचिव स्तर से मार्गदर्शन मांगे जाने पर जताई नाराजगी।


फतेहपुर : बेसिक शिक्षा में आश्रित की नौकरी पाने वालों की राह आसान हो रहा है। सचिव बेसिक शिक्षा ने इस गंभीर प्रकरण को संज्ञान में लिया है। प्रकरणों में सचिव स्तर से मार्गदर्शन मांगे जाने पर नाराजगी जताई है। उनहोंने कहा कि तमाम पत्रकारों में मार्गदर्शन की जरूरत ही नहीं है। यह केवल लेटलतीफी किए जाने का कारण है और मामले कोर्ट में पहुंचने पर अनावश्यक किरकिरी होती है।






दसअसल बेसिक शिक्षा विभाग में मत शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के आश्रितों को नौकरी दिए जाने में हीलाहवाली हो रही है। आश्रित की नौकरी पाने के लिए सालों प्रकरण की सुनवाई न किए जाने पर ऐसे लोग कोर्ट चले जाते हैं। सचिव बेसिक शिक्षा विजय शंकर तिवारी ने आदेश दिया कि जिन प्रकरणों में मार्गदर्शन की आवश्यकता नहीं है। वह प्रकरण कतई न भेजे जाएं। संगत नियमों और शासनादेशों के अधीन आदेश अनुपालन में कोई दिक्कत आती है तो परिषद से विशेष अपील अलबत्ता की जा सकती है। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि जिले में ऐसे पांच प्रकरण हैं जो खंड शिक्षा अधिकारियों को जांच के लिए दिए गए हैं। जिसमें सचिव बेसिक शिक्षा के निर्देश का अनुपालन कराया जाएगा।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, October 9, 2019

मृतक आश्रित में नौकरी मिलने के नियम बदले, शिक्षक का बेटा अब चपरासी नही शिक्षक ही बनेगा

मृतक आश्रित में नौकरी मिलने के नियम बदले, शिक्षक का बेटा अब चपरासी नही शिक्षक ही बनेगा





Friday, September 13, 2019

हाथरस : मृतक आश्रित कोटे से नियुक्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की वर्तमान शैक्षिक योग्यता के सम्बन्ध में

हाथरस : मृतक आश्रित कोटे से नियुक्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की वर्तमान शैक्षिक योग्यता के सम्बन्ध में

Saturday, August 4, 2018

अनुकंपा कोटे की नियुक्ति में देरी पर हाईकोर्ट गंभीर, प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा से कारण स्पष्ट करने को कहा

अनुकंपा कोटे की नियुक्ति में देरी पर हाईकोर्ट गंभीर, प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा से कारण स्पष्ट करने को कहा

Friday, June 22, 2018

शिक्षकों के चयन/प्रोन्नत वेतनमान निर्धारण, कोर्ट आदेश के अनुपालन में मृतक आश्रित शिक्षकों के जीपीएफ/पेंशन एवं शिक्षकों के अंतर्जनपदीय ट्रांसफर के सम्बंध में प्राथमिक शिक्षक संघ के मांगपत्र देखें

शिक्षकों के चयन/प्रोन्नत वेतनमान निर्धारण, कोर्ट आदेश के अनुपालन में मृतक आश्रित शिक्षकों के जीपीएफ/पेंशन एवं शिक्षकों के अंतर्जनपदीय ट्रांसफर के सम्बंध में प्राथमिक शिक्षक संघ के मांगपत्र देखें





Friday, March 30, 2018

संतकबीर नगर : समस्त शिक्षकों के नॉमिनी फॉर्म भरवाकर सेवा पुस्तिका में अंकन किये जाने हेतु एबीआरसी/एनपीआरसी को निर्देशित करने सम्बन्धी आदेश जारी, देखें

संतकबीर नगर : समस्त शिक्षकों के नॉमिनी फॉर्म भरवाकर सेवा पुस्तिका में अंकन किये जाने हेतु एबीआरसी/एनपीआरसी को निर्देशित करने सम्बन्धी आदेश जारी, देखें

मृतक आश्रित : हाईकोर्ट ने मृतक आश्रित कोटे में साइक्लोस्टाइल आदेश से दावा निरस्त करने पर की अधिकारियों की खिंचाई, दो माह में निर्णय लेने का निर्देश

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मृतक आश्रित कोटे में साइक्लोस्टाइल आदेश से दावा निरस्त करने पर अधिकारियों की खिंचाई की। कोर्ट ने कहा कि उच्च प्रशासनिक अधिकारी आदेश पारित करते समय सुसंगत तथ्यों तक पर विचार नहीं करते। कोर्ट ने कन्नौज की मृतक आश्रित हिना की नियुक्ति से इनकार के आदेश को रद कर दिया और नए सिरे से दो माह में शिव कुमार केस के फैसले के तहत निर्णय लेने का निर्देश दिया है। यह आदेश जस्टिस एमसी त्रिपाठी ने दिया है। याची हिना के पिता जैनुल हसन पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाजार कलां नगर कन्नौज में चपरासी थे। 11मई 2009 में मौत हो गई। बेटे ताजुल व मां ताहिरा बेगम की 2011 में दुर्घटना में मौत हो गयी। याची उस समय 12 साल की थी। बालिग होने पर आश्रित नियुक्ति की अर्जी दी। उसे परिस्थितियों पर विचार किये बिना देरी से अर्जी देने के आधार पर खारिज कर दिया गया।•

Wednesday, March 21, 2018

हाथरस : मृतक शिक्षक की पत्नी को एक माह में पारिवारिक पेंशन का लाभ देने का आदेश, महिला की शिकायत पर न्यायालय ने दिया आदेश

हाथरस : मृतक शिक्षक की पत्नी को एक माह में पारिवारिक पेंशन का लाभ देने का आदेश, महिला की शिकायत पर न्यायालय ने दिया आदेश

Friday, February 16, 2018

हाथरस : बीएड की अमान्य डिग्री एवं मृतक आश्रित कोटा का गलत लाभ लेने का आरोप सिद्ध होने पर प्र0अ0 की सेवा समाप्त

हाथरस : बीएड की अमान्य डिग्री एवं मृतक आश्रित कोटा का गलत लाभ लेने का आरोप सिद्ध होने पर प्र0अ0 की सेवा समाप्त



Friday, January 12, 2018

बदायूँ : सेवाकाल में मृत्यु उपरांत मृतक आश्रित नियुक्ति/भुगतान में किसी विवाद की स्थिति से बचने हेतु समस्त शिक्षक/कर्मचारियों की सेवा पुस्तिकाओं में नॉमिनी का नामांकन पत्र लगाए जाने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी,

बदायूँ : सेवाकाल में मृत्यु उपरांत मृतक आश्रित नियुक्ति/भुगतान में किसी विवाद की स्थिति से बचने हेतु समस्त शिक्षक/कर्मचारियों की सेवा पुस्तिकाओं में नॉमिनी का नामांकन पत्र लगाए जाने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी,

Wednesday, October 11, 2017

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, एनेक्सी के सामने कर रहे थे प्रदर्शन

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का प्रदर्शन,पुलिस ने किया लाठीचार्ज,एनेक्सी के सामने कर रहे थे प्रदर्शन

Tuesday, September 19, 2017

संस्कृत स्कूलों में मिलेगी मृतक आश्रित को नौकरी, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने दिया आश्वासन

संस्कृत स्कूलों में मिलेगी मृतक आश्रित को नौकरी,  उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने दिया आश्वासन।


Wednesday, June 7, 2017

पुरानी पेंशन की बहाली व मृतक आश्रित के पाल्य को योग्यता के अनुरूप नियुक्ति दिलाए जाने की मांग, 15 सूत्रीय मांगों को लेकर बेसिक शिक्षकों ने अपर मुख्य सचिव को सौंपा ज्ञापन

पुरानी पेंशन की बहाली व मृतक आश्रित के पाल्य को योग्यता के अनुरूप नियुक्ति दिलाए जाने समेत 15 सूत्रीय मांगों को लेकर बेसिक शिक्षकों ने मंगलवार को अपर मुख्य सचिव बेसिक आरपी सिंह से वार्ता कर मांग पत्र सौंपा। इस मौके पर विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश संयुक्त मंत्री प्रवीण कुमार राय उमेश द्विवेदी, शशांक पाण्डेय, अंजनी सिंह आदि शामिल रहे।

Wednesday, May 3, 2017

मृतक आश्रित कोटे में नौकरी प्राप्त कर व्यक्ति नहीं कर सकता ज़िम्मेदारी से इंकार, सम्बन्धित व्यक्ति व बीएसए से हाईकोर्ट ने माँगा जवाब

मृतक आश्रित कोटे में नौकरी प्राप्त कर व्यक्ति नहीं कर सकता ज़िम्मेदारी से इंकार, सम्बन्धित व्यक्ति व बीएसए से हाईकोर्ट ने माँगा जवाब


Sunday, February 5, 2017

इलाहाबाद : मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर संघ ने लगाया प्रमोशन में भेदभाव का आरोप, उठाया प्रमोशन और नियुक्ति का मुददा


मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर संघ ने लगाया प्रमोशन में भेदभाव का आरोप, उठाया प्रमोशन और नियुक्ति का मुददा

Sunday, December 25, 2016

स्व0 रामशीष की पत्नी ने नौकरी संग 30 लाख रुपये की मांग दोहराई, सीएम ने समझाया तब मृतक शिक्षक की पत्नी ने लिया चेक

लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज में शिक्षक राम अशीष सिंह की मौत के मामले में शनिवार को पत्नी रुचि सिंह ने पहले मुख्यमंत्री के हाथ से 10 लाख रुपये लेने से इन्कार कर दिया और नौकरी संग 30 लाख रुपये की मांग दोहराई। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने परिजनों को समझाया और मांग पूरा कराने का भरोसा दिलाया। तब जाकर रुचि ने चेक लिया। घुघली विकास खंड अंतर्गत ग्राम पिपरिया कड़जहां निवासी रामपाल सिंह ने बताया कि पिता राम किशुन, भाभी रुचि सिंह व बच्चों को लेकर मुख्यमंत्री के बुलाने पर लखनऊ गया। नाम पुकारे जाने पर रुचि सिंह ने मुख्यमंत्री के हाथ से दस लाख रुपये का चेक लेने से मना कर दिया। कहा कि यह पैसा काफी कम है। दो छोटे बच्चे हैं। हमारे सामने पहाड़ सी जिंदगी पड़ी है। ससुर उम्र के अंतिम पड़ाव पर हैं। बच्चों संग पूरे परिवार की परवरिश के लिए 30 लाख रुपये व परिवार के एक सदस्य को नौकरी की दरकार है। तब मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर बुलाया। सौहार्दपूर्ण वातावरण में हमारी समस्या सुनी। कहा कि शिक्षक राम अशीष सिंह को तो जीवित नहीं कर सकता पर परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी। सीएम के समझाने के बाद पत्नी रुचि ने चेक ले लिया।