DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label मैनपुरी. Show all posts
Showing posts with label मैनपुरी. Show all posts

Wednesday, August 5, 2020

शिक्षामित्रों को जुलाई के मानदेय के लिए करना पड़ेगा इंतजार, अब नई प्रणाली से होगा भुगतान


शिक्षामित्रों को जुलाई के मानदेय के लिए करना पड़ेगा इंतजार, अब नई प्रणाली से होगा भुगतान

शिक्षामित्रों को अब पीएफएमएस से होगा मानदेय भुगतान 
राज्य परियोजना निदेशक के आदेश के बाद जिले में तैयारियां शुरू 


मैनपुरी जिले में कार्यरत शिक्षामित्रों को मानदेय भुगतान के लिए अब नई प्रणाली शुरू की जाएगी । शासन ने शिक्षामित्रों को पीएफएमएस (पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम) से मानदेय भुगतान के निर्देश दिए हैं। 


परियोजना निदेशक के निर्देश के बाद जिले में पीएफएमएस को प्रभावी बनाने का कार्य तेजी से शुरू कर दिया है । नई प्रणाली के कारण जिले के सभी 1950 शिक्षामित्रों को जुलाई के मानदेय के लिए इंतजार करना होगा। 


जिले के परिषदीय स्कूलों में कार्यरत शिक्षामित्रों को अभी तक सर्व शिक्षा अभियान के तहत मानदेय का भुगतान किया जाता था लेकिन जुलाई से उनके मानदेय के भुगतान के लिए शासन ने पीएफएमएस व्यवस्था की है। 

Friday, June 19, 2020

मैनपुरी : कस्तूरबा में दो और फर्जी शिक्षिकाएं कर रहीं नौकरी!, ऑनलाइन सत्यापन के दौरान दो के अभिलेख संदिग्ध

मैनपुरी : कस्तूरबा में दो और फर्जी शिक्षिकाएं कर रहीं नौकरी!, ऑनलाइन सत्यापन के दौरान दो के अभिलेख संदिग्ध।

मैनपुरी :  आवासीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक-शिक्षिकाओं के अभिलेखों की जांच गुरुवार को पूरी कर ली गई। जांच के दौरान दो फर्जी शिक्षिकाएं और सामने आई हैं। फर्जी शिक्षकों के अभिलेखों का ऑनलाइन सत्यापन पूरा कर लिया गया है। इनके ऑफलाइन सत्यापन के लिए अभिलेख संबंधित बोर्ड को भेज दिए गए हैं।



जांच के दौरान एक और चौंकाने वाली बात सामने आई है। पता चला है कि इन फर्जी शिक्षकों की तैनाती के पीछे मैनपुरी में विभागीय कर्मियों का एक बड़ा रैकेट है जो इन्हें अब तक बचाता रहा। इसी रैकेट की बदौलत यह फर्जी शिक्षकों मैनपुरी में नौकरी कर रही थीं। अनामिका शुक्ला सांप सामने आने के बाद मैनपुरी के कस्तूरबा में दीप्ति कांड का खुलासा हुआ तो सरकार ने मैनपुरी सहित प्रदेश के सभी कस्तूरबा विद्यालयों के स्टाफ के अभिलेखों की जांच कराने का फैसला किया। मैनपुरी के घिरोर, भोगांव और करहल में संचालित कस्तूरबा बालिका विद्यालय की 42 शिक्षकों और वार्ड के अभिलेखों की पड़ताल कराई गई। सूत्रों का कहना है कि बीएसएफ के निर्देश पर हुई इस पड़ताल में दो फर्जी शिक्षिकाएं और सामने आई हैं।

अभिलेखों की जांच ऑनलाइन

सत्यापन के दौरान दो के अभिलेख संदिग्ध

बीएसए ने सभी 42 कर्मियों का ऑनलाइन सत्यापन कराया।




अनामिका प्रकरण : पुष्पेंद्र 7 साल से हर काउंसलिंग में शामिल हो रहा था

मैनपुरी : अनामिका शुक्ला फर्जी शिक्षिका मामले के मास्टरमाइंड की जड़ें बहुत गहरी हैं। बीएसए कार्यालय के सूत्रों के अनुसार उसे पिछले सात वर्ष में हुई शिक्षक भर्ती, अनुदेशक आदि की प्रत्येक काउंसलिंग में किसी न किसी के साथ आते-जाते देखा गया है। वह भर्ती के दौरान महिला अभ्यर्थियों के साथ ही आया है। अनामिका शुक्ला फर्जी शिक्षिका मामले के मास्टरमाइंड की फोटो अखबारों में छपी तो चर्चाएं और बढ़ गई। बीएसए कार्यालय के सूत्र कहते हैं, पुष्पेंद्र जिन महिलाओं को काउंसलिंग में साथ लाता था उन्हें अपनी बुआ, भतीजी या बहन बताता था। अब जब शासन ने सभी शिक्षक भर्तियों की जांच के आदेश दिए हैं तो बड़ा खुलासा होने की संभावना जताई जा रही है। माना जा रहा है कि कई शिक्षिकाओं को भी पुष्पेंद्र ने नौकरी दिलवाई है। उनके अभिलेखों की सत्यता अब जांच के बाद ही पता लग सकेगी। फिलहाल अब लोगों की नजर शासन के निर्देश पर गठित टीम पर है जिसका प्रभारी एसडीएम को नियुक्त किया गया है। व्यूरो शिक्षिका का मांगा रिकॉर्ड : कासगंज। कस्तूरबा विद्यालयों के सभी कर्मचारियों के मूल दस्तावेजों की जांच के दौरान संदेह घेरे में आई शिक्षिका लक्ष्मी का रिकॉर्ड मांगा गया है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, June 15, 2020

कस्तूरबा में फर्जीवाड़ा : शिक्षिका और अनुदेशक बनी दीप्ति की संविदा समाप्त


शिक्षिका और अनुदेशक बनी दीप्ति की संविदा समाप्त 


मैनपुरी। अनामिका प्रकरण से जिले में सामने आया दीप्ति प्रकरण का मंगलवार को पर्दाफाश हो गया। जांच समिति और चयन समिति की रिपोर्ट के बाद शिक्षिका और अनुदेशिका की संविदा समाप्ति के साथ डीएम ने एफआईआर कराने के निर्देश दिए हैं। कस्तूरबा की शिविका टी शिक्षिका और जूनियर हाईस्कूल की अनुदेशक दोनों ने कौशांबी के मिर्जापुर ढहाया के राजकीय हाई स्कूल में तैनात दीप्ति के अभिलेखों से नौकरी हासिल की थी। कस्तूरबा विद्यालय करहल की शिक्षिका दीप्ति व प्राथमिक विद्यालय जौरा में तैनात अनुदेशिका दीप्ति की जांच शुरू हुई थी।



कस्तूरबा में फर्जीवाड़ा : असली दीप्ति का भी नाम और पता निकला फर्जी, इस्तीफा देकर अचानक हुई गोल। 


मैनपुरी। अनामिका शुक्ला की तरह सामने आए दीप्ति कांड में रविवार को एक और बड़ा खुलासा हुआ। जिस दीप्ति को विभाग असली मानकर चल रहा था उस दीप्ति का नाम और पता दोनों ही फर्जी निकले हैं। बीएसए के निर्देश पर डीसी बालिका शिक्षा ने रविवार को बेवर के परौंखा जाकर दीप्ति सिंह के नाम और पते की पड़ताल की थी लेकिन जांच के दौरान पता चला कि जमौरा स्थित विद्यालय में जो दीप्ति अनुदेशिका है उसका नाम और पता पूरी तरह फर्जी निकला है।


 जांच में यह खुलासा होने के बाद विभाग हैरान रह गया है। डीसी बालिका जांच रिपोर्ट अधिकारियों को दे रहे हैं। अनामिका शुक्ला कांड का खुलासा होने के बाद कस्बा करहल स्थित कस्तूरबा विद्यालय में दीप्ति सिंह नाम की एक शिक्षिका पांच जून को इस्तीफा देकर गायब हो गई है। इसके अभिलेख फर्जी हैं। इसकी शिकायत जमौरा की अनुदेशिका दीप्ति सिंह द्वारा की गई।

Saturday, June 13, 2020

अनामिका बन नौकरी कर रही मैनपुरी की अनीता गिरफ्तार

अनामिका बन नौकरी कर रही मैनपुरी की अनीता गिरफ्तार



अनामिका शुक्ला बनकर अंबेडकरनगर के कस्तूरबा में नौकरी कर रही मैनपुरी की अनीता को गिरफ्तार कर लिया गया। शुक्रवार को तड़के बेवर थाना क्षेत्र के ग्राम लक्ष्मणपुर से अनीता की गिरफ्तारी की गई। अंबेडकरनगर के कस्तूरबा में अनीता फर्जी डिग्री के सहारे विज्ञान शिक्षिका की नौकरी कर रही थी। फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद बीएसए अंबेडकरनगर ने इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।


पुलिस ने खंगाले अनामिका के बैंक के दस्तावेज
अंबेडकरनगर पुलिस ने पकड़ी गई अनीता को मैनपुरी कोर्ट में पेश किया और रिमांड हासिल कर उसे अंबेडकर नगर ले गई। बीते 6 जून को बीएसए अंबेडकरनगर अतुल सक्सेना ने आलापुर स्थित थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जानकारी दी गई थी कि आलापुर कस्तूरबा विद्यालय में अनामिका शुक्ला के नाम से मार्च 2019 में फर्जी नियुक्ति हुई थी। 


जांच में इस बात का खुलासा हुआ है। बीएसए ने अभिलेखों के आधार पर मैनपुरी के बेवर थाना क्षेत्र के ग्राम जोगा निवासी अनीता शाक्य पत्नी स्व. कप्तान सिंह शाक्य के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया। आलापुर थाने में तैनात एसआई लल्लन सिंह ने जांच के दौरान मोबाइल नंबर के आधार पर गुरुवार की शाम मैनपुरी के बेवर थाने पहुंचकर अनीता की तलाश शुरू कर दी। पहले जोगा में छापेमारी हुई लेकिन अनीता पड़ोसी ग्राम लक्ष्मणपुर से पकड़ी गई। शुक्रवार को तड़के उसकी गिरफ्तारी पुलिस ने की और बेवर थाने ले आयी। पुलिस ने उसे सीजेएम कोर्ट में पेश किया। जहां से उसकी रिमांड अंबेडकरनगर पुलिस कोदे दी गई।


रिमांड मिलने के बाद पुलिस अनीता को अपने साथ अंबेडकरनगर ले गई है। अंबेडकरनगर पुलिस द्वारा गिरफ्तार की गई फर्जी शिक्षिका अनीता गिरफ्तारी होते ही फूट-फूटकर रोने लगी। पीड़िता ने इस पूरे घटनाक्रम में अपने आपको निर्दोष कहा।

Monday, June 8, 2020

मैनपुरी में कई बार खुल चुका है फर्जी दस्तावेजों का राज, एक सैकड़े से ज्यादा फर्जी दस्तावेजों से नौकरी करने वालों पर अब तक गिरी गाज


मैनपुरी में कई बार खुल चुका है फर्जी दस्तावेजों का राज, एक सैकड़े से ज्यादा फर्जी दस्तावेजों से नौकरी करने वालों पर अब तक गिरी गाज। 



मैनपुरी। शिक्षिका अनामिका शुक्ला के नाम से प्रदेश भर में हुए फर्जीवाड़े में अब मैनपुरी जिले का नाम भी शामिल हो गया है। कासगंज पुलिस द्वारा गिरफ्तार की गई शिक्षिका प्रिया ने कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में नौकरी फर्जी दस्तावेजों से पाई थी और ये दस्तावेज मैनपुरी के राज नाम के युवक ने तैयार किए थे।


फर्जीवाड़े का यह पहला मामला जिले से नहीं जुड़ा है। इससे पहले भी जिले में कई बार फर्जी दस्तावेजों को तैयार करने वालों का पर्दाफाश हो चुका है। 17 मार्च 2019 को बरनाहल थाना पुलिस ने फर्जी दस्तावेज तैयार करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था। इकहरा गांव से पुलिस ने सरगना ऋषि कुमार और उसके साथ बिजेंद्र को पकड़ा था।


गिरोह में पांच अन्य लोग भी शामिल पाए गए थे। मौके से पुलिस को लैपटॉप, प्रिंटर के अलावा हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के अधबने अंकपत्र, आधारकार्ड, एसडीएम सहित कई अन्य अधिकारियों की मोहर मिली थीं। इस गिरोह से आठ से दस हजार रुपये लेकर कई युवकों के फर्जी अंक पत्र तैयार करने की बात स्वीकार की थी।


अंकपत्र के रंग ने खोला था राज
मैनपुरी में फर्जी अंक पत्र तैयार कराकर एक युवक ने फैजाबाद के एक विद्यालय में नौकरी हासिल करने की कोशिश की। अंकपत्र का कलर अलग होने के कारण वह पकड़ा गया। यह मामला मई 2018 का है। युवक ने डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के नाम की स्नातक की फर्जी अंक तालिका तैयार कराई थी।


31 शिक्षकों के दस्तावेज निकले फर्जी
फर्जी दस्तावेजों के मामले में मैनपुरी जिले की संलिप्तता समय-समय पर उजागर होती रही है। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी हासिल करने वाले 31 शिक्षकों को तत्कालीन बीएसए रामकरन यादव ने मार्च 2017 में बर्खास्त किया था। एक जुलाई 2017 को इनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस की शुरुआती जांच में इस तथ्य का खुलासा हुआ था कि अधिकांश शिक्षकों के फर्जी शैक्षिक दस्तावेज मैनपुरी में ही तैयार हुए थे।


81 शिक्षकों के दस्तावेज पाए गए फर्जी
एसआईटी जांच में जिले के 81 अन्य शिक्षकों के भी दस्तावेज फर्जी और टैंपर्ड पाए जा चुके हैं। 30 नवंबर 2019 को 74 शिक्षकों को बर्खास्त किया जा चुका है। विश्वविद्यालय से बीएड की डिग्री निरस्त होने के बाद चार फर्जी शिक्षकों के खिलाफ शनिवार को ही कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

Sunday, June 7, 2020

मैनपुरी : 4 बर्खास्त शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज, एसआईटी जांच में फर्जी डिग्रियों का हुआ था खुलासा

मैनपुरी : 4 बर्खास्त शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज, एसआईटी जांच में फर्जी डिग्रियों का हुआ था खुलासा।


4 बर्खास्त शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज।

मैनपुरी : एसआईटी जांच से जुड़े चार बर्खास्त शिक्षकों के खिलाफ कोतवाली मैनपुरी में एफआईआर करा दी गई। इन चारों शिक्षकों की वर्ष 2004-05 की बीएड डिग्रियां पूरी तरह से फर्जी पायी गईं। एसआईटी जांच में इन डिग्रियों का खुलासा हुआ था।

खास बात ये है कि इन चारों की डिग्रियों पर जो अनुक्रमांक है वह दूसरे लोगों के नाम है। लेकिन नियुक्ति इन चारों फर्जी शिक्षकों ने मैनपुरी में हासिल कर ली थी।


भगिया की प्रधानाध्यापिका का अंकपत्र फर्जी

मैनपुरी : घिरोर विकास खंड के ग्राम नगला भगिया में तैनात प्रधानाध्यापिका अनुराधा पुत्री राजेंद्र सिंह निवासी पांडेय पेट्रोल पंप के निकट जीटी रोड बेवर का बीएड अंकपत्र सत्र 2004-05 फर्जी पाया गया। इनके अंकपत्र के अनुक्रमांक पर विजय कुमार उपाध्याय पुत्र जेपी उपाध्याय तथा कॉलेज का नाम आदर्श कृष्णा कॉलेज ऑफ एजुकेशन भूपनगर मैनपुरी लिखा है। इस शिक्षिका पर पहले ही कार्रवाई करते हुए विभाग से बर्खास्त कर चुका है।

औडेन्य पड़रिया और दरबाह की शिक्षक फर्जी नीतू सिंह पुत्र सुघर सिंह निवासी रुड़ी फ्लोर मिल बिछिया रोड की बीएड सत्र 2004-05 की अंकतालिका फर्जी पायी गई। चयन समिति ने इस शिक्षिका को बर्खास्त कर दिया। इसके अंकपत्र की जांच एसआईटी ने की थी। जिसमें इसके स्थान पर अजय कुमार पुत्र रामदास तथा कॉलेज के नाम एकेडमी एंड एक्सीलेंट आगरा लिखा हुआ है। इसी के आधार पर उसने नौकरी हासिल कर ली। ये औडनीय पिपरिया में तैनात हो गई। घिरोर के ग्राम दरबाह पाठशाला में तैनात हेमलता पुत्री नेत्रपाल निवासी आजादनगर पुलिस लाइन मैनपुरी की बीएड डिग्री भी फर्जी पायी गई। इसे भी चयन समिति ने बर्खास्त कर दिया था।


औरैया का फर्जी शिक्षक मैनपुरी में पाई नौकरी करहल के ग्राम असरोही प्राथमिक पाठशाला में तैनात सहायक अध्यापक राजेश कुमार निवासी नगला बिहारी जनपद औरैया का अंकपत्र भी फर्जी पाया गया। से 29 अप्रैल को बर्खास्त किया गया था। एसआईटी की जांच में इसके अंकपत्र के अनुक्रमांक पर मनीष कुमार पुत्र राधेश्याम तथा कॉलेज का नाम कृष्णा कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स एजुकेशन बमरौली कटरा आगरा लिखा हुआ है। इसे भी चयन समिति ने बर्खास्त कर
दिया था।

संबंधित खंड शिक्षाधिकारियों की तहरीर पर एसआईटी जांच से जुड़े चार बर्खास्त शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद अपनी जांच शुरू कर दी है। अभय नारायण राय, सीओसिटी






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, February 3, 2020

मैनपुरी : आंतरिक मूल्यांकन के अंक नहीं अपलोड होने के कारण सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद का 86 कॉलेजों को नोटिस

मैनपुरी : आंतरिक मूल्यांकन के अंक नहीं अपलोड होने के कारण सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद का 86 कॉलेजों को नोटिस।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, February 1, 2020

मैनपुरी : फर्जी शिक्षकों से वसूलेंगे 40 करोड़, दो चरणों मे हुई है 77 शिक्षकों की बर्खास्तगी

मैनपुरी : फर्जी शिक्षकों से वसूलेंगे 40 करोड़, दो चरणों मे हुई है 77 शिक्षकों की बर्खास्तगी।







मैनपुरी : तीन और फर्जी शिक्षकों की सेवाएं समाप्त, दो वर्ष तक चली जांच के बाद एसआइटी ने घोषित किया फर्जी।







मैनपुरी : एसआईटी द्वारा भेजी गई सूची में शामिल शेष बचे चार शिक्षकों की आज हो सकती है बर्खास्तगी, बीएसए ने कर दी है बर्खास्तगी की संस्तुति।





मैनपुरी : फर्जी डिग्री वाले शिक्षकों की सेवाएं होंगी समाप्त, जांच के बाद बीएसए ने संस्तुति करके जिला समिति के पास भेजी फाइल।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 30, 2020

मैनपुरी : माध्यमिक : चयन बोर्ड के निर्देश के बाद फर्जी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर नहीं, कार्रवाई न करने पर तीन प्रधानाचार्यों को नोटिस जारी

मैनपुरी : माध्यमिक : चयन बोर्ड के निर्देश के बाद फर्जी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर नहीं, कार्रवाई न करने पर तीन प्रधानाचार्यों को नोटिस जारी।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

मैनपुरी : अंतर्जनपदीय स्थानान्तरण के लिए 315 शिक्षकों ने किए आवेदन, 31 जनवरी से 05 फरवरी तक होगी काउंसलिंग : बीएसए

मैनपुरी : अंतर्जनपदीय स्थानान्तरण के लिए 315 शिक्षकों ने किए आवेदन, 31 जनवरी से 05 फरवरी तक होगी काउंसलिंग : बीएसए।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, January 29, 2020

मैनपुरी : एआरपी से दूरी बना रहे मास्साब, नहीं किए आवेदन

मैनपुरी : एआरपी से दूरी बना रहे मास्साब, नहीं किए आवेदन।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 23, 2020

मैनपुरी : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु पुनः विज्ञप्ति जारी, देखें

मैनपुरी : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु पुनः विज्ञप्ति जारी, देखें।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

मैनपुरी : सी और डी ग्रेड के स्कूलों का स्तर सुधारेंगे एआरपी, खंड शिक्षाधिकारी करेंगे निगरानी

मैनपुरी : सी और डी ग्रेड के स्कूलों का स्तर सुधारेंगे एआरपी, खंड शिक्षाधिकारी करेंगे निगरानी।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 9, 2020

मैनपुरी : समग्र शिक्षा अभियान से सुधरेगी कस्तूरबा गांधी विद्यालयों की दशा, प्रेरणा एप और दीक्षा एप से की जाएगी निगरानी, राज्य परियोजना निदेशक ने बीएसए को लिखा पत्र

मैनपुरी : समग्र शिक्षा अभियान से सुधरेगी कस्तूरबा गांधी विद्यालयों की दशा, प्रेरणा एप और दीक्षा एप से की जाएगी निगरानी, राज्य परियोजना निदेशक ने बीएसए को लिखा पत्र।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, January 6, 2020

मैनपुरी : 29334 गणित-विज्ञान शिक्षक भर्ती की फिर से जांच शुरू, पहले भी आठ शिक्षक किए जा चुके हैं बर्खास्त

मैनपुरी : 29334 गणित-विज्ञान शिक्षक भर्ती की फिर से जांच शुरू, पहले भी आठ शिक्षक किए जा चुके हैं बर्खास्त।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, December 20, 2019

मैनपुरी : कड़ी निगरानी के बीच हुई एआरपी चयन परीक्षा, शामिल हुए 87 शिक्षक

मैनपुरी : कड़ी निगरानी के बीच हुई एआरपी चयन परीक्षा, शामिल हुए 87 शिक्षक।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, December 17, 2019

मैनपुरी : शीतलहर के कारण कक्षा-8 तक के विद्यालयों का समय हुआ परिवर्तित, अब प्रातः 10:30 बजे से संचालित होंगे विद्यालय, प्रेसनोट देखें

मैनपुरी : शीतलहर के कारण कक्षा-8 तक के विद्यालयों का समय हुआ परिवर्तित, अब प्रातः 10:30 बजे से संचालित होंगे विद्यालय, प्रेसनोट देखें

मैनपुरी : रसोइया की सेवा समाप्त, शिक्षामित्र व अनुदेशक को सेवा समाप्ति का नोटिस, जातीय भेदभाव व छात्रों से एमडीएम बनवाने का मामला

मैनपुरी : रसोइया की सेवा समाप्त, शिक्षामित्र व अनुदेशक को सेवा समाप्ति का नोटिस, जातीय भेदभाव व छात्रों से एमडीएम बनवाने का मामला।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, December 15, 2019

मैनपुरी : प्रेरणा एप पर निरीक्षण के लक्ष्य पूरे नहीं कर रहे अधिकारी, बीएसए को जारी की गई चेतावनी, दिसम्बर में पूरा करें लक्ष्य

मैनपुरी : प्रेरणा एप पर निरीक्षण के लक्ष्य पूरे नहीं कर रहे अधिकारी, बीएसए को जारी की गई चेतावनी, दिसम्बर में पूरा करें लक्ष्य।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

मैनपुरी : चूल्हे पर बच्चे बना रहे थे मिड-डे मील, वीडियो वायरल होने के बाद विभाग में मचा हड़कंप

मैनपुरी : चूल्हे पर बच्चे बना रहे थे मिड-डे मील, वीडियो वायरल होने के बाद विभाग में मचा हड़कंप।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।