DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label लख़नऊ. Show all posts
Showing posts with label लख़नऊ. Show all posts

Sunday, November 25, 2018

लखनऊ : आईवीआरएस पर नहीं दी मिड-डे-मील की सूचना, 200 शिक्षकों को नोटिस जारी कर मांगा गया स्पष्टीकरण

 एनबीटी, लखनऊ : परिषदीय प्राइमरी और जूनियर स्कूलों के शिक्षक मिड-डे-मील की सूचनाएं नहीं दे रहे हैं। इस पर बीएसए डॉ. अमरकांत सिंह ने करीब 200 शिक्षकों को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही भविष्य में भी सूचनाएं नहीं देने पर वेतन रोकने की चेतावनी दी है। बीएसए डॉ. अमरकांत सिंह ने बताया कि बीते एक से 20 नवंबर तक परिषदीय प्राइमरी और जूनियर स्कूलों में बच्चों को मिड-डे-मील दिया जा रहा है या नहीं। इसकी सूचना शिक्षकों ने इंट्रैक्टिव वाइस रेस्पॉन्स सिस्टम (आईवीआरएस) पर नहीं दी।
मिड-डे-मील बंटने की सूचना नहीं दी, नोटिस

Saturday, June 25, 2016

लखनऊ : राजधानी के डेढ़ हजार शिक्षामित्रों को चार महीने से नहीं मिला मानदेय, विभाग और शासन प्रशासन से कई बार पत्राचार के बाद भी कहीं सुनवाई नहीं


मलिहाबाद। राजधानी के डेढ़ हजार शिक्षामित्रों को बीते चार माह से मानदेय भुगतान नही मिला है। जिससे शिक्षामित्र भुखमरी की कगार पर हैं और बच्चों के पढ़ाई के साथ-साथ अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

उत्तर प्रदेश शिक्षामित्र वेलफेयर संघ के प्रदेश मंत्री राघवेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि लखनऊ जनपद के डेढ़ हजार शिक्षामित्रों को प्रतिमाह मिलने वाला 3500 रुपए का मानदेय भी नहीं दिया जा रहा है। इसमें एक हजार 218 द्वितीय बेंच के और तीन सौ शिक्षामित्र तृतीय बैच के शामिल हैं। वेतन न मिलने से जहां रेाटी रोजी की समस्या खड़ी हो गयी है वही स्कूलों में अपने बच्चों का दाखिला कराने में भी उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में विभाग और शासन प्रशासन से कई बार पत्राचार किया गया लेकिन कहीं सुनवाई नही हो रही है।

Friday, May 13, 2016

आदर्श शिक्षा सहायक वेलफेयर एसोसिएशन ने दिया धरना, शिक्षा मित्रों के समायोजन की मांग, जल्द समायोजन न करने पर आंदोलन की चेतावनी

आदर्श शिक्षा सहायक वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से गुरुवार को लक्षमण मेला मैदान में धरना दिया गया। इसमें शिक्षामित्रों के सहायक अध्यापक पद समायोजन के अलावा तृतीय चरण के प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षामित्रों के समायोजन का शासनादेश देने की मांग की। धरने में मौजूद लोगों का आरोप है कि सरकार द्वारा पिछले वर्ष आठ जुलाई को द्वितीय चरण के हुए शिक्षामित्रों के समायोजन में लगभग 14 हजार शिक्षामित्रों का सहायक अध्यापक पद पर समायोजन नही किया गया है। जिससे शिक्षामित्रों में काफी रोष है। वहीं मृतक शिक्षामित्रों एंव मृतक समायोजित शिक्षकों के आश्रितों को योग्यतानुसार सरकारी सेवा में पदास्थापित करने की मांग की। इस मौके पर एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष ज्योति वर्मा ने बताया कि अगर मांगे नहीं मानी गई तो हम लोग जन आंदोलन करेंगे।

Monday, May 9, 2016

लखनऊ : नियुक्ति की मांग कर रहे टीईटी पास बीएड अभ्यर्थियों पर इलाहाबाद में हुए लाठीचार्ज के विरोध में आरटीई एक्टिविस्टों ने निकाला कैंडल मार्च

नियुक्ति की मांग कर रहे टीईटी पास बीएड अभ्यर्थियों पर इलाहाबाद में हुए लाठीचार्ज के विरोध में आरटीई एक्टिविस्टों  ने निकाला कैंडल मार्च

Wednesday, March 30, 2016

लखनऊ : समायोजन से बचे शिक्षामित्रों ने निकाला कैंडल मार्च, समायोजन सम्बन्धी आदेश जारी ना होने पर 5 अप्रैल से धरना

लखनऊ : समायोजन से बचे शिक्षामित्रों ने निकाला कैंडल मार्च, समायोजन सम्बन्धी आदेश जारी ना होने पर 5 अप्रैल से धरना

लखनऊ : पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर कर्मचारी-शिक्षक 1 अप्रैल को अटेवा के बैनर तले मनाएंगे 'काला दिवस'

लखनऊ : पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर कर्मचारी-शिक्षक 1 अप्रैल को अटेवा के बैनर तले मनाएंगे 'काला दिवस'



Monday, March 7, 2016

अनुदान की मांग : दो शिक्षकों ने किया आत्मदाह का प्रयास, खुद को आग लगाने की कर रहे थे कोशिश, पुलिस ने पकड़ा, मांग को लेकर दारुलशफा से विधानसभा मार्ग पर हुए थे एकजुट

अनुसूचित छात्र बाहुल्य प्राथमिक विद्यालयों को आवर्तक अनुदान दिए जाने की मांग को लेकर रविवार को दो शिक्षकों ने आत्मदाह का प्रयास किया। वह मिट्टी का तेल उड़ेल कर खुद को आग लगाने जा ही रहे तभी पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। मांग को लेकर उत्तर प्रदेश प्रबंधक/ शिक्षक संयुक्त मोर्चा के बैनर तले सैकड़ों शिक्षक दारुलशफा से विधानभवन मार्ग पर एकजुट हुए थे।मोर्चा के संरक्षक प्रेमचन्द्र पाण्डेय के नेतृत्व में सुबह से ही शिक्षक दारुलशफा में एकजुट हो गए। इस दौरान शिक्षकों ने सरकार विरोधी नारेबाजी की। करीब 11:30 बजे सभी शिक्षक जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पार्क की ओर चल दिए। वह कुछ दूर पहुंचे ही थे, पुलिसकर्मियों ने उन्हें बैरीकेडिंग लगाकर रोक दिया। विरोध स्वरूप शिक्षक वहीं सड़क पर बैठ गए। इस दौरान यातायात भी बाधित रहा। इसी बीच मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष दशरथ यादव और उपाध्यक्ष रामनयन यादव ने अचानक अपने ऊपर मिट्टी का तेल उड़ेल लिया। देखते ही देखते वहां अफरा-तफरी मच गई। वह माचिस की तीली जलाकर खुद को आग लगाने जा ही रहे थे। तभी वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे हिरासत में ले लिया। शिक्षकों का आरोप है कि अधिकारियों की मनमानी के चलते सरकार की प्राथमिक योजनाओं का लाभ भी लोगों को नहीं मिल पा रहा है। वहीं शिक्षकों ने सोमवार से लक्ष्मण मेला मैदान में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने की चेतावनी दी है। प्रदर्शन में रामनरेश भारतीय, दुर्गा प्रसाद यादव, राजेश त्रिपाठी आदि शिक्षक शामिल रहे।