DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बाराबंकी. Show all posts
Showing posts with label बाराबंकी. Show all posts

Tuesday, March 3, 2020

बाराबंकी : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें

बाराबंकी : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, December 18, 2019

बाराबंकी : 20 दिसंबर 2019 तक कक्षा-8 तक के विद्यालय बंद, आदेश देखें

बाराबंकी : 20 दिसंबर 2019 तक कक्षा-8 तक के विद्यालय बंद, आदेश देखें

Friday, December 13, 2019

बाराबंकी : बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से सभी छात्र-छात्राओं को नहीं बंट पाए स्वेटर, जरूरत 3.42 लाख स्वेटरों की, अब तक आए सिर्फ 1.30 लाख

 यह स्वेटर उसको नौ नवंबर तक ब्लॉक स्तर पर बीआरसी पर उपलब्ध करवाने थे। इसके बावजूद अब तक उस संख्या में स्वेटर उपलब्ध नहीं करवाए जा सके हैं। इसपर डीएम ने नोटिस देकर पांच दिसंबर की आखिरी तिथि तय की थी। इसके बाद मुकदमा दर्ज करवाने व संस्था को काली सूची में डालने की सिफारिश की बात कहीं थी। इसके विपरीत अब तक फर्म स्वेटर नहीं दे पाई है। बकौल बीएसए वीपी सिंह-संस्था ने वादा किया था कि एक सप्ताह में शेष स्वेटर की आपूर्ति कर दी जाएगी।
स्वेटर पहुंचते ही बांटने पहुंचे सांसद प्रतिनिधि

• एनबीटी, मसौली : बाराबंकी के ब्लॉक संसाधन केंद्र बड़ागांव में गुरुवार को समारोह आयोजित कर परिसर के दो स्कूलों के बच्चों को स्वेटर का वितरण किया गया। मुख्य अतिथि के तौर पर सांसद उपेंद्र सिंह रावत के प्रतिनिधि दिनेश चंद्रा मौजूद रहे। बीईओ उदयमणि पटेल की देखरेख में समारोह में चंद्रा ने स्वेटर वितरित किए। साथ ही बाल वैज्ञानिक के रूप में चुनी गई छात्रा मानसी चौहान को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। उनकी पढ़ाई के लिए सांसद निधि से सोलर लाइट घर पर लगवाने का आश्वासन दिया गया है।
• एनबीटी,सूरतगंजः बाराबंकी के सूरतगंज ब्लॉक के बीईओ कार्यालय में सोमवार को आपूर्ति किए गए पांच हजार छात्र-छात्राओं के स्वेटर गुरुवार तक भी रखे रहे। इसके पीछे क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी द्वारा स्वेटरों के वितरण के समारोह के लिए समय न दिया जाना बताया जा रहा है। खुद बीईओ राजेंद्र सिंह ने स्वीकार किया कि विधायक जी से समय मांगा गया है। फिलहाल समय नहीं मिल पाया है। हैरत की बात यह है कि इस ब्लॉक को 63 जूनियर व 171 प्राइमरी स्कूल में अध्ययनरत करीब 31 हजार छात्र-छात्राओं के विपरीत महज पांच हजार स्वेटर की यह पहली खेप पहुंची है। इसका भी आपूर्ति होने के चौथे दिन भी वितरण शुरू नहीं किया जा सका है।

• टीम एनबीटी, बाराबंकी
मौसम लगातार करवट ले रहा है। दिन भर कोहरा छाने के साथ ठिठुरना भी बढ़ रही है। इस बीच अब तक बेसिक शिक्षा विभाग के सभी छात्र-छात्राओं को स्वेटर वितरण नहीं किया जा सका है। गुरुवार को मिली जानकारी के मुताबिक, 3.42 लाख के मुकाबले अब तक महज 1.30 लाख स्वेटर की ही आपूर्ति

हो सकी है। आपूर्ति किए गए स्वेटरों में से अभी तक शतप्रतिशत का वितरण भी नहीं किया जा सका है।

डीएम आदर्श सिंह की ओर से पांच दिसंबर तक स्वेटर की आपूर्ति न किए जाने पर संबंधित फर्म के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने की चेतावनी दी गई थी। पर अब तक शुभम हैंडलूम कानपुर की ओर से आपूर्ति नहीं की जा सकी है। दरअसल, यह हालात जेम पोर्टल पर टेंडर लेने वाली फर्म शुभम हैंडलूम की ओर से स्वेटर की आपूर्ति न किए जाने से उत्पन्न हुए है। इस फर्म को 3 लाख 42 हजार बच्चों के स्वेटर


Thursday, November 14, 2019

बाराबंकी : ARP हेतु एक भी आवेदन कार्यालय को प्राप्त नही, पुनः बढ़ाई गई आवेदन तिथि

बाराबंकी : ARP हेतु एक भी आवेदन कार्यालय को प्राप्त नही, पुनः बढ़ाई गई आवेदन तिथि

Sunday, November 10, 2019

बाराबंकी : फर्जी मार्कशीट लगाने वाले पिता-पुत्र को जेल, एसटीएफ का खुलासा : गलत तरीके से बने थे परिषदीय शिक्षक

पिता 1997 और पुत्र 2010 से कर रहे थे सरकारी नौकरी• पूछताछ में सरगना समेत 10 अन्य नामों का खुलासा• एनबीटी, बाराबंकीः एसटीएफ ने हैदरगढ़ तहसील के प्राइमरी स्कूल गेरावां व पूरे चौबे में बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद पर नौकरी कर रहे पिता-पुत्र को रविवार को जेल भेजा है। इनको कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। जहां से दोनों को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिया है। इन शिक्षकों पर आरोप है कि इन लोगों ने दूसरे के शैक्षिक अभिलेखों का प्रयोग कर नौकरी पाई और लंबे समय तक वेतन लेते रहे। पूछताछ में इन लोगों ने गैंग के गोरखपुर के सरगना का भी खुलासा किया है। साथ ही फर्जी अभिलेख से नौकरी कर रहे 10 अन्य शिक्षकों के नाम भी बताए हैं। कोतवाली पुलिस ने मामले में सरकारी धन के गबन, फर्जी अभिलेख तैयार कर झांसा देने आदि की धारा में मुकदमा दर्ज किया है।
निलंबन के बाद से चल
रहे थे फरार
एसटीएफ के इंस्पेक्टर विजेंद्र शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले जय कृष्ण दुबे नाम के  एक शख्स ने कार्यालय में आकर बताया कि उसके शैक्षिक अभिलेखों का प्रयोगकर गोरखपुर निवासी एक शख्स बाराबंकी के हैदरगढ़ तहसील के प्राइमरी स्कूल गेरावां में शिक्षक पद पर नौकरी कर रहा है। इस पर बाराबंकी के बीएसए वीपी सिंह से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि संदेह पर इस शख्स के शैक्षिक अभिलेख मांगे गए थे, इस पर वह शिक्षक ड्यूटी से फरार हो गया है। इस कारण उसको नवंबर 2018 में निलंबित किया जा चुका है।
यह भी पता चला कि प्राइमरी स्कूल पूरे चौबे में तैनात शिक्षक रविशंकर त्रिपाठी भी इसी तरह से एक जुलाई 2017 से फरार है। वह भी निलंबित है। इस आधार पर शनिवार रात बाराबंकी के आवास विकास कॉलोनी में छापा मारकर दोनों को हिरासत में लिया गया। यह दोनों पिता-पुत्र निकले। कथित जयकृष्ण दुबे की तलाशी में उसके पास से गिरिजेश पुत्र रामप्रसाद त्रिपाठी निवासी विकासनगर लखनऊ के पते का पैन कार्ड मिला। उसके बेटे आदिशक्ति पुत्र गिरिजेश त्रिपाठी निवासी गोपालपुर गोरखपुर लिखा वोटर आईडी मिला। जबकि उसने अपना नाम पूछताछ में रविशंकर पुत्र बलराम त्रिपाठी बताया था।
साढ़े तीन लाख में तैयार कराए फर्जी अभिलेख
पूछताछ में गिरिजेश उर्फ जयकृष्ण ने बताया कि वर्ष 1997 में उसके संपर्क में खजनी गोरखपुर के मनोज गुप्ता आए। उन्होंने फर्जी अभिलेख तैयार करने के बदले उससे साढ़े तीन लाख रुपये लिए। उसका आवेदन बेसिक शिक्षा विभाग में वर्ष 1997 में कराया। इस पर उसको वर्ष 1997 में बलरामपुर में नौकरी मिली मिली थी। इसके बाद उसने अपना तबादला महाराजगंज में करा लिया। फिर वर्ष 2016 में बाराबंकी के लिए तबादला करा लिया। इसी तरह उसके बेटे आदिशक्ति  को मनोज गुप्ता ने वर्ष 2010 में बाराबंकी में शिक्षक पद पर रविशंकर त्रिपाठी के नाम से नौकरी दिलाई। वर्ष 2015 में यह ड्यूटी से गायब हो गया लेकिन पर फिर वर्ष 2017 में पदभार संभाल लिया। फरारी माह का उसका अवकाश स्वीकृत कर दिया गया।
बीएसए बोले- विभाग में चल रही थी कार्रवाई
बीएसए वीपी सिंह ने बताया कि पकड़े गए जयकृष्ण उर्फ गिरिजेश त्रिपाठी ने आंबेडकरनगर के निवासी जयकृष्ण के शैक्षिक अभिलेखों का प्रयोग किया था। वास्तविक जयकृष्ण गोंडा के नवाबगंज ब्लॉक में शिक्षक हैं। उसके अभिलेख डुप्लिकेट तैयार किए गए थे। वेतन के लिए फर्जी आधार व पैनकार्ड तैयार कराए गए। जयकृष्ण को जब निलंबित किया गया तो उसने हाई कोर्ट में शरण ली।
कोर्ट ने जांच के आदेश दिए तो दो बीईओ की कमिटी ने भी शैक्षिक अभिलेखों पर संदेह जताया तो अगस्त 2019 में निलंबन अवधि का भत्ता भुगतान रोक दिया गया। इधर, विभाग ने नवनीता, सुरेंद्र व वेदप्रकाश को पहले से बर्खास्तगी की नोटिस दे रखी है।
गैंग लीडर सहित 10 अब भी नौकरी मे
पूछताछ में सामने आया कि फर्जीवाड़े का गैंग लीडर मनोज गुप्ता व उसका साथी ओंकार पांडेय उर्फ कमलेंद्र फर्जी अभिलेख से बलरामपुर व महाराजगंज में शिक्षक पद पर नौकरी कर रहे हैं। इसी तरह महाराजगंज में अनुपम दूबे, सुभाष पांडेय, गोरखपुर में गुजेश्वर पांडेय, दुर्गावती तिवारी नौकरी कर रही हैं। इसी तरह से बाराबंकी के हैदरगढ़ ब्लॉक में आशुतोष सिंह, वेदप्रकाश सिंह, सुरेंद्र नाथ व मसौली ब्लॉक में नवनीता यादव नौकरी कर रही हैं।
एसटीएफ ने छापेमारी कर पिता-पुत्र को गिरफ्तार किया

Friday, November 1, 2019

बाराबंकी : एआरपी पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें निर्देश

बाराबंकी : एआरपी पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें निर्देश।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, October 7, 2019

बाराबंकी : फर्जी अभिलेखों से नौकरी पाने वाले तीन शिक्षक बर्खास्त, पहले नौ शिक्षकों की जा चुकी है नौकरी


फर्जी अभिलेखों से नौकरी पाने वाले तीन शिक्षक बर्खास्त, पहले नौ शिक्षकों की जा चुकी है नौकरी



Saturday, September 28, 2019

बाराबंकी : स्कूल में पानी के बीच क्लास चलने की जालसाजी पूर्ण वीडियो बनाने एवं न्यूज़ चैनल पर चलाकर विभाग की छवि धूमिल करने के आरोप में सम्बन्धित चैनल को नोटिस जारी

बाराबंकी : स्कूल में पानी के बीच क्लास चलने की जालसाजी पूर्ण वीडियो बनाने एवं न्यूज़ चैनल पर चलाकर विभाग की छवि धूमिल करने के आरोप में सम्बन्धित चैनल को नोटिस जारी

Thursday, September 26, 2019

बाराबंकी : भारी वर्षा के दृष्टिगत दिनाँक 27 सितम्बर 2019 को कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में अवकाश घोषित, आदेश देखें

बाराबंकी : भारी वर्षा के दृष्टिगत दिनाँक 27 सितम्बर 2019 को कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में अवकाश घोषित, आदेश देखें

Saturday, September 14, 2019

बाराबंकी : MDM घोटाले की जांच में अफसरों पर नही आई आंच, शिक्षा निदेशालय के सीनियर ऑडिटर सहित सात के खिलाफ चार्जशीट


MDM  घोटाले की जांच में अफसरों पर नही आई आंच, शिक्षा निदेशालय के सीनियर ऑडिटर सहित सात के खिलाफ चार्जशीट



बाराबंकी : शिक्षकों ने बंद कर दिया सेल्फी ग्रुप, सीडीओ ने वेतन काटने के दिए निर्देश

शिक्षकों ने बंद कर दिया सेल्फी ग्रुप, सीडीओ ने वेतन काटने के दिए निर्देश





Wednesday, July 24, 2019

बाराबंकी : चार हजार बालको को बांट दिए बालिकाओं के जूते, जूतों की वापसी की तैयारी


चार हजार बालको को बांट दिए बालिकाओं के जूते, जूतों की वापसी की तैयारी




Saturday, July 20, 2019

बाराबंकी : सरप्लस समायोजन पर अगली सुनवाई तक रोक सम्बन्धी मा0 उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के अनुपालन हेतु बीएसए का आदेश जारी, देखें

बाराबंकी : सरप्लस समायोजन पर अगली सुनवाई तक रोक सम्बन्धी मा0 उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के अनुपालन हेतु बीएसए का आदेश जारी, देखें


Thursday, May 23, 2019

बाराबंकी : एमडीएम घोटाले के मास्टर माइंड का खंगाला जाएगा कक्ष, बीएसए कार्यालय में हुआ था चार करोड़ 84 लाख का घोटाला, बीएसए ने गठित की टीम, एक-एक कागज की होगी जांच

बाराबंकी : एमडीएम घोटाले के मास्टर माइंड का खंगाला जाएगा कक्ष, बीएसए कार्यालय में हुआ था चार करोड़ 84 लाख का घोटाला, बीएसए ने गठित की टीम, एक-एक कागज की होगी जांच।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, May 19, 2019

बाराबंकी : एमडीएम के करोड़ों के घोटाले में बीएसए ऑफिस का बाबू गिरफ्तार, 21 लाख रुपये बरामद, पांच आरोपी पहले ही जा चुके हैं जेल, चल रही है तफ्तीश

4.84 करोड़ एमडीएम घोटाले की पहली रिकवरी। बीएसए कार्यालय से गिरफ्तार बाबू के घर में बरामद हुआ 21 लाख रूपया। ...

बाराबंकी, जेएनएन। परिषदीय विद्यालय के नौनिहालों के भोजन(मिड डे मील) के 4.84 करोड़ रुपये घोटाले मामले में बीएसए कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक अखिलेश शुक्ला को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी के मुताबिक, कार्यालय से गिरफ्तार आरोपित बाबू की निशानदेही पर उसके घर से 20 लाख 98 हजार 670 रुपये बरामद किए गए हैं। इतने बड़े घोटाले में रुपये की यह पहली बरामदगी है। इस मामले में पहले से ही दो युवतियों सहित पांच आरोपित जेल में हैं।

2012 से चल रहा था घोटाला

उन्होंने बताया कि मुकदमे की विवेचना में बीएसए कार्यालय में तैनात वरिष्ठ लिपिक रामसनेहीघाट कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गाजीपुर निवासी अखिलेश शुक्ला का नाम प्रकाश में अाया है। 17 मई की दोपहर बीएसए कार्यालय के बाहर से आरोपित को क्राइम ब्रांच ने कोतवाली पुलिस के साथ धरदबोचा गया। यह घोटाला 2012 से चल रहा था। एमडीएम की देखरेख की पूरी जिम्मेदारी अखिलेश कुमार को ही सौंपी गई थी। बीएसए वीपी सिंह ने दिसंबर 2018 में कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मुकदमे में जिला समन्वयक एमडीएम राजीव शर्मा, अनधिकृत कंप्यूटर ऑपरेटर रहीमुद्दीन व इनके साथी रघुराज, रोज और साधना पहले ही जेल भेजे जा चुके हैं।

एसपी ने बताया कि रहीमुद्दीन के खाते में करीब 3.38 करोड़, साधना के खाते में 41 लाख, रोज के खाते में 49 लाख, रघुराज के खाते में 55 लाख रुपये घोटाले के स्थानांतरित किये गए थे। एसपी ने बताया कि यह पहली रिकवरी है। अारोपित को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।















 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, May 18, 2019

बाराबंकी : फर्जी अंकपत्र से नौकरी पाने वाले तीन शिक्षक बर्खास्त, 12460 शिक्षक भर्ती में मिली थी नियुक्ति

बाराबंकी : फर्जी अंकपत्र से नौकरी पाने वाले तीन शिक्षक बर्खास्त, 12460 शिक्षक भर्ती में मिली थी नियुक्ति।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, May 16, 2019

बाराबंकी : हाजिरी के लिए सेल्फी न भेजने पर कार्रवाई, 570 शिक्षक और शिक्षामित्रों का कटेगा वेतन

 बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों के शिक्षक और शिक्षामित्रों के हाजिरी प्रमाण संयुक्त सेल्फी लेकर भेजने के आदेश का बुधवार को व्यापक असर दिखा है। तकरीबन 10 हजार शिक्षकों और शिक्षामित्रों में सिर्फ 570 शिक्षकों की ओर से सेल्फी भेजने में कोताही की गई। इस पर एक दिन का वेतन काटे जाने और स्पष्टीकरण लिए जाने के आदेश दिए गए हैं। इससे पहले मंगलवार को जिले के सभी शिक्षक संगठनों ने इस व्यवस्था का विरोध किया था और सेल्फी न भेजने की अपील की थी, जिसे अधिकतर शिक्षकों ने नजरअंदाज कर दिया।

जिला मुख्यालय पर बनाए गए मॉनिटरिंग सेल की ओर से तैयार रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को सर्वाधिक गैर हाजिरी हरख ब्लॉक में रही है। यहां अधिकांश शिक्षकों ने सेल्फी भेजने के आदेश का अनुपालन नहीं किया है। इस ब्लॉक के सेल्फी न भेजने वाले 213 शिक्षकों को गैर हाजिर मानते हुए बीईओ ने सीडीओ मेधा रूपम को रिपोर्ट भेजी है। इसी तरह हैदरगढ़ ब्लॉक में 129, निंदूरा ब्लॉक में 17, सूरतगंज में 19, फतेहपुर में सात, रामनगर में 23, पूरेडलई में 13, सिद्धौर में 39, बनीकोडर में 12, दरियाबाद में सात, बंकी में 15, सिरौली गौसपुर में 12, मसौली में 25, देवा में नौ और त्रिवेदीगंज में सेल्फी न भेजने वाले शिक्षकों की संख्या 44 पाई गई है।



Tuesday, May 14, 2019

बाराबंकी में शिक्षकों को वॉट्सऐप पर देनी होगी हाजिरी, सीडीओ ने तीन स्तरीय मॉनिटरिंग व्यवस्था की लागू

बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों के शिक्षकों को अब अपनी उपस्थिति का प्रमाण वॉट्सऐप पर फोटो पोस्ट कर देना होगा। इसके लिए सीडीओ मेधा रूपम ने तीन स्तरीय मॉनिटरिंग व्यवस्था लागू की है।

सीडीओ ने कहा कि सभी एनपीआरसी अपनी न्याय पंचायत पर एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाएंगे। इसमंे सभी प्रधानाध्यापक सदस्य होंगे। प्रधानाध्यापक सुबह सात बजे स्कूल पहंुचने पर अपने अधीनस्थ शिक्षकों के साथ स्कूल परिसर में एक फोटो खीचेंगे। इसके बाद उसे एनपीआरसी के ग्रुप पर पोस्ट करेंगे। इसके बाद एनपीआरसी फोटो न पोस्ट करने वाले प्रधानाध्यापक व उसके अधीन कार्यरत शिक्षकों की डीटेल बीईओ को हर हाल मंे साढ़े सात बजे तक पोस्ट करेंगे। सीडीओ कार्यालय के अधीन कार्यरत स्टाफ सभी बीईओ से वॉट्सऐप ग्रुप पर सभी गैरहाजिर शिक्षक व प्रधानाध्यापक का विवरण तैयार करेगा। इसके बाद उसे सीडीओ को सौंपेगा। यह प्रबंध मंगलवार की सुबह से ही लागू किए जाने के आदेश दिए गए हैं। सीडीओ ने बताया कि गैरहाजिर रहने वाले शिक्षक व प्रधानाध्यापक को उस दिन का वेतन काटने का आदेश तत्काल बीएसए को जारी कर दिया जाएगा।




Wednesday, February 20, 2019

बाराबंकी : आगामी लोकसभा सामान्य निर्वाचन के दृष्टिगत तत्काल प्रभाव से 2 मार्च 2019 के बाद प्रभावी समस्त सीसीएल अवकाश निरस्त करने एवं 3 मार्च तक विद्यालय में योगदान देने का आदेश जारी, देखें

बाराबंकी : आगामी लोकसभा सामान्य निर्वाचन के दृष्टिगत तत्काल प्रभाव से 2 मार्च 2019 के बाद प्रभावी समस्त सीसीएल अवकाश निरस्त करने एवं 3 मार्च तक विद्यालय में योगदान देने का आदेश जारी, देखें

Saturday, January 12, 2019

बाराबंकी : एबीआरसी के लिए 106 शिक्षकों ने दी परीक्षा, 63 पदों के लिए हुई परीक्षा, एक वर्ष में दो बार टल चुकी थी परीक्षा


 सहायक ब्लॉक समन्वयक (एबीआरसी) पद के लिए शुक्रवार को जीआईसी में परीक्षा करवाई गई। शाम को साक्षात्कार भी पूर्ण किया गया। सोमवार तक परिणाम की घोषणा की जा सकती है। 

प्रभारी प्राचार्य जिला शिक्षा एंव प्रशिक्षण संस्थान व डीआईओएस राजकुमार ने बताया कि जिले के बेसिक शिक्षा विभाग में एबीआरसी के 63 पद रिक्त चल रहे हैं। इसके लिए 127 शिक्षकों ने आवेदन किए। परीक्षा में महज 110 ने हिस्सा लिया। चार अन्य ने साक्षात्कार में हिस्सा नहीं लिया। इस प्रकार 106 लोगों ने पूरी परीक्षा में भागीदारी की। इसके लिए रिजल्ट तैयार किया जा रहा है। शनिवार को परिणाम तैयार कर डीएम उदयभानु त्रिपाठी को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। अनुमोदन के बाद परिणाम की घोषणा सोमवार तक हो सकेगी। बीएसए वीपी सिंह ने बताया कि एबीआरसी पद पर तैनात शिक्षक को ब्लॉक के स्कूल में जाकर अध्यापन में बदलाव कराने का जिम्मा होगा। उद्देश्य शैक्षिक गुणवत्ता को बढ़ाना है।