DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label पीलीभीत. Show all posts
Showing posts with label पीलीभीत. Show all posts

Saturday, May 1, 2021

पीलीभीत : मार्च का वेतन अटका

पीलीभीत : मार्च का वेतन अटका


पीलीभीत। आपदा के इस दौर में भी बेसिक शिक्षा विभाग के छह ब्लॉकों के 2500 से अधिक शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मियों को मार्च का वेतन नहीं मिल सका है। इससे उन्हें आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। एक कर्मचारी ने तो सोशल मीडिया के माध्यम से परिवार के बीमार होने का हवाला देकर डीएम से वेतन दिलाने की गुहार लगाई है।


बेसिक शिक्षा विभाग में शासन के निर्देश के बाद भी समय से वेतन नहीं मिल पा रहा है। कोरोनाकाल के दौर में भी सात ब्लॉकों में से छह ब्लॉकों के शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मियों को माह भर बाद भी मार्च का वेतन नहीं मिल सका है।


बताते हैं कि शिक्षकों को अब पेरोल मॉड्यूल के माध्यम से वेतन दिया जाना है। विभाग ने मार्च का भी वेतन पेरोल मॉड्यूल के माध्यम से रणनीति बनाई। विभाग इसमें जुटा हुआ था कि इस बीच 17 अप्रैल को प्रभारी वित्त एवं लेखाधिकारी कोरोना संक्रमित हो गए।


हालत बिगड़ने पर उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। ऐसे में वेतन की प्रक्रिया जहां की तहां ठप हो गई। इस बीच वित्त एवं लेखाधिकारी का चार्ज किसी अन्य लेखाधिकारी को देने के लिए भी फाइल दौड़ाई गई, मगर नतीजा सिफर ही रहा।


कई शिक्षक और उनके परिवार वाले संक्रमित होकर घरों में क्वांरटीन हैं, ऐसे में उन्हें पैसों की भी दरकार है, मगर वेतन न मिलने से समुचित इलाज भी नहीं करवा पा रहे हैं। हालांकि शुक्रवार को जब लेखाधिकारी कार्यालय संपर्क किया गया तो बताया गया कि नगर क्षेत्र पीलीभीत और बीसलपुर, अमरिया के 100 तथा बिलसंडा ब्लॉक के सभी 440 शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का मार्च का वेतन दिया जा चुका है।


प्रभारी लेखाधिकारी भी शुक्रवार को डिस्चार्ज होकर शुक्रवार को घर आ चुके हैं। मतगणना के बाद शेष बचे सभी छह ब्लॉकों के शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को जल्द वेतन देने के प्रयास किए जाएंगे। इधर बरखेड़ा ब्लाक के एक शिक्षणेत्तर कर्मचारी ने सोशल मीडिया के माध्यम से स्वयं व पत्नी की बीमारी का हवाला देते हुए डीएम से वेतन दिलाने की मांग की है।


प्रभारी वित्त एवं लेखाधिकारी का स्वास्थ्य खराब होने के कारण छह ब्लॉकों के शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को वेतन निर्गत नहीं किया जा सका। लेखाधिकारी स्वस्थ हो चुके हैं। सोमवार तक वेतन निर्गत करने के निर्देश दिए गए हैं।
- चंद्रकेश सिंह, बीएसए

Monday, February 15, 2021

परिषदीय शिक्षकों को म्यूच्यूअल ट्रांसफर लिस्ट का है इंतजार

पीलीभीत :  परिषदीय शिक्षकों को म्यूच्यूअल ट्रांसफर लिस्ट का  है इंतजार


पीलीभीत  ।  बेसिक शिक्षा परिषद के सहायक अध्यापकों की अंतर्जनपदीय तबादला प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, मगर पारस्परिक तबादलों को लेकर आवेदन करने वाले शिक्षकों की सूची अभी तक जारी नहीं हो सकी है।



शासन ने परिषदीय शिक्षकों को दो तरह के तबादले की सौगात दी है। इसमें पहली रिक्त पद के सापेक्ष और दूसरी पारस्परिक स्थानांतरण प्रक्रिया है। पहली तबादला प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इसके तहत जिले से 350 शिक्षकों का स्थानांतरण उनके गृह जनपद में किया गया, जबकि 51 शिक्षक अन्य जनपदों से यहां पहुंचे हैं। इसमें 50 शिक्षकों को एक दिन पूर्व स्कूल आवंटन किया गया है, जबकि एक शिक्षक के शहरी क्षेत्र को होने के कारण स्कूल आवंटित नहीं किया जा सका। इधर अब उन शिक्षकों को शासन से आने वाली सूची का इंतजार है, जिन्होंने पारस्परिक स्थानांतरण के तहत आवेदन किया था। 


विभाग के मुताबिक जनपद से 50 शिक्षक-शिक्षिकाओं से पारस्परिक स्थानांतरण के लिए आवेदन किया था, मगर शासन से सूची न आने के कारण इनका तबादला रुका हुआ है। सूची कब जारी की जाएगी, इसकी जानकारी विभागीय अफसरों को भी नहीं है। इस संबंध में बीएसए चंद्रकेश सिंह ने बताया कि पारस्परिक स्थानांतरण सूची शासन स्तर से जारी की जानी है। सूची जारी होने के बाद प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

Sunday, February 7, 2021

पीलीभीत : परिषदीय स्कूलों से लगातार बिना सूचना के अनुपस्थित शिक्षकों को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी

पीलीभीत : परिषदीय स्कूलों से लगातार बिना सूचना के अनुपस्थित शिक्षकों को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी


Saturday, January 30, 2021

पीलीभीत : अंतर्जनपदीय स्थानान्तरण के फलस्वरूप स्थानान्तरित परिषदीय अध्यापकों के कार्यमुक्त एवं कार्यभार ग्रहण किये जाने के सम्बन्ध में निर्देश व प्रपत्र जारी

पीलीभीत : अंतर्जनपदीय स्थानान्तरण के फलस्वरूप स्थानान्तरित परिषदीय अध्यापकों के कार्यमुक्त एवं कार्यभार ग्रहण किये जाने के सम्बन्ध में निर्देश व प्रपत्र जारी



Sunday, January 17, 2021

पीलीभीत : आपरेशन कायाकल्प अन्तर्गत परिषदीय विद्यालयों को अवस्थापना सुविधाओं से संतृप्त किये जाने के उपरान्त उनके रख-रखाव / सुरक्षा की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित प्रधानाध्यापक/इंचार्ज और बीईओ के ऊपर

पीलीभीत : आपरेशन कायाकल्प अन्तर्गत परिषदीय विद्यालयों को अवस्थापना सुविधाओं से संतृप्त किये जाने के उपरान्त उनके रख-रखाव / सुरक्षा  की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबंधित प्रधानाध्यापक/इंचार्ज और बीईओ के ऊपर। 


Friday, August 14, 2020

किताबों में सिमटकर रह गया सरकारी स्कूलों का पाठ्यक्रम

किताबों में सिमटकर रह गया सरकारी स्कूलों का पाठ्यक्रम

 
पीलीभीत: केंद्र सरकार द्वारा 31 अगस्त तक सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया। केंद्र सरकार की एडवाइजरी के अनुपालन में राज्य सरकारों द्वारा भी गाइडलाइन जारी की गई। 31 अगस्त तक बच्चों को छुट्टी देकर राहत दी गई तो वहीं शिक्षकों को विद्यालयों में बुलाया जाने लगा।



कोरोना संक्रमण काल में ऑनलाइन पढ़ाई की अवधारणा को बृहद स्तर पर क्रियान्वित किया गया। प्रारंभ में ऑनलाइन पढ़ाई पर अधिकारियों की निगरानी रही जिससे बच्चों को लाभ मिलता रहा लेकिन समय निकलने के साथ ही अधिकारियों ने ऑनलाइन शिक्षा की हकीकत जानने से मुंह फेर रखा है। निजी विद्यालयों में शिक्षकों को विद्यालय बुलाकर लाइव क्लासेस या वीडियो लेक्चर व कंटेंट बच्चों तक पहुंचाया जा रहा है लेकिन सरकारी स्कूलों के बच्चों का पाठ्यक्रम किताबों में सिमटता जा रहा है।

सरकारी स्कूलों में भी शिक्षकों को विद्यालय बुलाया जा रहा है व बच्चों को ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देने के आदेश दिए गए हैं। अधिकारियों द्वारा आदेश का अनुपालन कराने में बरती जा रही कोताही से बच्चों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। कई शिक्षक जो ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाने में खुद को असहज महसूस करते हैं, वे घरों में कोचिंग पढ़ा रहे हैं। ऐसे शिक्षक ऑनलाइन माध्यम से लाइव क्लास लेने या वीडियो लेक्चर तैयार कर स्कूल के बच्चों को उपलब्ध कराने में रुचि नहीं लेते हैं।

31 अगस्त तक विद्यार्थियों के लिए विद्यालय बंद रहेंगे। अपर मुख्य सचिव के आदेश पर शिक्षकों को विद्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं। सभी शिक्षक विद्यालय में मौजूद रहकर ऑनलाइन माध्यम से कक्षाएं संचालित करेंगे।
- संतप्रकाश, जिला विद्यालय निरीक्षक

स्कूली शिक्षा महानिदेशक के आदेश पर विभागीय कामकाज निपटाने व योजनाओं का लाभ बच्चों तक सुनिश्चित कराने के लिए शिक्षकों को विद्यालय भेजा जा रहा है। सभी शिक्षकों को ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। समय-समय पर इसकी रिपोर्ट भी ली जाती है। - देवेंद्र स्वरूप, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी

Sunday, August 9, 2020

पीलीभीत : ऑनलाइन ट्रेनिंग पर शिक्षक और जिला समन्वयक आमने-सामने, शिक्षकों ने सूचना न देने का लगाया आरोप, 34 शिक्षकों का वेतन रोकने पर मचा बवाल

पीलीभीत : ऑनलाइन ट्रेनिंग पर शिक्षक और जिला समन्वयक आमने-सामने, शिक्षकों ने सूचना न देने का लगाया आरोप, 34 शिक्षकों का वेतन रोकने पर मचा बवाल।

पीलीभीत :: ऑनलाइन ट्रेनिंग में शामिल न होने पर शिक्षक और जिला समन्वयक आमने-सामने आ गए हैं। दोनों एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। शिक्षकों का कहना है कि उन्हें लिंग की सूचना नहीं दी गई जबकि जिला समन्वयक ने सूचना देने के बाद भी ट्रेनिंग में शामिल न होने की बात कही। समन्वयक और खंड शिक्षा अधिकारी की रिपोर्ट पर बीएसए ने 34 शिक्षकों का वेतन ट्रेनिंग में शामिल न होने पर रोक लगा दी है। इसे लेकर शिक्षकों में रोष है। शिक्षकों ने बीएसए से भी इस मामले की शिकायत की है।

कोरोना काल में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षकों की ऑनलाइन ट्रेनिंग कराई जा रही है। इसका मकसद ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देना है। शिक्षकों को ट्रेनिंग की सूचना के लिए कई ग्रुप भी बनाए गए हैं। बेसिक शिक्षा विभाग का दावा है कि फोन से भी शिक्षकों को सूचना दी जाती है। ऑनलाइन ट्रेनिंग कराने की जिम्मेदारी जिला समन्वयक दीपक जायसवाल को सौंपी गई है। बरखेड़ा ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षक, अनुदेशक और शिक्षामित्रों की 20 से 24 जुलाई तक ऑनलाइन ट्रेनिंग कराई जानी थी।




जिला समन्वयक के मुताबिक शिक्षक, शिक्षामित्र और अनुदेशकों ने ऑनलाइन क्लास ज्वाइन नहीं की। बरखेड़ा खंड शिक्षा अधिकारी और जिला समन्वयक ने ऐसे 34 शिक्षकों की सूची बनाकर बीएसए देवेंद्र स्वरूप को सौंप दी। बीएसए ने इनके वेतन पर रोक लगा दी। शिक्षकों का कहना है कि उन्हें जिला समन्वयक द्वारा ट्रेनिंग की सूचना नहीं दी गई। न ही ग्रुप में जोड़ा गया है। गलत तरीके से रिपोर्ट देकर उनके वेतन पर रोक लगाई गई है।

इधर, जिला समन्वयक का कहना है कि सभी को ऑनलाइन ट्रेनिंग की सूचना दी गई थी। इसके बाद भी शिक्षकों ने बिना कारण बताए ही ट्रेनिंग को ज्वाइन नहीं किया था। बीएसए ने बताया कि ऑनलाइन ट्रेनिंग ग्रुप में जोड़े होने की जानकारी उन्हें नहीं है। इस मामले में जिला समन्वयक से जानकारी की जाएगी।

शिक्षकों ने सूचना न देने का लगाया आरोप, तो जिला समन्वयक ने सूचना देने की कही बात

बरखेड़ा ब्लॉक के विद्यालयों में 34 शिक्षकों का वेतन रोकने पर मचा बवाल


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

पीलीभीत : स्वर्गवासी गुरुजी का दो साल तक वेतन निकाले जाने के मामले की एडी बेसिक ने तलब की रिपोर्ट, पत्नी एटीएम से निकालती रहीं वेतन

पीलीभीत : स्वर्गवासी गुरुजी का दो साल तक वेतन निकाले जाने के मामले की एडी बेसिक ने तलब की रिपोर्ट, पत्नी एटीएम से निकालती रहीं वेतन।




----------- --------- ----------- ----------- ---------- -

पीलीभीत : बेसिक शिक्षा विभाग का कारनामा : स्वर्गवासी होने के बाद भी गुरुजी का दो साल तक निकलता रहा वेतन, इंक्रीमेंट भी लगाया,  मामले को दबाने में जुटे अधिकारी।


●  स्वर्गवासी होने के बाद भी गुरुजी का दो साल तक निकलता रहा वेतन, इंक्रीमेंट भी लग गया

● बिलसंडा के खंड शिक्षाधिकारी ने बीएसए को लिखा पत्र, अब मामले को दबाने में जुटे अधिकारी


पीलीभीत। बीएसए दफ्तर अक्सर अपने अजीबोगरीब कारनामों के लिए चर्चा में रहता है। पहले भी यहां फर्जीवाड़ा सामने आते रहे हैं। अब बीएसए दफ्तर में नया कारनामा सामने आया है। प्राथमिक स्कूल के शिक्षक की दो साल पहले मौत हो गई। मगर, उसका वेतन नवंबर 2018 तक निकलता रहा। इतना ही नहीं, बीएसए ने स्वर्गवासी गुरुजी का इंक्रीमेंट भी लगा दिया।


खंड शिक्षाधिकारी ने बीएसए को पत्र लिखकर मामले की जानकारी दी तो अब अधिकारी पूरे मामले को दबाने में लग गए। इससे बीएसए दफ्तर की आंख मूंदकर शिक्षकों की हाजिरी प्रमाणित करने की कार्यशैली भी उजागर हुई है। बिलसंडा ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय हर्रायपुर में सहायक अध्यापक के रूप में कार्यरत अरविंद कुमार का 22 मई 2016 को निधन हो गया। मगर, मौत के बाद भी मई 2016 से नवंबर 2018 तक उनका वेतन पहले की तरह ही न केवल खाते में पहुंचता रहा, बल्कि कुछ समय बाद स्वर्ग सिधार गए गुरुजी का बीएसए ने इंक्रीमेंट भी लगा दिया। कुछ समय पहले जब बिलसंडा के खंड शिक्षा अधिकारी को किसी दूसरे शिक्षक ने उस शिक्षक की मौत के बारे में जानकारी दी, तो वह चौंक गए। बिलसंडा के खंड शिक्षा अधिकारी ने 24 जुलाई को इस प्रकरण में बीएसए और वित्त लेखाधिकारी को एक पत्र लिखा। इसमें हर्रायपुर प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक की मौत की जानकारी देते हुए दो साल का वेतन रिकवरी करने की बात कही गई। यह जानकारी होते ही बीएसए दफ्तर में हड़कंप मच गया। सूत्रों के अनुसार, बीएसए ने आनन-फानन में बिलसंडा खंड शिक्षा अधिकारी को अपने दफ्तर बुलाकर मामला और ज्यादा न खोलने पर बात कही.

मौत के बाद भी शिक्षक का वेतन लगातार निकलने का प्रकरण मेरे संज्ञान में नहीं है, खंड शिक्षा अधिकारी से मामले की जानकारी कर जांच कराई जाएगी। अगर, इसमें किसी की लापरवाही सामने आई तो संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी। - देवेंद्र स्वरूप, बीएसए

तो क्या स्वर्गवासी होने के बाद भी विद्यालय आते रहे गुरुजी!
सबसे बड़ी बात यह है कि जिन शिक्षक की चार साल पहले मौत हो गई, वो क्या वह स्वर्गवासी होने के बाद भी दो साल तक लगातार स्कूल आकर बच्चों को पढ़ाते रहे। अगर वह स्कूल नहीं आए तो उनकी उपस्थिति कैसे दर्शा दी गई। इन पर जांच कराने के बजाय बीएसए दफ्तर पूरे मामले पर परदा डालने में जुट गया है।

भूल मानकर मामला निपटाने में लगे अफसर
भले ही बेसिक शिक्षा विभाग से दिवंगत शिक्षक के खाते में वेतन गया हो। मगर, बीएसए और लेखा विभाग के जिम्मेदार अब उसे भूल मानकर निपटाने की तैयारी में लग गए हैं। नियमानुसार बीएसए दफ्तर के लेखा विभाग को जो वेतन बिल मिलता है, उसी के अनुसार वेतन जारी करते हैं। अब वर्तमान लेखाधिकारी का मानना है कि यह मामला उनके समय का नहीं है न ही उन्हें शिक्षक की मौत के बारे में कोई जानकारी थी। नीचे से वेतन बिल पास होकर आया और वेतन जारी हो गया।

उपस्थिति प्रमाणित होने पर ही मिलता है वेतन
वेतन के लिए एक स्कूल के सभी शिक्षकों से प्रारूप नौ पर महीने भर के हस्ताक्षर कराए जाते हैं उसी पर मेडिकल लीव, आकस्मिक अवकाश आदि भी दर्ज होता है। प्रधानाध्यापक इसे ब्लॉक संसाधन केंद्र भेज देते हैं। जहां पर खंड शिक्षा अधिकारी के द्वारा उनकी उपस्थिति को प्रमाणित कर आगे भेजा जाता है। फिर उसे बीएसए प्रमाणित करते हैं तब जाकर वेतन निकलता है। मगर, इस मामले में खंड शिक्षाधिकारी और बीएसए दोनों ही शिक्षक की मौत होने के बाद भी उपस्थिति प्रमाणित करते रहे।




साभार : अमर उजाला

Monday, June 29, 2020

पीलीभीत : कायाकल्प के तहत हुए कार्यों के निरीक्षण हेतु विद्यालय न खोले जाने व ग्राम प्रधानों द्वारा कार्य नहीं कराये जाने पर रोका गया अध्यापकों का वेतन


पीलीभीत : कायाकल्प के तहत हुए कार्यों के निरीक्षण हेतु विद्यालय न खोले जाने व ग्राम प्रधानों द्वारा कार्य नहीं कराये जाने पर रोका गया अध्यापकों का वेतन 



Sunday, September 8, 2019

पीलीभीत : समस्त शिक्षक/शिक्षिकाओं/शिक्षामित्रों/अनुदेशकों को प्रेरणा ऍप के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराए जाने हेतु सभी बीईओ को निर्देश, देखें

पीलीभीत : समस्त शिक्षक/शिक्षिकाओं/शिक्षामित्रों/अनुदेशकों को प्रेरणा ऍप के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराए जाने हेतु सभी बीईओ को निर्देश, देखें।

Sunday, July 28, 2019

पीलीभीत : समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक/कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में मीना मंच के गठन व जीवन कौशल शिक्षा कार्यक्रम के क्रियान्वयन हेतु निर्देश, देखें

पीलीभीत : समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक/कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में मीना मंच के गठन व जीवन कौशल शिक्षा कार्यक्रम के क्रियान्वयन हेतु निर्देश, देखें।


Friday, July 5, 2019

पीलीभीत : स्कूलों के निरीक्षण में मिलीं खामियां, तीन प्रधानाध्यापकों का रोका वेतन

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

 स्कूलों के निरीक्षण में मिलीं खामियां, तीन प्रधानाध्यापकों का रोका वेतन

Friday, May 17, 2019

पीलीभीत : बगैर अनुमति प्रतियोगिता कराना बीईओ को पड़ा महंगा, बीएसए ने प्रतियोगिता रद्द करने के साथ बीईओ से किया जवाब-तलब

पीलीभीत : बगैर अनुमति प्रतियोगिता कराना बीईओ को पड़ा महंगा, बीएसए ने प्रतियोगिता रद्द करने के साथ बीईओ से किया जवाब-तलब।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, April 17, 2019

पीलीभीत : प्रत्याशी के पक्ष में चुनावी भाषण देने के आरोप में शिक्षक निलंबित, वीडियो वायरल होने पर मामला सही पाया गया


पीलीभीत : प्रत्याशी के पक्ष में चुनावी भाषण देने के आरोप में शिक्षक निलंबित, वीडियो वायरल होने पर मामला सही पाया गया। 


Saturday, April 6, 2019

पीलीभीत : ड्यूटी कटवाने को स्वास्थ्य प्रमाणपत्र बनवाने की मारामारी, अपनाये जा रहे हैं तरह-तरह के हथकंडे

पीलीभीत : ड्यूटी कटवाने को स्वास्थ्य प्रमाणपत्र बनवाने की मारामारी, ड्यूटी कटवाने को अपनाये जा रहे हैं तरह-तरह के हथकंडे


Monday, January 7, 2019

पीलीभीत : वर्ष 2010 के पश्चात नियुक्ति पाए शिक्षकों की सूची अभिलेख सहित निर्धारित प्रारूप पर उपलब्ध कराने हेतु निर्देश जारी, आदेश व प्रारूप देखें

पीलीभीत : वर्ष 2010 के पश्चात नियुक्ति पाए शिक्षकों की सूची अभिलेख सहित निर्धारित प्रारूप पर उपलब्ध कराने हेतु निर्देश जारी, आदेश व प्रारूप देखें।

Sunday, January 6, 2019

पीलीभीत : स्कूलों में कंपोजिट ग्रांट से हुए कार्यों को परखेगी शासन की टीम, निरीक्षण के दौरान लापरवाही मिलने पर होगी सख्त कार्रवाई

स्कूलों में कंपोजिट ग्रांट से हुए कार्यों को परखेगी शासन की टीम, निरीक्षण के दौरान लापरवाही मिलने पर होगी सख्त कार्रवाई


Saturday, January 5, 2019

पीलीभीत : निलंबित शिक्षकों की ज्वाइनिंग पर डीएम ने लगाईं रोक, तत्कालीन बीएसए ने शिक्षकों को किया था बहाल

निलंबित शिक्षकों की ज्वाइनिंग पर डीएम ने लगाईं रोक, तत्कालीन बीएसए ने शिक्षकों को किया था बहाल


Monday, December 31, 2018

पीलीभीत : भीषण ठंड के दृष्टिगत समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 4 जनवरी तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

पीलीभीत : भीषण ठंड के दृष्टिगत समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 4 जनवरी तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

Friday, December 28, 2018

पीलीभीत : भीषण शीतलहर के दृष्टिगत समस्त विद्यालयों में 29 एवं 31 दिसम्बर का अवकाश घोषित, आदेश देखें

पीलीभीत : भीषण शीतलहर के दृष्टिगत समस्त विद्यालयों में 29 एवं 31 दिसम्बर का अवकाश घोषित, आदेश देखें