DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, May 21, 2017

प्राथमिक विद्यालयों में लगेगी शिक्षकों की फोटो, संगठनों से सौंपा शिक्षामंत्री को ज्ञापन, बख्शे नहीं जाएंगे भ्रष्टाचारी


जागरण संवाददाता, देवरिया/गोरखपुर: बेसिक शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, राजस्व एवं वित्त राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की फोटो लगेगी। छात्रों की संख्या व उपस्थिति बढ़ाने के लिए हर विद्यालय पर मां समिति का गठन होगा। बाल विकास पुष्टाहार योजना में सुधार से लिए आमूल चूल परिवर्तन किए गए हैं।1राज्य मंत्री शनिवार को यहां जिला कार्य योजना की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कलेक्ट्रेट में संवाददाताओं से वार्ता कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की गलत नीतियों से प्राथमिक शिक्षा का बंटाधार हुआ है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। प्रदेश सरकार ने शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए नीतियों में बदलाव किया है। कक्षाओं में पढ़ाई के लिए समय सारिणी बनाई गई है। घंटा के अनुसार कक्षाओं में पढ़ाई होगी। प्रदेश के एक लाख 60 हजार परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों की फोटो कार्यालय में लगेगी। इससे विद्यालय में गायब रहने वाले शिक्षकों की पहचान हो सकेगी। मां समिति में शामिल माताएं मध्याह्न भोजन व उपस्थिति पर नजर रखेंगी। बिना मान्यता के चलने वाले विद्यालयों को हर हाल में बंद कराया जाएगा। 1उन्होंने कहा कि बाल विकास पुष्टाहार योजना में बदलाव के लिए अन्य प्रांतों में भेजे गए छह वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने सुझाव शासन को सौंपे हैं। पुष्टाहार का शतप्रतिशत वितरण सुनिश्चित कराने के लिए अब ब्लाक की बजाय सीधे केंद्रों पर भेजा जाएगा। 1आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, ग्राम प्रधान व पंचायत सदस्य की त्रिस्तरीय समिति की मौजूदगी में पुष्टाहार केंद्रों पर उतारा जाएगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को लेकर सरकार सख्त है। अपराधियों के प्रति नरमी दिखाने वाले अधिकारी अब बख्शे नहीं जाएंगे।1सबकी मुरादें होंगी पूरी: गोरखपुर : प्रदेश सरकार की बेसिक शिक्षा बाल विकास एवं सेवा पुष्टाहार मंत्री अनुपमा जायसवाल भाजपा की प्रदेश महामंत्री भी हैं। वह शनिवार की सुबह आरएसएस के कार्यालय माधव धाम पहुंचीं। वहां संघ के प्रांत प्रचारक मुकेश खांडेकर और सह प्रांत प्रचारक सुबास से उन्होंने मुलाकात की। उसके बाद उन्होंने गोरखनाथ मंदिर पहुंचकर गुरु गोरखनाथ के दर्शन किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार सबकी मुरादें पूरी करेगी। 1अनुपमा जायसवाल विधायक और मंत्री बनने के बाद भी संगठन का कार्य देख रही हैं। जायसवाल शनिवार की सुबह सर्किट हाउस से सीधे आरएसएस कार्यालय माधवधाम पहुंचीं। मंत्री वहां से गोरखनाथ मंदिर पहुंचीं। मंदिर में उन्होंने गुरु गोरक्षनाथ के दर्शन-पूजन किए। उसके बाद उन्होंने ब्रrालीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि पर पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने सरकार और संगठन दोनों के समन्वय की बात की। एक सवाल के जवाब में कहा कि शीघ्र ही नए प्रदेश अध्यक्ष का मनोनयन होगा। हालांकि, यह भी जोड़ा कि यह केंद्रीय नेतृत्व का विषय है। इस दौरान महानगर अध्यक्ष राहुल श्रीवास्तव, क्षेत्रीय मंत्री धमेर्ंद्र सिंह, डा. सत्येंद्र सिन्हा, जीतेंद्र वर्मा पल्लू, भानु सिंह, निर्मला द्विवेदी, सबल सिंह सहित अन्य कई लोग थे।जागरण संवाददाता, देवरिया/गोरखपुर: बेसिक शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, राजस्व एवं वित्त राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की फोटो लगेगी। छात्रों की संख्या व उपस्थिति बढ़ाने के लिए हर विद्यालय पर मां समिति का गठन होगा। बाल विकास पुष्टाहार योजना में सुधार से लिए आमूल चूल परिवर्तन किए गए हैं।1राज्य मंत्री शनिवार को यहां जिला कार्य योजना की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कलेक्ट्रेट में संवाददाताओं से वार्ता कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की गलत नीतियों से प्राथमिक शिक्षा का बंटाधार हुआ है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। प्रदेश सरकार ने शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए नीतियों में बदलाव किया है। कक्षाओं में पढ़ाई के लिए समय सारिणी बनाई गई है। घंटा के अनुसार कक्षाओं में पढ़ाई होगी। प्रदेश के एक लाख 60 हजार परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों की फोटो कार्यालय में लगेगी। इससे विद्यालय में गायब रहने वाले शिक्षकों की पहचान हो सकेगी। मां समिति में शामिल माताएं मध्याह्न भोजन व उपस्थिति पर नजर रखेंगी।

No comments:
Write comments