DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, June 2, 2017

रामपुर : प्राइमरी शिक्षकों के वेतन निर्धारण में मनमानी, सातवें वेतन आयोग में बढ़ने की जगह घट गया वेतन

रामपुर निज संवाददाता बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के वेतन में मनमानी की है। सातवें वेतन आयोग के हिसाब से किए गए निर्धारण में शिक्षकों का वेतन कम हो गया। वेतन के मामले में सीनियर शिक्षक जूनियर से पिछड़ गए हैं। इसको लेकर शिक्षकों में रोष है। शासन ने सातवां वेतन आयोग लागू कर दिया है। इसके हिसाब से जनवरी से वेतन निर्धारण किया जाना था, लेकिन तब नहीं हो सका। अब विभाग ने अपैल का वेतन इसी हिसाब से निर्धारण कर दिया है, लेकिन उसमें अब खामियां नजर आ रही हैं। पहले तो कुछ शिक्षकों का डाटा ही गलत फीड कर दिया गया था, जिसके कारण सप्ताह भर तक वेतन अटका रहा। अब वेतन जारी हो गया। खातों में वेतन पहुंचा तो निर्धारण में कमियां का खुलासा हो रहा है। विभाग की ओर से जनवरी में कार्यशाला का आयोजन किया गया था, जिसमें वेतन निर्धारण की जानकारी दी गई थी। बताया गया था कि 2009 की नियुक्ति वाले शिक्षकों का प्रमोशन 2016 में पुरानी व्यवस्था के तहत होगा। इनसे एक जनवरी 2016 से विकल्प लिए गए थे। इन्हीं शिक्षकों के वेतन में गड़बड़ी गई है। जनपद के करीब पचास शिक्षकों का वेतन कम हो गया है। उन पर हर माह करीब दो हजार रुपये का असर पड़ रहा है। शिक्षकों का वेतन अपने जूनियर से कम हो गया है।

रामपुर। प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन ने जिलाधिकारी को पत्र देकर कहा है कि विभाग में शिक्षकों का शोषण चरम पर पहुंच गया है। बिना वसूली के कोई भी भुगतान नहीं किया जा रहा है। डीएम को दिए पत्र में कहा है कि शिक्षकों को अवशेष वेतन का भुगतान किया जाना है। इसके बिल तैयार हो गए हैं, लेकिन शिक्षकों को भुगतान के लिए परेशान किया जा रहा है। वित्त एवं लेखाधिकारी कार्यालय में मनमानी की जा रही है। इससे शिक्षकों में रोष पनप रहा है। दूसरे जिलों से आने वाले शिक्षकों का एरियर भी देने में परेशानी की जा रही है। प्रदेश उपाध्यक्ष अजहर अहमद, विकास गुप्ता, सौरभ गुप्ता, समन जैन, सलीम अहमद, मोहम्मद खतीब, शारिक जावेद, नाजिश, सईद सागर, वाणी सिंहा, मनीषा, फिजा, आलिया आदि के हस्ताक्षर हैं।

वेतन निर्धारण विकल्प के आधार पर किया है। कोई खामी रह गई होगी तो सामने आने पर ठीक होगी।-श्यामलाल जायसवाल, लेखाधिकारी

नीतू सूद, रीता गंगवार, रूपाली अग्रवाल, अंजू वर्मा, सृष्टि गुप्ता, पूजा कुमारी, अनीता जयंत, अमित पाल, हवलदार राम आदि।

रामपुर। प्राइमरी शिक्षकों ने जिलाधिकारी को पत्र देकर कहा है कि बेसिक शिक्षा विभाग में आरडी घोटाले की जांच की जा रही है, जिसकी जांच पूरी कर जल्द कार्रवाई की जाए। पत्र में कहा है कि शिक्षकों को आरडी का पैसा कम दिया गया है। इसलिए जल्द जांच पूरी कर कार्रवाई की जाए। पत्र में सुरेश सक्सेना, चरन सिंह, डा. अहसान खां, महेश कुमार, धर्मपाल, रवेन्द्र गंगवार, तहसीन आलम आदि के हस्ताक्षर हैं।

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष कैलाश बाबू, जिला मंत्री आनंद प्रकाश गुप्ता, जफर बेग, अलीम खां आदि ने बीएसए और लेखाधिकारी को पत्र देकर कहा है कि सातवें वेतन आयोग का लाभ प्रमोशन की तारीख से दिया जाए। शिक्षकों के वेतन में जो कमियां हुई हैं उन्हें दूर किया जाए।
रामपुर। प्राथमिक शिक्षक संघ मिलक इकाई ने विभिन्न समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया और सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा।शिक्षकों का कहना है कि विभाग में आरडी घोटाला किया गया है। वेतन प्रमाणपत्र बनवाने के नाम पर वसूली की जा रही है। विरोध करने पर अभद्रता की जाती है। पैसा न दिए जाने पर फाइलों से अभिलेख गायब कर दिए जाते हैं। एरियर के नाम पर पचास प्रतिशत धनराशि की मांग की जाती है। मेडिकल भुगतान के नाम पर भी वसूली की जा रही है। जीपीएफ का पैसा भी बिना वसूली किए नहीं दिया जा रहा है। रवेन्द्र गंगवार, जाकिर हुसैन, सरफराज, मुमताज अली, बबीता सिंह, हरीश कुर्मी, सलीम अहमद, सुरेश सक्सेना, अजहर खां शामिल रहे।
गुरुवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते शिक्षक। ’ हिन्दुस्तान

No comments:
Write comments