DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, December 17, 2017

बागपत : शिक्षिकाओं का स्कूल आना-जाना मुहाल, शोहदों के आतंक से कस्तूरबा विद्यालय में कैद छात्राएं

कस्तूरबा स्कूल के पास दीवार पर बैठते हैं शोहदे, शिक्षिकाओं का स्कूल आना-जाना मुहाल, डीएम करा रहे शिकायत की जांचपुलिस खातों की कामयाबी से मेल नहीं खाती छेड़खानी की हकीकत शोहदों को सिखाया सबक सीएचसी में भर्ती

बागपत : नगर के कालेज में सोनीपत निवासी एक छात्र पढ़ता है। कालेज की एक छात्र से उसकी दोस्ती हो गई। आरोप है कि सोनीपत के युवक ने छात्र की नौकरी लगवाने के नाम पर उसके शैक्षिक प्रमाण पत्र ले लिए। कई माह बाद भी नौकरी नहीं लगी, तो छात्र ने अपने शैक्षिक प्रमाण पत्र वापस मांगे। इस पर सोनीपत के युवक ने धमकी दी। आरोप है कि शुक्रवार की देर शाम सोनीपत का युवक अपने एक साथी के साथ छात्र के मकान पर पहुंचा और छात्र मकान पर नहीं थी। इस पर युवक ने छात्र की मां के साथ छेड़छाड़ करनी शुरू कर दी। इस बीच छात्र के दो भाई मौके पर पहुंच गए। उन्हें देखकर आरोपी भाग खड़े हुए। पीछा कर आरोपियों को डाकखाने के पास पकड़ लिया गया और उनकी जमकर धुनाई की गई। इस बीच कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई। दोनों युवकों को सीएचसी में भर्ती कराया गया है। आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी गई है। प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार ने बताया कि मामला संदिग्ध है। जांच कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जागरण संवाददाता, बागपत: भयमुक्त माहौल में बेटियों को शिक्षित करने के लिए खोले गए कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय के आसपास शोहदों का आतंक है। शिक्षिकाओं ने डीएम को शिकायत कर बताया है कि यहां हर समय कई दर्जन मनचले मौजूद रहते हैं। छात्रओं के साथ शिक्षिकाएं तक छेड़खानी का शिकार हैं। डीएम ने पूरे प्रकरण की जांच सीडीओ को सौंपी है।

बड़ौत डायट परिसर में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय है। इसमें 100 छात्रएं पढ़ती हैं। इन बालिकाओं क पढ़ना और बाहर निकलना शोहदों ने हराम कर रखा है। एक शिक्षिका ने डीएम से शिकायत की कि विद्यालय एवं डायट परिसर के बगल से एक गली निकल रही है। गली की दीवार पर आवारा किस्म के लड़के बैठे रहते हैं जो छात्रओं और शिक्षिकाओं पर अभद्र टिप्पणी करते हैं। बालिका और शिक्षिकायें भयभीत हैं। डीएम भवानी सिंह खंगरौत ने सीडीओ को यह मामला खुद देखने और एसपी से वार्ता कर समस्या का समाधान कराने का आदेश दिया है। कोतवाली प्रभारी बड़ौत को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की सुरक्षा कराने को लेटर लिखा है। गौरतलब है कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की यह समस्या नई नहीं है। पिछले काफी दिनों से शोहदों का आंतक है पर पुलिस एवं प्रशासन के कार्रवाई नहीं करने से असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद हैं। 1जागरण संवाददाता, बागपत: भयमुक्त माहौल में बेटियों को शिक्षित करने के लिए खोले गए कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय के आसपास शोहदों का आतंक है। शिक्षिकाओं ने डीएम को शिकायत कर बताया है कि यहां हर समय कई दर्जन मनचले मौजूद रहते हैं। छात्रओं के साथ शिक्षिकाएं तक छेड़खानी का शिकार हैं। डीएम ने पूरे प्रकरण की जांच सीडीओ को सौंपी है।

बड़ौत डायट परिसर में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय है। इसमें 100 छात्रएं पढ़ती हैं। इन बालिकाओं क पढ़ना और बाहर निकलना शोहदों ने हराम कर रखा है। एक शिक्षिका ने डीएम से शिकायत की कि विद्यालय एवं डायट परिसर के बगल से एक गली निकल रही है। गली की दीवार पर आवारा किस्म के लड़के बैठे रहते हैं जो छात्रओं और शिक्षिकाओं पर अभद्र टिप्पणी करते हैं। बालिका और शिक्षिकायें भयभीत हैं। डीएम भवानी सिंह खंगरौत ने सीडीओ को यह मामला खुद देखने और एसपी से वार्ता कर समस्या का समाधान कराने का आदेश दिया है। कोतवाली प्रभारी बड़ौत को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की सुरक्षा कराने को लेटर लिखा है। गौरतलब है कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की यह समस्या नई नहीं है। पिछले काफी दिनों से शोहदों का आंतक है पर पुलिस एवं प्रशासन के कार्रवाई नहीं करने से असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद 

No comments:
Write comments