DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, March 16, 2018

बीटीसी 12,460 शिक्षक भर्ती : बीजेपी दफ्तर के सामने नियुक्ति की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे बीटीसी अभ्यर्थियों को पुलिस ने भगाया, शुक्रवार को निशातगंज बेसिक शिक्षा निदेशालय परिसर में प्रदर्शन का ऐलान

बीटीसी 12,460 शिक्षक भर्ती संघ उत्तर प्रदेश के धारकों ने गुरुवार को हजरतगंज स्थित भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय के गेट पर प्रदर्शन किया। हजार से ज्यादा बीटीसी धारक नगर निगम मार्ग पर शाम तक डटे रहे। पुलिस ने बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा। कई बीटीसी धारकों को कैंट थाने ले जाया गया जहां से देर शाम छोड़ दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को निशातगंज बेसिक शिक्षा निदेशालय परिसर में प्रदर्शन का ऐलान किया है।

सुबह 11 बजे से ही बीजेपी मुख्यालय कार्यालय पर अभ्यथियों का प्रदर्शन शुरू हो गया था। शासन स्तर पर वार्ता के लिए किसी के न आने पर भी प्रार्थी शाम तक डटे रहे। आखिरकार शाम को पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा। सत्तर से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को बस से कैंट थाने ले जाया गया। जिन्हें देर रात छोड़ दिया गया। प्रदर्शन में शामिल राकेश विश्वकर्मा, मृदुल पाण्डेय, सौरभ सिंह, मनोज कुमार, पूजा यादव ने घोषणा की कि उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। शुक्रवार को निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव करेंगे।

ये हैं मांगें

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि उच्च न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए नियुक्त पत्र जारी किए जाएं। प्रदर्शनकारियों के मुताबिक 15 दिसम्बर 2016 को बेसिक शिक्षा विभाग ने 12,460 सहायक अध्यापक की भर्ती का शासनादेश जारी किया था। उसके अगले चरण में 18 से 20 मार्च 2018 तक चली काउंसलिंग के बाद जनपदवार चयन सूची तैयार की जा रही थी। दूसरी ओर इसी बीच नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया रोक दी गई। बीते माह 6 फरवरी को उच्च न्यायालय ने भी आदेश दे दिया है कि आगामी चार सप्ताह में चयन प्रक्रिया आगे बढ़ाने का निर्णय ले। इस दिशा में राज्य सरकार भर्ती के लिए स्वतंत्र हैं। चार सप्ताह की सीमा समाप्त होने पर भी इस दिशा में कोई प्रगति नहीं हुई है।
बीजेपी कार्यालय से खदेड़े गए बीटीसी धारक

No comments:
Write comments