DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, March 7, 2018

महराजगंज : अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालन हेतु सभी 165 आवेदक शिक्षकों का चयन लगभग तय, शैक्षिक सत्र 2018-19 हेतु अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालन के बाद रिक्त सीटों के लिए लिया जाएगा पुनः आवेदन

महराजगंज : जिले के 60 परिषदीय विद्यालयों में नए शैक्षिक सत्र से अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा देने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने कवायद प्रारंभ कर दी है। विभाग ने प्रत्येक विद्यालय में एक प्रधानाचार्य व चार शिक्षकों के हिसाब से 60 प्रधानाध्यापकों व 240 शिक्षकों से आवेदन मांगे थे। जिसके क्रम में जिले भर से कुल 165 शिक्षकों ने अंग्रेजी माध्यम के स्कूल में पढ़ाने में रूचि दिखाई है। शासन ने शैक्षिक सत्र 2018-19 में ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को भी कान्वेंट की तर्ज पर अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा दिला कर उनके शैक्षिक स्तर को बढ़ाने की योजना बनाते हुए प्रत्येक ब्लाक के पांच परिषदीय विद्यालयों को अंग्रेजी माध्यम से संचालित कराने का मन बनाया है।1 विभाग ने शासन की मंशा को देखते हुए सभी ब्लाकों में तैनात खंड शिक्षा अधिकारियों से बेहतर शिक्षण व्यवस्था देने वाले विद्यालयों को चिह्न्ति कर सूची मांगी थी।              खंड शिक्षा अधिकारियों ने स्कूल का चयन कर उसकी सूची बेसिक शिक्षा विभाग को उपलब्ध करा दी, जिसके क्रम में विभाग ने 60 प्रधानाध्यापक व 240 शिक्षक पद पर आवेदन मांगा। कम आवेदन आने पर आवेदन की तिथि बढ़ाई गई। तिथि समाप्त होने के उपरांत विभाग ने पाया कि 300 पदों के सापेक्ष पूरे जिले से 165 शिक्षकों ने अंग्रेजी माध्यम के विद्यालय में शिक्षा देने में रूचि दिखाई है। ऐसे में आवेदन करने वाले सभी शिक्षकों की तैनाती होना सुनिश्चित है।

विद्यालय को संचालित कराना प्राथमिकता : बीएसए
 जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ला ने कहा कि शासन की मंशा के दृष्टिगत अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों को संचालित कराना प्राथमिकता है। आवेदन करने वाले शिक्षकों के आवेदन पत्र की जांच के उपरांत उनकी तैनाती की जाएगी। कम शिक्षकों की संख्या को भरने के लिए स्कूल संचालन के बाद पुन: आवेदन लिए जाएंगे।


No comments:
Write comments