DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, June 7, 2018

शिक्षकों को अब रिफ्रेशर कोर्स के लिए नहीं लेनी होगी छुट्टी, यूजीसी ने दी राहत, कोर्स में शामिल होने पर माने जाएंगे ऑन ड्यूटी

नई दिल्ली : यूजीसी ने विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में पढ़ा रहे शिक्षकों को एक बड़ी राहत दी है। उन्हें अब रिफ्रेशर कोर्स या ओरिएंटेशन प्रोग्राम के लिए छुट्टी लेने की जरूरत नहीं होगी। प्रोग्राम की अवधि के दौरान उन्हें ऑन ड्यूटी माना जाएगा। यूजीसी ने इस संबंध में सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी किया है। साथ ही उम्मीद जताई है कि इस कदम से ओरिएंटेशन प्रोग्राम और कोर्सो में शिक्षकों की भागीदारी बढ़ेगी।


■ यूजीसी ने दी राहत, कोर्स में शामिल होने पर माने जाएंगे ऑन ड्यूटी

■ शिक्षकों की आपत्ति के बाद यूजीसी ने साफ की स्थिति


विश्वविद्यालय और कॉलेजों में पढ़ा रहे शिक्षक लंबे समय से इस बदलाव की मांग कर रहे थे। इसी बीच यूजीसी ने इस बदलाव को मंजूरी दी है। हालांकि यूजीसी ने साफ किया है कि यह राहत सिर्फ यूजीसी या उसके अधीन किसी संस्था की ओर से आयोजित होने वाले ऐसे प्रोग्राम के दौरान ही मिलेगी। इस दौरान शिक्षकों को हर रोज अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी।




यूजीसी से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, अब तक छुट्टी बचाने के चक्कर में बड़ी संख्या में शिक्षक ऐसे कोर्सो में शामिल होने से हिचकते रहे हैं। अभी भी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में बड़ी संख्या में ऐसे शिक्षक हैं, जिन्होंने अब तक गुणवत्ता सुधार के लिए आयोजित होने वाले ऐसे एक भी कोर्स और प्रोग्राम में हिस्सा नहीं लिया है।

No comments:
Write comments