DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, July 9, 2018

परिषदीय स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई की समीक्षा को अभिभावकों को मिलेगी बुकलेट, टेस्ट से बच्चों की कमजोरी जान स्कूल को कराएंगे रूबरू

10 जुलाई को प्राचार्य करेंगे समीक्षा : शासन से मिले आदेश के बाद 10 जुलाई को इस संबंध में प्राचार्य समीक्षा करेंगे। सभी शिक्षक अपने विद्यालयों की रिपोर्ट बीआरसी पर सौंपेंगे और उसके बाद उस रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी। इस संबंध में मुजफ्फरनगर डायट में 10 जुलाई को प्राचार्य भीम सिंह समीक्षा लेंगे।

आशीष कुमार’ शामली: जिले के परिषदीय स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने में लापरवाही नहीं चलेगी। बच्चों को पढ़ाने से जी चुराने वाले शिक्षकों की डगर अब मुश्किल ही रहेगी। प्रदेश शासन ने सरकारी स्कूलों को पब्लिक स्कूलों की तर्ज पर चलाने के लिए कवायद शुरू कर दी है। शासन की मंशा के मुताबिक, अब परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की समीक्षा कोई गठित कमेटी नहीं, बल्कि खुद उनके अभिभावक ही करेंगे। सभी अभिभावकों को बुकलेट दी जाएगी और इसमें पढ़ाए जाने वाले विषय सामग्री को अंकित किया जाएगा।

स्कूल में पढ़ाई कर लौटने के बाद घर अभिभावक बुकलेट से बच्चों का टेस्ट लेंगे। वह खुद देखेंगे कि शिक्षकों ने बच्चों को क्या पढ़ाया? जिस विषय में बच्चा कमजोर होगा। पैरेंट्स उसकी सूचना तुरंत विद्यालय को दे सकेंगे। शिक्षक उसी विषय पर जोर देते हुए बच्चों का सर्वागीण विकास करेंगे।

शासन परिषदीय स्कूलों को निजी स्कूलों की तर्ज पर लाने को पुरजोर कोशिश कर रहा है। विभिन्न योजनाएं निकाल बच्चों को सर्वांगीण विकास करने में जुटा हुआ है। ड्रेस आदि में बदलाव के बाद अब शासन ने बच्चों की पढ़ाई को और अधिक सुदृढ़ बनाते हुए विभाग को एक बुकलेट जारी की है, जो अभिभावकों को दी जाएगी। इसके माध्यम से यह मालूम होगा कि बच्चों को क्या पढ़ाया जा रहा है और इसकी समीक्षा अभिभावक करेंगे। बच्चों की पढ़ाई के बारे में जानने के बाद परिजन बुकलेट में बच्चे की पढ़ाई के बारे में जानकारी लिखकर भेजेंगे।

बीआरसी क्षेत्र में जितने बच्चें पंजीकृत है। सभी बच्चों के अभिभावकों को यह बुकलेट दी जाएगी। इसमें बच्चों को कक्षा में पढ़ाए जाने के बाद उनके घर पहुंचने पर अभिभावक स्कूल में पढ़ाए गए विषयों से संबंधित सवाल बच्चों से करेंगे। जिन विषयों के बच्चे उत्तर नहीं दे सकेंगे। अभिभावक उनको चिह्न्ति कर विद्यालय पहुंच शिक्षकों को जानकारी देंगे। इससे बच्चों का शैक्षिक स्तर सुधरेगा।

इसके अलावा बच्चों का प्रोफाइल कार्ड भी तैयार किया जाएगा। जिसमें उसके घर माता-पिता सहित अन्य सदस्यों की जानकारी मौजूद होगी। खंड शिक्षा अधिकारी राकेश वालिया ने बताया कि बुकलेट लगभग वितरित कर दी गई इै। कुछ ही स्कूल बचे है। उनमें भी वितरित कराई जाएगी।

No comments:
Write comments