DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, August 21, 2018

गोरखपुर : काउंसिलिंग में दो दिनों में 73 शिक्षकों ने किया विद्यालयों का चयन, 208 शिक्षकों को रोस्टर से आवंटित होंगे विद्यालय

जागरण संवाददाता, गोरखपुर : छात्रों की संख्या के आधार पर विद्यालयों में निर्धारित पदों के अतिरिक्त कार्यरत शिक्षकों को अन्य विद्यालयों पर समायोजित करने के लिए आयोजित काउंसिलिंग सोमवार को संपन्न हो गई। 281 में से मात्र 77 शिक्षकों ने काउंसिलिंग कराई, लेकिन विद्यालयों का चयन मात्र 73 शिक्षकों ने ही किया है। सोमवार देर रात तक शिक्षा विभाग रोस्टर से उन शिक्षकों को विद्यालय आवंटित करने की प्रक्रिया को अंतिम रूप देने में जुटा रहा, जिन्होंने काउंसिलिंग में हिस्सा नहीं लिया है या विद्यालय का चयन नहीं किया है।

सोमवार सुबह 10 बजे से शिक्षक काउंसिलिंग कराने पहुंचने लगे थे। पहले सवा घंटे में करीब 20 शिक्षकों ने काउंसिलिंग कराई भी। उसके बाद कुछ शिक्षक नेताओं ने काउंसिलिंग का बहिष्कार करते हुए नारे लगाए और एडीएम सिटी को ज्ञापन सौंपकर वापस चले गए। शाम तक शिक्षक काउंसिलिंग के लिए आते रहे। दूसरे दिन 36 शिक्षकों ने विद्यालयों का चयन किया है।

जागरण संवाददाता, गोरखपुर : छात्रों की संख्या के आधार पर विद्यालयों में निर्धारित पदों के अतिरिक्त कार्यरत शिक्षकों को अन्य विद्यालयों पर समायोजित करने के लिए आयोजित काउंसिलिंग सोमवार को संपन्न हो गई। 281 में से मात्र 77 शिक्षकों ने काउंसिलिंग कराई, लेकिन विद्यालयों का चयन मात्र 73 शिक्षकों ने ही किया है। सोमवार देर रात तक शिक्षा विभाग रोस्टर से उन शिक्षकों को विद्यालय आवंटित करने की प्रक्रिया को अंतिम रूप देने में जुटा रहा, जिन्होंने काउंसिलिंग में हिस्सा नहीं लिया है या विद्यालय का चयन नहीं किया है।

सोमवार सुबह 10 बजे से शिक्षक काउंसिलिंग कराने पहुंचने लगे थे। पहले सवा घंटे में करीब 20 शिक्षकों ने काउंसिलिंग कराई भी। उसके बाद कुछ शिक्षक नेताओं ने काउंसिलिंग का बहिष्कार करते हुए नारे लगाए और एडीएम सिटी को ज्ञापन सौंपकर वापस चले गए। शाम तक शिक्षक काउंसिलिंग के लिए आते रहे। दूसरे दिन 36 शिक्षकों ने विद्यालयों का चयन किया है। डायट कार्यालय पर काउंसिलिंग कराने के लिए खड़ी प्राथमिक विद्यालयों की शिक्षिकाएंडीएम से अनुमोदन के बाद प्रकाशित होगी सूचीकाउंसिलिंग में विद्यालय चयन करने वाले शिक्षकों के अतिरिक्त शिक्षकों को शिक्षा विभाग रोस्टर के नियम के अनुसार विद्यालय आवंटित करेगा। देर रात तक रोस्टर की प्रक्रिया जारी रही। रोस्टर से विद्यालयों का आवंटन पूरा होने के बाद समायोजित शिक्षकों की सूची को डीएम से अनुमोदित कराया जाएगा, उसके बाद उसका प्रकाशन होगा।दिव्यांग महिला शिक्षकों को मिलेगा नजदीक विद्यालयशहर के नजदीक कार्यरत रहीं दिव्यांग महिला शिक्षकों को शहर के नजदीक विद्यालयों पर तैनाती देने पर विचार हो सकता है। हालांकि अभी इस मामले में कोई फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन शिक्षा विभाग प्रशासन से वार्ता के बाद कोई निर्णय जल्द ले सकता है।

97 आपत्तियों का किया गया निस्तारणगलत विषय, छात्रों की गलत संख्या, मनमाने तरीके से शिक्षकों को विद्यालय पर रोकने व वरिष्ठता को लेकर तमाम आपत्तियां दो दिनों के भीतर शिक्षकों की ओर से दर्ज कराई गईं। सोमवार को बीईओ की टीम ने आपत्तियों को निस्तारित किया। बीएसए भूपेंद्र नारायण सिंह के अनुसार 97 आपत्तियों का निस्तारण किया गया है। उच्च प्राथमिक स्कूल नारायणपुर में वरिष्ठता को लेकर आई एक आपत्ति के निस्तारण के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। समिति की रिपोर्ट के आधार पर इस आपत्ति का निस्तारण किया जाएगा।समायोजन के लिए दो दिनों तक काउंसिलिंग कराई गई। 73 शिक्षकों ने विद्यालयों का चयन किया है। अन्य शिक्षकों को रोस्टर से विद्यालय आवंटित करने की प्रक्रिया चल रही है। शिक्षकों की ओर से आई आपत्तियों का निस्तारण कर दिया गया है।
भूपेंद्र नारायण सिंहजिला बेसिक शिक्षा अधिकारी

No comments:
Write comments