DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, April 8, 2018

एक साल से ठप थीं चयन बोर्ड की गतिविधियां, चयन हेतु पदों का विवरण भी देखें

16,500 पदों पर शुरू होंगी चयन प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड का गठन हो गया है।इस बारे में शनिवार को आदेश जारी हो गया। इसमें ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. धीरेन्द्र द्विवेदी, सनातन धर्म इंटर कॉलेज वाराणसी के प्रधानाचार्य डॉ. हरेन्द्र कुमार राय, एसएसबी कॉलेज हापुड़ के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अजीत सिंह, एलपी इंटर कॉलेज सरदारनगर गोरखपुर के प्रधानाचार्य डॉ. दिनेश मणि त्रिपाठी, आगरा कॉलेज आगरा के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. ओम प्रकाश राय और पूर्व अपर निदेशक माध्यमिक रमेश कुमार को सदस्य बनाया गया है।मार्च 2017 में सरकार बदलने के साथ ही चयन बोर्ड की कार्रवाई ठप है। पहले चयन बोर्ड और उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग का विलय कर एक संस्था बनाने की चर्चा थी। इसके चलते चयन बोर्ड के निवर्तमान अध्यक्ष हीरालाल गुप्ता व अन्य सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया। हालांकि बाद में दोनों संस्थाओं के विलय की योजना निरस्त करते हुए सरकार ने नये सिरे से गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी।अध्यक्ष व सदस्यों की नियुक्ति के लिए कई सेवानिवृत्त आईएएस, पीसीएस अफसरों के साथ शिक्षाविद भी लाइन में थे। लंबे समय से खींचतान चल रही थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान आठ मार्च को अल्लापुर में आयोजित सभा में एक सप्ताह में चयन बोर्ड के गठन का आश्वासन दिया था। इसके तकरीबन एक महीने बाद बोर्ड शनिवार को अस्तित्व में आ गया।

इलाहाबाद। पिछले एक साल से चयन बोर्ड की गतिविधियां ठप होने के कारण 16521 पदों पर नियुक्ति नहीं हो पा रही थी। वर्तमान में प्रधानाचार्य के 2459, प्रवक्ता के2100 और टीजीटी (सहायक अध्यापक) के 11962 पदों पर चयन होना बाकी है। इनमें 12720 पदों का विज्ञापन हो चुका है जबकि 3801 रिक्त पदों की सूचना तो चयन बोर्ड को मिल चुकी है लेकिन विज्ञापन होना बाकी है।चयन बोर्ड के उप सचिव नवल किशोर ने बताया कि प्रधानाचार्य के 1554, प्रवक्ता (पीजीटी) के 1737 जबकि सहायक अध्यापक (टीजीटी) के 9429 पदों का विज्ञापन हो चुका है और चयन प्रक्रिया गतिमान है। प्रधानाचार्य के 905, प्रवक्ता के 363 जबकि सहायक अध्यापक के 2533 पदों पर विज्ञापन नहीं हुआ है।

No comments:
Write comments