DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label कन्वर्जन कास्ट. Show all posts
Showing posts with label कन्वर्जन कास्ट. Show all posts

Wednesday, July 29, 2020

चित्रकूट मण्डल : चार फीसदी पर अटकी राशन और कन्वर्जन कास्ट की योजना, छह लाख में से 24 हजार बालकों को ही मिल पाया लाभ

चित्रकूट मण्डल : चार फीसदी पर अटकी राशन और कन्वर्जन कास्ट की योजना, छह लाख में से 24 हजार बालकों को ही मिल पाया लाभ।

बांदा : लॉकडाउन के दौरान बंद परिषदीय विद्यालयों के बच्चों को घर बैठे राशन व पैसा देने की योजना चित्रकूट धाम मंडल में परवान नहीं चढ़ पाई। महज चार फीसदी बच्चों को ही योजना का लाभ मिला है। चारों जनपदों में छह लाख बच्चों में सिर्फ 24 हजार बच्चों को ही पैसा और राशन मिला है। अधिकारी बजट का अभाव बता रहे हैं।




प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन के दौरान 24 मार्च से 26 जून तक बंद रहे परिषदीय स्कूलों के पहली कक्षा से 8वीं तक के बच्चों को सर्व शिक्षा अभियान के तहत 76 दिन के मिड-डे मील का राशन और कन्वर्जन कास्ट का पैसा देने के निर्देश दिए थे। चित्रकूट धाम मंडल के चारों जनपदों में 9,684 विद्यालय हैं। इनमें 6,03,880 बच्चे पंजीकृत हैं। स्कूल बंद रहने के दौरान मिड-डे मील के राशन और कन्वर्जन कास्ट का लाभ सिर्फ 24,603 बच्चों को मिल पाया है। यह मात्र चार फीसदी है। 5,79,277 बच्चे राशन व पैसा पाने से वंचित हैं। परिषदीय व प्राइमरी स्कूल के प्रत्येक बच्चे को 76 दिन का राशन कुल 7 किलो 600 ग्राम और कन्वर्जन कास्ट प्रति बालक 4.14 रुपये की दर से तथा जूनियर में 11 किलो 400 ग्राम राशन और कन्वर्जन कास्ट प्रति बालक 5.66 रुपये की दर से दी जानी है। राशन कोटे की दुकान से मिलेगा। कन्वर्जन कास्ट का पैसा खाते में भेजा जाएगा।

लॉकडाउन में स्कूलों के बंद रहने की अवधि के मिड-डे मील के लिए शासन ने फिलहाल कुल 40 फीसदी बजट दिया है। यह खर्च किया जा चुका है। शेष बजट के लिए शासन को पत्र भेजकर अनुरोध किया गया है।

गंगा सिंह राजपूत, अपर निदेशक (बेसिक शिक्षा) चित्रकूट धाम मंडल, बांदा




Sunday, May 17, 2020

फतेहपुर : एमडीएम का राशन व कन्वर्जन कास्ट पहुंचेगी बच्चों के पास : बेसिक शिक्षा मंत्री

फतेहपुर : एमडीएम का राशन व कन्वर्जन कास्ट पहुंचेगी बच्चों के पास : बेसिक शिक्षा मंत्री।


एमडीएम का राशन और कन्वर्जन कास्ट पहुंचे बच्चों के पास

फतेहपुर : कोविड-19 को लेकर शिक्षण संस्थानों में तालाबंदी का एलान कर दिया गया था। इसके चलते स्कूलों में छुट्टी चल रही| है मौजूदा समय में तमाम स्कूल क्वारंटाइन सेंटर बने हुए हैं। ऐसी दशा में बच्चों का स्कूल आना 55 दिनों से बंद है। शासन ने निर्णय लिया है कि स्कूल बंदी की अवधि में बच्चों को उनका हक दिया जाएगा। जिले के 2750 परिषदीय, 72 शक्ति, 45 राजकीय स्कूल, 6 मदरसों में मध्याह्न भोजन योजना चल ही है। योजना | में 2 लाख 65 हजार 456 बच्चे पंजीकृत हैं। शिक्षण संस्थानों में तालाबंदी के चलते भोजन बंद चल रहा है। बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा है कि तालाबंदी अवधि का राशन और कन्वर्जन कास्ट बच्चों तक पहुंचाई जाएगी। इस आदेश से जिले के शिक्षण संस्थानों में कक्षा 8 तक अध्ययनरत बालक-बालिकाओं को इस लाभ से लाभान्वित किया जाना है। स्थानीय स्तर पर वितरण का खाका बनाया जा रहा है। प्रति विद्यालय पंजीकृत छात्रों की संख्या का डाटा प्रधानाध्यापक वर्क फ्रामहोम से तैयार करने में जुटे हुए हैं। बीएसएफ शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि वितरण की गाइड | लाइन का इंतजार किया जा रहा है।


............



फतेहपुर : अभिभावकों के खातों में जाएगी अप्रैल मई की एमडीएम की कनवर्जन कास्ट, विद्यालयों में ऑनलाइन पंजीकरण का बनेगा खाका, निर्देश जारी।



फतेहपुर : अभिभावकों के खातों में जाएगी अप्रैल मई की एमडीएम की कनवर्जन कास्ट, विद्यालयों में ऑनलाइन पंजीकरण का बनेगा खाका,  निर्देश जारी

' रसोइयों को मिलेगा 10 माह का ही मानदेय

' विद्यालयों में आनलाइन पंजीकरण का बनेगा खाका


ऑनलाइन पंजीकरण पर दें जोर

बीएसए ने सभी एबीएसए को निर्देश दिया है कि लॉक डाउन के कारण बंद चल रहे विद्यालयों को लेकर सभी प्रधानाध्यापक अपने विद्यालयों में आन लाइन प्रवेश फॉर्म विकसित कर ले और लिंक के माध्यम से बच्चों के नामांकन कराएं। सभी विद्यालयों में रंगाई पुताई, लिखाई और जिन स्कूलों में ब्लैक बोर्ड न हो अथवा क्षतिग्रस्त हो, वह सभी 20 मई तक पूरा कराने के लिए कहा गया है।


फतेहपुर : कोरोना वायरस को लेकर बंद चल रहे परिषदीय विद्यालयों में अप्रैल और मई माह में मध्यान्ह भोजन के लिए विभाग खाद्यान्न उपलब्ध कराएगा और उसकी कनवर्जन कास्ट अभिभावकों के खातों में भेजी जाएगी। बीएसए ने कई बिंदुओं पर सभी खंड शिक्षाधिकारियों एवं समन्वयकों को दिशा निर्देश जारी किया है।


समाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए बीएसए शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंन बताया कि सभी रसोइयों को केवल 10 माह का मानदेय ही दिया जाएगा। अप्रैल और मई में मिड डे मील का खाद्यान्न छात्रों के विभाग से दिया जाएगा। कंवर्जन कॉस्ट अभिभावको के खातों में भेजी जाएगी। सभी प्रधानाध्यापक/इंचार्ज अभिभावकों के बैंक खाते समेत अन्य जानकारियां लेकर सूची बनाई जाएगी। आपरेशन कायाकल्प में 18 बिन्दुओं पर जो कार्य शेष हैं उनकी विद्यालयवार फाइनल सूची तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा नि:शुल्क ड्रेस वितरण की तैयारी पूरी की जाए।

ऑनलाइन प्रशिक्षण में करें प्रतिभाग: बीएसए ने बताया कि दीक्षा एप के माध्यम से मिशन प्रेरणा ई-पाठशाला में सभी शिक्षकों का आनलाइन प्रशिक्षण चल रहा है, उसमें सभी शिक्षक अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करें। इसमें कोई भी शिक्षक लापरवाही न करें।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, October 1, 2019

फतेहपुर : मध्यान्ह भोजन योजनांतर्गत विद्यालयों हेतु पूर्व प्रेषित की गयी कन्वर्जन कास्ट एवं फल सम्बन्धी धनराशि एवं खाद्यान को समायोजित करते हुए आगामी माहों के लिए अग्रिम रूप से मांग पत्र उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : मध्यान्ह भोजन योजनांतर्गत विद्यालयों हेतु पूर्व प्रेषित की गयी कन्वर्जन कास्ट एवं फल सम्बन्धी धनराशि एवं खाद्यान को समायोजित करते हुए आगामी माहों के लिए अग्रिम रूप से मांग पत्र उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, August 20, 2019

फतेहपुर : मध्यान्ह भोजन कन्वर्जन कास्ट भेजने की व्यवस्था में हुआ बदलाव, यूपीएस में भेजी गई धनराशि, विलय के बाद प्राथमिक विद्यालयों के खातों में धन भेजने की मनाही

फतेहपुर : मध्यान्ह भोजन कन्वर्जन कास्ट में बदलाव, यूपीएस में भेजी गई धनराशि, विलय के बाद प्राथमिक विद्यालयों के खातों में धन भेजने की मनाही।

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : प्राथमिक विद्यालयों का उच्च प्राथमिक विद्यालयों (यूपीएस) में विलय करने के बाद मध्याह्न भोजन की कन्वर्जन कास्ट भेजने की नई व्यवस्था लागू की गई है। प्राथमिक विद्यालयों में कन्वर्जन कास्ट न भेजने की नवीन व्यवस्था में डीएम ने अनुमोदन की मुहर लगा दी है। डीएम के आदेश के बाद बीएसए ने विलय के सभी उच्च प्राथमिक विद्यालयों में यह राशि भेज दी है।
मध्याह्न भोजन के तहत प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और इंटर कॉलेजों में कक्षा 8 तक के छात्र-छात्रओं को दोपहर का गर्मागर्म भोजन एमडीएम परोसे जाने की व्यवस्था है। इस व्यवस्था में शासन का प्रतिमाह 90 लाख रुपया खर्च होता है। प्राथमिक विद्यालयों के विलय के बाद एक ही विद्यालय के दो बैंक खातों के संचालन को लेकर उहापोह मची हुई थी। विलय की नई व्यवस्था के तहत अब उच्च प्राथमिक विद्यालयों में ही कन्वर्जन कास्ट भेजने का निर्देश है। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि नई व्यवस्था के तहत विलय के बाद उच्च प्राथमिक विद्यालयों में धनराशि भेज दी गई है। प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और इंटर कॉलेजों में सितंबर माह तक की कन्वर्जन कास्ट भेजी गई है।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, July 18, 2019

कुशीनगर : मिड डे मील की परिवर्तन लागत में वृद्धि का उपभोग 1 जुलाई 2019 से किये जाने संबंधी आदेश जारी, देखें

कुशीनगर : मिड डे मील की परिवर्तन लागत में वृद्धि का उपभोग 1 जुलाई 2019 से किये जाने संबंधी आदेश जारी, देखें।

Wednesday, July 10, 2019

फतेहपुर : एमडीएम में बढ़ी कन्वर्जन कास्ट एक जुलाई से लागू, बीएसए ने खण्ड शिक्षाधिकारियों को नई दरों के आधार पर मध्यान्ह भोजन बनवाने के दिए निर्देश

फतेहपुर : एमडीएम में बढ़ी कन्वर्जन कास्ट एक जुलाई से लागू, बीएसए ने खण्ड शिक्षाधिकारियों को नई दरों के आधार पर मध्यान्ह भोजन बनवाने के दिए निर्देश।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।