DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, December 5, 2019

उच्च शिक्षा विभाग कम से कम हर मंडल में एक क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी की तैनाती को लेकर गंभीर



उच्च शिक्षा विभाग कम से कम हर मंडल में एक क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी की तैनाती को लेकर गंभीर


December 05, 2019  
राज्य ब्यूरो, लखनऊ : अब हर मंडल में क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात किए जाएंगे। यही नहीं इन्हें वाहन सहित पर्याप्त सुविधाएं देने की भी तैयारी की जा रही है। अभी सिर्फ आठ जिलों में ही क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात हैं। ऐसे में न तो कॉलेजों का ढंग से निरीक्षण हो पा रहा है और न ही कोचिंग संस्थानों की जांच हो पा रही है। यही नहीं बिना पंजीकरण के चल रही कोचिंग संस्थानों पर शिकंजा नहीं कस पा रहा है। ऐसे में कम से कम एक मंडल में एक क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात करने पर मंथन किया जा रहा है।


अभी जिन आठ जिलों में क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी कार्यरत हैं उनमें लखनऊ, आगरा, बरेली, झांसी, गोरखपुर, वाराणसी, कानपुर व मेरठ शामिल है। एक-एक क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारियों के पास कई-कई जिलों का काम होने के कारण ढंग से जांच नहीं हो पा रही। बीते दिनों उच्च शिक्षा राज्यमंत्री नीलिमा कटियार द्वारा अधिकारियों की बुलाई गई बैठक में भी यह मुद्दा जोर-शोर से उठाया गया था। निजी विश्वविद्यालयों के लिए अंब्रेला एक्ट बनने के बाद इनकी संख्या भी दोगुने के लगभग होने जा रही है। अभी 27 निजी विश्वविद्यालय हैं और इतने ही मान्यता लेने की कतार में हैं। वहीं निजी डिग्री कॉलेज व कोचिंग संस्थान भी तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में अब उच्च शिक्षा विभाग कम से कम हर मंडल में एक क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी की तैनाती को लेकर गंभीर है।

’>>अभी सिर्फ आठ जिलों में ही तैनात हैं क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी

’>>कॉलेजों के निरीक्षण व कोचिंग संस्थानों की नहीं हो पा रही जांच 

No comments:
Write comments