DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label केंद्रीय विद्यालय. Show all posts
Showing posts with label केंद्रीय विद्यालय. Show all posts

Sunday, July 12, 2020

इसी सत्र से केवी और नवोदय में ओबीसी आरक्षण का मिलेगा लाभ

इसी सत्र से केवी और नवोदय में ओबीसी आरक्षण का मिलेगा लाभ

केंद्रीय विद्यालय में पहली और नवोदय में छठी कक्षा के छात्रों को मिलेगा फायदा


नई दिल्ली। केंद्रीय विद्यालय संगठन और नवोदय विद्यालय समिति के स्कूलों में भी 2020 सत्र से दाखिले में ओबीसी आरक्षण का लाभ मिलेगा। सरकार ने केंद्र सरकार के दोनों शिक्षण संस्थानों में दाखिले में ओबीसी नियमों को लागू करने की मंजूरी दे दी है। पहली कक्षा से आरक्षण का लाभ मिलेगा। 


वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, केंद्रीय विद्यालय संगठन के स्कूलों में जल्द ही पहली कक्षा में दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन विंडो ओपन होने जा रही है। इसी के तहत पहली कक्षा में दाखिले के दौरान ओबीसी आरक्षण के तहत दाखिले में लाभ मिलेगा। 13 जुलाई को देश के सभी केंद्रीय विद्यालय स्कूलों की ऑनलाइन बैठक भी बुलाई गई है। इसमें नए दाखिला नियमों के साथ-साथ सभी को अपने सॉफ्टवेयर में भी बदलाव करना होगा।


 इसी के साथ नवोदय स्कूलों में भी इस आरक्षण के तहत इस साल से छठी कक्षा से छात्रों को पूरा लाभ मिलेगा। 2017 में पहली बार इन स्कूलों में आरक्षण की मांग उठी थी। इसी के तहत तीन महीने पहले ही इसका खाका तैयार किया गया था।

Monday, July 6, 2020

केंद्रीय विद्यालयों में प्रोजेक्ट के माध्यम से छात्रों का मूल्यांकन होगा, 20 जुलाई तक नतीजे

केंद्रीय विद्यालयों में प्रोजेक्ट के माध्यम से छात्रों का मूल्यांकन होगा, 20 जुलाई तक नतीजे


केन्द्रीय विद्यालय संगठन ने अपने छात्रों का मूल्यांकन लिखित परीक्षा कराने के स्थान पर प्रोजेक्ट के माध्यम से करने का फैसला लिया है। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 9वीं और 11वीं फेल छात्रों को स्कूल स्तर पर सप्लीमेंट्री परीक्षा के माध्यम से एक और मौका देने के सुझाव पर यह कदम उठाया गया है। इसके तहत, सभी इच्छुक फेल छात्रों को प्रोजेक्ट तैयार करना होगा। शिक्षक उसका मूल्यांकन के अंक देंगे। संगठन ने नतीजे जारी करने के लिए 20 जुलाई तक का समय दिया है। संगठन ने साफ किया है कि इस प्रोजेक्ट के नतीजों के आधार पर ही 9वीं और 11वीं में फेल छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट किया जा सकेगा। संगठन की संयुक्त कमिश्नर पिया ठाकुर ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं।


पाठ्यक्रम के आधार पर तय होगा टॉपिक

9वीं व 11वीं कक्षा की सप्लीमेंट्री परीक्षा देने के इच्छुक छात्रों को शिक्षक परिणाम आधारित अच्छा प्रोजेक्ट वर्क देंगे। इनके टॉपिक पाठ्यक्रम में से ही दिए जाएंगे। प्रोजेक्ट वर्क का उद्देश्य छात्रों की कॉन्सेप्ट को समझने का क्षम मूल्यांकन करना है। छात्रों व 9/14 तैयार करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया जाएगा। प्रोजेक्ट ऑनलाइन जमा कराना होगा। संगठन ने साफ किया है कि यह प्रोजेक्ट वर्क छात्रों को स्वतंत्र रूप से पूरा करना होगा। संबंधित शिक्षकों को छात्र से बात करने और उसके बारे में पूछने की छूट दी गई है।

Monday, June 22, 2020

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली समेत देश भर में अब 30 जून तक बन्द रहेंगे केंद्रीय विद्यालय

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली समेत देश भर में अब 30 जून तक बन्द रहेंगे केंद्रीय विद्यालय।


अब 30 जून तक बंद रहेंगे केंद्रीय विद्यालय।


नई दिल्ली : दिल्ली सहित देश भर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्रीय विद्यालय संगठन ( केवीएस) ने अपने स्कूलों की छुट्टियां बढ़ा दी है।ये स्कूल अब 30 जून तक बंद रहेंगे। हालांकि ऑनलाइन पढ़ाई 22 जून से ही शुरू हो जाएगी। केंद्रीय विद्यालयों में 19 जून तक गर्मी की छुट्टियां थीं, जिसके बाद झन स्कूलों को 22 जून से खुलना था। इससे पहले ही केवीएस ने यह फैसला लिया है।





स्कूलों को अभी न खोलने को लेकर अभिभावकों की ओर से भी लगातार माग की जा रही है। इस बीच केंद्रीय विद्यालय संगठन ने अभिभावकों और छात्रों को मैसेज भेज कर स्कूलों के 30 जून तक बंद होने की जानकारी दी है। साथ ही छात्रों से ऑनलाइन पढ़ाई के लिए तैयार रहने के लिए भी कहा है। केवीएस का इस दौरान सबसे ज्यादा फोकस दसवीं और बारहवीं के उन छात्रों को लेकर है जिनकी अगले साल यानी फरवरी-मार्च 2021 में बोर्ड की परीक्षाएं होनी है। ऐसे में इन सभी छात्रों को पढ़ाने को लेकर संगठन की काफी जोर-शोर से तैयारी चल रही है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, June 17, 2020

केंद्रीय विद्यालयों में 20 जून के बाद शुरू हो सकती है एडमिशन प्रक्रिया KVS admission 2020

केंद्रीय विद्यालयों में 20 जून के बाद शुरू हो सकती है एडमिशन प्रक्रिया 



लॉकडाउन के चलते केंद्रीय विद्यालयों में प्रवेश की लटकी प्रक्रिया 20 जून के बाद शुरू हो सकती है। फिलहाल इसे लेकर तेजी से तैयारी चल रही है। यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन ही होगी। जिसमें आवेदन के दौरान मोबाइल नंबर देना जरूरी होगा ताकि आवेदन से जुड़ी प्रगति की जानकारी उन्हें समय-समय पर दी जा सके। प्रवेश मिलने की सूचना भी मोबाइल पर ही दी जाएगी।


 वैसे भी केंद्रीय विद्यालयों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पिछले कई सालों से चल रही है। साइबर कैफे आदि के खुलने के बाद अभिभावकों के ऑनलाइन आवेदन में भी आसानी होगी। फिलहाल केंद्रीय विद्यालय संगठन को इसे लेकर मंत्रालय की मंजूरी का इंतजार है।

Sunday, May 17, 2020

KVS : कोरोना के चलते पढ़ाई ही नहीं अब प्रैक्टिकल भी होगा ऑनलाइन, वर्चुअल प्रैक्टिकल का बनाया प्लान

KVS : कोरोना के चलते पढ़ाई ही नहीं अब प्रैक्टिकल भी होगा ऑनलाइन, वर्चुअल प्रैक्टिकल का बनाया प्लान।



केंद्रीय विद्यालय संगठन ने कहा- कोरोना के चलते पढ़ाई ही नहीं अब प्रैक्टिकल भी ऑनलाइन होगा

देश भर के अपने रीजनल सेंटरों को लिखे पत्र में केंद्रीय विद्यालय संगठन ने कहा है कि जरुरत पड़ने पर शिक्षकों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जाए।...

नई दिल्ली : कोरोना के खतरे को देखते हुए घरों में बैठे बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूलों ने भले ही आनलाइन तरीका ढूंढ लिया था, लेकिन उसके सामने प्रैक्टिकल जैसी गतिविधियों को जारी रखने की एक चुनौती बनी हुई थी। स्कूलों ने अब इसका रास्ता भी निकाल लिया है। केंद्रीय विद्यालय संगठन ने इसे लेकर एक बड़ी पहल की है। इसके तहत घर बैठे छात्रों को अब वर्चुअल तरीके से प्रैक्टिकल कराया जाएगा। इसका पूरा प्लान तैयार कर लिया गया है। इसे जल्द ही संगठन से जुड़े देश भर के स्कूलों में आजमाया जाएगा।

केंद्रीय विद्यालय संगठन ने ऑनलाइन लैब नामक एप प्रस्तावित किया


केंद्रीय विद्यालय संगठन ने इसे लेकर अपने सभी रीजनल सेंटरों को निर्देश भी जारी किए है। जिसके तहत शिक्षकों को वर्चुअल प्रैक्टिकल कराने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा है। इसके लिए संगठन ने ओ-लैब (ऑनलाइन लैब) नाम से एक एप को सुझाया है। जिससे छात्रों को जोड़कर वह प्रैक्टिकल से जुड़ी गतिविधियों को संचालित कर सकते है।

घर बैठे ही प्रैक्टिकल से जुड़ी अपनी फाइल आदि भी तैयार सकेंगे


संगठन से जुडे एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक यह सही है कि वर्चुअल तरीके से छात्रों को वह सारा कुछ नहीं बताया जा सकता है, जो वह लैब में आकर सीखते है, लेकिन इससे उन्हें किसी प्रयोग को कैसे करना उसके बारे में जानकारी दी जा सकती है। साथ ही वैसा करते हुए दिखाया भी जा सकता है। इसका फायदा यह होगा, कि स्कूलों के खुलने के बाद जब भी वह लैब में आएंगे, तो उन्हें उन सारी चीजों के बारे में पहले से पता होगा। जो अब तक उन्हें लैब में आने पर ही बताया जाता था। इससे छात्रों का समय बचेगा। साथ ही वह घर बैठे ही प्रैक्टिकल से जुड़ी अपनी फाइल आदि भी तैयार सकेंगे।

केंद्रीय विद्यालय संगठन ने कहा- शिक्षकों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जाएगा

देश भर के अपने रीजनल सेंटरों को लिखे पत्र में केंद्रीय विद्यालय संगठन ने कहा है कि जरुरत पड़ने पर शिक्षकों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जाए। संगठन के मुताबिक इस एप का ट्रायल ले लिया है। जो मौजूदा परिस्थितियों के लिहाज से काफी उपयुक्त है। ऐसे में शिक्षा के सामने खड़ी हुई इस चुनौती से निपटने का भी रास्ता खोल लिया गया है।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, May 6, 2020

KVS : 7 मई से शुरू हो रही ऑनलाइन कक्षाएं, देखें शेड्यूल

KVS : 7 मई से शुरू हो रही ऑनलाइन कक्षाएं, देखें शेड्यूल।


KVS : 7 मई से शुरू हो रही हैं ऑनलाइन क्लास,  चेक करें शेड्यूल

Wed, 06 May 2020

केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) केवीएस ने ऑनलाइन कक्षाओं का शेड्यूल तय कर दिया गया है। इसके मुताबिक 7 मई से 17 मई तक सेकेंड्री और सीनियर सेकेंड्री स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन क्लासेज आयोजित की जाएंगी। केवीएस ने विषयवार डिटेल जारी की है। इस संबंध में केंद्रीय विद्यालय ने टि्वटर पर जानकारी दी है। ऐसे में इन क्लासेज में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स ट्वीटर पर जाकर पूरी डिटेल चेक कर सकते हैं। टि्वटर पर मौजूद जानकारी के अनुसार केंद्रीय विद्यालय 7 मई से 17 मई तक ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित की जाएंगी। ये कक्षाएं एनआईओएस द्वारा स्वयंप्रभा पोर्टल पर संचालित की जाएंगी। इस दौरान स्टूडेंट्स स्काइप और लाइव वेब-चैट के माध्यम से उनसे अपने सवाल भी पूछ सकते हैं।



— Kendriya Vidyalaya Sangathan (@KVS_HQ) May 6, 2020

बता दें कि केंद्रीय विद्यालय संगठन के तमाम शिक्षक कोविड-19 वैश्विक महामारी में लॉकडाउन को देखते हुए स्वयं आगे आए हैं। उन्होंने अपने स्टूडेंट्स के साथ डिजिटल मंचों के माध्यम से संपर्क बनाया है, ताकि पढ़ाई का बहुमूल्य समय बचाया जा सके और इस समय का सही उपयोग किया जा सके। उन्हें पढ़ाया जा सके।

केवीएस ने अप्रैल के पहले सप्ताह में ऑनलाइन कक्षाओं की शुरुआत कर दी गई थी।


केवीएस के अलावा देश भर में ऑनलाइन माध्यम से स्टूडेंट्स को पढ़ाने की कोशिशें हो रही हैं। इसके तहत हाल ही में दिल्ली सरकार ने तो दूरदर्शन और एआईआर यानी कि ऑल इंडिया रेडियो से 3 घंटे पढ़ाई के लिए मांगे थे, जिससे स्टूडेंट्स की पढ़ाई के नुकसान को रोका जा सके। वहीं देश के कई राज्यों में पहले ही रीजनल चैनल और यूट्यूब के माध्यम से स्टूडेंट्स को पढ़ाया जा रहा है। हालांकि इंटरनेट की कनेक्टविटी बेहतर नहीं होने की वजह से समस्याओं का भी सामना करना पड़ रहा है।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।