DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, January 29, 2017

प्रतापगढ़ : बच्चों में कृमि संक्रमण रोकने को चलेगा अभियान एक से 19 वर्ष के दस लाख बच्चों को खिलाई जाएगी एल्बेंडाजोल, मिलेगी 100 रूपये की दर से प्रोत्साहन राशि

प्रतापगढ़ : राष्ट्रीय डी-वार्मिंग दिवस के दिन 28 फरवरी आशा बहुएं छह से उन्नीस वर्ष की आयु स्कूल से अनुपस्थित एवं स्कूल न आने वाले बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाएंगी। इसके साथ ही आंगनबाड़ी केंद्रों पर 1-6 वर्ष के बच्चों को भी एल्बेंडाजोल गोली खिलाई जाएगी। इसके लिए उन्हें 100 रुपये प्रति आशा की दर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

खून की कमी, हीमोग्लोबिन कम होने से होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सूबे के प्रतापगढ़ सहित 57 जिलों में अभियान चलाया जाएगा। यह अभियान दो चरणों में चलेगा। प्रथम चरण में 44 जनपदों एवं द्वितीय चरण में 13 जनपदों में चलाया जाएगा। 28 फरवरी को जिले के एक से उन्नीस वर्ष की आयु के लगभग दस लाख बच्चों को एक ही दिन में अल्बेंडाजोल की गोली खिलाकर कृमि संक्रमण रोका जाएगा। नेशनल डी-वार्मिंग डे के अंतर्गत शासन ने आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, प्राइमरी व जूनियर हाईस्कूल के शिक्षकों के सहयोग से पूरे जिले में एक साथ एक ही दिन में उक्त अभियान चलाने को कहा है। बताते चलें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार पेट में कीड़े होना विश्वव्यापी पब्लिक हेल्थ समस्या है। बच्चों में कृमि संक्रमण से जहां एक ओर बच्चों का शारीरिक एवं बौद्धिक विकास बाधित होता है वहीं दूसरी ओर उनके पोषण एवं हीमोग्लोबिन स्तर पर भी दुष्प्रभाव पड़ता है। कृमि संक्रमण की रोकथाम के लिए एक से उन्नीस वर्ष तक की आयु के बच्चों को पेट के कीड़ों की दवा एल्बेंडाजोल टैबलेट की व्यवस्था भारत सरकार द्वारा की गई है।

शासन का निर्देश मिलने के बाद जनपद स्तर पर राष्ट्रीय डे-वार्मिग डे के लिए स्वास्थ्य विभाग, आइसीडीएस, शिक्षा विभाग (माध्यमिक एवं बेसिक), पंचायती राज विभाग के साथ ही जनपदस्तरीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करने की तैयारी शुरू कर दी है। जनपद स्तर पर ब्लाक अधिकारियों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं एचइओ द्वारा एएनएम व आशा को प्रशिक्षित किया जाएगा। सीडीपीओ द्वारा आंगनबाड़ी एवं मुख्य सेविकाओं को प्रभारी चिकित्साधिकारी के सहयोग से तथा शिक्षकों को एबीएसए व बीआरसी द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा।

जिले के एक से 19 वर्ष की आयु के लगभग दस लाख बच्चों को 28 फरवरी को अभियान चलाकर एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी। इसमें आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी के साथ ही शिक्षकों को सहयोग लिया जाएगा। डॉ. उमाकांत पांडेय, सीएमओ प्रतापगढ़

No comments:
Write comments