DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, August 30, 2020

विश्वविद्यालय व डिग्रीकॉलेजों में इस बार बढ़ेंगी ज्यादा सीटें, विश्वविद्यालय जितनी भी सीटें बढ़ने का भेजेंगे प्रस्ताव, मिलेगी मंजूरी - उप मुख्यमंत्री

विश्वविद्यालय व डिग्रीकॉलेजों में इस बार बढ़ेंगी ज्यादा सीटें, विश्वविद्यालय जितनी भी सीटें बढ़ने का भेजेंगे प्रस्ताव, मिलेगी मंजूरी - उप मुख्यमंत्री।


कोरोना के कारण दूसरे राज्य में पढ़ने नहीं जा हे सूबे के विद्यार्थी

कोरोना महामारी के कारण इस बार दूसरे राज्यों में उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए बहुत कम विद्यार्थी जा रहे हैं। वहीं इस वर्ष इंटरमीडिएट का रिजल्ट भी काफी अच्छा गया है। ऐसे में यूपी के विश्वविद्यालयों व डिग्री कॉलेजों में बीते सालों के मुकाबले दो से तीन गुने तक फार्म आए हैं। एक-एक सीट पर दाखिले के लिए जबरदस्त मुकाबला है, मगर उच्च शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों को राहत देने का फैसला किया है। हर साल करीब 33 फीसद तक सीटें बढ़ती है मगर इस बार  बीते वर्षों के मुकाबले स्नातक व परास्नातक कोर्सेज में कहीं ज्यादा सीटें बढ़ाई जाएंगी।




उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा का कहना है कि विश्वविद्यालय जितनी भी सीटें बढ़ाने का प्रस्ताव भेजेंगे उन्हें महामारी को देखते हुए मंजूर कर दिया जाएगा। ताकि विद्यार्थियों को आसानी से दाखिला मिल सके। यूपी में 16 राज्य विश्वविद्यालय, 27 निजी विश्वविद्यालय, को डीम्ड विश्वविद्यालय व एक मुक्त विश्वविद्यालय है। वहीं 170 राजकीय डिग्री कॉलेज, 331 एडेड डिग्री कॉलेज व 6682 सेल्फ फाइनेंस डिग्री कॉलेज हैं। यहां स्नातक की करीब नौ लाख सीटें और परास्नातक की दो लाख सीटें हैं।

इंटरमीडिएट यूपी बोर्ड में ही करीब 18.54 लाख विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं, इसके अलावा अन्य बोर्ड के  विद्यार्थी भी शामिल हैं। फिलहाल  बीए, बीएससी व बीकॉम की हर साल करीब 33 फीसद तक सीटें बढ़ाई जाती रहेंगी लेकिन इस बार जरूरत के अनुसार 50%या इससे भी अधिक सीटें बढ़ाई जाएंगी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments