DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label अटेवा. Show all posts
Showing posts with label अटेवा. Show all posts

Monday, August 26, 2019

पुरानी पेंशन बहाली को देशव्यापी आंदोलन, सात दिसंबर से मैं तुम्हे खून दूंगा, तुम मुझे पेंशन दो कार्यक्रम की शुरुआत


पुरानी पेंशन बहाली को देशव्यापी आंदोलन, सात दिसंबर से मैं तुम्हे खून दूंगा, तुम मुझे पेंशन दो कार्यक्रम की शुरुआत







Monday, June 24, 2019

पुरानी पेंशन बहाली तक लड़ेंगे 60 लाख शिक्षक और कर्मचारी, संसद में पुरानी पेंशन का मुद्दा उठाने के लिए भरी हुंकार


पुरानी पेंशन बहाली तक लड़ेंगे 60 लाख शिक्षक और कर्मचारी, संसद में पुरानी पेंशन का मुद्दा उठाने के लिए भरी हुंकार। 










Monday, November 5, 2018

पुरानी पेंशन बहाली हेतु 26 नवंबर को अटेवा का संसद मार्च, अटेवा की बैठक में शिक्षकों व कर्मचारियों से कार्यक्रम को सफल बनाने का किया गया आवाहन

पुरानी पेंशन बहाली हेतु 26 नवंबर को अटेवा का संसद मार्च, अटेवा की बैठक में शिक्षकों व कर्मचारियों से कार्यक्रम को सफल बनाने का किया गया आवाहन

Monday, October 29, 2018

महराजगंज : अटेवा पेंशन बचाओ मंच के बैनर तले शिक्षक व कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए सांसद आवास पर प्रदर्शन करते हुए रखा उपवास, सांसद ने सहानुभूतिपूर्वक विचार कर पुरानी पेंशन बहाली हेतु प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

महराजगंज : अटेवा पेंशन बचाओ मंच के बैनर तले शिक्षकों व कर्मचारियों ने सांसद पंकज चौधरी के आवास के सामने रविवार को नारेबाजी के बीच प्रदर्शन किया और दिन भर उपवास पर बैठे रहे। कहा कि पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए सभी शिक्षकों व कर्मचारियों ने कमर कस ली है। अब यह जंग सड़क से लेकर संसद तक होगी।  मंच के जिलाध्यक्ष राजेश जायसवाल व महामंत्री टीपी सिंह ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर कर्मचारी व शिक्षक अपने हक व अधिकार के लिए सड़क पर उतरे हैं। अब तो पुरानी पेंशन योजना की बहाली होने तक आंदोलन चलेगा। आगामी 26 नवंबर को देश के सभी जिलों के शिक्षक व कर्मचारी संसद भवन का घेराव करेंगे और प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंप कर पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग करेंगे। जिला संरक्षक महेंद्र वर्मा व प्रवक्ता आदित्यनाथ शुक्ल ने कहा कि अब कदम पीछे हटने वाले नहीं हैं क्योंकि हम सब आर-पार की लड़ाई का मूड बना चुके हैं। इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष देवेश पांडेय, मंत्री जगदंबा सिंह, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष श्रीभागवत सिंह, अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के सचिव संजय मिश्र, बलराम निगम, कमलेश सिंह, डा. शांति शरण मिश्र, सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष प्रद्युम्न सिंह, चिकित्सक संघ के अध्यक्ष डा.एके राय, जल निगम संघ के अध्यक्ष अजीत सिंह, विजय यादव, शिव प्रताप सिंह, रमेष निषाद, लवकुश वर्मा, अभिनव पटेल, प्रयाग नाथ मिश्र, मदन गुप्त, राजेश गौड़, शक्ति शरण पाठक, राजेश शर्मा, मनोज कुमार आदि ने विचार व्यक्त किया। उपवास के बाद पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सांसद को सौंपा।




अटेवा ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर देशभर के सांसदों के घर के बाहर किया उपवास रखने का दावा, पुरानी पेंशन बहाली के लिए रथयात्रा आज से

अटेवा ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर देशभर के सांसदों के घर के बाहर किया उपवास रखने का दावा, पुरानी पेंशन बहाली के लिए रथयात्रा आज से


Sunday, April 29, 2018

30 अप्रैल को नई दिल्ली में  पुरानी पेंशन बचाने के लिए होगी शिक्षक-कर्मियों की हुंकार, ऑल टीचर इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन यानि अटेवा पेंशन बचाओ मंच उप्र की मुहिम अब हुई देशव्यापी

इलाहाबाद : ऑल टीचर इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन यानि अटेवा पेंशन बचाओ मंच उप्र की मुहिम अब देशव्यापी हो गई है। प्रांतीय नेताओं ने शनिवार को इलाहाबाद में एलान किया कि सरकार शिक्षक व कर्मचारियों को पुरानी पेंशन बहाल करे, वरना चुनाव का बहिष्कार करेंगे। यह भी कहा कि केंद्र व राज्य सरकारों ने न्यू पेंशन स्कीम जबरन थोपा है, यह किसी के हित में नहीं है। इस मांग को लेकर देशभर के 53 संगठन 30 अप्रैल को दिल्ली के रामलीला मैदान पर प्रदर्शन कर रहे हैं। 




मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. हरि प्रकाश यादव ने कहा कि जब एक सांसद या विधायक एक दिन की शपथ लेने के बाद पेंशन का हकदार हो जाता है तो अपने जीवन के स्वर्णिम दिनों में नौकरी करने वालों को पेंशन क्यों नहीं मिलनी चाहिए? बोले, पेंशन सिर्फ चंद धनराशि नहीं है, बल्कि साठ वर्ष तक सेवा देने वालों की बुढ़ापे की लाठी है। इसे सरकार ने 11 वर्ष पहले जबरन बंद कर दिया है। 




अटेवा ने इस मांग को लेकर पिछले तीन वर्षो में प्रदेश भर में आंदोलन करके बड़ी संख्या में शिक्षकों व कर्मचारियों को जोड़कर बड़ी लड़ाई छेड़ी है और अब इसे लेकर रहेंगे। इस आंदोलन में एक शिक्षक साथी की मौत हो चुकी है, उसकी शहादत यूं ही जाया नहीं होने देंगे। अब देशव्यापी आंदोलन शुरू करने के जा रहे हैं।