DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label देवरिया. Show all posts
Showing posts with label देवरिया. Show all posts

Wednesday, February 3, 2021

देवरिया के वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक) के खिलाफ जमानती वारंट

देवरिया के वित्त एवं लेखाधिकारी  (बेसिक) के खिलाफ जमानती वारंट


प्रयागराज : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने देवरिया बीएसए कार्यालय के वित्त-लेखाधिकारी जगदीश लाल श्रीवास्तव के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया है। कोर्ट ने यह आदेश अवमानना आरोप निर्मित करने के लिए बुलाए जाने पर कोई प्रतिक्रिया न देने पर दिया है।


Thursday, January 28, 2021

देवरिया : अंतर्जनपदीय स्थानांतरण अंतर्गत कार्यमुक्ति संबंधी विज्ञप्ति, दिशा निर्देश व अधिकृत प्रपत्र जारी

देवरिया  : अंतर्जनपदीय स्थानांतरण अंतर्गत कार्यमुक्ति संबंधी विज्ञप्ति, दिशा निर्देश व अधिकृत प्रपत्र जारी


Tuesday, January 26, 2021

देवरिया : 69000 शिक्षक भर्ती के सापेक्ष नवनियुक्त शिक्षकों के स्कूल आवंटन हेतु आदेश / विज्ञप्ति जारी

देवरिया :  69000 शिक्षक भर्ती के सापेक्ष नवनियुक्त शिक्षकों के स्कूल आवंटन हेतु आदेश / विज्ञप्ति जारी




Thursday, September 10, 2020

देवरिया : स्‍कूल खुलने का इंतजार किए बगैर प्रधानाध्‍यापक ने शुरू करा दी पढ़ाई, सस्‍पेंड

देवरिया:स्‍कूल खुलने का इंतजार किए बगैर प्रधानाध्‍यापक ने शुरू करा दी पढ़ाई, सस्‍पेंड 

कोरोना संक्रमण के चलते स्‍कूलों की बंदी अभी जारी है लेकिन देवरिया के एक प्रधानाध्‍यापक ने बच्‍चों को बुलाकर पढ़ाई शुरू करा दी। प्रधानाध्‍यापक को सस्‍पेंड कर दिया गया है। उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है। बीईओ ने प्रधानाध्यापक के निलंबन की संस्तुति के साथ ही सहायक अध्यापक और शिक्षामित्र को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।
देवरिया के देसही क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय शामपुर में कोविड-19 में प्रतिबंध के बावजूद बच्चों को बुलाकर पढ़ाने का फोटो वायरल हो गया। जानकारी होने पर खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) ज्ञानचंद्र मिश्र ने बुधवार को विद्यालय का निरीक्षण किया। 12:48 मिनट पर विद्यालय का गेट बंद मिला। मौके पर मिले ग्रामीणों से बीईओ ने पूछताछ की तो स्कूल में बच्‍चों को बुला कर कक्षाएं चलाने का मामला सही पाया गया। एक ग्रामीण ने बताया कि उसके घर के पांच बच्चे पढ़ने आते हैं, जिसमें से तीन बच्चे बुधवार को भी स्कूल गए थे लेकिन एमडीएम का भोजन नहीं मिलता है।


इस पर बीईओ ने प्रधानाध्यापक को फोन कर मौके पर बुलाया। विद्यालय खुलने के बाद उपस्थिति पंजिका के निरीक्षण में विद्यालय से जाने के समय का हस्ताक्षर बना पाया गया। गांववालों ने बताया कि विद्यालय 11:30 बजे तक खुलता है। बीईओ के सवाल पर प्रधानाध्यापक प्रतिबंध के बावजूद बच्चों को बुलाकर पढ़ाने का स्पष्ट कारण नहीं दे सके। सहायक अध्यापक ने खंड शिक्षा अधिकारी से कहा कि बच्‍चों को प्रधानाध्यापक बुलाते हैं। बीईओ ने प्रतिबंध में बच्चों को बुलाने और विद्यालय की उपस्थिति पंजिका में अग्रिम हस्ताक्षर बनाने के आरोप में प्रधानाध्यापक जुल्फेकार खां को निलंबित करने की संस्‍तुति की। इसके साथ ही सहायक अध्‍यापक और शिक्षामित्र जमीर आलम सिद्दिकी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया।
प्राथमिक विद्यालय शामपुर में बच्चों को पढ़ाने की फोटो वायरल हुई थी। मौके पर 12:48 पहुंचा तो विद्यालय बंद मिला। ग्रामीणों से जानकारी मिली कि स्कूल में रोज बच्चे पढ़ने आते हैं। कोविड-19 में स्कूल खोलने पर अभी प्रतिबंध है। यह एक गंभीर मामला है। नियमों का उल्लघंन करने पर प्रधानाध्यापक के निलंबन की संस्तुति बीएसए स्‍तर से की जा रही है। सहायक अध्यापक और शिक्षामित्र को नोटिस जारी किया जा रहा है।

Tuesday, August 18, 2020

देवरिया में दो फर्जी शिक्षिकाएं बर्खास्त, अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की खतरे में नौकरी

देवरिया में दो फर्जी शिक्षिकाएं बर्खास्त, अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की खतरे में नौकरी।

देवरिया : :  दूसरे के नाम पर नौकरी कर रहीं दो शिक्षकों को बीएसए ने सोमवार को बर्खास्त कर दिया। महानिदेशक स्कूल शिक्षा की जांच में मामला पकड़ में आने पर हुई जांच के बाद दोनों शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई हुई। दोनों शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर वेतन रिकवरी के निर्देश बीएसए ने दिए हैं।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा कार्यालय की जांच में जून में प्रदेशभर में एक ही पैन पर दो लोगों के नौकरी करने के 192 मामले मिले थे इनमें से सात मामले देवरिया के थे। इसकी जांच के दौरान प्राथमिक विद्यालय मुसैला खुर्द की प्रधानाध्यापक रेनूबाला और प्राथमिक विद्यालय नदावर घाट की प्रधानाध्यापक सीमा सिंह मोबाइल बंद कर गायब हो गई। सलेमपुर के खंड शिक्षा अधिकारी लक्ष्मीनारायण ने एक जुलाई को दोनों शिक्षकों को जरूरी कागज के साथ उपस्थित होने के लिए फोन करना चाहा तो दोनों का मोबाइल बंद मिला। इसके बाद खंड शिक्षा अधिकारी ने एक जुलाई को ही दोनों विद्यालयों का दौरा किया। इसमें सीमा सिंह अपने तैनातीस्थल प्राथमिक विद्यालय नदावर घाट में नहीं मिलीं। विद्यालय बंद मिला। वहीं मुसैला खुर्द प्राथमिक विद्यालय से प्रधानाध्यापिका रेनूबाला बिना सूचना के गायब मिलीं। इसकी सूचना खंड शिक्षा अधिकारी ने बीएसए को दी। बीएसए ने वेतन बाधित करते हुए दोनों शिक्षकों के पते पर नोटिस भेजकर जरूरी दस्तावेजों के साथ उपस्थित होने को कहा था।




अमेठी में पांच परिषदीय शिक्षकों की नौकरी खतरे में

अमेठी : अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद जिले के बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़े का एक और मामला प्रकाश में आया है। जहां विभिन्न ब्लॉकों में तैनात पांच शिक्षकों के अभिलेख पर जनपद फिरोजाबाद में भी पांच शिक्षकों द्वारा नौकरी पाए जाने का आरोप है। मामले में बीएसए ने इन सभी शिक्षकों का वेतन रोकते हुए उन्हें अपना पक्ष रखने को कहा है। साथ ही फिरोजाबाद बीएसए को पत्र लिखकर वहां तैनात शिक्षकों का वेरिफिकेशन कर उनकी अभिलेखों की छाया प्रति मांगी है। बेसिक शिक्षा विभाग में अलग-अलग ब्लॉकों के परिषदीय विद्यालय में कार्यरत 5 शिक्षकों के अभिलेखों पर किसी व्यक्ति ने बीएसए से फोन पर शिकायत की थी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, August 10, 2020

देवरिया : दो फर्जी शिक्षक जल्द होंगे बर्खास्त, बीएसए के नोटिस का नहीं दिया जवाब

देवरिया : दो फर्जी शिक्षक जल्द होंगे बर्खास्त, बीएसए के नोटिस का नहीं दिया जवाब।

देवरिया :: परिषदीय विद्यालय में फर्जी मिले दो शिक्षक, शीघ्र ही बर्खास्त होंगे। यह शिक्षक जांच शुरू होने के बाद से ही फरार चल रहे हैं। इन शिक्षकों ने बीएसए की नोटिसों का जवाब नहीं दिया है। परिषदीय विद्यालयों में फर्जी शिक्षकों की जांच तेजी से चल रही है। अब तक 41 शिक्षकों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई हो चुकी है। इनमें से एक दर्जन से अधिक के खिलाफ केस दर्ज कराया जा चुका है। इसमें पुलिस जांच कर रही है।




दूसरी तरफ अन्य फर्जी शिक्षक भी सामने आ रहे हैं। ताजा मामला एक समान पैन कार्ड पर कार्यरत मिले शिक्षकों से जुड़ा है। बीएसए ने समान पैन कार्ड पर कार्यरत मिले सभी सभी शिक्षकों को नोटिस देकर पक्ष रखने को कहा था। इसमें से दो शिक्षकों ने नोटिस का जवाबनहीं दिया। बीएसएफ की तरफ से दूसरी और तीसरी नोटिस भेजी गयी पर दोनों शिक्षकों ने जवाब नहीं दिया। अब प्रेस विज्ञप्ति प्रकाशित कर सूचना दी गयी है। सूत्रों का कहना है कि दोनो शिक्षक जांच में फर्जी पाए गए हैं। इसके चलते नोटिस पर उपस्थित नहीं हो रहे हैं।

● जांच शुरू होने के बाद से विद्यालय से हैं फरार

• बीएसए के नोटिस का भी नहीं दिया जवाब

जिले में अब तक हो चुकी है 41 शिक्षकों की बर्खास्तगी।

कस्तूरबा के शिक्षकों के खिलाफ हो रही है जांच : फर्जी शिक्षकों के मामले में जिले के कस्तूरबा आवासीय विद्यालय प्रदेश में अव्वल हैं। राज्य परियोजना में हुई जांच में 14 शिक्षक फर्जी मिले। इन्हें बीएसए ने बर्खास्त कर दिया है। 11 शिक्षकों के खिलाफ जांच चल रही है। प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराया जा रहा है। फर्जी मिलने पर इनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। एक वार्डेन को किसी व्यक्ति की शिकायत पर बर्खास्त किया जा चुका था।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।