DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, August 22, 2017

हाथरस : टॉयलेट एक प्रेम कथा से पढ़ाया स्वच्छता का पाठ, बीआरसी पर शिक्षक ने फिल्म दिखाकर बच्चों को दिलाई खुले में शौच न जाने की शपथ

बीआरसी गंगचौली पर शिक्षक ने अपने खर्चे से दिखाई फिल्म ग्रामीणों व बच्चों ने ली खुले में शौच न जाने की शपथ

2019 तक खुले में शौच से मुक्ति 1एक अच्छे देश की पहचान वहां की साफ सफाई पर निर्भर होती है, ताकि बाहर से आने वाले लोग अच्छी सोच के साथ वापस जाएं। प्रधानमंत्री देश को खुले में शौच की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। दो अक्टूबर 2019 तक देश को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए निर्धारित किया गया है। सरकारी मशीनरी के अलावा सामाजिक संगठन स्वच्छ भारत अभियान के लिए काम कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है।

बीआरसी गंगचौली पर शिक्षक ने अपने खर्चे से दिखाई फिल्म ग्रामीणों व बच्चों ने ली खुले में शौच न जाने की शपथ

2019 तक खुले में शौच से मुक्ति 1एक अच्छे देश की पहचान वहां की साफ सफाई पर निर्भर होती है, ताकि बाहर से आने वाले लोग अच्छी सोच के साथ वापस जाएं। प्रधानमंत्री देश को खुले में शौच की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। दो अक्टूबर 2019 तक देश को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए निर्धारित किया गया है। सरकारी मशीनरी के अलावा सामाजिक संगठन स्वच्छ भारत अभियान के लिए काम कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है।


Click here to enlarge image
फिल्म के माध्यम से अच्छा संदेश मिला है। अपने गांव के अलावा और गांवों में जाकर लोगों को जागरूक कर स्वच्छता के बारे में लोगों को जानकारी दूंगी। 1शिवानी, कक्षा छह छात्र, गंगचौली विद्यालयफिल्म के माध्यम से अच्छा संदेश मिला है। अपने गांव के अलावा और गांवों में जाकर लोगों को जागरूक कर स्वच्छता के बारे में लोगों को जानकारी दूंगी। 1शिवानी, कक्षा छह छात्र, गंगचौली विद्यालयहाथरस: ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा‘ फिल्म के बारे में तो सुना ही होगा। स्वच्छता का संदेश देने वाली इस फिल्म का उपयोग अब लोगों को जागरुक करने में किया जा रहा है। शनिवार को ब्लॉक संसाधन केंद्र गंगचौली पर स्कूली बच्चों को फिल्म दिखा स्वच्छता का पाठ पढ़ाया गया। हेड मास्टर ने अपने खर्चे से बीआरसी सभागार में एलसीडी पर फिल्म दिखाने का इंतजाम किया। इस कार्यक्रम में ग्रामीणों को भी शामिल किया गया, ताकि खुले में शौच से मुक्ति की आवाज और अधिक मजबूत हो सके। 1 अभिनेता अक्षय कुमार की यह फिल्म खुले में शौच न करने पर ही आधारित है। पूर्व माध्यमिक विद्यालय गंगचौली में तैनात शिक्षक अश्वनी कुमार शर्मा ने जागरुकता के लिए यह फिल्म दिखाने की अनुमति खंड शिक्षा अधिकारी पवन कुमारी से लेकर बीआरसी सभागार में बड़ी एलसीडी लगवाई। फिल्म दिखाने के इस कार्यक्रम पर शिक्षक ने अपनी जेब से बारह सौ रुपये खर्च किए।गंगचौली में बच्चों व ग्रामीणों को स्वच्छता के लिए जागरूक करने के लिए एलसीडी पर दिखाई गई फिल्म ’ जागरणपरिवार के साथ फिल्म देखने के बाद स्कूल में दिखाने की बात दिमाग में आई। इस फिल्म को देखकर ग्रामीणों व बच्चों में जागरूकता आई है, खुले में शौच न जाने की शपथ ली। 1अश्वनी शर्मा, हेड मास्टर,पूर्व माध्यमिक विद्यालय गंगचौलीगंगचौली में बीआरसी पर लगी एलसीडी ’ जागरणअच्छी फिल्म कम ही आती है, लेकिन इस फिल्म से स्वच्छता का संदेश दिया गया है। अब मैं लोगों को खुले में शौच न जाने के प्रति जागरूक करूंगी। 1सुमन, महिला,गंगचौली
फिल्म के माध्यम से अच्छा संदेश मिला है। अपने गांव के अलावा और गांवों में जाकर लोगों को जागरूक कर स्वच्छता के बारे में लोगों को जानकारी दूंगी। 1शिवानी, कक्षा छह छात्र, गंगचौली विद्यालयफिल्म के माध्यम से अच्छा संदेश मिला है। अपने गांव के अलावा और गांवों में जाकर लोगों को जागरूक कर स्वच्छता के बारे में लोगों को जानकारी दूंगी। 1शिवानी, कक्षा छह छात्र, गंगचौली विद्यालयहाथरस: ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा‘ फिल्म के बारे में तो सुना ही होगा। स्वच्छता का संदेश देने वाली इस फिल्म का उपयोग अब लोगों को जागरुक करने में किया जा रहा है। शनिवार को ब्लॉक संसाधन केंद्र गंगचौली पर स्कूली बच्चों को फिल्म दिखा स्वच्छता का पाठ पढ़ाया गया। हेड मास्टर ने अपने खर्चे से बीआरसी सभागार में एलसीडी पर फिल्म दिखाने का इंतजाम किया। इस कार्यक्रम में ग्रामीणों को भी शामिल किया गया, ताकि खुले में शौच से मुक्ति की आवाज और अधिक मजबूत हो सके। 1 अभिनेता अक्षय कुमार की यह फिल्म खुले में शौच न करने पर ही आधारित है। पूर्व माध्यमिक विद्यालय गंगचौली में तैनात शिक्षक अश्वनी कुमार शर्मा ने जागरुकता के लिए यह फिल्म दिखाने की अनुमति खंड शिक्षा अधिकारी पवन कुमारी से लेकर बीआरसी सभागार में बड़ी एलसीडी लगवाई। फिल्म दिखाने के इस कार्यक्रम पर शिक्षक ने अपनी जेब से बारह सौ रुपये खर्च किए।गंगचौली में बच्चों व ग्रामीणों को स्वच्छता के लिए जागरूक करने के लिए एलसीडी पर दिखाई गई फिल्म ’ जागरणपरिवार के साथ फिल्म देखने के बाद स्कूल में दिखाने की बात दिमाग में आई। इस फिल्म को देखकर ग्रामीणों व बच्चों में जागरूकता आई है, खुले में शौच न जाने की शपथ ली। 1अश्वनी शर्मा, हेड मास्टर,पूर्व माध्यमिक विद्यालय गंगचौलीगंगचौली में बीआरसी पर लगी एलसीडी ’ जागरणअच्छी फिल्म कम ही आती है, लेकिन इस फिल्म से स्वच्छता का संदेश दिया गया है। अब मैं लोगों को खुले में शौच न जाने के प्रति जागरूक करूंगी। 1सुमन, महिला,गंगचौली


No comments:
Write comments