DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बदायूं. Show all posts
Showing posts with label बदायूं. Show all posts

Wednesday, January 6, 2021

जनपद स्तर पर बेसिक शिक्षा विभाग को नहीं है अंतर्जनपदीय स्थानांतरित शिक्षकों की जानकारी

जनपद स्तर पर बेसिक शिक्षा विभाग को नहीं है अंतर्जनपदीय स्थानांतरित शिक्षकों की जानकारी


परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों के अंतर जनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। शासन से स्थानांतरित शिक्षकों की सूची विभाग की वेबसाइट पर अपलोड की गई है। लेकिन विभाग के अफसरों को नहीं पता कि कितने शिक्षकों का स्थानांतरण हुआ है।


बदायूं : परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों के अंतर जनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। शासन से स्थानांतरित शिक्षकों की सूची विभाग की वेबसाइट पर अपलोड की गई है। लेकिन, विभाग के अफसरों को नहीं पता कि कितने शिक्षकों का स्थानांतरण हुआ है। वेबसाइट पर स्थानांतरण की सूचना देखने के बाद शिक्षक बीएसए कार्यालय जाकर जानकारी कर रहे हैं। ऐसे शिक्षकों को विभाग की ओर से सूची नहीं मिलने की बात कहकर लौटाया जा रहा है।


अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया के अंतर्गत आवेदन करने वाले शिक्षकों में से 1103 आवेदकों को स्वीकृति मिली थी। यह आवेदक विभाग की वेबसाइट पर जाकर स्थानांतरण से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। जहां वह अपना नाम, पंजीकरण संख्या और जन्मतिथि अपलोड करेंगे। एक पेज खुलकर आएगा। जहां आवेदन के समय शिक्षकों की ओर से चयनित किए तीन जिलों में से किसी एक में स्थानांतरित होने पर उस जिले की जानकारी मिल जाएगी। अन्यथा स्थानांतरण न हो जाने के बारे में अवगत कराया जा रहा है। स्थानांतरण हो जाने की सूचना मिलने के बाद शिक्षक आगे की प्रक्रिया जानने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पहुंच रहे हैं। जहां उन्हें लौटाया जा रहा है।

Friday, December 18, 2020

बदायूं : दिनांक 19 दिसम्बर 2020 को गुरु तेग बहादुर शहीद दिवस के अवसर पर अवकाश घोषित, देखें आदेश

बदायूं : दिनांक 19 दिसम्बर 2020 को गुरु तेग बहादुर शहीद दिवस के अवसर पर अवकाश घोषित, देखें आदेश


Tuesday, December 8, 2020

बदायूं : नियुक्ति पत्र नहीं मिलने से नाराज अभ्यर्थियों ने की सड़क जाम, संदेह के आधार पर रोके गए 272 अभ्यर्थियों के नियुक्ति पत्र से उपजा बवाल

बदायूं : नियुक्ति पत्र नहीं मिलने से नाराज अभ्यर्थियों ने की सड़क जाम, संदेह के आधार पर रोके गए 272 अभ्यर्थियों के नियुक्ति पत्र से उपजा बवाल


बदायूं : 69 हजार शिक्षक भर्ती में काउंसिलिग कराने के बाद भी नियुक्ति पत्र से वंचित अभ्यर्थियों ने जाम लगाया। बीएसए कार्यालय के बाहर सड़क जाम की। एडीएम प्रशासन ऋतु पुनिया व बीएसए मौके पर पहुंचे। अभ्यर्थियों को समझाया। प्रत्यावेदन जमा करने वाले अभ्यर्थियों के बारे समिति विचार करके नौ दिसंबर तक नियुक्ति पत्र देगी।


शिक्षक भर्ती में 1394 अभ्यर्थियों को शनिवार को नियुक्ति पत्र का वितरण हुआ। 272 अभ्यर्थियों को प्रमाण पत्रों में गड़बड़ी पर नियुक्ति पत्र नहीं दिया। सोमवार को अभ्यर्थी बीएसए कार्यालय पहुंचे। संबंधित कर्मचारियों से प्रमाण पत्र रोकने के बाद में पूछताछ करते रहे। कर्मचारियों ने कहा कि थोड़ा समय दीजिए सभी को नियुक्ति पत्र मिल जाएंगे। बस त्रुटि के विषय में प्रत्यावेदन जमा करें।


 प्रदेश के बाहर के विश्वविद्यालय से पास आउट अभ्यर्थियों ने बताया कि प्रदेश से बाहर के अभ्यर्थियों के नियुक्ति पत्र रोकने का निर्देश ही नहीं है तो क्यों रोका गया। जिस पर कर्मचारी जवाब नहीं दे सके। दोपहर में अभ्यर्थियों का सब्र जवाब दे गया तो उन्होंने कार्यालय के गेट पर ओवरब्रिज के पास ही जाम लगाया। सूचना पर डीएम ने एडीएम प्रशासन व बीएसए को मौके पर भेजा। दोनों ने अभ्यर्थियों को समझाया। प्रत्यावेदन जमा करने को कहा।


नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को डायट में चिकित्सा प्रमाण पत्र जमा करने के बाद ज्वाइनिग कराई। अभ्यर्थी रोज डायट में ही उपस्थिति दर्ज कराएंगे। 
  

विभाग में ज्वाइन करने से पहले अभ्यर्थियों को चिकित्सा प्रमाण पत्र बनवाना जरूरी है। जिसके लिए जिला अस्पताल में कोविड 19 का टेस्ट कराना पड़ रहा है। अभ्यर्थी खुद जोखिम लेकर लंबी कतार में बिना शारीरिक दूरी का पालन किए लगने को मजबूर हैं। टेस्ट कराने में उन्हें डर है कि कहीं कोरोना न हो जाए। 


नियुक्ति पत्र से वंचित अभ्यर्थी प्रत्यावेदन जमा करें। शासन की ओर से जारी 22 बिदुओं पर प्रत्यावेदन पर समिति विचार करेगी। शासन के निर्देश के आधार पर नियुक्ति पत्र का वितरण होगा। - रामपाल सिंह राजपूत, बीएसए

Tuesday, August 25, 2020

बदायूं : बीएसए, लेखाकार, सहायक लेखाकार एवं अनुचर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, बीएसए कार्यालय 48 घण्टे के लिए पूर्णतः बंद

बदायूं : बीएसए, लेखाकार, सहायक लेखाकार एवं अनुचर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, बीएसए कार्यालय 48 घण्टे के लिए पूर्णतः बंद।



बदायूं : जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में मंगलवार को कर्मचारियों की चेकिंग हुई। डीएम के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 50 कर्मियों के सैंपल लिए। इसमें से तीन कर्मचारी और संक्रमित निकले। इस पर कार्यालय को 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया है। वहीं, छह कर्मियों ने जांच नहीं कराई। उन्हें बिना सैंपल को प्रवेश नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं।


जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामपाल सिंह राजपूत सबसे पहले संक्रमित निकले। इस पर सोमवार को कार्यालय में सैनिटाइजेशन हुआ। मंगलवार को कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची। यहां कार्यरत कर्मचारियों के सैंपल लिए। गेट बंद कर गार्डन में कर्मचारियों के सैंपल लिए गए। सैंपलिंग में सर्व शिक्षा अभियान के दो व एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उन्हें साइड में बैठा दिया गया। एमडीएम विभाग का एक कर्मचारी, एक कनिष्ठ व एक वरिष्ठ सहायक, एक शिक्षामित्र और दो अन्य कर्मचारी अनुपस्थित रहे। अनुपस्थित कर्मचारियों को चेतावनी दी गई है। वह कार्यालय आने से पहले कोरोना जांच कराए। उसके बाद ही उन्हें प्रवेश मिलेगा। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि अन्य कर्मचारी अपनी जांच जिला पंचायत अध्यक्ष आवास पर कोरोना टेस्ट करा सकते हैं।



बदायूं : स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक बीएसए रामपाल सिंह राजपूत ने शनिवार को अपना सैंपल कराया था जिसमें वह पॉजिटिव निकले। जब ये खबर कार्यालय स्टाफ में फैली तो हड़कंप मच गया। तब से कर्मचारी खुद इस छानबीन में लग गए हैं कि बीएसए के संपर्क में कौन-कौन लोग आए हैं। जो लोग संपर्क में आएं हैं, उन्होंने स्वयं को क्वांरटीन कर लिया है। बाकी स्वास्थ्य विभाग ने उनकी हिस्ट्री खंगालनी शुरू कर दी है। इधर, उसहैत कस्बे में लगातार कोरोना संक्रमितों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, July 3, 2020

बदायूं : बरेली निवासी प्रभारी प्रधानाध्यापिका कोरोना संक्रमित, स्कूल खुलने पर एक जुलाई को स्कूल एवं बीआरसी पहुंची थी अध्यापिका, मचा हड़कंप।

बदायूं : बरेली निवासी प्रभारी प्रधानाध्यापिका कोरोना संक्रमित, स्कूल खुलने पर एक जुलाई को स्कूल एवं बीआरसी पहुंची थी अध्यापिका, मचा हड़कंप।


बदायूं : बरेली निवासी इंचार्ज प्रधानाध्यापिका कोरोना संक्रमित हो गई। संक्रमित बरेली से आकर शिक्षण कार्य करती थीं। इंचार्ज प्रधानाध्यापक संक्रमित निकलने के बाद तमाम लोग दहशत में हैं। एक दिन पहले ही स्कूल से लेकर बीआरसी सेंटर तक संक्रमित शिक्षिका के संपर्क में रहे थे अब शिक्षिका संक्रमित निकल आई है और पूरा विभाग परेशान हैं। गुरुवार को सुबह से शाम तक शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा रहा है। शिक्षकों एवं उनके संपर्क वाले बरेली निवासी इंचार्ज प्रधानाध्यापक की बात ही करते रहे हैं।






पता चला है कि दातागंज तहसील, समरेर ब्लाक के एक गांव के प्राथमिक विद्यालय में इंचार्ज प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात हैं। वे एक जुलाई को स्कूल में आई थी, विद्यालय खोलने के बाद स्टाफ के साथ दिन भर रही। दोपहर बाद शिक्षिका बीआरसी केंद्र समरेर पहुंच गई। बीआरसी केंद्र पर शिक्षकों एवं अन्य स्टाफ के संपर्क में रही थीं, शाम को घर चली गई। इसके बाद गुरुवार सुबह को बरेली में लैब से रिपोर्ट आई और शिक्षिका संक्रमित निकली तो बरेली और बदायूं दोनों जगह हड़कंप मचा। एसडीएम सहित तहसील प्रशासन और पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग को जानकारी नहीं हैं। बताया जा रहा है महिला अगर संक्रमित निकली होगी तो बरेली में निकली होगी। यहां से संक्रमित नहीं है नहीं बरेली से जानकारी दी गई है। अगर संक्रमित की जानकारी मिलती है तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।


परेशानी :  बरेली में रहने वाली शिक्षिका समरेर ब्लाक के स्कूल में तैनात, एक जुलाई को स्कूल खुलने पर पहुंची थी


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, May 5, 2020

बदायूं : राशन वितरण कराने जा रहे बेसिक शिक्षक को पुलिस ने पीटा

राशन वितरण कराने जा रहे बेसिक शिक्षक को पुलिस ने पीटा

राशन वितरण में गांव खंदक में राशन विक्रेता के पर्यवेक्षण में ड्यूटी लगी है। रविवार की सुबह करीब नौ बजे वह ड्यूटी के लिए जा रहे थे.

यह मामला बदायूं का है। शिक्षक राशन वितरण में ड्यूटी में जा रहे थे। इनको को यूपी पुलिस ने मारपीट कर घायल कर दिया। पीड़ित शिक्षक ने एसडीएम को अपना पत्र सौंप कर FIR दर्ज कराकर संबंधित के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई कराने की मांग की है।


शिक्षक नगर के मुहल्ला शहबाजपुर निवासी छोटे खां के निवासी हैं। वह गांव सेमरा बनवीरपुर के विद्यालय में शिक्षक पद पर कार्यरत हैं। राशन ड्यूटी प्रमाण पत्र दिखाने पर भी दरोगा नहीं माना और उसने जमकर पिटाई कर दी. मारपीट में शिक्षक के हाथ में गंभीर चोटें आई हैं।