DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बीएसए. Show all posts
Showing posts with label बीएसए. Show all posts

Saturday, September 12, 2020

हाथरस : जूनियर शिक्षक संघ ने बीएसए को दिया कानूनी नोटिस, बीएसए दफ्तर के बहिष्कार का एलान

हाथरस : जूनियर शिक्षक संघ ने बीएसए को दिया कानूनी नोटिस, बीएसए दफ्तर के बहिष्कार का एलान


उत्तर प्रदेश जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ ने अधिवक्ता के माध्यम से बीएसए को नोटिस दिया है। इसमें बीएसए पर मनमानी करने का आरोप लगाया गया है। बीएसए दफ्तर का बहिष्कार करने की बात भी शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने पत्र में कही है।


जूनियर हाईस्कूल (पूर्व माध्यमिक) शिक्षक संघ के अध्यक्ष रामवीर सिंह एवं महामंत्री अनिल कुमार ने सिविल कोर्ट के अधिवक्ता रमेशचंद्र शर्मा के माध्यम से बीएसए को नोटिस दिया है, जिसमें मनमानी का आरोप लगाते हुए कहा गया है कि शिक्षक संघ के किसी भी प्रत्यावेदन का संज्ञान नहीं लिया जा रहा। नोटिस में अन्य आरोप भी लगाए हैं। संघ के पदाधिकारियों ने अध्यापकों को जानबूझकर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने एवं शिक्षक संघ के प्रति अनुचित व्यवहार करने के कारण कार्यालय का बहिष्कार करने की भी बात कही है।


 नोटिस के बारे में मुझे जानकारी नहीं है। सिविल कोर्ट के नोटिस का निर्णय पर कोई असर नहीं पड़ेगा। अगर जूनियर संगठन ने मेरे नोटिस का कोई तर्क संगत जवाब नहीं दिया तो इनके खिलाफ और सख्त कार्रवाई होगी। -मनोज कुमार मिश्र, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हाथरस।

Wednesday, September 2, 2020

कुशीनगर : टाइम एंड मोशन स्टडी के आधार पर शैक्षणिक कार्य हेतु समय अवधि एवं कार्य निर्धारण संबंधी निर्देश जारी, देखें

कुशीनगर : टाइम एंड मोशन स्टडी के आधार पर शैक्षणिक कार्य हेतु समय अवधि एवं कार्य निर्धारण संबंधी निर्देश जारी, देखें।

प्रतापगढ़ : सीडीओ के निरीक्षण में गायब मिले बीएसए व लेखाधिकारी, पौने ग्यारह बजे तक डीसी और कर्मचारी कार्यालय से थे नदारद, स्पष्टीकरण तलब

प्रतापगढ़ : सीडीओ के निरीक्षण में गायब मिले बीएसए व लेखाधिकारी, पौने ग्यारह बजे तक डीसी और कर्मचारी कार्यालय से थे नदारद, स्पष्टीकरण तलब।

प्रतापगढ़। डीएम के आदेश पर सीडीओ अश्विनी कुमार पांडेय मंगलवार को सुबह पौने ग्यारह बजे बीएसए कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंच गए। इस दौरान बीएसए, लेखाधिकारी, जिला समन्वयक समेत आधा दर्जन कर्मचारी गायब रहे। सीडीओ ने उपस्थिति रजिस्टर को जब्त करते हुए गायब अफसरों और कर्मचारियों से तीन दिन में स्पष्टीकरण तलब किया है।




डीएम डॉ. रुपेश कुमार ने दो दिन पहले अफसरों से कार्यालय में मौजूद रहकर समस्याओं का निस्तारण करने को कहा था। मंगलवार को सीडीओ पौने ग्यारह बजे बीएसए कार्यालय निरीक्षण करने पहुंच गए। माह का पहला दिन होने के कारण उपस्थिति रजिस्टर पर नाम ही नहीं लिखा गया था। एसडीएम के पहुंचने पर कर्मचारी रजिस्टर नाम लिखने के साथ ही दस्तखत बनाने लगे। यह देखकर सीडीओ ने नाराजगी जताई और रजिस्टर को अपने कब्जे में ले लिया। हालांकि, दोपहर बाद रजिस्टर बीएसए कार्यालय को लौटा दिया गया। सीडीओ के निरीक्षण में बीएसए अशोक कुमार सिंह, जिलाधिकारी उमेश सिंह,

डीसी अजय प्रकाश दूबे, डीसी श्रीकृष्ण विश्वकर्मा और आधा दर्जन कर्मचारी से अधिक कर्मचारी गायब मिले। सभी से तीन दिन के अंदर स्पष्टीकरण तलब किया है। सीडीओ ने बीएसए के स्टेनो हरिओंकारबख्श सिंह की क्लास ली और बीआरसी को भेजी गई पुस्तकों का स्टॉक बुक में अंकन नहीं होने पर फटकार लगाई।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, August 30, 2020

कौशाम्बी : अब देखी जाएगी कायाकल्प में हुए काम की हकीकत, बीएसए ने सत्यापन के लिए जारी किया निर्देश

कौशाम्बी : अब देखी जाएगी कायाकल्प में हुए काम की हकीकत, बीएसए ने सत्यापन के लिए जारी किया निर्देश।


जिले के परिषदीय स्कूलों के सुंदरीकरण व मरम्मत का कार्य कायाकल्प योजना से कराने के बाद अब इन कार्यों की जांच होगी। शासन के निर्देश पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सभी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को सत्यापन का निर्देश दिया है।



जिले के परिषदीय स्कूलों के सुंदरीकरण व मरम्मत का कार्य कायाकल्प योजना से कराने के बाद अब इन कार्यों की जांच होगी। शासन के निर्देश पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सभी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को सत्यापन का निर्देश दिया है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया है कि विद्यालयों में कराए गए कार्यों की जांच अपने स्तर से कर ले। बाद में किसी प्रकार की शिकायत मिली तो रिपोर्ट लगाने वाले प्रधानाध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जनपद के 1165 परिषदीय स्कूलों में कायाकल्प योजना से ग्राम पंचायतों ने सुंदरीकरण व मरम्मत का कार्य कराया था। इसमें ग्राम निधि के लाखों रुपये खर्च हुए। अब राज्य परियोजना निदेशक ने कायाकल्प के तहत हुए कार्यों के सत्यापन का फैसला लिया है। इसको लेकर निदेशक ने डीएम व बीएसए को पत्र भेजा है। जल्द ही स्कूलों में जांच होगी। जांच में जिन विद्यालयों की स्थिति खराब मिलेगी, उनकेप्रधानाध्यापक के खिलाफ कार्रवाई होगी। जांच से पूर्व बीएसए ने सभी शिक्षकों को अपने स्तर से एक बार स्कूल की स्थिति का मूल्यांकन का निर्देश दिया है। बीएसए ने बताया कि सभी स्कूलों की जांच 33 बिदुओं पर होगी जिसमें स्कूल में पेयजल, बालक व बालिका के लिए अलग-अलग क्रियाशील शौचालय, मल्टीपल हैंड वाशिंग यूनिट, रसोईघर, क्लास रूम की फर्श पर टाइल, रंगाई-पोताई, दिव्यांग सुलभ रैंप व रेलिग, वायरिग, विद्युत उपकरण, स्कूल में तैनात शिक्षक, शिक्षामित्र व अनुदेशकों की संख्या, छात्रों की उपस्थिति, लर्निंग आउटकम प्रशिक्षण की निगरानी, रेमेडियल क्लास का संचालन, यूनिफार्म, किताबों का वितरण आदि बिदु शामिल हैं।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, August 19, 2020

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के परिचय पत्र न बनवाने पर संयुक्त शिक्षा निदेशक ने बीएसए से मांगा लिखित स्पष्टीकरण

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के परिचय पत्र न बनवाने पर संयुक्त शिक्षा निदेशक ने बीएसए से मांगा स्पष्टीकरण।

फतेहपुर : परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के परिचय पत्र न बनवाने पर संयुक्त शिक्षा निदेशक ने बीएसए से मांगा स्पष्टीकरण।

फतेहपुर। परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों के परिचय पत्र बनाने में जिले में भी घोर लापरवाही बरती गई। निदेशक स्तर से कई बार निर्देश जारी किए जाने के बाद भी परिचय पत्र नहीं बनाए गए। निदेशक ने अब बेसिक शिक्षा अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा है। 22 अगस्त तक जवाब दाखिल करने का समय दिया है। परिचय पत्र बनाने में कुल 49 जिलों की लापरवाही सामने आई है। जिले में 2650 परिषदीय स्कूलों में 9000 शिक्षक कार्यरत हैं। जून महीने में निदेशक ने सभी शिक्षकों के परिचयपत्र जारी करने के निर्देश दिए थे।




दो महीना व्यतीत होने के बाद भी जिले में अभी तक एक भी शिक्षक का परिचय पत्र जारी नहीं हो पाया है। मंगलवार को समीक्षा के दौरान प्रगति रिपोर्ट न मिलने पर शिक्षा निदेशक बेसिक के निर्देश पर संयुक्त शिक्षा निदेशक बेसिक गणेश कुमार ने नोटिस जारी कर बीएसए देवेंद्र प्रताप सिंह से स्पष्टीकरण मांगा है।

स्पष्टीकरण में कहा गया है कि अभी तक प्रगति रिपोर्ट न मिलने से साफ है कि परिचय पत्र बनाने का काम शुरू नहीं किया गया है। ऐसा न किया जाना विभागीय आदेशों की अवहेलना के दायरे में आता है। 22 अगस्त तक बीएसए लिखित रूप से स्पष्टीकरण दें। अन्यथा उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, August 11, 2020

फतेहपुर : यू-डायस प्रपत्र न भरने वाले मान्यता प्राप्त विद्यालयों की जाएगी मान्यता, बीएसए ने अंतिम अवसर देते हुए जारी की चेतावनी

फतेहपुर : यू-डायस प्रपत्र न भरने वाले मान्यता प्राप्त विद्यालयों की जाएगी मान्यता।

मान्यता प्राप्त जिन विद्यालयों ने यू-डायस पर प्रपत्र अपलोड नहीं किए हैं उनकी मान्यता प्रत्याहरण की कार्रवाई की जाएगी। इन विद्यालयों को अब अंतिम अवसर देते हुए शीघ्र ही प्रपत्र अपलोड करने की बेसिक शिक्षा विभाग ने चेतावनी दे दी है। अन्यथा उन पर मान्यता प्रत्याहरण कार्रवाई की जाएगी। जिले में ऐसे करीब आधा सैकड़ा विद्यालय हैं जिन्होंने यू-डायस पर प्रपत्र अपलोड नहीं किए हैं।



बीएसए शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि बीएसए, डीआईओएस, समाज कल्याण विभाग व अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अधीन संचालित परिषदीय शासकीय सहायता प्राप्त मान्यता प्राप्त विद्यालयों को कई बार डाटा कैप्चर फार्मेट भरने के लिए निर्देशित किया जा चुका है। इसके बाद भी इस कार्य में लापरवाही बरती जा रही है। अभी भी जिले 50 विद्यालय ऐसे हैं जिन्होंने यह विवरण अपलोड नहीं किया है। अंतिम चेतावनी जारी करते हुए इन विद्यालयों से कहा गया है कि शीघ्र ही डीसीएफ भर दें। अन्यथा की स्थिति में उनकी मान्यता प्रत्याहरण की कार्रवाई की जाएगी।





इसके लिए विद्यालयों से बीआरसी से संपर्क करके यह प्रक्रिया तत्काल पूरी करने के लिए कहा गया है। बीएसए ने साफ कहा है कि कई बार कहने के बाद भी यह कार्य नहीं किया गया है। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी और कार्रवाई की जाएगी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।