DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label विद्यालय. Show all posts
Showing posts with label विद्यालय. Show all posts

Thursday, January 21, 2021

बंद हो सकते 10 हजार बेसिक विद्यालय, चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर भी रोक का सुझाव

बंद हो सकते 10 हजार बेसिक विद्यालय, चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर भी रोक का सुझाव




समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बेसिक शिक्षा विभाग में 10,000 से अधिक प्राथमिक विद्यालय ऐसे हैं जिनके लिए आवश्यक न्यूनतम 30 छात्र उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। इनको बंद कर वहां तैनात शिक्षकों को अन्य विद्यालयों में स्थानांतरित करने की सिफारिश की है। यहां के छात्रों को निकट के प्राइमरी या निजी स्कूलों में प्रवेश दिलाने को कहा गया है।


चतुर्थ श्रेणी अनुकंपा नियुक्ति पर रोक का सुझाव

इसके साथ ही बेसिक शिक्षा विभाग में भविष्य में अनुकंपा के आधार पर चतुर्थ श्रेणी के रूप में नियुक्ति की व्यवस्था पर नए सिरे से विचार करने का निर्देश दिया गया है।

Tuesday, January 19, 2021

बांदा : शीतलहर / ठंड के चलते विद्यालयों के समय परिवर्तन का आदेश जारी

बांदा  : शीतलहर / ठंड के चलते विद्यालयों के समय परिवर्तन का आदेश जारी


Sunday, January 17, 2021

माध्यमिक शिक्षा परिषद अंतर्गत संचालित सरकारी स्कूल कॉलेजों में व्यवस्थाओं को सुधारने पहल होगी शुरू

माध्यमिक शिक्षा परिषद अंतर्गत संचालित सरकारी स्कूल कॉलेजों में व्यवस्थाओं को सुधारने पहल होगी शुरू।


राजधानी समेत प्रदेश भर में माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित सरकारी स्कूल कॉलेजों में व्यवस्थाओं को सुधारने पहल शुरू होगी। ऐसे में सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को नियमित निरीक्षण प्रक्रिया शुरू होगी। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव माध्यमिक आराधना शुक्ला ने योजना भवन में आयोजित बैठक में सभी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक, मंडलीय उप शिक्षा निदेशक तथा जिला विद्यालय निरीक्षक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।
अपर मुख्य सचिव ने विभागीय अधिकारियों से बाउंड्री वाल रहित राजकीय विद्यालयों, 50 वर्ष से पूर्व संचालित राजकीय विद्यालयों एवं उनके भवनों की स्थिति, विगत 3 वर्षों में किए गए नियमित निरीक्षण की संख्या तथा उनके निरीक्षण आख्या के अनुपालन की स्थिति, अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड से चयनित अभ्यर्थियों के शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन एवं वेतन भुगतान की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की। अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा ने बैठक में विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि ऐसे राजकीय विद्यालय जहां पर बाउंड्रीवॉल नहीं हैं का स्थलीय निरीक्षण कर उनकी सूची उपलब्ध कराएं तथा ऐसे विद्यालयों की बाउंड्रीवॉल का सुदृढ़ीकरण कराकर विद्यालय को भव्य बनाया जाय।

Saturday, January 16, 2021

खोले जाएं कक्षा 06 से 08 तक के विद्यालय, प्राइवेट स्कूल संचालकों की मांग

खोले जाएं कक्षा 06 से 08 तक के विद्यालय, अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों की मांग

अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों की मांग, कहा- विद्यालय खुलने पर कोविड प्रोटोकॉल का होगा पालन


लखनऊ: कोरोना की वैक्सीन आ चुकी है। संक्रमण की दर कम हो रही है। ऐसे में लंबे समय से बंद चल रहे कक्षा छह से आठ तक के स्कूल खोले जाएं। यह कहना है अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों का।


शुक्रवार को हजरतगंज स्थित सेंट फ्रांसिस स्कूल में आयोजित प्रेस वार्ता में एसोसिएशन के स्टेट प्रेसिडेंट अनिल अग्रवाल ने कहा कि 19 अक्टूबर 2020 को नौ से 12 तक की कक्षाएं तीन घंटे तक चलाने के आदेश दिए गए थे। सरकार ने इसे बढ़ाकर पांच घंटे तक स्कूल खोलने की मंजूरी दे दी है। अब स्कूल में भोजनावकाश भी होगा। स्कूल अपने स्तर पर कोविड से निपटने के इंतजाम सुनिश्चित कर चुके हैं। ऐसे में छह से आठ तक के स्कूलों को खोलने की भी अनुमति दी जाए।


बच्चों को किया जाएगा प्रमोट: एसोसिएशन का कहना है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी बच्चों को प्रमोट किया जायेगा। मगर इसके लिए उन्हें परीक्षा देना अनिवार्य है।


फीस वृद्धि के सवाल से किनारा: एसोसिएशन का कहना है कि करीब 22 प्रतिशत अभिभावकों ने इस बार फीस नहीं जमा की है। अगले सत्र में निजी स्कूलों की फीस में कितने प्रतिशत वृद्धि होगी, इस सवाल पर पदाधिकारी किनारा काटते रहे। उनका कहना है कि इस बात की घोषणा जल्द ही की जाएगी। इस मौके पर एसोसिएशन की सचिव माला मेहरा, पायनियर मांटेसरी स्कूल के प्रबंधक बृजेंद्र सिंह, सेंट फ्रांसिस के फादर ऑलविन मौरिष मौजूद रहे।

UP : पंचायत चुनावों से पहले प्राइमरी स्‍कूलों तक बिजली पहुंचाने की कवायद

UP : पंचायत चुनावों से पहले प्राइमरी स्‍कूलों तक बिजली पहुंचाने की कवायद, गोरखपुर में सवा करोड़ की दरकार 


गोरखपुर : यूपी में ग्राम पंचायत चुनाव से पहले जिले के विभिन्न ब्लाकों के 772 प्राथमिक स्कूलों में बिजली निगम को कनेक्शन देना है। ये सभी स्कूल बिजली सुविधा सें वंचित है। शासन के निर्देश पर बिजली निगम ने सर्वे कराकर इन स्कूलों तक बिजली पहुचाने के लिए सवा करोड़ का इस्टीमेट बनाकर बीएसए को भेजा है। बजट की प्रत्याशा में बिजली निगम ने टेण्डर की प्रक्रिया भी पूरी कर दी है। अब काम शुरु करने के लिए निगम को सवा करोड़ मिलने का इंतजार है। एसई का कहना है कि शासन से जल्द ही बजट मुहैया हो जाएगा।


शासन ने दिसम्बर में बिजली निगम को पत्र भेजकर कहा था कि बिजली सुविधा से वंचित जिले के प्राथमिक स्कूलों का सर्वे कर पंचायत चुनाव से पहले खम्भा, तार व ट्रांसफॉर्मर लगाकर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराए। इसके बाद ग्रामीण वितरण मण्डल द्वितीय के अभियंताओं व प्रशासन की टीम ने विभिन्न ब्लाकों के प्राथमिक स्कूलों का सर्वे की। इस दौरान 772 स्कूल बिजली सुविधा से वंचित मिले। रिपोर्ट मिलने के बाद वितरण मण्डल के एसई ने रिपोर्ट से शासन को अवगत कराया दिया। क्षेत्र के अवर अभियंताओं ने स्कूलों तक एचटी लाइन बनाने व ट्रांसफॉर्मर लगाने में होने वाले खर्च का आकलन कर इस्टीमेट तैयार किया। चिन्हित स्कूलों तक एचटी लाइन बनाने व ट्रांसफॉर्मर लगाने में 1.20 करोड़ खर्च का इस्टीमेट बना। ग्रामीण वितरण मण्डल के एसई ने बीएसए को टीसी भेजकर पैसा जल्द से जल्द जमा करने को कहा है। शासन से बजट अवमुक्त होते ही कार्यदायी फर्म काम शुरू कर देगी। यह काम पंचायत चुनाव से पहले पूरा होना है।


इन ब्लाकों के प्राथमिक स्कूलों में लगने हैं कनेक्शन
भटहट-36, चरगांवा-9, नगर क्षेत्र-15, पिपराइच-47, ब्रम्हपुर-70, खोराबार-13, सरदानगर-35, कैम्पियरगंज-38, जगंल कौड़िया-67, खजनी-29, पाली-33, पिपरौली-22, सहजनवा-51, बांसगांव-54, बड़हलगंज-55, गगहा-57, कौड़ीराम-48, बेलघाट-18, गोला- 46, ऊरुवा-31 स्कूल


शासन के निर्देश पर प्रशासन व बिजली निगम की टीम के सर्वे में जिले के विभिन्न ब्लाकों में 772 स्कूल बिना बिजली सुविधा के मिले। इन स्कूलों तक एचटी लाइन बनाकर, 25 केवीए ट्रांसफार्मर लगाकर बिजली कनेक्शन पंचायत चुनाव से पहले दिया जाना है। इसमें करीब 1.20 करोड़ रुपये खर्च होने है। इसके लिए बीएसए को टीसी भेजी गई है। काम कराने के लिए टेण्डर प्रक्रिया भी फाइलन कर दी गई है। बजट मिलते ही काम शुरु करा दिया जाएगा। ई. राजीव चतुर्वेदी, एसई, ग्रामीण वितरण मण्डल प्रथम

Wednesday, January 13, 2021

शासन की सहमति के बाद छठी से आठवीं तक की पढ़ाई भी जल्द होगी शुरू होगी शुरू, निजी स्कूलों के संगठन का दावा

शासन की सहमति के बाद छठी से आठवीं तक की पढ़ाई भी जल्द होगी शुरू होगी शुरू, निजी स्कूलों के संगठन का दावा


लखनऊ। अगले सप्ताह से जिले में जूनियर कक्षाओं (6 से 8 तक) के छात्रों की भी पढ़ाई स्कूलों में शुरू हो जाएगी। अभी इनकी ऑनलाइन पढ़ाई चल रही है। शासन की सहमति के बाद जल्द स्कूलों में कक्षाएं चलाने का आदेश जारी कर दिया जाएगा। उधर, स्कूलों ने इसे लेकर तैयारी शुरू कर दी है। सोमवार से स्कूलों में कक्षा 6 से 12वीं तक के विद्यार्थियों की पढ़ाई एक साथ होगी। 


निजी स्कूलों के संगठन अनएडेड प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने बताया कि जूनियर कक्षाओं की ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने को लेकर शासन को दिए गए प्रस्ताव पर सहमति बन गई है। जल्द इसे लेकर शासन की ओर से आदेश जारी हो जाएंगे। संभावना है कि 18 जनवरी से छठी से आठवों तक के छात्र भी स्कूल आना शुरू कर देंगे। कक्षाओं के दौरान कोबिड प्रोटोकॉल का पालन होगा। 9 से 12 तक के छात्रों की तरह इनकी कक्षाएं भी पांच घंटे चलेगी। 


हालांकि, बच्चों के स्कूल आने के लिए अभिभावकों की सहमति लेनी होगी। कक्षाओं के बीच में आधे घंटे का लंच होगा। बच्चों के स्कूल आने और ले जाने की व्यवस्था अभिभावकों को करनी होगी। गौरतलब हैं कि जूनियर कक्षाओं की पढ़ाई मार्च से स्कूलों में बंद है। बच्चे ऑनलाइन ही पढ़ाई कर रहे हैं।





(साभार - अमर उजाला)