DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label शैक्षिक कलेंडर. Show all posts
Showing posts with label शैक्षिक कलेंडर. Show all posts

Tuesday, July 28, 2020

फतेहपुर : बेसिक शिक्षा में बनेगा एकेडमिक कैलेंडर, बीएसए ने खण्ड शिक्षाधिकारियों को दिया निर्देश

फतेहपुर : बेसिक शिक्षा में बनेगा एकेडमिक कैलेंडर, बीएसए ने खण्ड शिक्षाधिकारियों को दिया निर्देश।

फतेहपुर : बेसिक शिक्षा विभाग ने एकेडमिक कैलेंडर पर काम कराना भी शुरू करा दिया है। बीएसए ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह प्राथमिक और जूनियर स्कूलों में एकेडमिक कैलेंडर बनवाएं।




राज्यपाल ने प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को लेकर कई सुझाव दिए हैं। आठ माह पूर्व जब उन्होंने जिले में रात्रि प्रवास के बाद सुबह थरियांव के परिषदीय स्कूलों का निरीक्षण करते हुए वहां पढ़ने वाले बच्चों से मिलकर जिले के शैक्षिक स्तर को परखा था। लखनऊ में बीते दिन हुए कार्यक्रम में उन्होंने शिक्षा पर चिता जताते हुए प्रदेश को देश के टॉप-5 में शामिल करने का आह्वान किया था। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि एकेडमिक कैलेंडर बनाए जाने के निर्देश मिले हैं। सभी खंड शिक्षाधिकारी इस काम में जुट गए हैं। कोरोना संकट की वजह से दिक्कत आ रही है। शैक्षिक कैलेंडर में कक्षावार कोर्स को माह वार बांटा जाएगा। वहीं साल भर में पड़ने वाले महापुरुषों के नाम जिनमें छुट्टियां नहीं होती हैं वह भी दर्ज होंगे। कैलेंडर के साथ ही राज्यपाल की मंशा के मुताबिक पढ़ाई को पोस्टर और चित्र के माध्यम से सुग्राही बनाया जाएगा। इस काम में अभिभावकों का सहयोग लिया जाएगा।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 4, 2020

मानव संसाधन मंत्री ने जारी किया 11वीं-12वीं का एकेडमिक कैलेंडर, इस वैकल्पिक कैलेंडर से लॉकडाउन में छात्र घर बैठे कर सकेंगे पढ़ाई

मानव संसाधन मंत्री ने जारी किया 11वीं-12वीं का एकेडमिक कैलेंडर, इस वैकल्पिक कैलेंडर से लॉकडाउन में छात्र घर बैठे कर सकेंगे पढ़ाई।



मानव संसाधन मंत्री ने जारी किया 11वीं-12वीं का एकेडमिक कैलेंडर, इस वैकल्पिक कैलेंडर से लॉकडाउन में छात्र घर बैठे कर सकेंगे पढ़ाई।


नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया। इससे लॉकडाउन के कारण शिक्षण संस्थान बंद होने से छात्रों को घर बैठे पढ़ाई करने में मदद मिलेगी। मंत्रालय के निर्देश पर एनसीईआरटी द्वारा तैयार इस कैलेंडर में दिए गए दिशा निर्देश से शिक्षकों को विभिन्न

तकनीकों और सोशल मीडिया तंत्र के जरिये पढ़ाई के तरीकों को रोचक बनाने में मदद मिलेगी। निशंक ने कहा कि इस कैलेंडर के माध्यम से अध्यापक घर से ही बच्चों को अभिभावकों की देख रेख में पढ़ा सकते हैं। कुछ लोगों के पास मोबाइल फोन, इंटरनेट की सुविधा नहीं होने पर उन्हें टीवी और रेडियो से मुफ्त में जोड़ा जा रहा है। ऐसे छात्रों के लिए एसएमएस या फोन के माध्यम से सारी जानकारी मुहैया करायी जाएगी। इंटरनेट होने पर शिक्षक व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, गूगल मेल आदि के जरिये छात्रों व अभिभावकों से जुड़कर पढ़ाई करा सकते हैं।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, May 9, 2020

उच्च शिक्षा : विश्वविद्यालयों में शैक्षिक सत्र छह जुलाई से होगा शुरू

उच्च शिक्षा : विश्वविद्यालयों में शैक्षिक सत्र छह जुलाई से होगा शुरू।

विश्वविद्यालयों में शैक्षिक सत्र छह जुलाई से शुरू होगा



घोषणा
● प्रथम वर्ष के छात्रों का शैक्षिक सत्र 17 अगस्त से शुरू होगा।
● पुराने छात्रों की कक्षाएं छह जुलाई से ही शुरू हो जाएंगी।

लखनऊ : कोरोना संकट में अनिश्चितता के इस दौर में भी उच्च शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को सत्र 2020-21 के लिए विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों का शैक्षणिक कैलेंडर घोषित कर दिया। इसमें प्रथम वर्ष के छात्रों का शैक्षिक सत्र 17 अगस्त से शुरू करने को कहा गया है। नए सत्र में दूसरे, तीसरे, चतुर्थ एवं पंचम सत्र के छात्रों की कक्षाएं छह जुलाई से ही शुरू हो जाएंगी। प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा मोनिका एस. गर्ग ने शुक्रवार को इस संबंध में शासनादेश जारी किया। इसमें कहा गया है कि सत्र 2020-21 के प्रथम वर्ष की सेमेस्टर परीक्षा-वार्षिक परीक्षा 15-20 दिन के विलंब से शुरू की जाए।


 पाठ्यक्रम को समय से पूरा करने लिए अध्ययन की दैनिक अवधि में बढोत्तरी की जाए तथा शीत अवकाश एवं अन्य अवकाश के दिनों की संख्या घटाई जाए जिससे विद्यार्थियों के अध्ययन पर प्रतिकूल असर न पड़े। घोषित शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार दूसरे, तीसरे, चौथे व पांचवें सेमेस्टर की कक्षाओं का संचालन 6 जुलाई 2020 से शुरू होगी। स्नातक-स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष में प्रवेश प्रक्रिया की अंतिम तिथि 14 अगस्त 2020 तक होगी। प्रथम वर्ष की कक्षाओं कासंचालन 17 अगस्त 2020 सेहोगा। सत्र 2020-21 का परीक्षा परिणामों की घोषणा 15 जून 2021 को होगी।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, March 28, 2018

माध्यमिक शिक्षा परिषद ने जारी किया सत्र 2018-19 का शैक्षिक कैलेंडर, बोर्ड परीक्षाएं फरवरी में, मार्च में रिजल्ट

...ऐसे चलेगा सत्र माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 2019 की 10वीं और 12वीं की वार्षिक परीक्षाएं फरवरी में करवाए जाने की तैयारी है। जबकि मार्च में रिजल्ट दे दिए जाएंगे। माध्यमिक शिक्षा निदेशक डॉ. अवध नरेश शर्मा की ओर से शनिवार को सत्र 2018-19 के लिए जारी शैक्षिक कैलेंडर में परीक्षा से लेकर सभी कार्यक्रमों की समय सीमा निर्धारित कर दी गई है। वहीं संयुक्त शिक्षा निदेशक और डीआईओएस को सभी प्रधानाचार्यों को कैलेंडर जल्द से जल्द मुहैया करवाने के निर्देश जारी किए गए हैं, जिससे तय समय पर सभी गतिविधियां पूरी हो सकें। बता दें कि 2018-19 का शैक्षिक सत्र दो अप्रैल से शुरू होगा। 30 अप्रैल तक माध्यमिक विद्यालयों को दाखिला प्रक्रिया पूरी करनी है।
जनवरी• 11 से 17 जनवरी तक सड़क सुरक्षा सप्ताह• यूपी बोर्ड परीक्षा के पाठ्यक्रम की पूर्ति और परीक्षा पूर्व प्रगतिn प्रतिभाशाली और कमजोर छात्रों के शिक्षण की समीक्षा• बोर्ड परीक्षा के लिए छात्रों को प्रवेश पत्र मुहैया करवाना• बोर्ड परीक्षा की तैयारी• मासिक परीक्षा• 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का आयोजन

फरवरी• यूपी बोर्ड परीक्षा•साक्षारता कार्यक्रमों का मूलयांकन और राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मार्च• गृह परीक्षा का आयोजन• गृह परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन और रिजल्ट
दिसंबर• कक्षा 8 के छात्रों को इकट्ठा करके छात्रवृत्ति परीक्षा के आवेदन पत्र भरवाना• विज्ञान कांग्रेस और वार्षिकोत्सव का आयोजन• यूपी बोर्ड प्रयोगात्मक परीक्षाओं का आयोजन• बोर्ड परीक्षक की तैयारी की समीक्षा करना• अतरिक्त कक्षाएं लगाना और मासिक परीक्षा का आयोजन

नवंबर• बाल मेला• शैक्षिक भ्रमण•अर्धवार्षिक परीक्षा के नतीजों की समीक्षा

अक्टूबर• 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर स्वच्छता पखवाड़ा करवाना• विज्ञान प्रदर्शनी, स्काउटिंग और रेडक्रॉस की जनपदीय प्रतियोगिता• उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन और अर्धवार्षिक परीक्षा का रिजल्ट• 11 अक्टूबर को लोकनायक जयप्रकाश नारायण जयंती का आयोजन

सितंबर• कक्षा 1 से 15 सितंबर तक हिंदी पखवाड़ा• कक्षा 8 के अर्ह छात्रों का राष्ट्रीय आय और कक्षा 10वीं में राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा के आवेदन फॉर्म भरे जाएंगे• प्रयोगात्मक कार्य की समीक्षा। 20 सितंबर से अर्धवार्षिक परीक्षा

जुलाई• छात्रवृत्ति फॉर्म भरे जाएंगे• छात्रों के लिखित कार्य की जांच और मासिक परीक्षा• कमजोर छात्रों के लिए शिक्षा कार्यक्रम
अगस्त• स्वतंत्रता दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन• विद्यालय के दो किलोमीटर की परिधि में एक ग्रामीण और शहरी क्षेत्र की बस्ती में साक्षरता कार्यक्रम• 9वीं और 11वीं के पंजीकरण के अलावा हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के यूपी बोर्ड परीक्षा फॉर्म भरवाना, मासिक परीक्षा• इंस्पायर अवॉर्ड की जनपद स्तरीय प्रदर्शनी

जून• ग्रीष्मावकाश
मई• सभी कोर्सों का आनुपातिक पाठ्यक्रम पूरा करवाना• ग्रीष्मवकाश के लिए गृह कार्य देना।• महीने वाली परीक्षा करवाना।• 21 जून को विश्व योग दिवस पर छात्रों को योग के लिए प्रेरित करना।
अप्रैल• कक्षा 6 से 9 में प्रवेश प्रक्रिया• 30 अप्रैल तक 11वीं के अस्थायी प्रवेश • आई कार्ड, पुस्तकालय कार्ड का वितरण• हर विषय का महीने भर का पाठ्यक्रम निर्धारण• रेड क्रॉस, एनसीसी में पंजीकरण, प्रयोगशालाओं की तैयारी, हरेक विषय के प्रयोगात्मक कार्य का मसिक विभाजन

Thursday, March 22, 2018

प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों के लिए वर्ष 2018-19 का मासिक शैक्षिक पंचांग जारी, देखें और डाउनलोड करें

प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों के लिए वर्ष 2018-19 का मासिक शैक्षिक पंचांग जारी, देखें और डाउनलोड करें





Friday, June 17, 2016

बिजनौर : परिषदीय स्कूलों में भी लागू होगा शैक्षिक कैलेंडर, प्रत्येक माह होगी शिक्षक-अभिभावक बैठक

शिक्षक-शिक्षिकाओं की मनमानी पर शैक्षिक कैलेंडर ब्रेक लगाएगा। शिक्षक-शिक्षिकाएं अपनी मनमर्जी से बच्चों को कुछ भी नहीं पढ़ा पाएंगी। वजह, माध्यमिक की तर्ज पर अब परिषदीय स्कूलों में जुलाई माह से शैक्षिक कैलेंडर अनिवार्य किया जाएगा। इस कैलेंडर के अनुसार ही स्कूलों में शिक्षण कार्य किया जाएगा। यहीं नहीं स्कूलों में प्रत्येक सप्ताह टेस्ट के साथ साथ प्रतिदिन बच्चों को होमवर्क दिया जाएगा। यानी अब स्कूल में बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षक-शिक्षिकाओं की जवाबदेही निश्चित होगी।परिषदीय स्कूलों में शिक्षा का माहौल तैयार करने के लिए शासन व शिक्षा विभाग तत्पर है। बेसिक शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों की तर्ज पर परिषदीय स्कूलों का शैक्षिक सत्र भी अप्रैल माह से आरंभ किया। यहीं नहीं पिछले दो सालों में परिषदीय स्कूलों की शिक्षा में कई बदलाव नजर आए। शिक्षा का स्तर ओर उठाने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग जुलाई माह में शैक्षिक सत्र ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद स्कूलों में शैक्षिक कलेंडर लागू करने जा रहा है। इस संबंध में मुख्य विकास अधिकारी डा. इंद्रमणि त्रिपाठी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मीटिंग लेकर दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों में जुलाई से पहले शैक्षिक कलेंडर तैयार किया जाए। जिसके आधार पर शैक्षणिक कार्य स्कूलों में संचालित होगा। प्रत्येक दिन बच्चों को होमवर्क दिया जाएगा। अब स्कूलों में साप्ताहिक टेस्ट और साफ सफाई का भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। नामांकन बढ़ाने पर उन्होंने जोर दिया और अफसरों का निर्देश दिए कि गांव व शहर में कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रह जाए। प्रत्येक माह होगी शिक्षक-अभिभावक बैठक परिषदीय स्कूलों में प्रत्येक माह शिक्षक-अभिभावकों की बैठक करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक माह में बैठक करना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही प्रतिदिन खेल एवं अन्य क्रियाकलापों के लिए भी एक घंटा निर्धारित किया जाएगा।