DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, August 19, 2020

यूपी शिक्षक भर्ती : केएल पटेल के फरार साथियों की तलाश में दूसरे जिलों में छापे।

यूपी शिक्षक भर्ती : केएल पटेल के फरार साथियों की तलाश में दूसरे जिलों में छापे।

गिरोह के सदस्य केएल पटेल का नेटवर्क काफी बड़ा है। इसके खास आदमी रुद्रपति के साथ ही गैंग के अन्य सदस्यों की तलाश में टीमें लगी हैं।




प्रयागराज :   सहायक शिक्षक भर्ती में रुपये लेकर अभ्यर्थियों को पास कराने वाले गिरोह के मुखिया की गिरफ्तारी के लिए उसके साथियों की तलाश में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) दूसरे जिलों में छापेमारी कर रही है। उसके दाहिने हाथ भदोही के रहने वाले रुद्रपति की सरगर्मी से तलाश है।

12 आरोपित हो चुके हैं गिरफतार

गैंग के सरगना केएल पटेल सहित अब तक 12 आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं। इनके अलावा 30-35 अन्य की तलाश जारी है। इनका नेटवर्क प्रयागराज के अलावा लखनऊ, वाराणसी, भदोही, कानपुर, रायबरेली, चित्रकूट, प्रतापगढ़, मीरजापुर, उन्नाव, सुल्तानपुर आदि जिलों में भी फैला है।


दिल्‍ली तक फैला है इस गिरोह का नेटवर्क

यहीं नहीं दिल्ली में भी उसके नेटवर्क की बात सामने आई थी। गैंग के इन सभी फरार सदस्यों में कई के नाम भी एसटीएफ के हाथ लगे हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। एसटीएफ की दो टीमें कई जिलों की खाक छान रही हैं और छापे मार रही हैं।



फरार गैंग के सदस्‍यों के मोबाइल चल रहे हैं बंद

फरार गैंग के सदस्यों के मोबाइल बंद हैं। एसटीएफ के अधिकारियों का मानना है कि उन्हें जल्द ही सफलता मिलेगी। एसटीएफ सीओ नवेंदु सिंह ने बताया कि गिरोह के सदस्य केएल पटेल का नेटवर्क काफी बड़ा है। इसके खास आदमी रुद्रपति के साथ ही गैंग के अन्य सदस्यों की तलाश में टीमें लगी हैं। दूसरे जिलों में भी दबिश का सिलसिला चल रहा है। जल्द ही बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद है।


----------------------------



69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में फरार अभियुक्तों के खिलाफ वारंट।

UP Sikshak Bharti : भदोही निवासी मायापति दुबे धूमनगंज का स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव प्रतापगढ़ का दुर्गेश पटेल समेत कुछ शातिर कई बार दबिश के बावजूद पकड़ से दूर हैं।

प्रयागराज :   सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में फरार चल रहे सात अभियुक्तों के खिलाफ गैर जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) जारी हो गया है। अब स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) संबंधित थाने की पुलिस के जरिए वारंट तामील करवा रही है। इसके बाद भी अगर अभियुक्त गिरफ्त से दूर रहते हैं तो उन्हें भगोड़ा घोषित किया जाएगा। उनकी गिरफ्तारी पर इनाम भी घोषित कराया जाएगा।

मायापति के खिलाफ नहीं जारी हुआ है वारंट : वांछित मायापति दुबे को चार हफ्ते में आत्मसमर्पण करने की मोहलत अदालत ने दी है। इसलिए उसके खिलाफ वारंट जारी नहीं किया गया है। इसी साल चार जून को परिषदीय स्कूलों में 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ सोरांव पुलिस ने किया था। गिरोह के सरगना डॉ. केएल पटेल, लेखपाल और दो अभ्यर्थी समेत 12 आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेज चुकी है।




शासन के निर्देश पर करीब दो माह से एसटीएफ इसकी जांच कर रही है। हाल ही में बस्ती निवासी एक और अभ्यर्थी की गिरफ्तारी हुई है। भदोही निवासी मायापति दुबे, धूमनगंज का स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव, प्रतापगढ़ का दुर्गेश पटेल समेत कुछ शातिर कई बार दबिश के बावजूद पकड़ से दूर हैं। इन पर शिकंजा कसने के लिए एसटीएफ ने अदालत की मदद ली है। साथ ही विवेचना में कुछ और लोगों के नाम सामने आए। इसके बाद उन्हे मुकदमे में शामिल किया गया। फिलहाल मायापति, दुर्गेश, चंद्रमा के अलावा अरविंद, शिवदीप, संदीप, सत्यम और शैलेष पटेल की तलाश है।

सरगना का सारा रखता था हिसाब : एसटीएफ को जांच में पता चला है कि सरगना केएल पटेल का साला शैलेष, अभ्यर्थियों से ली गई रकम का हिसाब-किताब रखता था। वही कैंडीडेंट लाने वाले को कमीशन भी देता था। दूसरा रिश्तेदार सत्यम  अभ्यर्थियों को झांसे में फंसाता था। कुछ और अभ्यर्थियों के नाम सामने आ सकते हैैं।

संपत्ति भी होगी कुर्क : एसटीएफ अधिकारियों का कहना है कि फरार अभियुक्तों की संपत्ति कुर्क करने के लिए जल्द ही कोर्ट में अर्जी दी जाएगी। अदालत के आदेश पर उनकी संपत्ति कुर्क की जाएगी।



....…….….


69000 शिक्षक भर्ती : गैर-जमानती वारंट तालीम करा रही पुलिस, हाजिर न होने पर फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों के सम्पत्ति की होगी कुर्की।


प्रयागराज : 69000 सहायक शिक्षक भर्ती में वांटेड स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट लेने के बाद पुलिस ने विधिक कार्रवाई शुरू कर दी है। प्रयागराज जिले के अलावा प्रतापगढ़ और भदोही के रहने वाले आरोपियों के घर एनबीटी डब्ल्यू तामील कराया जा रहा है। इसके बाद भी आरोपी हाजिर नहीं हुए तो भगोड़ा घोषितकर कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।





69000 शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों में स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव, प्रतापगढ़ के दुर्गेश, भदोही के मायावती दुबे और डॉ. कृष्ण लाल पटेल के रिश्तेदार समेत सात आरोपियों की गिरफ्तारी बाकी है। आरोपियों में भट्ठा संचालक मायापति दुबे ने कोर्ट से 4 हफ्ते का समय लिया है। मायावती ने कोर्ट में सरेंडर नहीं किया तो उसके  खिलाफ एसटीएफ विधिक कार्रवाई करेगी। एसटीएफ प्रभारी नीरज पांडेय ने बताया कि जिन आरोपियों के खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी हुआ है, उनके घर वारंट तामील कराया जा रहा है। प्रतापगढ़ जिले के अंतू और भदोही जिले के रहने वाले आरोपियों के अलावा प्रयागराज में धूमनगंज, फूलपुर, बहरिया और नवाबगंज थाने की पुलिस को एनबीडब्ल्यू दिया गया।


 स्थानीय पुलिस आरोपियों के घर जाकर तामीला करा रही है। पुलिस कोर्ट का आदेश लेकर आरोपियों के परिजनों को जानकारी दे रही है। उन्हें बता दिया गया है कि वारंट जारी है, इसके बाद भी हाजिर नहीं हुए तो उनके खिलाफ आगे कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

एसटीएफ ने फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों को लिया है एनबीडब्ल्यू,  प्रयागराज के अलावा प्रतापगढ़ व भदोही के रहने वाले हैं आरोपी

-----------------

69000 शिक्षक भर्ती : स्कूल प्रबंधक समेत सभी आरोपी होंगे भगोड़ा घोषित।

प्रयागराज : 69000 सहायक शिक्षक भर्ती में वांटेड स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव समेत अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट लेने के बाद अब एसटीएफ उन्हें भगोड़ा घोषित कराने में लगी है । कोर्ट खुलते ही कार्रवाई की जाएगी। उन पर इनाम घोषित कराया जाएगा। इस दौरान अगर उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई तो पुलिस कोर्ट के आदेश पर उनके घरों की कुर्की करेगी।



69000 शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों में स्कूल प्रबंधकचंद्रमा यादव, प्रतापगढ़ का दुर्गेश, भदोही के मायावती दुबे और डॉक्टर कृष्ण लाल पटेल के रिश्तेदार समेत सात आरोपियों की गिरफ्तारी बाकी है। एसटीएफ ने शनिवार को ही अभ्यर्थी बलवंत पटेल को गिरफ्तार करके भेजा था जिसने डॉक्टर केएल पटेल से मिलकर अभ्यर्थियों को पास कराने के नाम पर लाखों रुपए दिलवाए थे। उससे पूछताछ कर एसटीएफ को इस फर्जीवाड़ा करने वाले गैंग के बारे में कई जानकारी मिली है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments