DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, October 20, 2020

शर्तों के साथ खुल गए क्लास 9 से 12 तक के स्कूल, दो पालियों में चली कक्षाएं school reopening in uttar pradesh

शर्तों के साथ खुल गए क्लास 9 से 12 तक के स्कूल, दो पालियों में चली कक्षाएं

 
यूपी में सोमवार सुबह कक्षा 9 से लेकर 12 तक के छात्र के लिए स्कूल खुल गए हैं। राजधानी लखनऊ , कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, आगरा समेत सभी जिलों में सात महीने बाद सुबह स्कूलों के सामने चहल -पहल दिखी। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद छात्रों को अंदर के जाने की अनुमति दी गई।


लखनऊ में करीब 1020 स्कूल सोमवार सुबह खुल गए है। सदर स्थित लखनऊ मांटेसरी इंटर कॉलेज के गेट पर सुबह छात्रों को थर्मल स्क्रीनिंग के प्रवेश दिया जा रहा था। लंबे समय के बाद स्कूल आने बाद छात्र खुश थे। इसी तरह राजधानी के अन्य स्कूल में कोरोना गाइड लाइन का पालन कर छात्रों का स्कूल प्रवेश कराया जा रहा था।


जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि राजकीय स्कूलों के 51 प्रिंसिपल को इन स्कूलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके अलावा, जिला मजिस्ट्रेट की ओर से 106 अन्य अधिकारियों की निरीक्षण के लिए लगाया गया है। डीआईओएस ने बताया कि  मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखकर सभी सीएचसी और पीएचसी को अलर्ट पर रखने को कहा गया है । इसके अलावा, सभी एसडीएम और तहसीलदार को अपने क्षेत्रों के स्कूलों के निरीक्षण को कहा गया है। 

शर्तों के साथ खुले स्कूल

शर्तों के साथ हापुड़ जिले के स्कूल सोमवार सुबह से खुल गए हैं। स्कूलों में कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं चल रही हैं। कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। स्टूडेंट्स को परीक्षा कक्षों में दूर-दूर बैठाया गया है। 

डीआईओएस निशा अस्थाना ने बताया कि कोविड 19 की गाइडलाइन का पालन कराते हुए स्कूल खुल गए हैं। कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं स्कूलों में चल रही हैं। वह खुद और नोडल अधिकारी स्कूलों का निरीक्षण कर रहे हैं। कोरोना वायरस को लेकर स्कूलों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सभी स्कूलों के कक्षों में स्टूडेंट्स को दूर-दूर बैठाया गया है। स्टूडेंट्स को कोई परेशानी नहीं हो, इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। 

सुलतानपुर में खुल गए माध्यमिक विद्यालय

सोमवार को जिले के माध्यमिक स्कूल खुल गए।  कोविड-19 महामारी संक्रमण के कारण नए शिक्षा सत्र अप्रैल महीने से स्कूलों एवं विद्यालयों में शिक्षण कार्य बंद था। शासन की गाइड लाइन का पालन करते हुए सोमवार से सोशल डिस्टेंसिंग के तहत विद्यालयों में कक्षा नौ से लेकर 12 तक की विद्यार्थियों की पढ़ाई शुरु हो गई। प्रथम पाली में सुबह 8.50 बजे से कक्षा नौ व 10 और द्वितीय पाली में अपराह्न 2.50 बजे से कक्षा 11 व 12 के विद्यार्थियों स्कूल बुलाया गया है।

डीआईओएस जयप्रकाश यादव ने बताया कि से 30 प्रतिशत अभिभावकों ने अपने बच्चों को विद्यालयों में पढ़ाने के लिए भेजने पर सहमति पत्र प्रदान की है।  विद्यालयों में नामांकित कक्षावार विद्यार्थियों की संख्या के हिसाब से एक दिन में 50 फीसदी ही बच्चों को पढ़ने के लिए बुलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुछ विद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या अधिक होने के कारण प्रथम पाली में सुबह नौ बजे से तथा द्वितीय पाली में अपराह्न तीन बजे से पढ़ाई होगी।  सोमवार को नगर के शैम्फोर्ड फ्यूचरस्टिक स्कूल में सैनिटाइजेशन, थर्मल स्क्रीनिंग के बाद मास्क के साथ बच्चों का प्रवेश कराया गया। प्रधानाचार्य डॉ. अजय तिवारी ने बताया कि शासन की गाइडलाइन का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

गोंडा : स्कूल कालेजों से हटा कोरोना का ताला

सरकार की गाइड लाइन के बाद करीब सात माह बाद स्कूल और कालेजों पर जड़ा कोरोना का ताला सोमवार को हट गया। पहले दिन पहुंचे बच्चों को अधिकतर स्कूलों में कोविड गाईड लाईन के तहत प्रवेश दिया गया। यहां के अधिकतर स्कूलों में सुबह पहुंचे छात्र छात्राओं को सैनिटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग के बाद प्रवेश दिया गया। क्लास में भी दैहिक दूरी का अनुपालन कराया जा रहा है। पहले दिन खुले स्कूलों में शिक्षकों और स्टाफ को भी नियमों के तहत जांच से गुजरना पड़ा। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक कहीं नियमों की अनदेखी की सूचना नहीं है। 


स्थानीय सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल पंतनगर  में प्रातः काल बच्चों का प्रवेश होने पर बच्चों को सैनिटाइज करने के साथ-साथ उनका थर्मल स्क्रीनिंग की गई। तत्पश्चात विद्यालय में प्रवेश दिया गया। प्रधानाचार्य रामागिरी विद्यासागर ने बताया  शासनादेश के बाद प्रथम दिन इस सत्र का विद्यालय खोला गया है। जिसमें समस्त प्रकार की सावधानियां को ध्यान में रखते हुए हुए कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थियों को  बुलाया गया है। उनके अभिभावक के स्वीकृति पत्र  के साथ विद्यालय में प्रवेश दिया जा रहा है। जनता इंटर कालेज खरगूपुर, देवीबख्श इंटर कालेज बेलसर में नियमों के तहत प्रवेश दिया गया। डीआईओएस अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि निगरानी दल बनाएं गए हैं और निरीक्षण कराया जा रहा है।

दो पालियों में  कक्षाएं 

- दो पालियों में स्कूल चलेंगे। पहली पाली में कक्षा 9 व 10 और दूसरी पाली में कक्षा 11 व 12 के बच्चे बुलाए जाएंगे। 

- विद्यालय खुलने पर प्रतिदिन प्रत्येक पाली के उपरांत कक्ष का सैनिटाइजेशन कराना होगा। 

- बच्चों के आने पर ट्रेम्परेचर परीक्षण के बाद सैनिटाइजेशन कराना होगा। मास्क लगाना अति आवश्यक है। 

- प्रत्येक विद्यालय में जिला प्रशासन के इन्टीग्रेटेड कंट्रोल रूम का नंबर डिस्प्ले करना होगा। 

- यदि किसी विद्यालय में विद्यार्थी, शिक्षक अथवा किसी कर्मचारी को खासी, जुकाम या बुखार है तो उसकी सूचना तत्काल कंट्रोल रूम में देनी होगी। 

- कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए विद्यालयों में एक कमेटी का गठन की जाएगी। 

- ऑनलाइन कक्षाएं यथावत चलती रहेंगी उन्हें बंद नहीं किया जाएगा।

- दो शिफ्टों में 50-50 फीसद बच्चों को बुलाकर कक्षाएं संचालित की जाएंगी। 

- लंच के समय बच्चे जब मास्क उतारें तो छह फीट की दूरी उनके बीच आवश्यक है। खाने-पीने की कोई सामग्री बच्चे आपस में शेयर न करें। 

No comments:
Write comments