DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, October 28, 2020

फतेहपुर : शहर के पास वाले स्कूलों में पढ़ा सकेंगे पुरुष शिक्षक, बेसिक शिक्षा विभाग में अगड़े-पिछड़े ब्लॉकों का मानक किया गया खत्म

फतेहपुर : शहर के पास वाले स्कूलों में पढ़ा सकेंगे पुरुष शिक्षक, बेसिक शिक्षा विभाग में अगड़े-पिछड़े ब्लॉकों का मानक किया गया खत्म।

फतेहपुर :  बेसिक शिक्षा विभाग में अगड़े-पिछड़े ब्लॉकों का मानक खत्म हो गया है। इस बार शहर के करीब रहने वाले अगड़े ब्लाकों में महिला व विकलांगों के अलावा पुरुष शिक्षकों की भी नियुक्ति होगी। हालांकि रोस्टर के हिसाब से पुरुष शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। जिले के कुल तेरह ब्लॉकों में 1903 परिषद के प्राथमिक स्कूल हैं। इनको बेसिक शिक्षा विभाग ने अगड़े और पिछड़े दो श्रेणियों में बांट रखा है। नगर के करीब वाले अगड़े ब्लाकों में अभी तक निःशक्त और महिला शिक्षकों को ही पहली नियुक्ति मिलती थी। पुरुष शिक्षकों का सिर्फ नगर से दूर पिछड़े ब्लाकों में नियुक्ति दी जाती थी। ऐसे में पिछड़े आठ ब्लाकों के अधिकांश प्राथमिक स्कूल सहायक अध्यापकों से संतृप्त हो चुके हैं। अगड़े ब्लाकों के स्कूलों में अभी तक बड़ी संख्या में सहायक अध्यापकों के पद रिक्त हैं।


ऐसे में बेसिक शिक्षा विभाग ने नई नियुक्ति के मानक में परिवर्तन कर दिया है। अब पुरुष शिक्षकों की नियुक्ति का मानक किसी भी ब्लॉक के रिक्त स्कूल में कर दिया गया है। बीएसए ने रिक्तियों वाले 565 प्राथमिक स्कूलों की सूची आनलाइन अपलोड कर शासन को भेज दी है, जिसमें छात्र और शिक्षक संख्या अंकित है। छात्र संख्या के आधार पर शिक्षकों की रिक्तियां तैयार कर शिक्षकों की नियुक्ति की जानी है। डायट में होने वाली दो दिनी काउंसलिंग में पहले दिन 29 अक्तूबर को निःशक्त महिला और फिर निःशक्त पुरुष अभ्यर्थियों को आनलाइन सूची में स्कूल चयन करने का मौका मिलेगा। इसके बाद मैरिट की वरिष्ठता क्रम से महिला शिक्षक स्कूल का चयन करेंगी। यह प्रक्रिया 30 अक्तूबर को दोपहर 12 बजे तक चलेगी इसके बाद 350 पुरुष शिक्षकों को तय रोस्टर से स्कूलों का आवंटन किया जाएगा। अगले दिन 31 अक्तूबर को सभी नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे जाएंगे।

▪️👉🏻 यह हैं पिछड़े ब्लाक:- धाता, ऐरायां, हथगाम, विजयीपुर, हसवा, असोथर, देवमई, अमौली। 

▪️👉🏻 यह हैं अगड़े ब्लाकः- खजुहा, मलवां, बहुआ, तेलियानी, भिटौरा।


तीस छात्र संख्या पर एक शिक्षक : बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि इस बार आरटीई के मानक से स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति होगी। स्कूलों में प्रति 30 छात्रों पर एक शिक्षक नियुक्त होगा। 31 छात्र संख्या होने पर दूसरे शिक्षक का पद सृजन हो जाएगा। इसी तरह से 60 छात्र संख्या तक दो शिक्षकों के पद होंगे और 61 छात्र संख्या होने पर तीसरा पद सृजित हो जाएगा। यही सिलसिला आगे भी चलता रहेगा।


फतेहपुर : नव नियुक्त शिक्षकों को ऑनलाइन आवंटित होंगे विद्यालय, मनचाहा विद्यालय पाने के जुगाड़ के रास्ते बन्द।

फतेहपुर : जिले में तैनाती पाने वाले 475 नवनियुक्त शिक्षकों की जुगाड़ से मनचाहा स्कूल पाने की तमन्ना धरी की धरी रह गई। इस बार ऑनलाइन प्रक्रिया से स्कूलों को आवंटन होने से जुगाड़ के सारे रास्ते बंद हो गए हैं।


शासन से बनाए गए साफ्टवेयर के जरिए ही शिक्षकों को स्कूल आवंटित होंगे। 29 अक्तूबर को सभी दिव्यांग महिला व पुरुषों के साथ दूसरी सभी महिला अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी। 30 अक्तूबर को शेष बचने वाले अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग प्रक्रिया में प्रतिभाग कराया जाएगा। वहीं पुरुष शिक्षकों को मनचाहा स्कूल चुनने का कोई आप्शन नहीं है। ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत रोस्टरके अनुसार ही उन्हें स्कूल आवंटित होंगे। विभाग का दावा इस कार्रवाई से पूरी प्रक्रिया के पारदर्शी ढंग होगी। बीएसए शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता रहेगी। इसमें में प्रशासनिक अधिकारियों की भी निगरानी रहेगी। काउंसिलिंग प्रक्रिया डायट परिसर में कराई जाएगी।

No comments:
Write comments