DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, January 30, 2021

प्रयागराज में बीईओ को कार्यालय में नकली पिस्टल दिखाकर धमकाया, आरोपी चतुर्थ श्रेणी कर्मी गिरफ्तार

प्रयागराज में बीईओ को कार्यालय में नकली पिस्टल दिखाकर धमकाया, आरोपी चतुर्थ श्रेणी कर्मी गिरफ्तार


मम्फोर्डगंज स्थित जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में घुसकर खंड शिक्षाधिकारी को पिस्टल दिखाकर धमकाया गया। इससे पहले उनसे गालीगलौज भी की गई। शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने आरोपी चतुर्र्थ श्रेणी कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि ड्यूटी में लापरवाही पर नोटिस जारी किए जाने से खुन्नस खाकर उसने घटना की।


अर्जुन सिंह बेसिक शिक्षा विभाग में खंड शिक्षाधिकारी केपद पर तैनात हैं जिनकी वर्तमान तैनाती मुख्यालय स्थित कार्यालय में है। उन्होंने बताया कि शाम सात बजे केकरीब वह बीएसए कार्यालय स्थित अपने कक्ष में थे। आरोप है कि इसी दौरान बीआरसी कौड़िहार में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रामआशीष पांडेय उनकेकार्यालय में घुस आया और पिस्टल सटाकर गालीगलौज करने लगा। विरोध पर परिवार समेत जान से मारने की धमकी दी और मारपीट पर उतारू हो गया।


अन्य कर्मचारियों ने बीचबचाव की कोशिश की जिस पर आरोपी ने उनकेसाथ धक्कामुक्की की। किसी तरह खुद को कक्ष में बंद कर उन्होंने अपनी जान बचाई। इस दौरान आरोपी ने दरवाजा तोड़ने की कोशिश की और करीब आधे घंटे तक कार्यालय परिसर में हंगामा करता रहा। बाद में पुलिस को सूचना देने पर भाग निकला। भुक्तभोगी शिक्षाधिकारी ने बताया कि पिछले दिनों जिला प्रशासन की ओर से आरोपी कर्मचारी की ड्यूटी मेला क्षेत्र स्थित कार्यालय में डाटा फीडिंग केलिए लगाई थी। गैरहाजिर रहने पर जिला प्रशासन की रिपोर्ट पर बीएसए ने वेतन रोकते हुए उन्हें कार्रवाई के लिए निर्देशित किया।


इसी क्रम में उन्होंने उसे नोटिस जारी किया था, जिस बात को लेकर वह इतना नाराज हुआ कि धमकाने के लिए पिस्टल लेकर उनकेकार्यालय में चला आया। उनका यह भी आरोप है कि घटना के तुरंत बाद तहरीर देने के बावजूद पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में 12 घंटे से ज्यादा का वक्त लगा दिया। 


नशे में नकली बंदूक लेकर गया था: पुलिस
इस मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो पता चला कि जिस पिस्टल को दिखाकर उसने भुक्तभोगी अफसर को धमकाया, वह नकली थी। बताया कि घटना वाले दिन उसने शराब पी थी और नशे में धुत होने केबाद ही वह बीएसए कार्यालय पहुंचा और हंगामा किया। कर्नलगंज इंस्पेक्टर विनीत सिंह ने बताया कि तहरीर केआधार पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, लोकसेवक से मारपीट, गालीगलौज, धमकाने समेत अन्य आरोपों में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया,जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी के पास लाइसेंसी असलहा होने की बात सही नहीं पाई गई।


खंड शिक्षा अधिकारी को पिस्टल सटा दी धमकी

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी को धमकी देने का मामला सामने आया है। कर्मचारी ने कर्नलगंज थाने में आरोपी परिचालक के खिलाफ पिस्टल सटाकर जान से मारने की धमकी देना और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी अर्जुन सिंह ने कौड़िहार के राम आशीष पांडेय के खिलाफ मारपीट, धमकी, गाली गलौज और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का कर्नलगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप लगाया है कि 27 जनवरी की शाम 7:00 बजे वह बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में बैठकर सरकारी काम कर रहे थे। 

इस दौरान बीआरसी कौड़िहार से संबंध परिचालक राम आशीष पांडेय पहुंचे और गाली देने लगे। कार्यालय के चपरासी आमिर खान ने आकर उनको बताया कि एक व्यक्ति आपको गाली दे रहा है । आरोप है कि आशीष पांडे ने उनके कक्ष में आकर पिस्टल निकालकर जान से मारने की धमकी दी मारपीट करने लगे तथा सरकारी काम में बाधा पहुंचाया । किसी तरीके से खंड शिक्षा अधिकारी वहां से भाग कर अपनी जान बचाई। 

इस घटना से कार्यालय में अफरा-तफरी मच गई । उस वक्त मौजूद स्टेनो अन्य कर्मचारियों ने आरोपी को समझाने की कोशिश की। सूचना मिलने पर पुलिस भी पहुंच गई। उस वक्त पुलिस ने मारपीट का मामला बताया था। अब लिखित शिकायत मिलने पर मुकदमा दर्ज करके पुलिस जांच कर रही है।

No comments:
Write comments