DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, September 13, 2021

माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के 35 हजार पद खाली, भर्ती शुरू करने लिए प्रतियोगियों ने छेड़ी मुहिम

माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के 35 हजार पद खाली, भर्ती शुरू करने लिए प्रतियोगियों ने छेड़ी मुहिम

प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक एवं प्रवक्ता के 27 हजार पद रिक्त हैं। वहीं, राजकीय इंटर कॉलेजों में सहायक अध्यापक (एलटी) के 8500 पद रिक्त पड़े हैं। कई दिनों से रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किए होने की चर्चा चल रही है।


प्रदेश के अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों और राजकीय इंटर कॉलेजों में शिक्षकों के तकरीबन 35500 पद रिक्त पड़े हुए हैं। इन पदों पर भर्ती शुरू करने के लिए प्रतियोगी मोर्चा ने मुहिम छेड़ दी है। रविवार को मोर्चा के पदाधिकारियों ने प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को ज्ञापन सौंपा और अब 13 सितंबर (सोमवार) को दिन में 11 बजे उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड पर धरना देने जा रहे हैं। 

प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक एवं प्रवक्ता के 27 हजार पद रिक्त हैं। वहीं, राजकीय इंटर कॉलेजों में सहायक अध्यापक (एलटी) के 8500 पद रिक्त पड़े हैं। कई दिनों से रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किए होने की चर्चा चल रही है, लेकिन अब तक विज्ञापन जारी नहीं किया गया। इस मसले पर प्रतियोगी मोर्चा के अध्यक्ष विक्की खान और मोर्चा के प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय ने रविवार को कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से मुलाकात की।


उन्होंने मंत्री से मांग की कि 2022 के विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने से पहले रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया जाए। अभ्यर्थियों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर चयन बोर्ड को वर्ष 2020 की टीजीटी-पीजीटी भर्ती इस साल 31 अक्तूबर तक पूरी करानी है। इसके बाद चयन बोर्ड के पास कोई काम नहीं रहेगा और जिन अभ्यर्थियों का चयन नहीं होगा, वे रोजगार के लिए भटकेंगे। मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द ही इस बारे में संबंधित लोगों से बात करे करेंगे, ताकि रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शीघ्र शुरू कराई जा सके।

नई प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए ट्विटर पर अभियान
नई प्राथमिक शिक्षक भर्ती की मांग कर रहे डीएलएड, बीटीसी प्रशिक्षित युवाओं ने रविवार से इस मुद्दे को लेकर ट्विटर पर अभियान शुरू कर दिया है। इस मांग को लेकर प्रशिक्षित शिक्षकों ने पिछले दिनों परीक्षा नियामक प्राधिकारी का घेराव भी किया था। जिसके बाद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके तीन सदस्यीय नई कमेटी के गठन की बात कही गई।  

साथ बेसिक शिक्षा विभाग में नए पदों का सृजन कर कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर आगे की प्रक्रिया को संचालित करने का आश्वासन दिया गया। अभ्यर्थियों ने ट्विटर के माध्यम से मुख्यमंत्री एवं बेसिक शिक्षा मंत्री को टैग करके कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर शीघ्र नई बेसिक शिक्षक भर्ती की घोषणा करने की अपील की है। संगठन के प्रदेश प्रवक्ता रामानुज दुबे ने कहा कि पिछली 69000 भर्ती के बाद सरकार ने किसी भी तरह की कोई भर्ती नहीं की है, जबकि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में 51112 पदों के रिक्त होने की बात सरकार ने स्वीकार की थी। ऐसे में रिक्त पदों एवं पिछले वर्ष के रिटायरमेंट के कारण खाली हुए पदों को जोड़ते हुए सरकार एक बड़ी भर्ती की घोषणा करे। अभियान शिवांशु मिश्र, बंटी पांडेय, अखंड प्रताप सिंह, अमित कुमार, अंतिमा कौशिक, नेहा निर्मल, कोमल, शिवम, अर्पित, वैभव, आकाश आदि शामिल रहे।

No comments:
Write comments