DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label धरना. Show all posts
Showing posts with label धरना. Show all posts

Wednesday, September 30, 2020

69000 भर्ती में त्रुटि सुधार का मौका देने की मांग के लिए शिक्षामित्रों ने दिया धरना

69000 भर्ती में त्रुटि सुधार का मौका देने की मांग के लिए शिक्षामित्रों ने दिया धरना


69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आवेदन पत्र में हुई त्रुटि के कारण चयन से वंचित रह रहे शिक्षा मित्रों ने सोमवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय पर धरना प्रदर्शन किया।


शिक्षामित्रों ने निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह और महानिदेशक विजय किरन आनंद से मौका देने की मांग की। शिक्षामित्रों ने बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में शिक्षामित्रों ने 65 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त कर परीक्षा उत्तीर्ण की। नियमानुसार उन्हें अधिकतम 25 भारांक का लाभ मिलना चाहिए। लेकिन परीक्षा के आवेदन पत्र में त्रुटिवश विशिष्ट बीटीसी की जगह बीटीसी फीड होने से उन्हें शिक्षामित्रों को मिलने वाले भारांक से वंचित किया जा रहा है। 


प्रदर्शन में शिक्षा मित्र संघ के अध्यक्ष अभय कुमार सिंह, अनुभा वर्मा, शशि वर्मा, देवेश त्रिपाठी और रागिनी सिंह शामिल थे व्यूरो

Tuesday, September 29, 2020

बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं ने निदेशालय पर किया प्रदर्शन, प्रमोट करने की मांग

बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग।

प्रयागराज :  डीएलएड प्रशिक्षुओं ने एससीईआरटी निदेशक कार्यालय पर प्रदर्शन कर बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं के बारे में निर्णय लेने की मांग की। डीएलएड प्रशिक्षुओं से बातचीत के बाद निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह ने आश्वासन दिया कि उनकी मंगलवार को सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी से मिलकर अपनी बात रखेंगे। 

उन्होंने छात्रों को आश्वस्त किया कि डीएलएड प्रशिक्षुओं का बैक पेपर करवाया जाएगा। एसीईआरटी निदेशक से मिलने वालों में अनीश गुप्ता, राहलु यादव, अभिषेक तिवारी, अनुपम शामिल रहे।

Sunday, September 27, 2020

ओबीसी अभ्यर्थियों ने शिक्षा निदेशालय का घेराव किया, पिछड़ा वर्ग आयोग की रोक के बावजूद भर्ती की कोशिश पर उपजा आक्रोश

ओबीसी अभ्यर्थियों ने शिक्षा निदेशालय का घेराव किया, पिछड़ा वर्ग आयोग की रोक के बावजूद भर्ती की कोशिश पर आक्रोश


ओबीसी एससी अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा निदेशालय के बाहर किया जबरदस्त प्रदर्शन, पुलिस प्रशासन को छकाया


लखनऊ।   69000 शिक्षकों की भर्ती में अनिमियता का आरोप लगाते हुए ओबीसी, एससी व एसटी के अभ्यर्थियों ने शनिवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव किया। अभ्यर्थियों ने जोरदार नारेबाजी की तथा शिक्षा निदेशालय के पास रोड जाम करने का प्रयास किया। उनकी संख्या ज्यादा देख प्रशासन ने इन्हें ईको गार्डेन धरना स्थल खदेड़ा। 


अभ्यर्थियों ने कहा कि वह अब तभी वापस जाएंगे जब मुख्यमंत्री उन्हें न्याय का आश्वासन देंगे। उनका कहना था कि भर्ती में ओबीसी व एसी के छात्रों के साथ नाइंसाफी की गयी है। अभ्यर्थियों ने बताया कि बेसिक शिक्षा विभाग ने भर्ती प्रक्रिया में घोर अनियमितायें की हैं। 


भर्ती प्रक्रिया पर राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने जुलाई 2020 में में ही रोक लगा दी थी। फिर किस आधार पर भर्ती की जा रही है। आयोग ने ओबीसी के साथ नाइंसाफी की जानकारी पर ही रोक लगायी थी। अभ्यर्थियों ने कहा कि जब सब कुछ पारदर्शी तरीके से हुआ है तो शिक्षक भर्ती की मूल चयन सूची, शैक्षिक गुणांक सहित वर्गवार इसकी सूची क्यों नहीं जारी की जा रही है। क्यों नहीं आयोग को इसकी पूरी सूचना दी जा रही है।


 एमआरसी की आड़ में ओबीसी व एससी का आरक्षण छीना जा रहा है। इसे अभ्यर्थी बर्दास्त नहीं करेंगे। कोर्ट व आयोग में मूल चयन सूची उपलब्ध करायी जाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री से उनकी मुलाकात नहीं होगी, मुख्यमंत्री से न्याय का आश्वासन नही मिलेगा तब तक वह नहीं जाएंगे। उनका धरना अनवरत जारी रहेगा। अभ्यर्थियों का कहना था कि आयोग का फैसला आने के बाद हो भर्ती की जाए। सरकार जल्दबाजी क्यों कर रही है? 


प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक मांग नहीं मानी जाएगी, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। हंगामे के बाद बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह, बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल तथा संयुक्त निदेशक गणेश कुमार अभ्यर्थियों से मिलने धरना स्थल पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया कि अभ्यर्थियों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। अभ्यर्थियों ने अधिकारियों से लिखित आश्वासन मांगा। लेकिन अधिकारियों ने लिखित आश्वासन देने में असमर्थता जताई।

Sunday, September 20, 2020

डीएलएड प्रशिक्षुओं का प्रदर्शन, सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग

डीएलएड प्रशिक्षुओं का प्रदर्शन, सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग।

प्रयागराज : डीएलएड प्रशिक्षुओं ने शनिवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट किया जाए, जो प्रशिक्षु फेल हैं या फिर बैक पेपर आया है उन्हें भी अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाए। प्रशिक्षुओं ने कहा कि सरकार ने उनकी मांग को माना है, जबकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने ऐसा प्रस्ताव भेजा कि फेल व बैक पेपर वालों का पाठ्यक्रम जल्द पूरा नहीं हो सकेगा। 


सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि शासन ने स्पष्ट आदेश दिया है, उसी के अनुसार प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे। जब सभी विषयों में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है तो उसके बिना कैसे सभी को प्रमोट किया जा सकता है।

Friday, September 4, 2020

डीएलएड (पूर्व बीटीसी) प्रशिक्षु परीक्षा और प्रोन्नत होने के बीच फंसे, निर्णय न आने से आजिज होकर दिया धरना

डीएलएड (पूर्व बीटीसी) प्रशिक्षु परीक्षा और  प्रोन्नत होने के बीच फंसे, निर्णय न आने से आजिज होकर दिया धरना

 

प्रयागराज : डीएलएड प्रशिक्षु परीक्षा और सेमेस्टर से प्रोन्नत होने के बीच फंसे हैं। निर्णय न होने से आजिज आकर प्रशिक्षुओं ने गुरुवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर धरना दिया। संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक तिवारी के नेतृत्व में सैकड़ों प्रशिक्षुओं ने डीएलएड (पूर्व बीटीसी) के सेमेस्टर प्रमोट/ परीक्षा को लेकर हो रही विभागीय लापरवाही के विरोध में कार्यालय सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज कार्यालय पर धरना दिया। धरना शांतिपूर्ण रहा और शारीरिक दूरी का पालन किया गया। 


प्रदेश अध्यक्ष तिवारी ने कहा कि डीएलएड 2018 बैच का सेमेस्टर लगभग आठ माह से लेट है, अभी तक तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा नहीं हुई है चतुर्थ सेमेस्टर भी पूर्ण हुए दो माह का समय हो गया है और परीक्षा का कोई अता पता नहीं है इस प्रकार के सेमेस्टर प्रमोट/ परीक्षाओं को लेकर जल्द निर्णय लिया जाए और जब तक निर्णय नहीं लिया जाता तब तक हम लोग यहां से हटेंगे नहीं, जबकि प्रशिक्षण पूर्ण है।

Saturday, August 22, 2020

11 सूत्रीय मांगों को लेकर चार व पांच सितम्बर को उपवास पर रहेंगे शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक संघ ने किया ऐलान

चार व पांच सितम्बर को उपवास पर रहेंगे शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक संघ ने किया ऐलान।

लखनऊ में 11 सूत्री मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के शिक्षक चार व पांच सितंबर को उपवास पर बैठेंगे।

लखनऊ : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की शुक्रवार को ओसीआर स्थित कार्यालय पर प्रांतीय स्तर की बैठक हुई। राजबहादुर सिंह चंदेल व प्रांतीय अध्यक्ष चेत नारायण सिंह की अध्यक्षता में हुई में प्रदेश के सभी मंडलों के पदाधिकारी, विधान परिषद चुनाव के प्रत्याशी एवं उपाध्यक्ष जगदीश ब्यास शामिल हुए।



बैठक को संबोधित करते हुए प्रांतीय अध्यक्ष चेत नारायण सिंह ने कहा कि लंबे समय से शिक्षकों की मांगों की उपेक्षा की जा रही है। अब शिक्षक समस्याओं को लेकर आर पार की लड़ाई होगी। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के शिक्षक 4 व 5 सितंबर को प्रदेश के सभी जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर दो दिवसीय उपवास करने को मजबूर है। इस दौरान राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन को जिला विद्यालय निरीक्षक को सौंपेंगे। मांगे न पूरी होने पर 14 व 15 सितंबर को लखनऊ में राज्य परिषद की बैठक आयोजित की जाएगी। जिसमें पश्चिमांचल के नौ मंडलों के पदाधिकारी 14 सितंबर को व पूर्वांचल के पदाधिकारी भी शामिल होंगे।

उन्होंने बताया कि दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर 11 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के सभी मंडल मुख्यालयों पर शिक्षक उपवास पर बैठेगे। वहीं 2 से 9 नवम्बर के बीच शिक्षा निदेशक माध्यमिक के कार्यालय पर शिक्षक क्रमिक उपवास पर रहेंगे। इस अवसर पर संगठन के प्रदेश महामंत्री प्रवक्ता डॉ महेंद्र नाथ राय समेत तमाम लोग मौजूद रहे।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।