DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label स्थानान्तरण. Show all posts
Showing posts with label स्थानान्तरण. Show all posts

Saturday, January 16, 2021

सांसदों व विधायकों के रिश्तेदारों को मिल सकती है मनचाहे जिले में तैनाती, आज के अखबार की खबर

सांसदों व विधायकों के रिश्तेदारों को मिल सकती है मनचाहे जिले में तैनाती, आज के अखबार की खबर


लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों के वे सहायक अध्यापक जो सत्तारूढ़ दल के सांसद, विधायक या पार्टी पदाधिकारी के करीबी रिश्तेदार हैं, उन्हें मनचाही तैनाती का तोहफा मिल सकता है। चुनावी वर्ष में जनप्रतिनिधियों और पार्टी पदाधिकारियों को संतुष्ट करने के लिए तबादले शासनादेश से करने की कवायद शुरू की गई है। सूत्रों के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग में इस पर सैद्धांतिक सहमति बन चुकी है।


तबादले की अर्जी लेकर सचिवालय पहुंच रहे सत्ता और संगठन के लोगों को ताकीद किया जा रहा है कि सिर्फ अपने करीबी रिश्तेदार या परिवार के सदस्य के तबादले की ही अर्जी दें। इसके बाद तैयार लिस्ट की छंटनी कर शासनादेश का प्रस्ताव तैयार कर मुख्यमंत्री की मंजूरी ली जाएगी। सीएम की हरी झंडी मिलते ही तबादलों के आदेश जारी किए जाएंगे। 


गौरतलब है कि बेसिक शिक्षा विभाग ने 2019 में तबादलों के लिए आवेदन मांगे थे। 54 हजार तबादलों की मंजूरी के बावजूद 21 हजार से अधिक सहायक अध्यापकों के ही अंतर्जनपदीय तबादले किए गए हैं। हर विस क्षेत्र में बड़ी संख्या में सहायक अध्यापक तबादले से बंचित रहे हैं।

(साभार -  दैनिक अमर उजाला)

Tuesday, January 12, 2021

अंतर्जनपदीय तबादले से वंचित परिषदीय शिक्षिकाओं का प्रदर्शन, मुख्यमंत्री को भेजा मांगपत्र

अंतर्जनपदीय तबादले से वंचित परिषदीय शिक्षिकाओं का प्रदर्शन, मुख्यमंत्री को भेजा मांगपत्र।


लखीमपुर खीरी। अंतरजनपदीय तबादलों के लिए सूची जारी होने के बाद वंचित शिक्षिकाओं ने अपने तबादले की मांग करते हुए रविवार को हाथों में तख्तियां लेकर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। इसके बाद मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भेजा, जिसके माध्यम से अविवाहित शिक्षिकाओं ने 10 अंकों के भरांक में छूट देने की मांग की है। साथ ही तबादला प्रक्रिया में त्रुटियां होने की बात कहते हुए उनके निस्तारण की मांग की है।




विलोबी मेमोरियल परिसर में शिक्षिका अर्चना शर्मा ने कहा कि शासनादेश में दो वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाली महिला शिक्षकों का तबादला करने की स्वीकृति दी गई है, लेकिन हमारे जैसी कई शिक्षिकाएं पांच वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुकी हैं फिर भी तबादले से वंचित हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी सेवारत पति, असाध्य रोगी, दिव्यांगता के आधार पर 10 अंकों का भारांक देकर उन महिलाओं को मेरिट में कई गुना आगे कर दिया है, जो सेवा अवधि में पीछे थीं।


 अविवाहित शिक्षिकाओं ने दर्द बयां करते हुए कहा है कि उन्हें भी परिवार की उतनी ही जरूरत है, जितनी उन महिलाओं की जिनके पति सरकारी सेवा में कार्यरत हैं। साथ ही जिनके पति प्राइवेट नौकरी में हैं, उनको भी अपने परिवार की उतनी ही जरूरत है। शिक्षिकाओं ने कहा है कि 54120 शिक्षिकाओं के तबादले का वादा प्रदेश सरकार ने किया था, जिसके सापेक्ष 21600 शिक्षिकाओं के तबादले किए गए हैं। जनपद में कुल शिक्षकों के सापेक्ष 15 प्रतिशत शिक्षिकाओं के तबादले की बाध्यता में नई भर्तियों को देखते हुए छूट देने की मांग की है। प्रदर्शन में शिक्षिका गीताजंलि, नेहा, मीनू, आरती, दुर्गेश कुमारी, शिवाली तारिका, शाजिया नाज, दीप्ति वार्ष्णेय मौजूद रहीं। 

Thursday, January 7, 2021

इसी माह होगी अंतर्जनपदीय तबादला पाए शिक्षकों की तैनाती

इसी माह होगी अंतर्जनपदीय तबादला पाए शिक्षकों की तैनाती।


लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित प्राथमिक विद्यालयों में इसी माह से शिक्षकों की कमी दूर हो जाएगी। दूसरे जिलों में तबादला पाये शिक्षकों की तैनाती इसी माह हो जायेगी। इस बारे में जल्द ही आदेश जारी कर आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।



शिक्षकों को स्कूल आवंटन प्रक्रिया जल्द ही पूरी हो इसको लेकर सरकार भी कोशिश में है, इसके बाद 69000 हजार शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के तहत नियुक्ति पाये शिक्षकों को तैनाती की जायेगी।


 इस संबंध में जानकारी देते हुए बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने बताया कि तबादला पाये शिक्षकों को जल्द ही स्कूल आवंटित किया जायेगा, विभागीय तैयारियां चल रही हैं। उन्होंन बताया शिक्षकों की तैनाती के लिए औपचारिक तिथि भी जल्द ही जारी की जाएगी। इससे पहले उन्होंने स्पष्ट किया था जब तक स्कूल आवंटन नहीं होता है तब तक शिक्षको को अपने पुराने स्कूल में ही सेवाएं देनी होंगी।

अंतर्जनपदीय तबादले में महिलाओं को मिली सौगात तो पुरूषों को आघात

अंतर्जनपदीय तबादले में महिलाओं को मिली सौगात तो पुरूषों को आघात


एटा : लंबे समय से अंतरजनपदीय तबादलों की आस लगाए बैठे शिक्षकों को नया साल खास होने की उम्मीद थी, लेकिन इस मामले में सैकड़ों की उम्मीद धरी रह गई। जिन्हें सूची में स्थान मिल गया वह खुश वही सैकड़ों को तबादला न होने का आघात भी लगा है। शिक्षिकाओं के सापेक्ष शिक्षकों की उम्मीद कम पूरी हुई है।



डेढ़ वर्ष पहले से ही अंतरजनपदीय तबादलों को लेकर बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा कवायद शुरू कराई गई थी। तबादलों की प्रक्रिया पूरी तरह से आनलाइन रहने के चलते कई बार झटके लगते रहे। मामला न्यायालय तक पहुंचा। कई बार काउंसिलिग और सूची का इंतजार बना रहा।


 पिछले दो महीनों से शासन सक्रिय हुआ तो जिले में भी लगभग 900 शिक्षक शिक्षिकाएं तबादले की कतार में थे। इसके बाद लगभग 300 से ज्यादा शिक्षकों की उम्मीद तब टूट गई जब पुरुषों के लिए पांच तथा महिलाओं के लिए तीन साल की जिले में सेवा प्रभावी की गई, हालांकि नई साल पर सरकार ने लगभग 22 हजार शिक्षकों की तबादला सूची जारी कर तोहफा तो दिया लेकर उच्च मेरिट वाले ही खुश हो सके। आवेदन के अनुरूप एक चौथाई भी शिक्षक-शिक्षिकाओं को लाभ नहीं मिल सका। 


स्थानांतरण सूची में जिसे तबादला मिला उसे नई साल की सौगात मिल गई लेकिन तबादला न होने से सैकड़ों को नई साल का आनंद भी व्यर्थ करना पड़ा है। उधर, तबादला मिलने वाले शिक्षक-शिक्षिकाएं दूसरे जिलों की तैयारी में जुट गए हैं और शेष रहे अन्य आवेदक अब दूसरी सूची या फिर अगली प्रक्रिया का इंतजार करने को विवश हैं।

Wednesday, January 6, 2021

जनपद स्तर पर बेसिक शिक्षा विभाग को नहीं है अंतर्जनपदीय स्थानांतरित शिक्षकों की जानकारी

जनपद स्तर पर बेसिक शिक्षा विभाग को नहीं है अंतर्जनपदीय स्थानांतरित शिक्षकों की जानकारी


परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों के अंतर जनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। शासन से स्थानांतरित शिक्षकों की सूची विभाग की वेबसाइट पर अपलोड की गई है। लेकिन विभाग के अफसरों को नहीं पता कि कितने शिक्षकों का स्थानांतरण हुआ है।


बदायूं : परिषदीय विद्यालयों में तैनात शिक्षकों के अंतर जनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। शासन से स्थानांतरित शिक्षकों की सूची विभाग की वेबसाइट पर अपलोड की गई है। लेकिन, विभाग के अफसरों को नहीं पता कि कितने शिक्षकों का स्थानांतरण हुआ है। वेबसाइट पर स्थानांतरण की सूचना देखने के बाद शिक्षक बीएसए कार्यालय जाकर जानकारी कर रहे हैं। ऐसे शिक्षकों को विभाग की ओर से सूची नहीं मिलने की बात कहकर लौटाया जा रहा है।


अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया के अंतर्गत आवेदन करने वाले शिक्षकों में से 1103 आवेदकों को स्वीकृति मिली थी। यह आवेदक विभाग की वेबसाइट पर जाकर स्थानांतरण से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। जहां वह अपना नाम, पंजीकरण संख्या और जन्मतिथि अपलोड करेंगे। एक पेज खुलकर आएगा। जहां आवेदन के समय शिक्षकों की ओर से चयनित किए तीन जिलों में से किसी एक में स्थानांतरित होने पर उस जिले की जानकारी मिल जाएगी। अन्यथा स्थानांतरण न हो जाने के बारे में अवगत कराया जा रहा है। स्थानांतरण हो जाने की सूचना मिलने के बाद शिक्षक आगे की प्रक्रिया जानने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पहुंच रहे हैं। जहां उन्हें लौटाया जा रहा है।

सुल्तानपुर : अंतर्जनपदीय ट्रांसफर : बैंक से नो ड्यूज के बाद ही रिलीव हो सकेंगे शिक्षक

सुल्तानपुर :  अंतर्जनपदीय ट्रांसफर : बैंक से नो ड्यूज के बाद ही रिलीव हो सकेंगे शिक्षक।


सुल्तानपुर। अंतरजनपदीय स्थानांतरण के लिए पात्र पाए गए शिक्षकों-शिक्षिकाओं को पहले बैंकों का नो ड्यूज जमा करना होगा। नो ड्यूज के बाद ही शिक्षक अपने आवंटित जिलों के लिए रिलीव हो सकेंगे।
अंतरजनपदीय स्थानांतरण के लिए जिले के 847 शिक्षकों का आवेदन अग्रसारित किया गया था। इसमें से बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से बड़ी संख्या में शिक्षकों का तबादला मंजूर किया गया है। तबादले के लिए अर्ह होने के बाद अब शिक्षकों के सामने एक नया टास्क आ गया है। कुछ बैंकों की ओर से सूची बीएसए को भेजी गई है, जिसमें यह बताया गया है कि अमुक शिक्षकों ने हमारे बैंक से ऋण लिया है । इसलिए बगैर नो ड्यूज के इन शिक्षकों को रिलीव न किया जाय। इस पत्र के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दीवान सिंह यादव ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को पत्र जारी कर कहा है कि बिना नो ड्यूज जमा किए किसी भी शिक्षक-शिक्षिका को रिलीव नहीं किया जाय । सभी शिक्षकों को निर्देशित किया है कि जिन्होंने ऋण लिया है अथवा नहीं लिया है, वे अपने बैंकों से नो ड्यूज सर्टिफिकेट के साथ ही रिलीविंग के लिए आवेदन करें।


अंतर जनपदीय स्थानांतरण का मामला
अंतर जनपदीय स्थानांतरण के लिए अर्ह सभी शिक्षकों को निर्देशित किया गया है कि वे विद्यालय से संबंधित समस्त चार्ज हस्तांतरित करते हुए स्कूल के दायित्वों से मुक्त होकर ही रिलीव हों। रिलीविंग के समय चार्ज हस्तांतरण से संबंधित प्रपत्र व बैंक नो ड्यूज रहना अनिवार्य है। - दीवान सिंह यादव, बीएसए