DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label स्थानान्तरण. Show all posts
Showing posts with label स्थानान्तरण. Show all posts

Monday, June 1, 2020

शिक्षक भर्ती से पहले अंतर जनपदीय तबादले की मांग

शिक्षक भर्ती से पहले अंतर जनपदीय तबादले की मांग


रविवार को अंतर जनपदीय स्थानांतरण की मांग को लेकर शिक्षकों ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा।


69000 शिक्षक भर्ती से पहले परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के अंतर जनपदीय स्थानांतरण की मांग को लेकर शिक्षकों ने मुख्यमंत्री और बेसिक शिक्षा मंत्री को सम्बोधित ज्ञापन भाजपा महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी को रविवार को सौंपा। शिक्षकों की मांग है कि अंतर जनपदीय तबादले की प्रक्रिया दिसम्बर 2019 से चल रही है और लॉकडाउन की वजह से रोक दी गयी। यह प्रक्रिया 80 प्रतिशत पूरी हो चुकी है इसलिए शिक्षकों का कहना है कि तबादले तत्काल किए जाएं।
 

अंतर जनपदीय तबादले के लिए 20 दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू हुए। उसके बाद प्रत्येक जनपदों में कॉउंसिलिंग भी कराई गई। इस बार पारस्परिक स्थानांतरण भी होना है। 70838 शिक्षकों ने अंतर जनपदीय जबकि 9641 ने पारस्परिक तबादले के लिए आवेदन किया है। अभ्यर्थियों के गुणांक प्रदर्शन और उसपर आपत्तियां हो चुका है। अब लेने का काम पूरा इसकी जांच करके सिर्फ अंतर्जनपदीय स्थानांतरण सूची प्रकाशित करना बाकी है। इसी बीच कोरोना संकट के चलते सचिव ने तबादले की प्रक्रिया रोक दी थी। अब लॉकडाउन पीरियड में ही 69000 शिक्षकों की भर्ती होती देख शिक्षक अंतर जनपदीय स्थानांतरण की मांग करने लगे हैं।

Friday, May 29, 2020

राजकीय डिग्री कॉलेजों में नहीं होंगे प्रवक्ताओं के तबादले, स्थानान्तरण के लिए नहीं लिए गए आवेदन, अगले साल तक करना होगा इंतजार

राजकीय डिग्री कॉलेजों में नहीं होंगे प्रवक्ताओं के तबादले, स्थानान्तरण के लिए नहीं लिए गए आवेदन, अगले साल तक करना होगा इंतजार।



राजकीय डिग्री कॉलेजों में नहीं होंगे प्रवक्ताओं के तबादले, स्थानान्तरण के लिए नहीं लिए गए आवेदन, अगले साल तक करना होगा इंतजार।

प्रयागराज। प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में इस साल प्रवक्ताओं के तबादले नहीं होंगे। कोविड-19 के मद्देनजर तबादले की प्रक्रिया स्थगित कर दी गई है। प्रवक्ताओं के तबादले अब अगले साल ही किए जा सकेंगे राजकीय महाविद्यालयों में हर साल तकरीबन डेढ़ सी प्रवक्ताओं के तबादले किए जाते हैं और इसके लिए प्रवक्ताओं से आवेदन भी लिए जाते हैं यह प्रक्रिया मार्च-अप्रैल से शुरू हो जाती है और आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद मई-जून में तबादले की लिस्ट जारी कर दी जाती है। तबादले के लिए पहले ऑनलाइन आवेदन लिए जाते थे, लेकिन बाद में उच्च शिक्षा निदेशालय ने इसमें बदलाव करते हुए ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था लागू कर दी। यह व्यवस्था दो साल से चल रही है। हालांकि, कुछ प्रवक्ताओं ने सवाल उठाए हैं कि जब ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था है तो तबादला स्थगित करने की क्या जरूरत थी। फिलहाल, समय अब बीत चुका है। इस बार तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं लिए गए और अब तय हो गया है कि प्रवक्ताओं के तबादले अगले सत्र में ही हो सकेंगे कॉलेजों के सामने

सबसे बड़ी चुनौती वर्तमान सत्र की परीक्षा का आयोजन कराना है। सभी कॉलेज इसी कार्य में व्यस्त हैं, सो कॉलेजों में भी तबादले से संबंधित कोई प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. वंदना शर्मा का कहना है कि कार्मिक विभाग ने प्रदेश के सभी विभागों में इस साल तबादले की प्रक्रिया को स्थगित कर दिया है।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, December 10, 2019

औरैया : अंशकालिक अनुदेशकों के जनपद के अन्दर विद्यालय परिवर्तन सम्बन्धी विज्ञप्ति/ दिशा-निर्देश जारी, देखें

औरैया : अंशकालिक अनुदेशकों के जनपद के अन्दर विद्यालय परिवर्तन सम्बन्धी विज्ञप्ति जारी, देखें।


👉🏻 यहां नीली लाइन में क्लिक करके देखें शासनादेश





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, November 25, 2019

फतेहपुर : स्थानांतरण से 50 फीसद पद भरने का मिलेगा लाभ, ग्रामीण से नगरीय क्षेत्र में शिक्षकों के आने का खुला रास्ता

फतेहपुर : स्थानांतरण से 50 फीसद पद भरने का मिलेगा लाभ, ग्रामीण से नगरीय क्षेत्र में शिक्षकों के आने का खुला रास्ता।



स्थानांतरण से 50 फीसद पद भरने का मिलेगा लाभ

  • November 25, 2019

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : नगरीय क्षेत्र के विद्यालयों में शिक्षक-शिक्षिकाओं की कमी आने वाले शिक्षा सत्र से पहले पूरी हो सकेगी। शासन ने ग्रामीण अंचल में तैनात शिक्षक-शिक्षिकाओं को नगरीय क्षेत्र में स्थानांतरित करने का रास्ता साफ कर दिया है। मानक व शर्तो पर शिक्षक-शिक्षिकाएं नई तैनाती का लाभ पा सकेंगे। इस कवायद से नगरीय क्षेत्र में शिक्षकों के करीब 50 फीसद पद भरने की उम्मीद है।

दोनों नगरीय क्षेत्रों में कुल 64 परिषदीय विद्यालयों में कुल 48 शिक्षक-शिक्षिकाएं और शिक्षामित्र तैनात हैं। शिक्षकों की कमी के चलते पठन पाठन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। नई भर्तियों का लाभ शहरी क्षेत्रों को नहीं दिया जाता है। जिले के अंदर ग्रामीण से नगरीय क्षेत्र में तबादले और संबद्धता पर रोक लगी हुई थी। हर साल शिक्षकों के सेवानिवृत्त होने से मुश्किल बढ़ती ही जा रही थी। स्थानांतरण की समूची प्रक्रिया को अब वरिष्ठता के आधार पर नए सत्र के पहले किया जाना है। प्रक्रिया पूरी होने पर नगरीय क्षेत्र को 74 शिक्षक मिल जाएंगे। मुख्यालय के विद्यालयों को 54, ¨बदकी नगरी क्षेत्र को 20 शिक्षक मिलेंगे।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि नगरीय क्षेत्र के विद्यालयों में शिक्षकों की कमी है। शासन के नए आदेश से जिला मुख्यालय और ¨बदकी नगर क्षेत्र के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों को लाभ मिल सकेगा। ग्रामीण क्षेत्र से नगरीय क्षेत्र में शर्तो के साथ शिक्षक-शिक्षिकाओं की तैनाती की जाएगी।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, August 17, 2019

फतेहपुर : बीईओ मुख्यालय और बीईओ बहुआ का जनपद से बाहर हुआ ट्रांसफर, देखें खबर और आदेश



फतेहपुर :  बीईओ मुख्यालय और बीईओ बहुआ का जनपद से बाहर हुआ ट्रांसफर, देखें खबर और आदेश। 








Sunday, August 4, 2019

कानपुर देहात : सरप्लस शिक्षकों के समायोजन और पारस्परिक स्थानांतरण संबंधी पदस्थापन आदेश जारी, सूची देखें

कानपुर देहात : सरप्लस शिक्षकों के समायोजन और पारस्परिक स्थानांतरण  संबंधी पदस्थापन आदेश जारी, सूची देखें।