DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, May 30, 2020

जालसाज कर रहे नम्बर बढ़वाने का दावा, सीबीएसई के छात्रों व उनके अभिभावकों के पास आ रहे कॉल, बोर्ड सचिव ने कहा- बहकावे में न आएं

जालसाज कर रहे नम्बर बढ़वाने का दावा, सीबीएसई के छात्रों व उनके अभिभावकों के पास आ रहे कॉल, बोर्ड सचिव ने कहा- बहकावे में न आएं।


जालसाज कर रहे नम्बर बढ़वाने का दावा, सीबीएसई के छात्रों व उनके अभिभावकों के पास आ रहे कॉल, बोर्ड सचिव ने कहा- बहकावे में न आएं।

प्रयागराज। यूपी बोर्ड के बाद अब जालसाज सीबीएसई के छात्रों और अभिभावकों को ठगने में लग गए हैं। जालसाज फोन करके नंबर बढ़ाने और परीक्षा में पास कराने की गारंटी का दावा कर रुपये मांग रहे हैं। अभिभावकों ने इसकी शिकायत सीबीएसई के अधिकारियों से की है। बताया कि फोन करने वाला रोल नंबर और विषय पूरी जानकारी देता है और अकाउंट नंबर देकर रुपये मांगता है। सीबीएसई की परीक्षा में इस प्रकार के जालसाजों के प्रवेश करने की आशंका को लेकर छात्र एवं अभिभावक परेशान हैं। शिकायत पहुंचने पर बोर्ड के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने स्पष्ट किया कि इस प्रकार के किसी भी फोन कॉल पर अभिभावक और छात्र विश्वास न करें और इसकी जानकारी लोकल पुलिस एवं जिला प्रशासन को देने के साथ बोर्ड अफसरों को भी सूचित करें सीबीएसई के अधिकारियों के बारे में जानकारी वेबसाइट www.cbse.nic.in पर उपलब्ध है। सचिव ने कहा लोग आसपास के छात्रों व अभिभावकों को भी जागरूक करें। बोर्ड की ओर से कहा गया कि यदि कोई व्यक्ति ऐसे कृत में लिप्त पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि यूपी बोर्ड लगातार दो वर्ष से अपने परीक्षार्थियों एवं अभिभावकों के नाम एडवाइजरी जारी करके इस प्रकार के फोन कॉल से सावधान रहने के बारे में एलर्ट करता रहा है। 2019 एवं 2020 की बोर्ड परीक्षा के बाद परीक्षार्थियों एवं अभिभावकों के पास इस प्रकार के फोन कॉल आने लगे थे, तब यूपी बोर्ड सचिव ने एफआईआर दर्ज कराई थी।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments