DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, February 28, 2021

फतेहपुर : विद्यालयों में शिक्षण कार्य पुनः आरम्भ किए जाने के अवसर पर विद्यालय स्तर पर उत्सव आयोजित करने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : विद्यालयों में शिक्षण कार्य पुनः आरम्भ किए जाने के अवसर पर विद्यालय स्तर पर उत्सव आयोजित करने के सम्बन्ध में।


फतेहपुर : बच्चों के स्वागत में सजाए जाएंगे विद्यालय, कुछ इस तरह से चलेंगी कक्षाएं

फतेहपुर : जूनियर स्तर की कक्षाओं के संचालन के बाद अब प्राथमिक स्तर की कक्षाओं का कल यानि सोमवार से संचालन किया जाएगा। जिसमें कक्षा एक से पांच तक के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई भी शुरू हो जाएगी। नौनिहाल अपने- अपने स्कूलों में जाएंगे । पहले दिन बच्चों के स्वागत के लिए परिषदीय विद्यालयों को गुब्बारों से सजाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। जनपद में 1381 प्राथमिक स्कूल हैं, जिसमें करीब सवा लाख नौनिहाल पंजीकृत हैं।


शासन ने सूबे के सभी प्राथमिक स्कूलों में कक्षा एक से पांच तक के बच्चों की पढ़ाई शुरू करने के लिए एक मार्च का आदेश जारी किया है। सभी प्राथमिक स्तर के स्कूलों में छात्र-छात्राएं पढ़ाए जाएंगे कक्षाएं शुरू करने से पहले कोविड-19 के सभी नियमों का पालन करने को कहा गया है । साफ - सफाई के निर्देश दिए गए हैं।

सेनेटाइजर व मास्क रखने होंगे। स्कूलों में बच्चों की हाजिरी व सहमति पत्र को लेकर अभिभावकों को जागरूक किया जा रहा है। शिक्षक- शिक्षिकाएं भी गांव-गांव जाकर अभिभावकों को जागरुक करते हुए बच्चों को विद्यालय भेजने के लिए सहमति पत्र भरा रहे हैं।

आंकड़ों पर एक नजर...

1381-  कुल प्राथमिक विद्यालय
 
125094 -  पंजीकृत कुल छा-छात्राएं

कुछ इस तरह से चलेंगी कक्षाएं

कक्षा- 1 और 5  -सोमवार, गुरुवार।

कक्षा- 2 और 4  -मंगलवार, शुक्रवार।

कक्षा 3  -बुधवार, शनिवार।

तैयारी...

रोली टीका के साथ पहले दिन बच्चों का होगा स्वागत

दोआबा के 1381 प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाई की तैयारी शुरू

छोटे बच्चों को मास्क लगाने की चुनौती

कक्षा एक, दो व तीन में पढ़ने वाले बच्चों की उम्र छह से नौ साल के बीच होती है। ऐसे में मास्क लगाकर पढ़ाई कराना बड़ा चुनौती होगी। अब लोगों के पास मास्क भी नहीं हैं। इसको लेकर अभिभावक थोड़ा सा चिंतित नजर आ रहे हैं। हालांकि अलग अलग दिनों में कक्षाएं लगने से बच्चे कम ही विद्यालय में उपस्थित रहेंगे।

कोरोना संक्रमण को लेकर बच्चों को दूर -दूर बिठाया जाएगा। साफ - सफाई के निर्देश दे दिए गए हैं। शासनादेश के तहत पहली मार्च से प्राथमिक स्कूलों में कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। पहले दिन बच्चों के उत्साहवर्धन के लिए विद्यालयों को सजाया जा रहा है। साथ ही बच्चों का रोली टीका लगाया जाएगा।

-शिवेन्द्र प्रताप सिंह, बीएसए



फतेहपुर : प्राइमरी की कक्षाओं से आज गुलजार हो जाएंगे विद्यालय, दिनवार छात्रों के स्कूल आने की बनाई गई व्यवस्था


प्राइमरी कक्षाओं का दिनवार संचालन

दिन एवं कक्षाएं

सोमवार, गुरुवार --- 1 व 5
मंगलवार, शुक्रवार ---- 2 व 4
बुधवार और शनिवार---- 3


जूनियर कक्षाओं का दिनवार संचालन

दिन एवं कक्षाएं

सोमवार, गुरुवार ----- 6
मंगलवार, शुक्रवार----- 7
बुधवार और शनिवार ----- 8

फतेहपुर : कोरोना संक्रमण के चलते बंद हुए परिषदीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों का 10 फरवरी को शुरू कराया जा चुका है, जबकि सोमवार से प्राइमरी कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। 11 माह बाद पहुंच रहे प्राइमरी के छात्रों की हौसला अफजाई के लिए गुरुजनों को अपने स्तर से कार्यक्रम करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिले में संचालित 1903 प्राथमिक और 747 उच्च प्राथमिक विद्यालय सोमवार को गुलजार हो जाएंगे। इसके लिए विभाग ने कमर कस ली है। लंबे समय से सीधी कक्षाओं से दूर रहे बच्चो को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए निर्देश दिए गए है। बच्चों में तनाव न आए और उनमें विद्यालय के प्रति जुड़ाव पैदा करने के लिए खेल, अंत्याक्षरी, कहानी जैसे आयोजन दिए जाने पर जोर दिया गया है। 

एमडीएम परोसने का निर्देश : बीएसए ने 10 फरवरी के बाद पहली मार्च से खुल रहे स्कूलों में एमडीएम योजना को संचालित करने के लिए खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देशित किया है। उन्होंने कहाकि सभी प्रधानाध्यापकों को पर्याप्त खाद्यान और कन्वर्जन कास्ट तथा रसोइयों को मानदेय भेजा जा चुका है। निर्धारित मेन्यू के अनुसार बच्चों को पका पकाया और पौष्टिकता से भरा भोजन दिया जाए।

लंबी अवधि के बाद बच्चे स्कूल पहुंचेंगे। ऐसे में बच्चों का फूल देकर स्वागत, रोली चंदन आदि कार्यक्रम खुद अपने स्तर से शिक्षक शिक्षिकाएं करेंगे। ऑनलाइन पठन पाठन को आधार बनाकर पढ़ाई करवाई जाए। एमडीएम, जूता, मोजा, बैग आदि पर जोर दिया जाए। 

शिवेंद्र प्रताप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी

No comments:
Write comments