DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, August 2, 2021

कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में प्रदेश में संचालित समस्त शिक्षा बोर्डो के कक्षा 9 से 12 तक के समस्त विद्यालयों को पठन-पाठन हेतु भौतिक रूप खोले जाने के संबंध में आदेश जारी

कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में प्रदेश में संचालित समस्त शिक्षा बोर्डो के कक्षा 9 से 12 तक के समस्त विद्यालयों को पठन-पाठन हेतु भौतिक रूप खोले जाने के संबंध में ।

माध्यमिक कालेजों में सप्ताह में पांच दिन दो पालियों में होगी पढ़ाई

● पहली 8 से 12 व दूसरी 12.30 से 4.30 पाली में होगी

● पाली खत्म होने और शनिवार को परिसर का हो सैनिटाइजेशन

माध्यमिक स्कूलों में 16 से पढ़ाई, परिषदीय स्कूलों पर निर्णय बाद में

लखनऊ : प्रदेश के माध्यमिक कालेजों में 16 अगस्त से दो पालियों में पढ़ाई होगी। कोविड-19 की वजह से दोनों पालियों में 50-50 फीसद विद्यार्थी आएंगे, ताकि उनके बीच शारीरिक दूरी बनी रहे। कालेजों में पांच दिन सोमवार से शुक्रवार तक पढ़ाई होगी। शनिवार को कालेज परिसर सैनिटाइज किए जाने से विद्यार्थियों की छुट्टी रहेगी। कालेज खुलने व पाली खत्म होने पर कक्षाएं सैनिटाइज की जाएंगी।

उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने बताया कि सभी बोडरें के कक्षा नौ से 12 तक के माध्यमिक कालेजों में 15 अगस्त को विद्यार्थी आएंगे। 16 अगस्त से शिक्षण कार्य शुरू होगा। पांच अगस्त से कालेजों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। उन्होंने कहा कि सरकार के लिए विद्यार्थियों व शिक्षकों का स्वास्थ्य सवरेपरि है। 

छात्रहित में सत्र नियमित किए जाने के लिए कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए पढ़ाई कराई जाएगी। दो पालियों पहली 8 से 12 व दूसरी 12.30 से 4.30 में 50-50 फीसद विद्यार्थी आएंगे। कालेजों में हैंडवाश, सैनिटाइजर, थर्मलस्कैनिंग व पल्स आक्सीमीटर की व्यवस्था भी की जाएगी। शिक्षक, कर्मचारी व विद्यार्थियों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने विस्तृत निर्देश जिलाधिकारी सहित शिक्षा विभाग के अफसरों को भेजा है।






माध्यमिक स्कूलों में 16 से पढ़ाई, परिषदीय स्कूलों पर निर्णय बाद में

लखनऊ: कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप थमते ही योगी सरकार ने स्कूल-कालेजों में पढ़ाई शुरू कराने का फैसला कर लिया है। कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए कक्षा की पचास फीसद क्षमता के साथ 15 अगस्त से माध्यमिक शिक्षा के स्कूल खोले जाएंगे और 16 अगस्त से पढ़ाई शुरू होगी। उच्च शिक्षा संस्थानों में भी एक सितंबर से कक्षाएं शुरू करने का निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया है।


मुख्यमंत्री ने सोमवार को लोकभवन में टीम-9 के साथ कोरोना संक्रमण के हालात की समीक्षा की। इसमें विचार-मंथन हुआ कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब काबू में है, इसलिए स्कूल-कालेजों में पढ़ाई शुरू की जानी चाहिए। योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि शिक्षण संस्थानों में नए सत्र की शुरुआत कोविड प्रोटोकाल के साथ की जाए।

 पहले चरण में 50 फीसद छात्र संख्या के साथ कक्षाएं शुरू की जाएंगी। स्नातक स्तर पर दाखिले की प्रक्रिया पांच अगस्त से शुरू की जाएगी। माध्यमिक शिक्षण संस्थानों में भी जिन छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया है, उनके प्रवेश की प्रक्रिया शुरू होगी। माध्यमिक शिक्षा (कक्षा नौ से बारह) के छात्रों को 15 अगस्त से बुलाया जाएगा। 

वे पहले दिन स्वाधीनता दिवस पर आयोजित स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव से जुड़े कार्यक्रमों में शामिल होंगे। 16 अगस्त से आधी क्षमता के साथ पढ़ाई शुरू होगी। इसी तरह उच्च शिक्षण संस्थानों में कक्षाएं एक सितंबर से शुरू की जाएंगी। शिक्षण संस्थानों में सैनिटाइजर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, मास्क आदि की समुचित व्यवस्था के निर्देश सीएम योगी ने दिए हैं। परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई शुरू करने की तारीख तय नहीं की गई है, लेकिन कक्षाएं शुरू करने की तैयारी के लिए कह दिया गया है। 


■ कोविड प्रोटोकाल के पालन का मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश

■ सभी कक्षाएं 50 फीसद क्षमता के साथ चलेंगी

लगेंगे विशेष टीकाकरण शिविर

पढ़ाई शुरू करने के साथ ही सरकार को छात्र-छात्रओं के स्वास्थ्य की भी चिंता है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि शिक्षण संस्थानों के शुरू होने के साथ ही 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों के टीकाकरण के लिए विशेष शिविर लगाए जाएं।

कक्षा 8 तक के विद्यालयों में बच्चों को बुलाने पर लगी रहेगी रोक- डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का बयान




No comments:
Write comments