DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label सीबीएसई. Show all posts
Showing posts with label सीबीएसई. Show all posts

Sunday, April 18, 2021

सीबीएसई : 2020 की तर्ज पर 2021 में भी 10 वीं का परिणाम जारी करने की तैयारी, ऐसे छात्र होंगे प्रोन्नत

सीबीएसई : 2020 की तर्ज पर 2021 में भी 10 वीं का परिणाम जारी करने की तैयारी, ऐसे छात्र होंगे प्रोन्नत


प्रयागराज। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई ) 10वीं की निरस्त परीक्षा का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर जारी कर सकता है। पिछले वर्ष भी सीबीएसई ने 10वीं की छाटी परीक्षाओं का परिणाम इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट के आधार पर जारी किया था। सीबीएसई की ओर से चार मई से प्रस्तावित 10वीं की परीक्षा निरस्त करने के साथ बारहवीं की परीक्षा बाद में कराने का फैसला लिया गया


है। सीबीएसई की ओर से 10वीं की परीक्षा का रिजल्ट तैयार करने के लिए जल्द ही बैकल्पिक पद्धति के बारे में जानकारी दी जाएगी। बोर्ड के वैकल्पिक फार्मूले से यदि परीक्षार्थी असंतुष्ट होंगे तो उन्हें बाद में मौका दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार के बाद परीक्षार्थी अपने अंक सुधार के लिए परीक्षा दे सकते हैं। 


2020 में भी सीबीएसई को 10वीं और 12वों की परीक्षा बीच में रोकनी पड़ी थी। दसवीं और बारहवीं के कई विषयों की परीक्षा नहीं हो सकी थी। सीबीएसई की जो परीक्षा शेष थी, वह मुख्य विषयों की नहीं थी। इसी कारण बोर्ड ने बची परीक्षाएं नहीं कराईं। 10वों और 12वीं के बचे कुल 83 बिषयों के प्रश्नपत्रों में से 29 मुख्य विषयों की परीक्षाएं कराई गईं। बचे 54 विषयों का मूल्यांकन ग्रेडिंग के जरिए किया गया। इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट बर्क और असाइनमेंट बर्क के आधार पर इन प्रश्नपत्रों का परिणाम जारी किया गया था। 


उम्मीद है कि सीबीएसई 2021 में भी 10वीं का परिणाम इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट बर्क के आधार पर जारी करेगा। ऐसे में 10 वीं में एक बार फिर से मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जाएगी।

Saturday, April 17, 2021

CBSE : इंटरनल असेसमेंट में चमके तो दसवीं में बरसेंगे नंबर, जानिए कैसे तैयार होगा रिजल्ट

CBSE : इंटरनल असेसमेंट में चमके तो दसवीं में बरसेंगे नंबर, जानिए कैसे तैयार होगा रिजल्ट

    
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं की परीक्षाओं को निरस्त करते हुए विद्यार्थियों को प्रमोट करने का एलान किया है। मगर प्रमोशन का आधार क्या होगा, इसपर अभी कुछ स्पष्ट नहीं किया है। मगर जानकारों की मानें तो बोर्ड की ओर से पिछले वर्ष की भांति प्रमोशन के लिए इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क को ही आधार बनाया जा सकता है। जिले में बोर्ड से संचालित 113 स्कूलों में दस हजार विद्यार्थी दसवीं के लिए पंजीकृत हैं।


पिछले साल कोरोना के चलते सीबीएसई को बीच में ही परीक्षाएं रोकनी पड़ी थीं। 10वीं और 12वीं के कई पेपर नहीं हो सके थे। सीबीएसई 10वीं कक्षा के कई पेपर बच गए थे लेकिन मुख्य विषयों की श्रेणी में नहीं आने के कारण ये पेपर नहीं कराए गए थे। 10वीं व 12वीं के शेष बचे कुल 83 विषयों के पेपरों में से 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं ली गईं थीं। शेष 54 विषयों का ग्रेडिंग से मूल्यांकन किया गया था। इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर इन पेपरों का रिजल्ट जारी हुआ था। संभव है कि सीबीएसई इस वर्ष 10वीं का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर जारी कर सकती है।


दसवीं में मिले नंबर से नहीं संतुष्ट तो दे सकेंगे परीक्षा
शिक्षा मंत्रालय ने कहा है कि 10वीं कक्षा का रिजल्ट सीबीएसई द्वारा तैयार की गई एक वैकल्पिक पद्धति से जारी किया जाएगा। जल्द ही बोर्ड मूल्यांकन का फॉर्मूला तैयार करेगा। अगर कोई छात्र इस पद्धति से दिए गए मार्क्स से असंतुष्ट होता है तो उसे बाद में मौका दिया जाएगा। हालात ठीक होने पर परीक्षा कराई जाएगी जिसमें ऐसे छात्र अपने मार्क्स सुधार सकते हैं।


नहीं हुआ था टॉपर्स का एलान
पिछले वर्ष 10वीं कक्षा में 91.46 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे। मेरिट लिस्ट नहीं जारी की गई थी। कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए बोर्ड ने 12वीं और 10वीं दोनों कक्षाओं के टॉपरों का ऐलान नहीं किया था।


एक जून को समीक्षा कर जारी होगा बारहवीं का कार्यक्रम
देश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते सीबीएसई ने चार मई से शुरू होने वाली 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी है। 12वीं की परीक्षा टाल दी गई है। 1 जून को स्थिति की समीक्षा करने के बाद 12वीं के नए शेड्यूल पर फैसला लिया जाएगा।


कक्षा 11वीं में प्रवेश शुरू
दसवीं के विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रमोट किए जाने के बाद शहर के विभिन्न स्कूलों ने कक्षा 11वीं की प्रवेश प्रक्रिया को शुरू कर दिया है। अप्रैल के आखिरी सप्ताह तक ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन शुरू किया जाएगा।

प्रदेश के सभी शिक्षा बोर्डो की परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित, आइसीएसई ने भी टालीं बोर्ड परीक्षाएं

प्रदेश के सभी शिक्षा बोर्डो की परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित, आइसीएसई ने भी टालीं बोर्ड परीक्षाएं


लखनऊ: सीबीएसई व यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाओं के बाद अब प्रदेश के सभी शिक्षा बोर्डो की परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित कर दी गई हैं। मुख्यमंत्री ने 15 अप्रैल को यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित करने का निर्देश दिया था। उसी क्रम में शासन ने प्रदेश के अन्य बोर्डो की हर प्रकार की परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित कर दी हैं। आइसीएसई बोर्ड, माध्यमिक संस्कृत शिक्षा बोर्ड व मदरसा बोर्ड में गृह व आंतरिक परीक्षाएं भी अब नहीं हो सकेंगी।


आइसीएसई ने भी टालीं बोर्ड परीक्षाएं : आइसीएसई ने भी चार मई से प्रस्तावित 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। इनकी नई तारीखों का एलान स्थिति की समीक्षा के बाद जून के पहले हफ्ते में किया जाएगा। आइसीएसई के सचिव गैरी अराथून ने बताया कि 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं बाद में कराई जाएंगी। वहीं 10वीं के छात्रों को बाद में परीक्षा में बैठने या न बैठने का विकल्प मिलेगा।


मांग : बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए लागू करें ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प

मांग : बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए लागू करें ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प


प्रयागराज कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने दसवीं एवं बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करदी हैं। परीक्षाएं स्थगित करने के निर्णय से परेशान अभिभावकों, शिक्षकों, प्रधानाचार्यों एवं छात्रों ने ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प देने की मांग की है। परीक्षार्थियों की मांग है कि जिस प्रकार इलाहाबाद विश्वविद्यालय सहित दूसरे संस्थान अपनी कॉपी देकर छात्रों को परीक्षा में शामिल कर रहे हैं, उसी तरीके से सीबीएसई और यूपी बोर्ड भी बच्चों की ऑनलाइन कॉपी जमा करने की व्यवस्था कर परीक्षा करा सकते हैं। 


ऑनलाइन परीक्षा में जिन छात्रों को कॉपी जमा करने में समस्या हो उसके लिए क्षेत्र के किसी विद्यालय को नोडल सेंटर बनाकर ऑनलाइन कॉपी जमा करने की व्यवस्था की जा सकती है। ऑनलाइन विकल्प के तौर पर छात्रों को ई-मेल पर कॉपी जमा करने की सुविधा दी जा सकती है। ऐसे में छात्रों का कुछ मूल्यांकन तो हो सकेगा। पूरे सालभर पढ़ाई करने के बाद जब छात्रों का परीक्षा से मूल्यांकन होगा तो उन्हें अपने बारे में पता चलेगा राजकीय इंटर कॉलेज के डॉ. प्रभाकर त्रिपाठी का कहना है कि जब ऑफलाइन परीक्षा का विकल्प न हो तो छात्रों का मूल्यांकन ऑनलाइन किया जाए। 


छात्रों को कॉपी देकर उसे ऑनलाइन जमा करने की व्यवस्था करके परीक्षा कराई जा सकती है। अभिभावक डॉ. लक्ष्मण चतुर्वेदी का कहना है कि अब ऑनलाइन परीक्षा ही एकमात्र विकल्प है। इसे सीबीएसई एवं यूपी बोर्ड दोनों को अपनाना चाहिए। काउंसलर डॉ. मनु भट्ट का कहना है कि परीक्षा रद्द नहीं करनी चाहिए। दसवीं के छात्रों का ऑनलाइन असेसमेंट करके उन्हें नंबर देने चाहिए। बारहवीं के अंक कॅरियर में निर्णायक होते हैं, ऐसे में परीक्षा जरूरी है। छात्रों के लिए बोर्ड की वेबसाइट पर प्रश्नपत्र उपलब्ध कराए जाएं। छात्रों से कॉपी में उत्तर लिखवाकर उसका मूल्यांकन कराया जाए।

Thursday, April 15, 2021

जानें, कैसे बिना परीक्षा तैयार किया जाएगा CBSE का 10वीं का रिजल्ट


जानें, कैसे बिना परीक्षा तैयार किया जाएगा CBSE का 10वीं का रिजल्ट


CBSE 10th Exam 2021 : देश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते सीबीएसई ने 4 मई से शुरू होने वाली 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी है। 12वीं की परीक्षा टाल दी गई है। 1 जून को स्थिति की समीक्षा करने के बाद 12वीं के नए शेड्यूल पर फैसला लिया जाएगा। शिक्षा मंत्रालय ने कहा है कि 10वीं कक्षा का रिजल्ट सीबीएसई द्वारा तैयार की गई एक वैकल्पिक पद्धति से जारी किया जाएगा। जल्द ही बोर्ड मूल्यांकन का फॉर्मूला तैयार करेगा। अगर कोई छात्र इस पद्धति से दिए गए मार्क्स से असंतुष्ट होता है तो उसे बाद में मौका दिया जाएगा। हालात ठीक होने पर परीक्षा कराई जाएगी जिसमें ऐसे छात्र अपने मार्क्स सुधार सकते हैं। 

पिछले साल नहीं हुए थे कई पेपर, ये था रिजल्ट का फॉर्मूला
पिछले साल कोरोना के चलते सीबीएसई को बीच में ही परीक्षाएं रोकनी पड़ी थीं। 10वीं 12वीं के कई पेपर नहीं हो सके थे। सीबीएसई 10वीं कक्षा के कई पेपर बच गए थे लेकिन मुख्य विषयों की श्रेणी में नहीं आने के कारण ये पेपर नहीं कराए गए थे। 10वीं 12वीं के शेष बचे कुल 83 विषयों के पेपरों में से 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं ली गईं थीं। शेष 54 विषयों का ग्रेडिंग से मूल्यांकन किया गया था। इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर इन पेपरो का रिजल्ट जारी हुआ था। संभव है कि सीबीएसई इस वर्ष 10वीं का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर जारी कर सकती है। 


पिछले वर्ष 10वीं कक्षा में 91.46 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे। मेरिट लिस्ट नहीं जारी की गई थी। कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए बोर्ड ने 12वीं और 10वीं दोनों कक्षाओं के टॉपरों का ऐलान नहीं किया था। 


इसके अलावा पिछले वर्ष सीबीएसई स्कूलों में कक्षा 9वीं और 11वीं के छात्रों को भी इंटरनल असेसमेंट, टेस्ट, प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर पास कर दिया गया था। 


सीबीएसई से पहले छत्‍तीसगढ़ बोर्ड, पंजाब बोर्ड और एमपी बोर्ड भी कोरोना के कारण अपनी परीक्षाएं स्थगित कर चुके हैं।

Wednesday, April 14, 2021

CBSE exam 2021: सीबीएसई 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित और 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द, केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

CBSE exam 2021: सीबीएसई 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित और 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द, देखें अधिकृत नोटिफिकेशन


The Ministry of Education on April 14 decided to cancel CBSE board exams for Class 10 and postpone Class 12.

 Results of Class 10 examination will be prepared on the basis of an objective criterion to be developed by the Board. Class 12th exams will be held later, the situation will be reviewed on June 1 by the Board.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। इसके अलावा 10वीं के एग्जाम फिलहाल कैंसिल कर दिए गए हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। 12वीं की मई और जून में होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया, अब इनकी तारीख एक जून के बाद तय की जाएगी। 10वीं के स्टूडेंट्स का रिजल्ट बोर्ड द्वारा तैयार किए गए ऑब्जेएक्टिव क्राइटिया द्वारा तैयार किया जाएगा।


सीबीएसई 12वीं की परीक्षाएं की आगे की तारीख स्थिति को देखते हुए तय की जाएगी। परीक्षाएं शुरू होने से पहले 15 दिन पहले बताया जाएगा।


आज सीबीएसई परीक्षाओं को लेकर पीएम मोदी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक में यह फैसला लिया गया है।   आपको बता दें कि कल ही दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परीक्षाओं को रद्द किए जाने की मांग की थी। अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार से परीक्षा रद्द करने की अपील करते हुए कहा कि परीक्षा केंद्र वायरस के संक्रमण को फैलने में सहायक साबित हो सकते हैं। इसी बीच पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र को पत्र लिखकर 10वीं, 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित किए जाने की अपील की थी। 

आपको बता दें कि कोविड-19 महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र ने भी राज्य बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर मई के आखिर या जून में कराने का फैसला लिया है। इसके अलावा मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (MPBSE) ने कक्षा 10, 12 परीक्षाएं आगे के लिए टाल दी हैं।  एमपी बोर्ड 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं 30 अप्रैल से शुरू होनी थी। एमपी स्कूल एजुकेशन विभाग जल्द ही नई तारीखों की घोषणा करेगा।  


सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से शुरू होकर 10 जून तक चलनी थी. सीबीएसई की इन बोर्ड परीक्षाओं की शुरुआत 4 मई से होनी थी. 6 मई को दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए इंग्लिश की परीक्षा आयोजित की जानी थी.


नई दिल्ली: देशभर में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को आगे बढ़ा दिया गया है.


सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने या आगे बढ़ाने को लेकर उठ रही मांगों के मद्देनजर पीएम मोदी ने आज शिक्षा मंत्रालय के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की थी. इसी बैठक में फैसले के बाद ही शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने परीक्षाओं को ..... करने की घोषणा की है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित कई नेताओं ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरों के मद्देनजर सीबीएसई परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की थी.


कब होनी थी CBSE बोर्ड परीक्षाएं
दसवीं और बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं की डेटशीट पहले ही जारी की जा चुकी है. बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से शुरू होकर 10 जून तक चलनी थी. वहीं 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट 15 जुलाई तक घोषित करने का एलान किया गया था. सीबीएसई की इन बोर्ड परीक्षाओं की शुरुआत 4 मई से होनी थी. सीबीएसई द्वारा जारी की गई डेटशीट के मुताबिक 6 मई को दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए इंग्लिश की परीक्षा आयोजित की जानी थी. 10 मई को हिंदी ,11 मई को उर्दू, 15 को विज्ञान, 20 को होम साइंस, 21 मई को गणित और 27 मई को सामाजिक विज्ञान की परीक्षा ली जानी थी.