DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, November 27, 2020

यूपी में माध्यमिक से जुड़े 6 से 8वीं तक के स्कूल खोलने से प्रधानाचार्यों ने किया साफ इनकार

यूपी में माध्यमिक से जुड़े 6 से 8वीं तक के स्कूल खोलने से प्रधानाचार्यों ने किया साफ इनकार


यूपी बोर्ड के कक्षा 6 से 8वीं तक के स्कूलों को 15 दिसंबर से खोलने से प्रधानाचार्यों ने इनकार कर दिया है। प्रधानाचार्यों ने जिला विद्यालय निरीक्षक को रिपोर्ट भेजकर कहा है कि 9 से 12 वीं तक स्कूल खुल रहे हैं। उसमें भी उपस्थित होने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या काफी कम है। वहीं, अभी तक परिषदीय विद्यालय भी नहीं खुल सके हैं। प्रधानाचार्यों ने कहा है कि कोरोना के मामले दोबारा बढ़ने लगे हैं। ऐसे में 15 दिसंबर से जूनियर हाईस्कूल न खोले जाएं।


स्कूल खोलने के संबंध में बोर्ड सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने 24 नवंबर को सभी डीआईओएस को पत्र जारी कर फीडबैक मांगा था। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अधिकांश कॉलेजों के प्रधानाचार्यों ने स्कूल न खोलने की डीआईओएस को रिपोर्ट सौंपी। डीआईओएस ने यह रिपोर्ट बोर्ड सचिव को सौंप दी। बोर्ड सचिव ने इस रिपोर्ट को शासन के पास भेज दिया है। ऐसे में अभी स्कूल खुलना संभव नहीं है। 


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को लिखे पत्र में अपेक्षा की थी कि कक्षा छह से आठ तक के विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों से बात कर विद्यालय खोलने या न खोलने को लेकर उनकी राय जानी जाए। उसी क्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक की तरफ से सभी स्कूलों से फोन पर संपर्क किया गया।


डीआईओएस ने बताया कि अनलॉक-5 की गाइडलाइन में कक्षा नौ से 12वीं तक के स्कूल खोलने के निर्देश दिए गए। सभी विद्यालय खोल भी दिए गए हैं। उनमें भौतिक रूप से अध्यापन कार्य किया जा रहा है। अब कक्षा छह से आठ तक के विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों से संपर्क कर उनकी राय ली गई लेकिन 70 प्रतिशत प्रधानाध्यापकों की राय है कि 15 दिसंबर से स्कूल न खोले जाएं। इसकी जानकारी माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव को भेज दी गई है।


माध्यमिक के कक्षा 6 से 8 तक के स्कूलों के 70 फीसदी प्रधानाध्यापक नहीं चाहते स्कूल खुले

 प्रयागराज : कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कक्षा छह से आठ तक के स्कूलों के 70 फीसद प्रधानाध्यापक विद्यालय खोलने को राजी नहीं हैं। उनका कहना है कि अभी परिस्थितियां सामान्य नहीं हैं। दोबारा कोरोना की लहर आती दिख रही है। ऐसे में विद्यार्थियों को स्कूल बुलाकर अध्यापन कार्य करना सुरक्षित नहीं है। सभी प्रधानाध्यापकों का कहना है कि सुरक्षा के मद्देनजर जरूरी है कि ऑनलाइन कक्षाएं ही चलती रहें। 


उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को पत्र लिखा था। उसमें अपेक्षा की थी कि कक्षा छह से आठ तक के विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों से बात कर विद्यालय खोलने या न खोलने को लेकर उनकी राय जानी जाए। आगे शासन के निर्देशों के अनुसार कदम उठाए जाएंगे। फिलहाल सभी शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों को ऑनलाइन कक्षाओं को और बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके लिए सभी अभिभावकों से भी सहयोग मांगा जा रहा है।

No comments:
Write comments