DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, March 6, 2021

यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्र न बनने वाले विद्यालयों की सूची जारी, विधानसभा में मामला उठने पर जारी हुई 103 व 755 की दो सूची

यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्र न बनने वाले विद्यालयों की सूची जारी, विधानसभा में मामला उठने पर जारी हुई 103 व 755 की दो सूची

प्रयागराज : यूपी बोर्ड ने प्रदेश के उन 103 विद्यालयों की सूची सार्वजनिक की है, जिनका नाम वर्ष 2021 की बोर्ड परीक्षा के केंद्र के लिए प्रस्तावित था लेकिन जिलाधिकारियों की अध्यक्षता में बनी समिति की रिपोर्ट पर इन्हें परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया परीक्षा केंद्र न बनाने के कारण सहित यह सूची बोर्ड की ओर से पहली बार जारी की गई है।


बोर्ड के अफसरों का कहना है कि सूची जारी करने का निर्णय केंद्र निर्धारण पर विधानसभा में उठे एक प्रश्न की वजह से पारदर्शिता के लिहाज से लिया गया है। इस सूची में 103 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र न बनाने का कारण दर्ज है।

यह 103 विद्यालय प्रदेश के 44 जिलों के हैं। सूची से स्पष्ट है कि जिला स्तरीय समिति ने बलिया और मऊ से सर्वाधिक 10-10 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाने से मना किया है। हरदोई के 6, हाथरस के पांच और प्रयागराज, अयोध्या के चार-चार, एटा, मथुरा, वाराणसी, जौनपुर, आजमगढ़ तथा फतेहपुर के तीन-तीन, आगरा, सहारनपुर, लखीमपुर खीरी, देवरिया, संत कबीर नगर, बाराबंकी, बहराइच, लखनऊ, कानपुर देहात, फर्रूखाबाद, जालौन तथा झांसी के दो-दो विद्यालयों को केंद्र बनाने से मना किया गया है।

755 स्कूलों की सूची भी जारीः 

यूपी बोर्ड ने 755 ऐसे स्कूलों की जिलावार सूची भी जारी की है, जो पूर्व में परीक्षा केंद्र बने थे। लेकिन विभिन्न आरोपों में डिबार होने, मान्यता वापस लेने की कार्रवाई चलने, परीक्षा केंद्र के पास से हाईटेंशन लाइन गुजरने, स्कूल के चारों ओर बाउंड्रीवाल न होने, परिसर में प्रधानाचार्य का आवास होने, प्रधानाचार्य या प्रबंधक को लेकर विवाद होने, परीक्षार्थियों के बैठने को पर्याप्त इंतजाम न होने से केंद्र नहीं बनाया गया है। प्रयागराज व प्रतापगढ़ के 34-34 तथा कौशाम्बी के 6 विद्यालय शामिल हैं।

डीआईओएस दफ्तर की पोल खोल रही सूची

यूपी बोर्ड की ओर से जारी सूची डीआईओएस दफ्तर में परीक्षा केंद्र बनाने के नाम पर चल रहे खेल की पोल भी खोल रही है। कई विद्यालय ऐसे हैं, जो यूपी बोर्ड की ओर से परीक्षा केंद्र बनाने के लिए निर्धारित मानक पूरे नहीं करते हैं पर उन्हें भी केंद्र बनाने के लिए प्रस्तावित कर दिया गया था।


👉🏻 वर्ष 2021 के परीक्षा केंद्रों के लिए चयनित नहीं किये गये विद्यालयों की सूची। 

लिस्ट -1  


लिस्ट -2



No comments:
Write comments