DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, November 11, 2020

फतेहपुर : डीआई कार्यालय का खतरे में अस्तित्व, लिपिकों को बीआरसी से किया गया सम्बद्ध।

डीआइ दफ्तर का अस्तित्व हुआ खत्म, ब्लाकों में बैठेंगे लिपिक।

फतेहपुर : सालों साल से चल रहे डीआइ दफ्तर (खंड शिक्षाधिकारी कार्यालय) में तालाबंदी कर दी गई है। डीआइ कार्यालय का अस्तित्व खत्म हो गया है। डीएम के निर्देश पर बीएसए ने कार्यालय में बैठकर विभागीय कार्य करने वाले लिपिकों को ब्लाक संसाधन कार्यालय (बीआरसी) में बैठने के निर्देश दिए हैं। लिपिक अब मुख्यालय के बजाए ब्लाकों में दायित्व निर्वहन करेंगे। प्रशासन के इस निर्णय से लिपिकों में भारी असंतोष फैल गया है। जिला प्रशासन के निर्णय के विरोध में हड़ताल आदि का बिगुल बज सकता है। अगर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद इस मामले में दखल देता है तो आने वाले समय में जिला प्रशासन के लिए यह मामला टेढ़ी खीर बन जाएगा।



जिला पंचायत की बिल्डिंग में आजादी के बाद से डीआइ कार्यालय संचालित हो रहा है। जिसमें जिले के 13 ब्लाकों में तैनात शिक्षक-शिक्षिकाओं के तमाम विभागीय कार्य और लेखाजोखा तैयार होता है। हर ब्लाक का लिपिक यहां पर बैठक कर विभागीय कार्य संपादित करता है। करीब आठ माह पूर्व डीएम ने कार्यालय का औचक निरीक्षण किया था। जिसमें बीएसए को निर्देशित किया था कि इस कार्यालय को खत्म कर दिया जाए। ब्लाक कार्यालय में लिपिकों की तैनाती कर दी जाए। लिपिकों के द्वारा सारे कार्य वहीं से संपादित किए जाएं। जिसके क्रम में विभाग ने तालाबंदी कर दी है। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि डीएम के निर्देश पर डीआइ कार्यालय से लिपिकों के बैठकर कार्य संपादन रोक लगा दी गई है। ब्लाकवार तैनाती पाए लिपिक ब्लाक संसाधन कार्यालय में जाकर काम करेंगे। डीआइ कार्यालय से किसी प्रकार का काम नहीं होगा। कार्यालय में तालाबंदी रहेगी। यहां पर रखे अभिलेख ब्लाक संसाधन कार्यालय में ले जाएंगे।


फतेहपुर : डीआई कार्यालय का खतरे में अस्तित्व, लिपिकों को बीआरसी से किया गया सम्बद्ध।

फतेहपुर। जिला पंचायत भवन स्थित बेसिक शिक्षा विभाग के डीआई (डिस्ट्रिक्ट इंस्पेक्टर) कार्यालय का अस्तित्व समाप्त कर दिया गया है। कार्यालय के सभी लिपिक ब्लाक संसाधन केंद्रों से संबद्ध कर दिए गए हैं। मंगलवार से चपरासी को भी बीएसए कार्यालय बुला लिया गया। डीआई कार्यालय में 11 लिपिक और एक चपरासी की नियुक्ति थी। इनमें एक लिपिक पहले से बीएसए कार्यालय में संबद्ध है। सोमवार को बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने 10 लिपिकों को ब्लॉक संसाधन केंद्रों से संबद्ध कर वहीं पर नियमित बैठने का आदेश जारी किया है। बीईओ मुख्यालय राकेश सचान ने बताया कि अब कोई भी कार्य डीआई कार्यालय से नहीं होंगे। डीआई कार्यालय से संबंधित कार्य के लिए शिक्षक ब्लॉक संसाधन केंद्र पहुंचे।

No comments:
Write comments